क्या भारत को हिंदू राष्ट्र घोषित करने से भारत दुनिया का नंबर वन देश बन जाएगा?...


user

Malik

Entrepreneur

0:31
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारत दुनिया को दिखा रहा है अभी नंबर वन है मोदी जी के नेतृत्व में और हिंदू राष्ट्रीय वैसे भी है इसको घोषित करने की आवश्यकता नहीं है हिंदू राष्ट्र है हिंदू राष्ट्र है का हिंदू राष्ट्र था इसमें कोई दो राय नहीं इसको पोस्ट एक चिल्लाने से कुछ नहीं प्राप्त होगा

bharat duniya ko dikha raha hai abhi number van hai modi ji ke netritva me aur hindu rashtriya waise bhi hai isko ghoshit karne ki avashyakta nahi hai hindu rashtra hai hindu rashtra hai ka hindu rashtra tha isme koi do rai nahi isko post ek chillane se kuch nahi prapt hoga

भारत दुनिया को दिखा रहा है अभी नंबर वन है मोदी जी के नेतृत्व में और हिंदू राष्ट्रीय वैसे भ

Romanized Version
Likes  13  Dislikes    views  70
WhatsApp_icon
25 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी भारत को अगर हिंदू राष्ट्र घोषित कर देने पर यह एक नंबर का देश बन जाएगा ऐसा नहीं है अब नेपाल भी हिंदू राष्ट्र घोषित है अगर हिंदू राष्ट्र घोषित होने पर अगर कोई भी देश है नंबर वन बन सकता है तो नेपाल कब का बन जाता है सामाजिक स्तर को बढ़ाना है समानता लाना है बहुत सारा अभी भी संविधान में बदलाव चाहिए जिससे कि हर व्यक्ति अपना धर्म जाति अर्थ और सामाजिक कार्य का लाभ में समानता ला सके इस पर पहल होना चाहिए तो देश सबसे आगे बढ़ेगा धन्यवाद

ji bharat ko agar hindu rashtra ghoshit kar dene par yah ek number ka desh ban jaega aisa nahi hai ab nepal bhi hindu rashtra ghoshit hai agar hindu rashtra ghoshit hone par agar koi bhi desh hai number van ban sakta hai toh nepal kab ka ban jata hai samajik sthar ko badhana hai samanata lana hai bahut saara abhi bhi samvidhan me badlav chahiye jisse ki har vyakti apna dharm jati arth aur samajik karya ka labh me samanata la sake is par pahal hona chahiye toh desh sabse aage badhega dhanyavad

जी भारत को अगर हिंदू राष्ट्र घोषित कर देने पर यह एक नंबर का देश बन जाएगा ऐसा नहीं है अब ने

