क्या चीन जानबूझकर भारतीय उपमहाद्वीप में प्रवेश कर रहा है? वो कब तक ऐसा करते रहेंगे?...


play
user

Ravi Sharma

Advocate

1:57

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

चीन की अगर बात करें तो चीन एक बहुत ही महत्वकांक्षी राष्ट्र है उसकी महत्वकांक्षा इतनी दूर है इतनी विस्तृत है कि वह ना केवल भारतीय उपमहाद्वीप में बल्क दक्षिण चीन सागर में भी अपना प्रभाव लगातार बनाए रखता है श्रीनगर उत्तर में रसिया तो पश्चिम में वह जापान वर्ग उत्तर व दक्षिण कोरिया के सीमाओं में हस्तक्षेप करता रहता है वहीं पूर्व में वह भारत पाकिस्तान कजाकिस्तान मंगोलिया जैसे देशों पर लगातार अपना हस्तक्षेप करता रहता है उसकी यहां महत्वकांक्षा ही है कि वह अपना क्षेत्रफल बढ़ाना चाहता है क्योंकि अगर हम भूगोल के हिसाब से देखे हैं तो चीन के पास अधिकाधिक जो जमीन है वह खेती योग्य नहीं है तथा कुछ एक बहुत ही सीमित जोश का क्षेत्र है वह उपजाऊ है जिसमें वहां प्रोडक्टिव काम कर सकता है यानी कि कुछ ऐसा काम जिससे कि उसे कुछ लाभ हो तो बचा अधिक से अधिक क्षेत्रफल अपना बड़ा है तथा अपना सीमाओं को बढ़ाकर एक प्रकार से अपना वर्चस्व संपूर्ण एशिया में यूरोप तक कायम करने कि उसकी योजना है मुझे ऐसा लगता है कि वह तब तक ऐसा करता रहेगा जब तक कि उसकी महत्वाकांक्षाएं सिद्ध नहीं होती उसके वर्तमान चीनी सरकार का अहम योगदान है अगर हम इतिहास उठाकर देख कर तो विगत कई दशकों में कोई भी चीनी सरकार इतनी महत्वकांक्षी नहीं रही जितनी कि आज चीन आज की चीन की सरकार है और मुझे लगता है कि यह एक बहुत ही गलत परंतु साहसिक कदम है जो कि चीन उठा रहा है और भारत को इससे सावधान रहना चाहिए क्योंकि भारत को पता भी नहीं रहेगा और चीन उसके पता नहीं कितने वर्ग क्षेत्र किलोमीटर पर अपना प्रभाव अपना प्रभुत्व कायम कर लेगा तो इसमें भारत को बहुत ही सावधान रहने की आवश्यकता है धन्यवाद

china ki agar baat kare toh china ek bahut hi mahatwakankshi rashtra hai uski mahatwakanksha itni dur hai itni vistrit hai ki vaah na keval bharatiya upamahadweep mein bulk dakshin china sagar mein bhi apna prabhav lagatar banaye rakhta hai srinagar uttar mein rasiya toh paschim mein vaah japan varg uttar va dakshin korea ke seemaon mein hastakshep karta rehta hai wahi purv mein vaah bharat pakistan Kazakhstan Mongolia jaise deshon par lagatar apna hastakshep karta rehta hai uski yahan mahatwakanksha hi hai ki vaah apna kshetrafal badhana chahta hai kyonki agar hum bhugol ke hisab se dekhe hai toh china ke paas adhikadhik jo jameen hai vaah kheti yogya nahi hai tatha kuch ek bahut hi simit josh ka kshetra hai vaah upajau hai jisme wahan productive kaam kar sakta hai yani ki kuch aisa kaam jisse ki use kuch labh ho toh bacha adhik se adhik kshetrafal apna bada hai tatha apna seemaon ko badhkar ek prakar se apna varchaswa sampurna asia mein europe tak kayam karne ki uski yojana hai mujhe aisa lagta hai ki vaah tab tak aisa karta rahega jab tak ki uski mahatwakankshaen siddh nahi hoti uske vartaman chini sarkar ka aham yogdan hai agar hum itihas uthaakar dekh kar toh vigat kai dashakon mein koi bhi chini sarkar itni mahatwakankshi nahi rahi jitni ki aaj china aaj ki china ki sarkar hai aur mujhe lagta hai ki yah ek bahut hi galat parantu sahasik kadam hai jo ki china utha raha hai aur bharat ko isse savdhaan rehna chahiye kyonki bharat ko pata bhi nahi rahega aur china uske pata nahi kitne varg kshetra kilometre par apna prabhav apna parbhutwa kayam kar lega toh isme bharat ko bahut hi savdhaan rehne ki avashyakta hai dhanyavad

