क्या नेताओं को पेंशन मिलनी चाहिए? मिलनी चाहिए तो क्यों?...


user

Abhi Kumar Rana

Journalist

1:60
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

गलत है क्योंकि वह लोग पहले ही इतना भ्रष्टाचार करके करते हैं कुछ लोग रोड पर पड़े हैं पर मोदी जी के आने के बाद बहुत सुधार आया है वीडियो की बात कर रहे हैं मोदी जी ने क्या होता लग रहा है आलोक बाबू मोदी जी को मोदी जी की सीट से हटाना चाहते हैं मोदी जी को मानते हैं पब्लिक को भी प्रॉब्लम हो गई नोटबंदी आज हमारा देश आजाद बिल्कुल अकेले नेता लोगों ने भ्रष्टाचार इन्होंने फोन यूपी के अंदर अंदर 57000 करोड रुपए सब्सिडी के बचाए हैं मोदी जी ने किस आधार कार्ड लिंक तो उन्होंने क्या किया सट्टा बाजार और जो है जो आदमी मर चुके उनके अकाउंट में जा रहे हैं जो भी पैदा ही नहीं हुए उनके नाम से

galat hai kyonki vaah log pehle hi itna bhrashtachar karke karte hain kuch log road par pade hain par modi ji ke aane ke baad bahut sudhaar aaya hai video ki baat kar rahe hain modi ji ne kya hota lag raha hai alok babu modi ji ko modi ji ki seat se hatana chahte hain modi ji ko maante hain public ko bhi problem ho gayi notebandi aaj hamara desh azad bilkul akele neta logo ne bhrashtachar inhone phone up ke andar andar 57000 crore rupaye subsidy ke bachaye hain modi ji ne kis aadhaar card link toh unhone kya kiya satta bazaar aur jo hai jo aadmi mar chuke unke account mein ja rahe hain jo bhi paida hi nahi hue unke naam se

गलत है क्योंकि वह लोग पहले ही इतना भ्रष्टाचार करके करते हैं कुछ लोग रोड पर पड़े हैं पर मोद

Romanized Version
Likes  15  Dislikes    views  450
WhatsApp_icon
11 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user

Ghanshyam Mehar

Indian Politician

0:35

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नेताओं को पेंशन अगर इमानदार नेता है सच्चा आदमी चाहिए गलत काम करता है और क्या काम करता है

netaon ko pension agar imaandaar neta hai saccha aadmi chahiye galat kaam karta hai aur kya kaam karta hai

नेताओं को पेंशन अगर इमानदार नेता है सच्चा आदमी चाहिए गलत काम करता है और क्या काम करता है

Romanized Version
Likes  58  Dislikes    views  694
WhatsApp_icon
user

Aamir Saleem Khan

Chief Reporter/News editor

0:43
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हनी मुझे लगता है दिल्ली चाहिए के भजन कुटी कितने लोग आते हैं कि वह खातिर करता है कुछ नहीं तो चाय पिलाता है तुम चलाएगा और अगर आप उसको भी देंगे तो प्यार के

honey mujhe lagta hai delhi chahiye ke bhajan kuti kitne log aate hain ki wah khatir karta hai kuch nahi toh chai pilata hai tum chalayega aur agar aap usko bhi denge toh pyar ke

हनी मुझे लगता है दिल्ली चाहिए के भजन कुटी कितने लोग आते हैं कि वह खातिर करता है कुछ नहीं त

Romanized Version
Likes  29  Dislikes    views  432
WhatsApp_icon
user

Kr Wahid Ali

Journalist

0:34
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नेताओं को पेंशन मिलनी चाहिए क्योंकि कोई भी प्रतिनिधि जब चुनकर आता है तो बहुत मेहनत और और जनता से जुड़कर काफी लंबे समय के बाद उसको प्रतिनिधि चुना जाता है चाहे वह किसी भी पद पर आए और शायद एक बार चुने के बाद वह दोबारा बने इसकी कोई गारंटी नहीं है तो इसलिए टेंशन नेताओं के लिए उचित ही है

netaon ko pension milani chahiye kyonki koi bhi pratinidhi jab chunkar aata hai toh bahut mehnat aur aur janta se judakar kaafi lambe samay ke baad usko pratinidhi chuna jata hai chahen vaah kisi bhi pad par aaye aur shayad ek baar chune ke baad vaah dobara bane iski koi guarantee nahi hai toh isliye tension netaon ke liye uchit hi hai