Romanized Version
Likes  31  Dislikes    views  612
WhatsApp_icon
user
3:33
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आज के परिवेश से में देखें तो हमारे भारत के प्रधानमंत्री मोदी जी है वह और भारत के गृह मंत्री अमित शाह जी यह देश को नए-नए ऐसे कानून लाकर उनका संशोधन संशोधन मूवी सॉन्ग सुनकर आकर बुन्नई बिल पास करवा कर और भारतीय संसद से कानून को पारित करवाकर जो कानून जो जो कानून लेकर आ रहे हैं जिस कश्मीर के ऊपर धारा 370 को हटाया गया इसके अलावा राम मंदिर का जो निर्णय हाई कोर्ट सुप्रीम कोर्ट में आया वह तीन तलाक पर इन्होंने कानून लेकर आए अभी जो सबसे ज्यादा जो शोरगुल जिस कानून पर चल रहा था जो सीए को लेकर यह कानून है फिर जनसंख्या नियंत्रण कानून में ऐसे युवा जोश में सिविल कोर्ट में है यह सब दुकान में आ रहे हैं यह सब हिंदुत्व को मजबूत करने के हिसाब से भी देखे जा रहे हैं और यह हिंदू राष्ट्र की और अपने देश का जो सिस्टम चल रहा है उसकी ओर ही इशारा है बाकी देखा जाए तो हिंदू राष्ट्र बनना कोई गलत बात नहीं है क्यों कि जब 5758 देश हिंदू मुस्लिम कंट्रीज है और वहां का सबका अपना-अपना विधान है और भारत मात्र हिंदू राष्ट्र में भारत ने दूसरा व तीसरा नंबर पर होगा जिसे नेपाल है भूटान है यह सिर्फ हिंदू राष्ट्र है बाकी वर्ल्ड सबसे बड़ा लोकतांत्रिक देश मजहब के आधार पर पाकिस्तान बना था उसके बाद में जब अब यहां पर मुस्लिम आबादी 30 करोड़ के आसपास है तो 30 करोड़ मुस्लिम और एक और अब यानी 100 करोड़ हिंदू मिलकर के यह जो देश है यह देश की जनसंख्या है 130 करोड़ तो यदि हिंदू राष्ट्र बनता है तो यह कोई गलत बात नहीं है बाकी हिंदू राष्ट्र बनने से अपना देश अगर विश्व के अंदर कुछ सुपर पावर की ओर जाता है तो यह मेरे ख्याल से एकदम सत्य नहीं होगा क्योंकि हिंदू राष्ट्र बनने से हमारी अर्थव्यवस्था पर कोई यह नहीं है कि कोई बहुत बड़ा फर्क पड़ेगा और हमारी अर्थव्यवस्था सही हो जाएगी इसके लिए मैं कठोर कानून और कठोर देश के लिए कठोर निर्णय लेने की जरूरत है बाकी हिंदू राष्ट्र से मेरे ख्याल से कोई यह नहीं है कि सुपर पावर बन जाएगा वह बात मेरे ख्याल से सही नहीं है

aaj ke parivesh se me dekhen toh hamare bharat ke pradhanmantri modi ji hai vaah aur bharat ke grah mantri amit shah ji yah desh ko naye naye aise kanoon lakar unka sanshodhan sanshodhan movie song sunkar aakar bunnai bill paas karva kar aur bharatiya sansad se kanoon ko paarit karvakar jo kanoon jo jo kanoon lekar aa rahe hain jis kashmir ke upar dhara 370 ko hataya gaya iske alava ram mandir ka jo nirnay high court supreme court me aaya vaah teen talak par inhone kanoon lekar aaye abhi jo sabse zyada jo shoragul jis kanoon par chal raha tha jo ca ko lekar yah kanoon hai phir jansankhya niyantran kanoon me aise yuva josh me civil court me hai yah sab dukaan me aa rahe hain yah sab hindutv ko majboot karne ke hisab se bhi dekhe ja rahe hain aur yah hindu rashtra ki aur apne desh ka jo system chal raha hai uski aur hi ishara hai baki dekha jaaye toh hindu rashtra banna koi galat baat nahi hai kyon ki jab 5758 desh hindu muslim countries hai aur wahan ka sabka apna apna vidhan hai aur bharat matra hindu rashtra me bharat ne doosra va teesra number par hoga jise nepal hai bhutan hai yah sirf hindu rashtra hai baki world sabse bada loktantrik desh majhab ke aadhar par pakistan bana tha uske baad me jab ab yahan par muslim aabadi 30 crore ke aaspass hai toh 30 crore muslim aur ek aur ab yani 100 crore hindu milkar ke yah jo desh hai yah desh ki jansankhya hai 130 crore toh yadi hindu rashtra banta hai toh yah koi galat baat nahi hai baki hindu rashtra banne se apna desh agar vishwa ke andar kuch super power ki aur jata hai toh yah mere khayal se ekdam satya nahi hoga kyonki hindu rashtra banne se hamari arthavyavastha par koi yah nahi hai ki koi bahut bada fark padega aur hamari arthavyavastha sahi ho jayegi iske liye main kathor kanoon aur kathor desh ke liye kathor nirnay lene ki zarurat hai baki hindu rashtra se mere khayal se koi yah nahi hai ki super power ban jaega vaah baat mere khayal se sahi nahi hai