चीन की अगर बात करें तो चीन एक बहुत ही महत्वकांक्षी राष्ट्र है उसकी महत्वकांक्षा इतनी दूर ह

Romanized Version
Likes  18  Dislikes    views  202
WhatsApp_icon
5 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Swati

सुनो ..सुनाओ..सीखो!

1:26
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए चाइना जो है वह भारत को ज्यादा इंपोर्टेंस देता नहीं है वह से बहुत इंपॉर्टेंट समझता ही नहीं है और वह भारत को हर तरीके से नहीं सफर ने कीया कमजोर बनाने की कोशिश करते रहते हैं चाहे वह पाकिस्तान के साथ दोस्ती हो या फिर से पाकिस्तान के साथ उनकी गहरी दोस्ती या फिर कुछ और भी अभी ढोकला बात हुआ था वह भारतीय सेना मायावती इराक में घुसे जा रहे थे और अब भी कल ही की बात है कि वह अरुणाचल प्रदेश में 1 किलोमीटर अंदर तक आ गए जो कि रोड बनाने की वैकेंसी थी वह लोग तो सेना ने हस्तक्षेप कर क्यों नहीं वहां से बाहर निकाला तो चाइना को पूरी कोशिश कर रहा है भारत को हर तरफ से खेलने की ताकि अल्टीमेट ली पु भारत को ब्लैकमेल कर सके उस पर कब्जा जमा सके लेकिन चाइना XX स्टैंड देश है उसे ज्यादा जरूरत नहीं है किसी और की BP को भारत के खिलाफ जाने की पूरी पूरी कोशिश कर रहा है और बल्कि वह अरुणाचल प्रदेश को तो भारत का आधा हिस्सा मानती भी नहीं है और मुझे लगता नहीं कि आने वाले समय में एकदम से बंद हो जाएगा भारत पर एक सख्त रवैया दिखाना होगा चाइना की तरह तभी जाकर ऐसा कुछ हस्तक्षेप करना है यहां हमारे इलाकों में आना जाना बंद कर पाएगा

dekhiye china jo hai vaah bharat ko zyada importance deta nahi hai vaah se bahut important samajhata hi nahi hai aur vaah bharat ko har tarike se nahi safar ne kiya kamjor banane ki koshish karte rehte hain chahen vaah pakistan ke saath dosti ho ya phir se pakistan ke saath unki gehri dosti ya phir kuch aur bhi abhi dhokla baat hua tha vaah bharatiya sena mayawati iraq mein ghuse ja rahe the aur ab bhi kal hi ki baat hai ki vaah arunachal pradesh mein 1 kilometre andar tak aa gaye jo ki road banane ki vacancy thi vaah log toh sena ne hastakshep kar kyon nahi wahan se bahar nikaala toh china ko puri koshish kar raha hai bharat ko har taraf se khelne ki taki ultimate li pu bharat ko blackmail kar sake us par kabza jama sake lekin china XX stand desh hai use zyada zarurat nahi hai kisi aur ki BP ko bharat ke khilaf jaane ki puri puri koshish kar raha hai aur balki vaah arunachal pradesh ko toh bharat ka aadha hissa maanati bhi nahi hai aur mujhe lagta nahi ki aane waale samay mein ekdam se band ho jaega bharat par ek sakht ravaiya dikhana hoga china ki tarah tabhi jaakar aisa kuch hastakshep karna hai yahan hamare ilako mein aana jana band kar payega