नेताओं को पेंशन मिलनी चाहिए क्योंकि कोई भी प्रतिनिधि जब चुनकर आता है तो बहुत मेहनत और और ज

Romanized Version
Likes  17  Dislikes    views  436
WhatsApp_icon
user

Sachin Sinha

Journalist

1:03
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बिल्कुल नहीं नेताओं को पेंशन बिल्कुल बंद होना चाहिए यह पेंशन उनको मिलनी चाहिए जो आर्मी में है और मैं भी इसका विरोध भी नेताओं को बिल्कुल पेंशन मिलनी चाहिए सारे टाइप की सुविधाएं खाली नहीं मिल रही हैं और जिससे यह आम आदमियों को आम आदमी नहीं समझ रहे हैं एक दूरी बना कर के चल रहे हैं बिल्कुल बंद होनी चाहिए और यह पेंशन धारियों को मिलना चाहिए जो हमारे देश की सीमाओं पर आदमी खड़े रहते हैं क्या सर्दी हो गर्मी हो बरसात हो जाए जिसमें गांव की टेंशन बिल्कुल बंद करनी चाहिए और कह दो विरोध करते रहिए और सैनिकों को उनकी पेंशन चालू करने के लिए एक कार्यकर्ता

bilkul nahi netaon ko pension bilkul band hona chahiye yah pension unko milani chahiye jo army mein hai aur main bhi iska virodh bhi netaon ko bilkul pension milani chahiye saare type ki suvidhaen khaali nahi mil rahi hain aur jisse yah aam adamiyo ko aam aadmi nahi samajh rahe hain ek doori bana kar ke chal rahe hain bilkul band honi chahiye aur yah pension dhariyon ko milna chahiye jo hamare desh ki seemaon par aadmi khade rehte kya sardi ho garmi ho barsat ho jaaye jisme gaon ki tension bilkul band karni chahiye aur keh do virodh karte rahiye aur sainikon ko unki pension chaalu karne ke liye ek karyakarta

बिल्कुल नहीं नेताओं को पेंशन बिल्कुल बंद होना चाहिए यह पेंशन उनको मिलनी चाहिए जो आर्मी में

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  64
WhatsApp_icon
user
1:10
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नेताओं को पेंशन मिलना नहीं चाहिए जो कि नेताओं को जो पेंशन दे जाता है उससे देश के बुनियादी सुविधाओं को लेकर बजट में भारी परिवर्तन आ सकता है क्योंकि एक नेता को जिस प्रकार मुक्त में सब कुछ सुविधाएं दी जाती है साथ ही मोटी रकम उन्हें पेंशन के रूप में दी जाती है जो कहीं ना कहीं गलत साबित हो रहा है अगर उस पैसे को बेरोजगारों को रोजगार उपलब्ध कराने में तथा चिकित्सा एवं स्वास्थ्य पर बजट के रूप में खर्च किया जाए तो निश्चित रूप से और बेहतर हो सकता है क्योंकि एक किचन प्रतिनिधि प्रतिनिधि के काल में जो कमाई करते या तनखा के रूप मिलती हैं उसे उनका गुजर और सब ठीक-ठाक से चल सकता है परंतु प्रतिनिधि से दरकिनार होने पर उनको फिल्म में घूमने के लिए जगह पेंशन के रूप में मोटी रकम देना कहीं ना कहीं उचित नहीं है इसलिए ऐसे नेताओं को पेंशन नहीं मिलना चाहिए