आज के परिवेश से में देखें तो हमारे भारत के प्रधानमंत्री मोदी जी है वह और भारत के गृह मंत्र

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  82
WhatsApp_icon
user

Awdhesh Singh

Former IRS, Top Quora Writer, IAS Educator

1:17
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यह बहुत ही मूर्खतापूर्ण कदम है कि जो लोग कहते हैं, भारत को हिंदू राष्ट्र घोषित कर देंगे, तो भारत दुनिया का नंबर 1 देश बन जाएगा| आपको जानने की जरूरत है, कि हिंदू अपने में ही कितने सारे डिवाइडेड है, अभी आपने देखा कि किस तरीके से महाराष्ट्र के अंदर जो है, वह मराठाओ और जो दलितों उनके बीच में संघर्ष चल रहा है, और जिसमें काफी लोग प्रभावित हुए हैं, और एक व्यक्ति की जान भी चली गई है| तो हिंदू जो अपना राष्ट्र है, वह खुद ही जो है, हिंदू जो सोसाइटी है, वह अपने में खुद ही इतनी ज्यादा डिवाइडेड है, जिसमें सैकड़ों कास्ट और सब कास्ट है और अगर हम हिंदू राष्ट्र इसको घोषित कर देंगे, तो आपस में कास्ट में लड़ाईयां शुरू हो जाएंगी, और इससे कोई भी मामला नहीं सुलझेगा| तो मैं समझता हूं कि यह धर्म के ऊपर उठना चाहिए हमको और जो हमारे जो सर्कुलर इमेज है, और जो हमारी सर्कुलर थिंकिंग है, उसे हमें जोड़ देना चाहिए| और सारे जितने भी नागरिक हैं, चाहे उनके जो भी धर्म हो, जो भी उनके विश्वास हो, या जो भी उनकी कास्ट हो, सबको बराबर लेवल पर ट्रीट करना चाहिए, सबको बराबर फैसिलिटी देनी चाहिए, और सब को इक्वालिटी और जस्टिस मिलनी चाहिए| तो मैं इस बात की बिल्कुल सपोर्ट नहीं करता हूं, कि भारत को हिंदू राष्ट्र घोषित करना चाहिए और हिंदू राष्ट्र घोषित करने से भारत मेरे विचार से तो बद से बदतर इसकी हालत होगी बजाये इसके की इसकी हालत बेहतर होगी|

yeh bahut hi murkhtapurn kadam hai ki chahiye jo log kehte hai bharat ko hindu rashtra ghoshit kar chahiye denge to bharat duniya ka number 1 desh ban jayega aapko chahiye jaanne ki zarurat hai ki chahiye hindu apne mein hi kitne sare divided hai abhi aapne dekha ki chahiye kis tarike se maharashtra ke andar jo hai wah chahiye aur jo dalito unke bich mein sangharsh chal raha hai aur jisme kaafi log prabhavit huye hai aur ek vyakti ki jaan bhi chali gayi hai to hindu jo apna rashtra hai wah khud hi jo hai hindu jo society hai wah apne mein khud hi itni jyada divided hai jisme chahiye caste aur sab caste hai aur agar hum hindu rashtra isko ghoshit kar chahiye denge to aapas mein caste mein chahiye shuru ho jaengi aur isse koi bhi maamla nahi sulajhega chahiye to main samajhata hoon ki chahiye yeh dharm ke upar uthna chahiye hamko aur jo hamare jo circular image hai aur jo hamari circular thinking hai use hume jod dena chahiye aur sare jitne bhi nagarik hai chahe unke jo bhi dharm ho jo bhi unke vishwas ho ya jo bhi unki caste ho sabko barabar level par treat karna chahiye sabko barabar facility deni chahiye aur sab ko chahiye aur justice milani chahiye to main is baat ki bilkul support nahi karta hoon ki chahiye bharat ko hindu rashtra ghoshit karna chahiye aur hindu rashtra ghoshit karne se bharat mere vichar se to bad se badataar iski halat hogi bajaye iske ki iski halat behtar hogi