देखिए चाइना जो है वह भारत को ज्यादा इंपोर्टेंस देता नहीं है वह से बहुत इंपॉर्टेंट समझता ही

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  147
WhatsApp_icon
user

Amber Rai

सुनो ..सुनाओ..सीखो!

1:02
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी हां देखिए चीन जो है वह जानबूझकर भारतीय उपमहाद्वीप पर जो है वह प्रवेश कर रहा है ताकि वह धीरे-धीरे करके भारत को चारो तरफ से खेलने और उस पर प्रेशर बना सके जो जैसा की अभी पाकिस्तान के साथ चाइना ने दोस्ती कर लिया और श्रीलंका के साथ भी हो दोस्ती करने की कोशिश कर रहे क्योंकि श्रीलंका में उसने अपना एक फोटो खोल लिया है अपना और श्रीलंका को थोड़ी बहुत मदद भी करता है और इंडिया के बगल में जो है वह जो चाइना के साइड में हुसैन है वह उसमे अपने छोटे छोटे आयरलैंड बना रहा था कि जरुरत पड़ने पर वहां से हटा कर सके अजूबे सेवन-ईयर पढ़े और बाती महाद्वीप में जो है वह धीरे-धीरे प्रवेश कर रहा है जिससे इंडिया को वह कमजोर बनाने का जो है वह कोशिश करना चाहता है क्योंकि इंडिया 12 हैप्पी वेडिंग सुपर पावर बनने वाला है वो लडका जिसे चाइना को Facebook कंपटीशन फील होता है तो ऐसा कब तक चलता रहेगा तो ऐसा कह नहीं सकते कि चाइना की जो बदमाशी है यह कब तक चलती रहेगी मैं समझता की डिस्ट्रिक्ट एक्शन लेना चाहिए जिससे चाइना भी थोड़ा धमक के रहे पाकिस्तान की तरह

ji haan dekhiye china jo hai vaah janbujhkar bharatiya upamahadweep par jo hai vaah pravesh kar raha hai taki vaah dhire dhire karke bharat ko chaaro taraf se khelne aur us par pressure bana sake jo jaisa ki abhi pakistan ke saath china ne dosti kar liya aur sri lanka ke saath bhi ho dosti karne ki koshish kar rahe kyonki sri lanka mein usne apna ek photo khol liya hai apna aur sri lanka ko thodi bahut madad bhi karta hai aur india ke bagal mein jo hai vaah jo china ke side mein hussain hai vaah usme apne chote chhote ireland bana raha tha ki zarurat padane par wahan se hata kar sake ajoobe seven year padhe aur bati mahadweep mein jo hai vaah dhire dhire pravesh kar raha hai jisse india ko vaah kamjor banane ka jo hai vaah koshish karna chahta hai kyonki india 12 happy wedding super power banne vala hai vo ladka jise china ko Facebook competition feel hota hai toh aisa kab tak chalta rahega toh aisa keh nahi sakte ki china ki jo badmaashee hai yah kab tak chalti rahegi main samajhata ki district action lena chahiye jisse china bhi thoda dhamak ke rahe pakistan ki tarah

जी हां देखिए चीन जो है वह जानबूझकर भारतीय उपमहाद्वीप पर जो है वह प्रवेश कर रहा है ताकि वह