netaon ko pension milna nahi chahiye jo ki netaon ko jo pension de jata hai usse desh ke buniyadi suvidhaon ko lekar budget mein bhari parivartan aa sakta hai kyonki ek neta ko jis prakar mukt mein sab kuch suvidhaen di jaati hai saath hi moti rakam unhe pension ke roop mein di jaati hai jo kahin na kahin galat saabit ho raha hai agar us paise ko berozgaron ko rojgar uplabdh karane mein tatha chikitsa evam swasthya par budget ke roop mein kharch kiya jaaye toh nishchit roop se aur behtar ho sakta hai kyonki ek kitchen pratinidhi pratinidhi ke kaal mein jo kamai karte ya tankha ke roop milti hai use unka gujar aur sab theek thak se chal sakta hai parantu pratinidhi se darakinar hone par unko film mein ghoomne ke liye jagah pension ke roop mein moti rakam dena kahin na kahin uchit nahi hai isliye aise netaon ko pension nahi milna chahiye

नेताओं को पेंशन मिलना नहीं चाहिए जो कि नेताओं को जो पेंशन दे जाता है उससे देश के बुनियादी

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  189
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मेरा ऐसे नेताओं को टेंशन नहीं मिलना चाहिए जो नेता बनता है वह समाज सेवा के लिए बनता ही नहीं है सीधा की भी अपनी संपत्ति वजन बढ़ाने के लिए बनता है या तो काला धन को सफेद करने के लिए बनता है हमारे देश में हमको लगता है लाइन के प्रसन्नता ऐसे हैं जो केवल निजी स्वार्थ के लिए नेता बनते हैं नेता कोई ऐसा हो जो देश के लिए सोचता है केवल भाषण देकर के चुना गया क्योंकि कल ₹500 में 3 महीने तक मोबाइल चलता है और सांसदों को खरीदे जाते हैं कितना गलत हो रहा है

mera aise netaon ko tension nahi milna chahiye jo neta banta hai vaah samaj seva ke liye banta hi nahi hai seedha ki bhi apni sampatti wajan badhane ke liye banta hai ya toh kaala dhan ko safed karne ke liye banta hai hamare desh mein hamko lagta hai line ke prasannata aise hain jo keval niji swarth ke liye neta bante hain neta koi aisa ho jo desh ke liye sochta hai keval bhashan dekar ke chuna gaya kyonki kal Rs mein 3 mahine tak mobile chalta hai aur sansadon ko kharide jaate hain kitna galat ho raha hai

मेरा ऐसे नेताओं को टेंशन नहीं मिलना चाहिए जो नेता बनता है वह समाज सेवा के लिए बनता ही नहीं

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  69
WhatsApp_icon
user

Sameer Tripathy

Political Critic

1:20
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

विकी भारत में 2 दिन पहले तो अगर अगर आप किसी भी एक विश्व के अजूबे वो सर जो इलेक्शन होता है उसमें लोगों का अलग अलग नजरिया होता है राजनीतिक लोगों का मगर भारत में जो इलेक्शन चुनाव जीता है तो मेजोरिटी 99% लोग जो पॉलिटिशियन से राजनीतिक है वह जो बनाया चुनावी प्रक्रिया लड़ते हैं पैसे कमाने के लिए पैसे पैसे लूटने के लिए लोगों की भलाई के लिए कोई काम नहीं करना चाहता है लोगों को लूटने के लिए चुनावी चुनावी चुनावी जीतना चाहते हैं चुनाव में जो पैसा लगाता है कब एक करोड़ से 2 करोड रुपए के MP लगाता है चुनावी को उस को प्रमोट करने के लिए वह दो उसमें से वह 15 से 20 करोड़ आराम से को निकालने का MP 11 MP का में बात करूंगा तो और बाकी तो छोड़िए 100 200 करोड़ का तो उस टाइम होता ही रहता है भारत में अब हम पहले से देख कर आ रहे हैं तो इन लोगों को फिर से पेंशन क्यों चाहिए मुझे तो यह बात समझ में नहीं आता है तो यह पहले तो यह तो बुरा लोगों को लूट लूट कर रहे थे उसके बाद रिटायर होने के बाद वह लोग घर में बैठकर पेंशन का पैसा भी खाएंगे तो यह बात तो मैं उसमें मैं बिल्कुल सहमत नहीं हूं टेंशन तो मिलना ही नहीं चाहिए क्योंकि यह पेंशन का क्यों इनके जो चार पांच जनों का जो भोजुपरी आएगा उसके लिए वह पैसा खा लेते हैं तो उन लोगों को पेंशन का क्या जरूरत है मुझे अभी तक समझ में नहीं आया

