मेरा मन कभी भी किसी एक मैं नहीं लगता है तो मैं क्या करूँ?...


user

Vikas Singh Rajput

Political Analyst

1:23
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका मन कभी भी किसी एक में नहीं लगता है तो आप क्या करें आपका मन लग रहा है 100 200 लोगों में लगता है इसलिए आपका मन एक में नहीं लग पाता है एक साथ सेटिस्फाइड ही नहीं हो पाते तो कैसे लगेगा मन आपका तो भैया अपने मन को स्थिर रखिए एक से ही काम चलाइए और दूसरों में दिमाग लगाएंगे तो फिर कहीं के नहीं रहेंगे ना घर के ना घाट के देखिए हमें अगर कोई कार्य करना है अगर उस कार्य में हमें सफलता प्राप्त करना है तो हमें अपने मन को स्थिर रखना पड़ेगा सपोर्ट करिए आपका टारगेट है कि मैं यूपीएससी क्वालीफाई कर के आईएएस अधिकारी बनूंगा तो आपका टारगेट होना चाहिए अगर यह नहीं कि आपने सुबह देखा न्यूज़पेपर में कोई खिलाड़ी है बहुत बढ़िया रन बना दिया तो अब मैं क्रिकेट के मैच फील्ड में जाऊंगा शाम को आपने देखा कोई एमबीबीएस निकाल लिया आपका पड़ोसी अब मैं एमबीबीएस बोलूंगा बनूंगा आपका जो टारगेट है फिक्स होना चाहिए इस टारगेट के लिए आप आपने सोचा है उस टारगेट के लिए मेहनत करिए कार्य करिए और उसको अपने जीवन का लक्ष्य बनाइए जब आप ऐसा सोचेंगे अपने मन को स्थिर रखेंगे तो पक्का आपको सफलता मिलेगी और मन एक में लगाइए और दूसरों में मत लगाइए नहीं दिक्कत हो जाएगा धन्यवाद

aapka man kabhi bhi kisi ek mein nahi lagta hai toh aap kya kare aapka man lag raha hai 100 200 logo mein lagta hai isliye aapka man ek mein nahi lag pata hai ek saath setisfaid hi nahi ho paate toh kaise lagega man aapka toh bhaiya apne man ko sthir rakhiye ek se hi kaam chalaiye aur dusro mein dimag lagayenge toh phir kahin ke nahi rahenge na ghar ke na ghat ke dekhiye hamein agar koi karya karna hai agar us karya mein hamein safalta prapt karna hai toh hamein apne man ko sthir rakhna padega support kariye aapka target hai ki main upsc qualify kar ke IAS adhikari banunga toh aapka target hona chahiye agar yah nahi ki aapne subah dekha Newspaper mein koi khiladi hai bahut badhiya run bana diya toh ab main cricket ke match field mein jaunga shaam ko aapne dekha koi MBBS nikaal liya aapka padosi ab main MBBS boloonga banunga aapka jo target hai fix hona chahiye is target ke liye aap aapne socha hai us target ke liye mehnat kariye karya kariye aur usko apne jeevan ka lakshya banaiye jab aap aisa sochenge apne man ko sthir rakhenge toh pakka aapko safalta milegi aur man ek mein lagaaiye aur dusro mein mat lagaaiye nahi dikkat ho jaega dhanyavad

आपका मन कभी भी किसी एक में नहीं लगता है तो आप क्या करें आपका मन लग रहा है 100 200 लोगों मे

Romanized Version
Likes  15  Dislikes    views  379
KooApp_icon
WhatsApp_icon
5 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!