मेरी गर्लफ्रेंड नहीं है, लेकिन वह दोस्त है, उसको कैसे प्रपोज़ करूँ? ...


user

Ashok Clinic

Sexologist

0:18
Play

Likes  541  Dislikes    views  6778
WhatsApp_icon
3 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Ansh jalandra

Motivational speaker & criminal lawyer

0:34
Play

Likes  134  Dislikes    views  3347
WhatsApp_icon
user

Pt.Sudhakar shukla

🦚Birth kundli Specialist🌹 भारत भाग्य विधाता🚩

2:51
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जिस प्रकार हजारों लीटर दूध में थोड़ा सा अम्ल डाल देने से वह दूध गर्म करने पर फट जाते हैं उसी प्रकार से आप दोनों के मध्य में बहुत दिनों की यह दोस्ती उसमें आप स्वयं के अभिलाषा या इच्छा पूर्ति के लिए यदि ऐसा कुछ करते हैं जिससे उसको गलत लगे या वह आपके साथ ऐसा व्यवहार ना करना चाहते हो तो आपकी मित्रता टूट भी सकती है इस कारण से आप उनसे सीधे बात कर ले क्योंकि शक्ति और सही बोलने वाले व्यक्ति ज्यादा प्रभावी होते हैं और उनकी मित्रता सदैव बनी रहती है तो आप किस कारणवश उनसे मित्रता का रखें सीधा बोले आप अपना वाक्य शुद्ध और साफ रखें जिसमें आपकी गलत भावनाएं बिल्कुल नहीं होनी चाहिए अगर गलत भावनाएं हैं तो उसके जिम्मेदार आप स्वयं होंगे यदि वह आपसे मित्रता रखना चाहता है लेकिन प्रेम संबंध नहीं बनाना चाहते हैं तो आप दोबारा ऐसी बात बिल्कुल मत करें यदि आप दोनों के मध्य में ऐसा कुछ संबंध है तो वह भी सीधे तौर पर आपको बता देगा लेकिन ध्यान दें आप दोनों मित्र हैं एक दूसरे के सहयोग के लिए बने रहें गलत भावनाएं मन में बिल्कुल लगाएं इससे आप दोनों के जीवन में आने वाले समय में नुकसान हो सकता है क्योंकि आपका जीवन और उसके जीवन लड़का और लड़की में एक दोनों के प्रति सम्मान होना एक दोनों के प्रति भरोसा होना जरूरी है जब आप ऐसा कुछ करते हैं या ऐसा कुछ शब्द बोलते हैं जिससे दूसरा व्यक्ति आपके साथ रहने में अनसेफ महसूस करें अर्थात वह लड़की या हुआ लड़का जो आपका मित्र है जब उसको लगेगा कि आप उसके प्रति दुष्ट भावना रखते हैं अर्थात गलत भावना रखते हैं तो उसके मन में आपके प्रति हो सकता है मित्रता के कारण या आपसे अभी तक के संबंध के कारण व क्रोधित ज्यादा ना हो पाए लेकिन उसको एक डर आएगा कि आप कहीं ना कहीं से उसका गलत उपयोग कर रहे हैं इस कारणवश आपकी मित्रता भी छोड़ सकती है इससे आप ध्यान दें मित्रता आप रखे हैं लेकिन ऐसे शब्दों का प्रयोग बिल्कुल मत करें या से ऐसी हरकत बिल्कुल ना करें ऐसी गलती बिल्कुल ना करें जिससे आप दोनों के संबंध खराब है और एक बार तो मित्रता सदैव एक दूसरे के सहयोग के लिए होती है गलत फायदा उठाने के लिए नहीं जय श्री राम

jis prakar hazaro litre doodh me thoda sa amal daal dene se vaah doodh garam karne par phat jaate hain usi prakar se aap dono ke madhya me bahut dino ki yah dosti usme aap swayam ke abhilasha ya iccha purti ke liye yadi aisa kuch karte hain jisse usko galat lage ya vaah aapke saath aisa vyavhar na karna chahte ho toh aapki mitrata toot bhi sakti hai is karan se aap unse sidhe baat kar le kyonki shakti aur sahi bolne waale vyakti zyada prabhavi hote hain aur unki mitrata sadaiv bani rehti hai toh aap kis karanvash unse mitrata ka rakhen seedha bole aap apna vakya shudh aur saaf rakhen jisme aapki galat bhaavnaye bilkul nahi honi chahiye agar galat bhaavnaye hain toh uske zimmedar aap swayam honge yadi vaah aapse mitrata rakhna chahta hai lekin prem sambandh nahi banana chahte hain toh aap dobara aisi baat bilkul mat kare yadi aap dono ke madhya me aisa kuch sambandh hai toh vaah bhi sidhe taur par aapko bata dega lekin dhyan de aap dono mitra hain ek dusre ke sahyog ke liye bane rahein galat bhaavnaye man me bilkul lagaye isse aap dono ke jeevan me aane waale samay me nuksan ho sakta hai kyonki aapka jeevan aur uske jeevan ladka aur ladki me ek dono ke prati sammaan hona ek dono ke prati bharosa hona zaroori hai jab aap aisa kuch karte hain ya aisa kuch shabd bolte hain jisse doosra vyakti aapke saath rehne me unsafe mehsus kare arthat vaah ladki ya hua ladka jo aapka mitra hai jab usko lagega ki aap uske prati dusht bhavna rakhte hain arthat galat bhavna rakhte hain toh uske man me aapke prati ho sakta hai mitrata ke karan ya aapse abhi tak ke sambandh ke karan va krodhit zyada na ho paye lekin usko ek dar aayega ki aap kahin na kahin se uska galat upyog kar rahe hain is karanvash aapki mitrata bhi chhod sakti hai isse aap dhyan de mitrata aap rakhe hain lekin aise shabdon ka prayog bilkul mat kare ya se aisi harkat bilkul na kare aisi galti bilkul na kare jisse aap dono ke sambandh kharab hai aur ek baar toh mitrata sadaiv ek dusre ke sahyog ke liye hoti hai galat fayda uthane ke liye nahi jai shri ram

जिस प्रकार हजारों लीटर दूध में थोड़ा सा अम्ल डाल देने से वह दूध गर्म करने पर फट जाते हैं उ

Romanized Version
Likes  75  Dislikes    views  1863
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!