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  160
WhatsApp_icon
user

Sameer Tripathy

Political Critic

0:56
Play

Likes    Dislikes    views  13
WhatsApp_icon
user

Bhaskar Saurabh

Politics Follower | Engineer

1:35
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

चीन जानबूझकर भारतीय उपमहाद्वीप में अपनी पकड़ मजबूत करने के लिए कोशिश कर रहा है इसी क्रम में उसने कई आर्टिफिशियल आइलैंड भी बनाए हैं भारतीय उपमहाद्वीप के आसपास ताकि अगर युद्ध की स्थिति बनती है तो वह वह वहां पर अपना पेज बना सके और भारत पर हमला कर सके साथ ही साथ वह पाकिस्तान और श्रीलंका से भी दोस्ती बढ़ा रहा है जिससे वह कूटनीतिक दबाव भारत पर डाल सके अभी रीसेंट टाइम में ही डोकलाम विवाद हुआ था जो की एक विवादित क्षेत्र है जिसमें भारत भी अपना हक बताता है और चाइना भी लेकिन और चाइना का वह पाठ है नहीं एक्चुअली में वह भारत का ही पार्ट है लेकिन चाइना अपने पावरफुल सेना और फिर जो उसकी बदनामी बहुत बड़ी है भारत से इसकी वजह से बहुत ज्यादा प्रेशर राइस करता है भारत को त्योहारों जब भी आप देखेंगे कि भारत किसी आतंकवादी जैसे कि हाफिज सईद पर प्रतिबंध लगाने की बात करता है और उसे एक बार एक आतंकवादी घोषित घोषित करने की कोशिश करता है तो वह चाइना उसमें बीच में घुसता है और बोलता है कि नहीं यह ऐसा नहीं हो सकता और हाफिज सईद एक आतंकवादी नहीं है तो वह भारत के लिए कई रुकावटें पैदा कर रहा है ताकि भारत ज्यादा जैसे कि जल्दी-जल्दी डेवलपमेंट कर रहा है और और चाइना उससे हो सकता है कि डर रहा हो कि कहीं भारत और चाइना से ज्यादा पावरफुल ना हो जाए मां आने वाले समय में इसलिए चाइना इस तरह की हरकत कर रहा है

china janbujhkar bharatiya upamahadweep mein apni pakad majboot karne ke liye koshish kar raha hai isi kram mein usne kai artificial island bhi banaye hain bharatiya upamahadweep ke aaspass taki agar yudh ki sthiti banti hai toh vaah vaah wahan par apna page bana sake aur bharat par hamla kar sake saath hi saath vaah pakistan aur sri lanka se bhi dosti badha raha hai jisse vaah kutanitik dabaav bharat par daal sake abhi recent time mein hi Doklam vivaad hua tha jo ki ek vivaadit kshetra hai jisme bharat bhi apna haq batata hai aur china bhi lekin aur china ka vaah path hai nahi actually mein vaah bharat ka hi part hai lekin china apne powerful sena aur phir jo uski badnami bahut badi hai bharat se iski wajah se bahut zyada pressure rice karta hai bharat ko tyoharon jab bhi aap dekhenge ki bharat kisi aatankwadi jaise ki haafiz saeed par pratibandh lagane ki baat karta hai aur use ek baar ek aatankwadi ghoshit ghoshit karne ki koshish karta hai toh vaah china usme beech mein ghuste hai aur bolta hai ki nahi yah aisa nahi ho sakta aur haafiz saeed ek aatankwadi nahi hai toh vaah bharat ke liye kai rookaavatein paida kar raha hai taki bharat zyada jaise ki jaldi jaldi development kar raha hai aur aur china usse ho sakta hai ki dar raha ho ki kahin bharat aur china se zyada powerful na ho jaaye maa aane waale samay mein isliye china is tarah ki harkat kar raha hai

चीन जानबूझकर भारतीय उपमहाद्वीप में अपनी पकड़ मजबूत करने के लिए कोशिश कर रहा है इसी क्रम मे

Romanized Version
Likes  12  Dislikes    views  276
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!