vicky bharat mein 2 din pehle toh agar agar aap kisi bhi ek vishwa ke ajoobe vo sir jo election hota hai usme logo ka alag alag najariya hota hai raajnitik logo ka magar bharat mein jo election chunav jita hai toh majority 99 log jo politician se raajnitik hai vaah jo banaya chunavi prakriya ladte hai paise kamane ke liye paise paise lutane ke liye logo ki bhalai ke liye koi kaam nahi karna chahta hai logo ko lutane ke liye chunavi chunavi chunavi jeetna chahte hai chunav mein jo paisa lagaata hai kab ek crore se 2 crore rupaye ke MP lagaata hai chunavi ko us ko promote karne ke liye vaah do usme se vaah 15 se 20 crore aaram se ko nikalne ka MP 11 MP ka mein baat karunga toh aur baki toh chodiye 100 200 crore ka toh us time hota hi rehta hai bharat mein ab hum pehle se dekh kar aa rahe hai toh in logo ko phir se pension kyon chahiye mujhe toh yah baat samajh mein nahi aata hai toh yah pehle toh yah toh bura logo ko loot loot kar rahe the uske baad retire hone ke baad vaah log ghar mein baithkar pension ka paisa bhi khayenge toh yah baat toh main usme main bilkul sahmat nahi hoon tension toh milna hi nahi chahiye kyonki yah pension ka kyon inke jo char paanch jano ka jo bhojupari aayega uske liye vaah paisa kha lete hai toh un logo ko pension ka kya zarurat hai mujhe abhi tak samajh mein nahi aaya

विकी भारत में 2 दिन पहले तो अगर अगर आप किसी भी एक विश्व के अजूबे वो सर जो इलेक्शन होता है

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  118
WhatsApp_icon
user

Kunjansinh Rajput

Aspiring Journalist

1:23
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए मेरे हिसाब से मिलता है जो कि लोकसभा राज्यसभा में है या फिर ईमेल भेज चुके हैं या फिर सरकार के काम कर रहे हो या राज्य सरकार हो या फिर मेरा देश की सरकार हो तो हमेशा मेरे साथ पेंशन मिलना चाहिए क्योंकि पार्टी के राज्यसभा लोकसभा में होने पेंशन मिलनी चाहिए और उनकी जो पेंशन जो है वह कम से कम 8800 से नीचे की सबसे नई पेंशन मिलनी चाहिए कि जिस प्रकार से और राज्यसभा लोकसभा में नेता जो है काम करते हैं अलग-अलग रहते हैं लेकिन जो है वह दिल्ली में संसद में बैठते हैं और आज जो भी बंद है या फिर कोई भी चीज है उसे अच्छे से डिस्कस करते हैं फिर आम जनता की जरूरत होगी ना आप दोनों या ऑफिस में हो चाहे लोकसभा व राज्यसभा हो तुम कि यह काम करो कि मेहनत के लिए जो है टेंशन लेना चाहिए दिखाई गया है लेकिन आज इस प्रकार से सरकार

dekhiye mere hisab se milta hai jo ki lok sabha rajya sabha mein hai ya phir email bhej chuke hain ya phir sarkar ke kaam kar rahe ho ya rajya sarkar ho ya phir mera desh ki sarkar ho toh hamesha mere saath pension milna chahiye kyonki party ke rajya sabha lok sabha mein hone pension milani chahiye aur unki jo pension jo hai vaah kam se kam 8800 se niche ki sabse nayi pension milani chahiye ki jis prakar se aur rajya sabha lok sabha mein neta jo hai kaam karte hain alag alag rehte hain lekin jo hai vaah delhi mein sansad mein baithate hain aur aaj jo bhi band hai ya phir koi bhi cheez hai use acche se discs karte hain phir aam janta ki zarurat hogi na aap dono ya office mein ho chahen lok sabha va rajya sabha ho tum ki yah kaam karo ki mehnat ke liye jo hai tension lena chahiye dikhai gaya hai lekin aaj is prakar se sarkar

देखिए मेरे हिसाब से मिलता है जो कि लोकसभा राज्यसभा में है या फिर ईमेल भेज चुके हैं या फिर

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  135
WhatsApp_icon
user

Swati

सुनो ..सुनाओ..सीखो!

2:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

विदिशा सबसे पहले मैं आपको बताती हूं कि जो यह MBA जो मेंबर और जॉन एलिया यह सब होता है किन को सैलरी कितनी मिलती है चूंकि मंत्री फिक्स सैलरी होती वह ₹50000 होती है उनको जो अलाउंस मिलते हैं कौन से सन से अलार्म फॉर फाइव फाइव थाउजेंड 45000 होती है और ऑफिस के एक्सपेंसेस P55 था उस दिन हुए उसके अलावा अलावा दिए दिए Airtel Airtel रावल वाटर इलेक्ट्रिसिटी फर्नीचर टेलीफोन हाउस रेंट मेडिकल जो उनके परिवार वालों को भी मिलता है यह सब चीजें मिलाकर उन की 1 महीने की सैलरी हुई करीबन 200000 51823 रुपए यानी कि पूरे साल की हुई करीबन 3500000 रूपय 3500000 रुपए अगर कोई ऐसा कमाल है तो उससे ज्यादा टेंशन की जरूरत वैसे मेरे हिसाब से नहीं है बट स्टील क्योंकि उन्होंने गवर्मेंट संदेश को सर्च किया है दिल के लिए कुछ अच्छा किया है देश का एक बहुत इंपॉर्टेंट पार्ट रहे हैं तूने पेंसिल जरुर मिलनी चाहिए लेकिन मैं यह कहना चाहती हूं कि अगर किसी अपने स्टोर पर कोई इल्जाम लगा है क्या उस पर कोई आरोप है करप्शन का या कुछ और कोई भी क्राइम करने का तो उसे सैलरी उसे पेंशन बिल्कुल भी नहीं मिले चाहिए जो साफ छवि के नेता हो उन्हें जरूर पैसे दे दे क्योंकि जो साफ साफ छवि बनाए रखे पॉलिटिक्स में रहने के बावजूद इसका मतलब उन्होंने सच में कुछ अच्छे काम किए होंगे उन नेताओं को जरूर सैलरी के बाद पेंशन दीजिए और पेंशन भी बहुत ज्यादा देने की जरूरत नहीं है मेरे साथ क्योंकि अगर एक इंसान 3500000 रुपए महीना कमा रहा है और अगर वह महीने के ₹100000 भी खर्च कर रहा है जिसमें कि उनका कोई टेलीफोन बिल इलेक्ट्रिसिटी बिल वाटर बिल घर का बिल कुछ उसमें इंटरेस्टेड नहीं है तो वह ₹100000 उसके अलावा क्या कपड़ों खानों पर ही खर्च होंगे ना और एक आंख पर मेरे हिसाब से घर चल जाता है किसी का भी

vidisha sabse pehle main aapko batati hoon ki jo yah MBA jo member aur john eliya yah sab hota hai kin ko salary kitni milti hai chunki mantri fix salary hoti vaah Rs hoti hai unko jo Allowance milte hain kaunsi san se alarm for five five thousand 45000 hoti hai aur office ke eksapenses P55 tha us din hue uske alava alava diye diye Airtel Airtel raval water electricity furniture telephone house rent medical jo unke parivar walon ko bhi milta hai yah sab cheezen milakar un ki 1 mahine ki salary hui kariban 200000 51823 rupaye yani ki poore saal ki hui kariban 3500000 rupay 3500000 rupaye agar koi aisa kamaal hai toh usse zyada tension ki zarurat waise mere hisab se nahi hai but steel kyonki unhone government sandesh ko search kiya hai dil ke liye kuch accha kiya hai desh ka ek bahut important part rahe hain tune pencil zaroor milani chahiye lekin main yah kehna chahti hoon ki agar kisi apne store par koi illajam laga hai kya us par koi aarop hai corruption ka ya kuch aur koi bhi crime karne ka toh use salary use pension bilkul bhi nahi mile chahiye jo saaf chhavi ke neta ho unhe zaroor paise de de kyonki jo saaf saaf chhavi banaye rakhe politics mein rehne ke bawajud iska matlab unhone sach mein kuch acche kaam kiye honge un netaon ko zaroor salary ke baad pension dijiye aur pension bhi bahut zyada dene ki zarurat nahi hai mere saath kyonki agar ek insaan 3500000 rupaye mahina kama raha hai aur agar vaah mahine ke Rs bhi kharch kar raha hai jisme ki unka koi telephone bill electricity bill water bill ghar ka bill kuch usme interested nahi hai toh vaah Rs uske alava kya kapdo khanon par hi kharch honge na aur ek aankh par mere hisab se ghar chal jata hai kisi ka bhi

