क्या IFS अधिकारी अपनी पत्नी को अपने साथ ले जा सकते हैं?...


play
user
0:17

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अपनी पत्नी मातृशक्ति अपनी पत्नी के साथ

apni patni matrishakti apni patni ke saath

अपनी पत्नी मातृशक्ति अपनी पत्नी के साथ

Romanized Version
Likes  360  Dislikes    views  3313
WhatsApp_icon
3 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Anmol Chandra

Director at Prayatna IAS

0:13
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हां बिल्कुल नहीं पड़ता है वहां के दूध

haan bilkul nahi padta hai wahan ke doodh

हां बिल्कुल नहीं पड़ता है वहां के दूध

Romanized Version
Likes  73  Dislikes    views  1293
WhatsApp_icon
user

DR OM PRAKASH SHARMA

Principal, Education Counselor, Best Experience in Professional and Vocational Education cum Training Skills and 25 years experience of Competitive Exams. 9212159179. dsopsharma@gmail.com

1:11
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपने कहा क्या आईएफएस अधिकारी अपनी पत्नी को अपने साथ ले आ सकते हैं लेकिन इंडिया में तो आईएएस आईएफएस अधिकारी की जहां भी पोस्टिंग होती है उनका परिवार उनके साथ रहता है क्योंकि उनको देने के लिए आवश्यकता है अगर हम विदेश की बात करें तो बिजनेस में भी परिवार को साथ रहने की अनुमति मिलती है वहां इस तरह का कोई बहन नहीं होता कि परिवार साथ नहीं रह सकता अब परिवार को इतनी क्षमता होनी चाहिए जो सहमति देकर और अपनी पूर्ण रूप से वह 1 पदों पर रहते हुए मैं मानकर चलता हूं कि उनकी कार्ड में बाधा उत्पन्न करें और उनको पूर्ण रूप से सरकारी सेवा करने का अवसर दें यहां आपत्तिजनक स्थिति हमारे डिपार्टमेंट के या सरकार के द्वारा नहीं होगी कि वह पश्चिम को अपने साथ नहीं रख सकते

aapne kaha kya IFS adhikari apni patni ko apne saath le aa sakte hain lekin india mein toh IAS IFS adhikari ki jaha bhi posting hoti hai unka parivar unke saath rehta hai kyonki unko dene ke liye avashyakta hai agar hum videsh ki baat kare toh business mein bhi parivar ko saath rehne ki anumati milti hai wahan is tarah ka koi behen nahi hota ki parivar saath nahi reh sakta ab parivar ko itni kshamta honi chahiye jo sahmati dekar aur apni purn roop se vaah 1 padon par rehte hue main maankar chalta hoon ki unki card mein badha utpann kare aur unko purn roop se sarkari seva karne ka avsar de yahan aapattijanak sthiti hamare department ke ya sarkar ke dwara nahi hogi ki vaah paschim ko apne saath nahi rakh sakte

आपने कहा क्या आईएफएस अधिकारी अपनी पत्नी को अपने साथ ले आ सकते हैं लेकिन इंडिया में तो आईएए

Romanized Version
Likes  60  Dislikes    views  1179
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!