करवा चौथ का व्रत क्यों किया जाता है?...


user

Vimla Bidawatka

Spiritual Thinker

1:45
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पुराने जमाने में या पुराणों में या हमारी ऐसी कथाओं में है कि सत्यवती और उसके पति काम कहां जा रहे थे और उसके मुझे नाम नहीं याद आ रहा है शायद सच्चे काम था या जो भी है कि उसकी मृत्यु हो गई तो सत्यवती ने कैसे भी करके यमराज को मना कर या प्रार्थना कर कर अपने पति का जीवन वापस ले आई और उसने सोचा तू स्कूल मान्यता से अब सब ऐसा ही करते हैं कि करवा चौथ करने से पति की उम्र बड़ी होती है मैं पर्सनली मैं इन सब चीजों में विश्वास नहीं करती हूं क्योंकि किसी के व्रत करने से दूसरे किसी की उम्र भर जाए ऐसा हो नहीं सकता है हर किसी को अपनी उम्र मिलती है और उसके हिसाब से वह जीता है अगर एक उसके लिए व्रत करें या कोई पहाड़ चढ़े या कोई पूजा कर ले और दूसरे की उम्र भर जाए ऐसा होता नहीं है लेकिन हम अभी भी यह 20 वीं सदी में भी लकीर के फकीर की तरह वह किए जा रहे हैं दुनिया चांद पर पहुंच गई हम अभी भी चांद को देखकर सोचते हैं कि नहीं हमारे पति की उम्र भर जाएगी पर मुझे अफसोस होता है कि अब भी इतने पढ़े लिखे लोग भी बहुत जोर जोर से यह सारे काम कर रहे हैं कुछ सोचते ही नहीं है कि इसके पीछे का मकसद क्या है इन सभी का ऐसा हो गया कि अगर पति व्रत कर रही है तो पति भी कर रहे हो दोनों एक दूसरे की लंबी उम्र की कामना के लिए करते काम ना करने से कुछ मिलता ही नहीं है मिलता वही है जो हमारी किस्मत में लिखा है तो आपको मैंने बता दिया कि करवा चौथ का व्रत क्यों किया जाता है

purane jamane me ya purano me ya hamari aisi kathao me hai ki satyavati aur uske pati kaam kaha ja rahe the aur uske mujhe naam nahi yaad aa raha hai shayad sacche kaam tha ya jo bhi hai ki uski mrityu ho gayi toh satyavati ne kaise bhi karke yamraj ko mana kar ya prarthna kar kar apne pati ka jeevan wapas le I aur usne socha tu school manyata se ab sab aisa hi karte hain ki karva chauth karne se pati ki umar badi hoti hai main personally main in sab chijon me vishwas nahi karti hoon kyonki kisi ke vrat karne se dusre kisi ki umar bhar jaaye aisa ho nahi sakta hai har kisi ko apni umar milti hai aur uske hisab se vaah jita hai agar ek uske liye vrat kare ya koi pahad chade ya koi puja kar le aur dusre ki umar bhar jaaye aisa hota nahi hai lekin hum abhi bhi yah 20 vi sadi me bhi lakir ke fakir ki tarah vaah kiye ja rahe hain duniya chand par pohch gayi hum abhi bhi chand ko dekhkar sochte hain ki nahi hamare pati ki umar bhar jayegi par mujhe afasos hota hai ki ab bhi itne padhe likhe log bhi bahut jor jor se yah saare kaam kar rahe hain kuch sochte hi nahi hai ki iske peeche ka maksad kya hai in sabhi ka aisa ho gaya ki agar pati vrat kar rahi hai toh pati bhi kar rahe ho dono ek dusre ki lambi umar ki kamna ke liye karte kaam na karne se kuch milta hi nahi hai milta wahi hai jo hamari kismat me likha hai toh aapko maine bata diya ki karva chauth ka vrat kyon kiya jata hai

पुराने जमाने में या पुराणों में या हमारी ऐसी कथाओं में है कि सत्यवती और उसके पति काम कहां

Romanized Version
Likes  176  Dislikes    views  3598
KooApp_icon
WhatsApp_icon
1 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!