हम इंसान एक दुसरे से कैसे जुड़े हुए है और क्यों?...


user

Bk Arun Kaushik

Youth Counselor Motivational Speaker

2:16
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हम इंसान एक दूसरे से कैसे जुड़े होंगे और क्यों साथियों इस को समझने के लिए हमें कर्म फिलासफी को समझना पड़ेगा कि हम क्यों इसी घर में आए यही हमारे माता-पिता यही भाई बहन है एक साधारण बात नहीं है यह बड़ी लंबी कार्मिक अकाउंट है जो हमारे जन्मों का चलता रहता है जैसे कि बैंक के अंदर हमको पैसा जमा कराते हैं उसका ब्याज मिलता है अगर नहीं जमा करा दें उसको पीछे देना पड़ता है ऐसे ही जीवन के अंदर हमारे जो इस जन्म में हम कर्म करते हैं कि उसे की माता पिता के रूप में जो मारे शापित लेने देने का होता है जिससे हमारे कर्मों का हिसाब किताब होते हैं बच्चे पढ़ते हैं पढ़ने के बाद एकदम डेथ हो जाती है माता-पिता का कितना खर्चा हो जाता है और बच्चा भी गया दुखी भी हुए यह क्या यह हमारे कर्मों का हिसाब किताब होता है जो पीछे लेने आओ लेने वाला लेकर चला जाता है इस चीज को हम समझे तो हम अपने कर्मों को अच्छा करने लग जाएंगे हम अपने कर्मों को ध्यान नहीं देते सुख दुख इसी के ऊपर डिपेंड करता है हम जो कर्म कर रहे हैं अच्छे कर्म करते हैं तो हमें अगले जन्म के अंदर इस जन्म में भी अगले जन्म में भी अच्छे हमारे जीवन मिलता है सुख मिलते हैं परंतु अगर बुरे कर्म करते हैं तो हमें उसको पे करना पड़ता है स्वास्थ्य खराब होने के कारण बीमारी के कारण यह संबंधों में टकराव के कारण किसी को धोखा देते हैं किसी को नुकसान पहुंचाते हैं इस तरह जो भी हम कर्म करते हैं उसको हम अगले जन्म में ही करना पड़ता है या फिर रिसीव करना पड़ता है इस बात का हमेशा ध्यान रखें कि हर कर्म का फल में मिलता है रिएक्शन है रिएक्शन यही जन्म मरण का चक्कर है जिसमें आत्मा घूमती रहती है इसीलिए हम एक दूसरे से जुड़े हुए हैं क्योंकि हमने पिछले जन्म में कुछ लिया है तो देना पड़ेगा कुछ दिया है तो इस जन्म में लेना पड़ेगा तुझे इस तरह से हमारी कर्म फुल एचडी सदा चलती रहती है इसको हमें बड़ी गहराई से सोचना पड़ेगा समझना पड़ेगा अगर हम समझ जाएंगे तो हम अपने कर्मों में बदलाव लाएंगे और अच्छे कर्म करने शुरू कर सकते हैं

hum insaan ek dusre se kaise jude honge aur kyon sathiyo is ko samjhne ke liye hamein karm filasafi ko samajhna padega ki hum kyon isi ghar me aaye yahi hamare mata pita yahi bhai behen hai ek sadhaaran baat nahi hai yah badi lambi karmik account hai jo hamare janmon ka chalta rehta hai jaise ki bank ke andar hamko paisa jama karate hain uska byaj milta hai agar nahi jama kara de usko peeche dena padta hai aise hi jeevan ke andar hamare jo is janam me hum karm karte hain ki use ki mata pita ke roop me jo maare shaapit lene dene ka hota hai jisse hamare karmon ka hisab kitab hote hain bacche padhte hain padhne ke baad ekdam death ho jaati hai mata pita ka kitna kharcha ho jata hai aur baccha bhi gaya dukhi bhi hue yah kya yah hamare karmon ka hisab kitab hota hai jo peeche lene aao lene vala lekar chala jata hai is cheez ko hum samjhe toh hum apne karmon ko accha karne lag jaenge hum apne karmon ko dhyan nahi dete sukh dukh isi ke upar depend karta hai hum jo karm kar rahe hain acche karm karte hain toh hamein agle janam ke andar is janam me bhi agle janam me bhi acche hamare jeevan milta hai sukh milte hain parantu agar bure karm karte hain toh hamein usko pe karna padta hai swasthya kharab hone ke karan bimari ke karan yah sambandhon me takraav ke karan kisi ko dhokha dete hain kisi ko nuksan pahunchate hain is tarah jo bhi hum karm karte hain usko hum agle janam me hi karna padta hai ya phir receive karna padta hai is baat ka hamesha dhyan rakhen ki har karm ka fal me milta hai reaction hai reaction yahi janam maran ka chakkar hai jisme aatma ghoomti rehti hai isliye hum ek dusre se jude hue hain kyonki humne pichle janam me kuch liya hai toh dena padega kuch diya hai toh is janam me lena padega tujhe is tarah se hamari karm full hd sada chalti rehti hai isko hamein badi gehrai se sochna padega samajhna padega agar hum samajh jaenge toh hum apne karmon me badlav layenge aur acche karm karne shuru kar sakte hain

हम इंसान एक दूसरे से कैसे जुड़े होंगे और क्यों साथियों इस को समझने के लिए हमें कर्म फिलासफ

Romanized Version
Likes  85  Dislikes    views  2832
KooApp_icon
WhatsApp_icon
4 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!