मैं एक राजनीतिक क्रांति लाना चाहता हूं: रजनीकांत, वह किस तरह की क्रांति का जि कर है और वह सफल हो पाएंगे?...


play
user

Ravi Sharma

Advocate

2:00

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

एक राजनीतिक विश्लेषक होने के नाते मैं मानता हूं कि जिस प्रकार की राजनीतिक क्रांतियों की बात आज के राजनेता करते हैं जो कि वह भरते हुए राजनेता है वह एकदम मनगढ़ंत है बोलकर कोरी कल्पना है देखिए जिस प्रकार की राजनीतिक क्रांतियां इस विश्व में होनी थी वह हो चुकी है मार्क्सवाद संपूर्ण समाजवाद से लेकर उदारवाद वादा तानाशाही सभी प्रकार की क्रांतियां और सभी प्रकार की राजनीतिक बहाव इस विश्व में देखे हुए हैं और मुझे नहीं लगता कि किसी नई प्रकार की क्रांति की किसी भी प्रकार की आवश्यकता है हम सभी जानते हैं कि आम आदमी पार्टी किस क्रांति के आधार पर उठ कर खड़ी हुई है और आज वह पूर्ण क्रांति की जो मूलभूत धारणा है उसे कितना दूर जा चुकी है तो राजनीति में अगरा प्रवेश कर रहे हैं तो यह याद रखे की राजनीति इतनी मैली हो चुकी है वह एक ना एक दिन आपको भी मिला कर ही देगी और आप भी बाकी राजनेताओं की जमात के साथ उसी में लेपन का बॉस Google उनके साथ ही खड़े नजर आएंगे अगर आपको संपूर्ण क्रांति चाहिए जिस प्रकार की क्रांति जय प्रकाश नारायण लेकर आए थे उसके बाद आप से जो बाय प्रोडक्ट निकलेंगे यानी की आपके जो उस क्रांति के जोक अग्रणीय नेता आ गया कि निकलेंगे वह भी धीरे-धीरे करके अपनी पसंद पार्टियां बना लेंगे और धीरे-धीरे करके वह भी उसी रंग में नजर आएंगे जिस प्रकार से आज के लोकतांत्रिक पार्टी आ खड़ी होना चाहती हैं तमिलनाडु की अपनी बहुत ही गुड समस्याएं हैं बस हम समझते हैं जिनको जिनका विश्लेषण करना पहले रजनीकांत जी के लिए आवश्यक होगा उसके बाद ही वह उनको समझ पाएंगे जिस प्रकार से किसानों की वहां पर दशा हुई है और व्यवसाय जिस प्रकार से चौपट हो गया पिछले 325 सालों में उन पर गान विश्लेषण करके उन पर सर्च करके शोध करने के बाद ही वह एक लडकी राजनीति में आना चाहिए अन्यथा उनका आना भी अंय कई राजनेताओं की तरफ दर्द जाएगा सरकार तो बना पाएंगे लेकिन इस प्रकार से प्रभावित नहीं कर पाएंगे धन्यवाद

ek raajnitik vishleshak hone ke naate main manata hoon ki jis prakar ki raajnitik krantiyon ki baat aaj ke raajneta karte hain jo ki vaah bharte hue raajneta hai vaah ekdam managdhant hai bolkar kori kalpana hai dekhiye jis prakar ki raajnitik krantiyan is vishwa mein honi thi vaah ho chuki hai marksvad sampurna samajavad se lekar udarvad vada tanashahi sabhi prakar ki krantiyan aur sabhi prakar ki raajnitik bahav is vishwa mein dekhe hue hain aur mujhe nahi lagta ki kisi nayi prakar ki kranti ki kisi bhi prakar ki avashyakta hai hum sabhi jante hain ki aam aadmi party kis kranti ke aadhaar par uth kar khadi hui hai aur aaj vaah purn kranti ki jo mulbhut dharana hai use kitna dur ja chuki hai toh raajneeti mein agara pravesh kar rahe hain toh yah yaad rakhe ki raajneeti itni maili ho chuki hai vaah ek na ek din aapko bhi mila kar hi degi aur aap bhi baki rajnetao ki jamaat ke saath usi mein lepan ka boss Google unke saath hi khade nazar aayenge agar aapko sampurna kranti chahiye jis prakar ki kranti jai prakash narayan lekar aaye the uske baad aap se jo bye product nikalenge yani ki aapke jo us kranti ke joke agraniya neta aa gaya ki nikalenge vaah bhi dhire dhire karke apni pasand partyian bana lenge aur dhire dhire karke vaah bhi usi rang mein nazar aayenge jis prakar se aaj ke loktantrik party aa khadi hona chahti hain tamil nadu ki apni bahut hi good samasyaen hain bus hum samajhte hain jinako jinka vishleshan karna pehle rajnikant ji ke liye aavashyak hoga uske baad hi vaah unko samajh payenge jis prakar se kisano ki wahan par dasha hui hai aur vyavasaya jis prakar se chowpat ho gaya pichhle 325 salon mein un par gaan vishleshan karke un par search karke shodh karne ke baad hi vaah ek ladki raajneeti mein aana chahiye anyatha unka aana bhi any kai rajnetao ki taraf dard jaega sarkar toh bana payenge lekin is prakar se prabhavit nahi kar payenge dhanyavad

एक राजनीतिक विश्लेषक होने के नाते मैं मानता हूं कि जिस प्रकार की राजनीतिक क्रांतियों की बा

Romanized Version
Likes  17  Dislikes    views  200
KooApp_icon
WhatsApp_icon
8 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!