यह बहुत ही मूर्खतापूर्ण कदम है कि जो लोग कहते हैं, भारत को हिंदू राष्ट्र घोषित कर देंगे, त

Romanized Version
Likes  123  Dislikes    views  4219
WhatsApp_icon
user

Zishan Dokadia

Nutrition Counselor

0:19
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए ऐसा हुआ तो भारत और पीछे चला जाएगा भारत की पहचान यह है कि उसमें हिंदू मुस्लिम सिख ईसाई बुद्ध सब भाई भाई सब मिलकर ही साथ रहते और सब ने काम एक साथ किया तभी देश आगे बढ़ेगा ना कि एक दूसरे की टांग खींचे तो देश आगे बढ़ेगा

dekhiye aisa hua toh bharat aur peeche chala jaega bharat ki pehchaan yah hai ki usme hindu muslim sikh isai buddha sab bhai bhai sab milkar hi saath rehte aur sab ne kaam ek saath kiya tabhi desh aage badhega na ki ek dusre ki taang khinche toh desh aage badhega

देखिए ऐसा हुआ तो भारत और पीछे चला जाएगा भारत की पहचान यह है कि उसमें हिंदू मुस्लिम सिख ईसा

Romanized Version
Likes  124  Dislikes    views  1595
WhatsApp_icon
user

Umesh Upaadyay

Life Coach | Motivational Speaker

4:48
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लेकिन सवाल में दो बातें हैं पहला तो यह कि भारत को हिंदू राष्ट्र घोषित करना और दूसरा यह कि भारत दुनिया का नंबर वन देश बंद करने का समय होता है गुस्सा नहीं सही था जब भारत आजाद हुआ था नाइंटीन फोर्टी सेवन की बात कराओ और पार्टीशन हुआ था पार्टी यही हुआ था ना भाई सेना से अपने मुस्लिम यूनिटी को लेकर पाकिस्तान बना लिया उन्होंने और बाकी रह गए हिंदुस्तान हिंदुस्तान अपने आप में इतना बड़ा राष्ट्रीय है और रहेगा बहुत पावरफुल है और जब हिंदुस्तान रह गया या इंडिया रह गया तो इंडिया में ऐसा नहीं था कि खाली हिंदू इसे बहुत सारे अलग लोग भी थे एग्जांपल मुस्लिम थे क्रिश्चियन थे हमारे यहां क्या कहते हैं आशिक से बहुत सारे लोग भी थे और अब वह सही था जब हम इसको हिंदू राष्ट्र करके हिंदू माइथॉलजी हिंदू आईडियोलॉजी प्रिंसिपल लेकिन शायद किसी ने इसको ध्यान नहीं दिया ऐसा नहीं है कि आज भारत को हिंदू राष्ट्र नहीं माना जाता जो आज सही मायने में बुद्धिजीवी है वह समझते हैं और भारत की पहचान ब्रॉडली स्पीकिंग तो हिंदू राष्ट्र की है अगर आज की तारीख में आवेश को हिंदू राष्ट्र घोषित करते हैं तो उस जमीनी स्तर पर कुछ बदलेगा नहीं सोच कर देखें किसने क्या चेंज आएगा कहां पर क्या किया जाएगा ऐसा कुछ भयंकर चेंज नहीं आएगा तो क्योंकि भयंकर सीन जिस तरीके से हिंदू राष्ट्र घोषित करने से नहीं आएगा तो इसी तरीके से भारत नंबर वन नहीं बन सकता खाली हिंदू राष्ट्र घोषित करने मात्र से सोच कर देखें तो हिंदू राष्ट्र वाला यह चैप्टर हुआ अगर अभी भी हम चाहे वैसे