विदिशा सबसे पहले मैं आपको बताती हूं कि जो यह MBA जो मेंबर और जॉन एलिया यह सब होता है किन क

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  141
WhatsApp_icon
user

Sachin Bharadwaj

Faculty - Mathematics

0:60
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लेकिन मेरी तो पर्सनल ओपिनियन है मुझे लगता है कि नेताओं को भी टेंशन नहीं लेना चाहिए का कारण है क्या क्योंकि सरकार ने ऑलरेडी कमेंट ब्लाउज के लिए पेंशन बंद कर दिया और पॉलिटिक्स में मुझे लगता है कि जितने भी नेता हैं वह इतना ज्यादा पैसा कमाई लेते हैं तो उनको लाइफ में किसी भी तरह की कोई फर्नीचर प्रॉब्लम तो आती नहीं है तो उनका तो बिल्कुल बंद होना चाहिए पेंशन ओके अगर एक व्यक्ति एक बार भी MLA बन जाता है तो उसकी पेंशन स्टार्ट हो जाती है ठीक है एक बार MLA बन जाता उन 5 सालों में इतना पैसा कमा लेता है कि कि आने वाली चार या पांच फिर भी आराम से खा कर रह सकती है तो मुझे लगता है इन लोगों की तो बिल्कुल पेंशन बंद होना चाहिए गांव में डबल है कि अगर मैं बात हो तो कमेंट ब्लॉक के पास क्या है उसकी कि उसकी सैलरी है उसकी सेविंग है उसके बाद भी सरकार ने उसकी पेंशन को बंद किया हुआ तो मुझे लगता है उस घर अगर गवर्नमेंट एंप्लॉय की पेंशन बंद हो सकती है तो इन लोगों को भी पेंशन बंद होना चाहिए क्योंकि यह लोग तो ऑलरेडी इतना कमा लेते हैं गवर्मेंट अप्लाई तो बिल्कुल भी नहीं पता

lekin meri toh personal opinion hai mujhe lagta hai ki netaon ko bhi tension nahi lena chahiye ka karan hai kya kyonki sarkar ne already comment blouse ke liye pension band kar diya aur politics mein mujhe lagta hai ki jitne bhi neta hain vaah itna zyada paisa kamai lete hain toh unko life mein kisi bhi tarah ki koi furniture problem toh aati nahi hai toh unka toh bilkul band hona chahiye pension ok agar ek vyakti ek baar bhi MLA ban jata hai toh uski pension start ho jaati hai theek hai ek baar MLA ban jata un 5 salon mein itna paisa kama leta hai ki ki aane wali char ya paanch phir bhi aaram se kha kar reh sakti hai toh mujhe lagta hai in logo ki toh bilkul pension band hona chahiye gaon mein double hai ki agar main baat ho toh comment block ke paas kya hai uski ki uski salary hai uski saving hai uske baad bhi sarkar ne uski pension ko band kiya hua toh mujhe lagta hai us ghar agar government employee ki pension band ho sakti hai toh in logo ko bhi pension band hona chahiye kyonki yah log toh already itna kama lete hain government apply toh bilkul bhi nahi pata

लेकिन मेरी तो पर्सनल ओपिनियन है मुझे लगता है कि नेताओं को भी टेंशन नहीं लेना चाहिए का कारण

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  184
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!