तो हम फॉर्मली देखे हम सब चाहते हैं हम सब जानते हैं इधर आ रिलीजियस कम्युनिटी जानती है कि वह हिंदुस्तान में हिंदू की पापुलेशन ज्यादा है और एक तरीके से हिंदू राष्ट्रीय होता है और हिंदू क्या हिंदुइज्म बोलते हैं दूध तो बोलते हैं तो उसकी आंखों से पी आई डी वाले जी ही होती है कि वह हर एक इंसान इस हिंद का है इस हिंदुस्तान का है किसी में कोई भेदभाव नहीं है कोई समानता नहीं है सबको बराबर का हक है अपने इस कंट्री में रहने का और तंत्रिका ख्याल रखने का और इसको आगे ले जाने का एकता अखंडता बनाए रखने का इंडिया के कॉन्स्टिट्यूशन का सम्मान करने का इसके ध्वज को प्रणाम करने का और इसको एक कंट्री यूनाइटेड कंट्री यूनाइटेड इंडिया न्यू इंडिया की तरफ ले जाने का संसद का दायित्व है हम सब ठीक रिस्पांसिबिलिटी हैं तो यह तो हुआ हिंदुत्व के बारे में जवाब नंबर वन की बात करते हैं तो नंबर वन बनने के लिए आपको बहुत सारे अलग-अलग स्टेप देखने पड़ते हैं जो कि हमारे प्रेजेंट प्राइम मिनिस्टर एंड एंजॉय थे वाकिंग तू बस में कैसे लगे नहीं आ पता नहीं चलेगा एक आम आदमी को भी क्या हो रहा है ग्लोबली स्पीकिंग हम अपनी पहचान बनाते जा रहे हैं हमारा रिकग्निशन हो रहा है ग्लोबल प्लेटफॉर्म पर तो कई सारे ठोस कदम उठाए गए हैं पिछले 5 सालों में और अब क्योंकि सरकार दोबारा से आ गए बीजेपी की तो हमें लगता है कि हम अपने फर्नेंस यू स्टैंडिंग ओं इकोनामिक और इकॉनमी को एक प्रॉपर ग्रोथ दे सकते हैं साथ ही इंटरनल मैटर सेफ्टी सिक्योरिटी और बहुत सारी चीजें होती हैं जिन पर काम चल रहा है शायद हमें अभी दिखाई ना दे उसका रिजल्ट है इस इन सारी चीजों करने में थोड़ा टाइम लगता है और जब हम 130 करोड़ पापुलेशन की बात करते हैं तो जैसे निकली इतनी बड़ी मशीन को घुमाने में थोड़ा टाइम तो लगता है हम सबको आप अपने इंडिया की तरह अपना जी जान से आई नो सपोर्ट करना चाहिए कोई भी गाना देखेगा बदलने से कुछ होने वाला नहीं है हमें यह देखना चाहिए कि हम इंडिया की ब्रांडिंग को लेकर हुई है इसको डेवलप्ड नेशन की तरह कैसे ले जा सकते हैं अपना योगदान क्या कर सकते हैं खाली महल से हिंदुत्व करने से कुछ नहीं होने वाला वह तो जैसे निकली है और हिंदुत्व की वजह मैं तो यह बताओ कि हर एक इंसान बराबर है हम सब को एक दूसरे का रिस्पेक्ट करना चाहिए उसके भावनाओं का रिश्ता करना चाहिए भले ही वह किसी जाति धर्म कहीं से भी हो किसी भी प्रदेश से हो संप्रदाय से कोई फर्क नहीं पता सब एक ही है सब भारत के नागरिक हैं वह लाइट ऑफ इंडिया एंड वी ऑल आर ब्रदर्स एंड सिस्टर्स ऑफ इरादा हमें देखना है कि हम इसको आगे कैसे ले जाएं महेश हिंदुत्व करने से कुछ नहीं होगा हिंदुत्व के नाम से कुछ नहीं होगा हिंदू तो यही बोलता है कि हम सब एक हैं गाते हैं

lekin sawaal mein do batein hai pehla toh yah ki bharat ko hindu rashtra ghoshit karna aur doosra yah ki bharat duniya ka number van desh band karne ka samay hota hai gussa nahi sahi tha jab bharat azad hua tha nineteen FORTE seven ki baat karao aur partition hua tha party yahi hua tha na bhai sena se apne muslim unity ko lekar pakistan bana liya unhone aur baki reh gaye Hindustan Hindustan apne aap mein itna bada rashtriya hai aur rahega bahut powerful hai aur jab Hindustan reh gaya ya india reh gaya toh india mein aisa nahi tha ki khaali hindu ise bahut saare alag log bhi the example muslim the Christian the hamare yahan kya kehte hai aashik se bahut saare log bhi the aur ab vaah sahi tha jab hum isko hindu rashtra karke hindu maithalji hindu aidiyolaji principal lekin shayad kisi ne isko dhyan nahi diya aisa nahi hai ki aaj bharat ko hindu rashtra nahi mana jata jo aaj sahi maayne mein buddhijeevi hai vaah samajhte hai aur bharat ki pehchaan broadly speaking toh hindu rashtra ki hai agar aaj ki tarikh mein aavesh ko hindu rashtra ghoshit karte hai toh us zameeni sthar par kuch badlega nahi soch kar dekhen kisne kya change aayega kahaan par kya kiya jaega aisa kuch bhayankar change nahi aayega toh kyonki bhayankar seen jis tarike se hindu rashtra ghoshit karne se nahi aayega toh isi tarike se bharat number van nahi ban sakta khaali hindu rashtra ghoshit karne matra se soch kar dekhen toh hindu rashtra vala yah chapter hua agar abhi bhi hum chahen waise toh hum formally dekhe hum sab chahte hai hum sab jante hai idhar aa rilijiyas community jaanti hai ki vaah Hindustan mein hindu ki population zyada hai aur ek tarike se hindu rashtriya hota hai aur hindu kya hinduijm bolte hai doodh toh bolte hai toh uski aankho se p I d waale ji hi hoti hai ki vaah har ek insaan is hind ka hai is Hindustan ka hai kisi mein koi bhedbhav nahi hai koi samanata nahi hai sabko barabar ka haq hai apne is country mein rehne ka aur tantrika khayal rakhne ka aur isko aage le jaane ka ekta akhandata banaye rakhne ka india ke Constitution ka sammaan karne ka iske dhwaj ko pranam karne ka aur isko ek country united country united india new india ki taraf le jaane ka sansad ka dayitva hai hum sab theek responsibility hai toh yah toh hua hindutv ke bare mein jawab number van ki baat karte hai toh number van banne ke liye aapko bahut saare alag alag step dekhne padte hai jo ki hamare present prime minister and enjoy the Walking tu bus mein kaise lage nahi aa pata nahi chalega ek aam aadmi ko bhi kya ho raha hai globally speaking hum apni pehchaan banate ja rahe hai hamara recognition ho raha hai global platform par toh kai saare thos kadam uthye gaye hai pichle 5 salon mein aur ab kyonki sarkar dobara se aa gaye bjp ki toh hamein lagta hai ki hum apne farnens you standing on economic aur economy ko ek proper growth de sakte hai saath hi internal matter safety Security aur bahut saree cheezen hoti hai jin par kaam chal raha hai shayad hamein abhi dikhai na de uska result hai is in saree chijon karne mein thoda time lagta hai aur jab hum 130 crore population ki baat karte hai toh jaise nikli itni baadi machine ko ghumaane mein thoda time toh lagta hai hum sabko aap apne india ki tarah apna ji jaan se I no support karna chahiye koi bhi gaana dekhega badalne se kuch hone vala nahi hai hamein yah dekhna chahiye ki hum india ki Branding ko lekar hui hai isko developed nation ki tarah kaise le ja sakte hai apna yogdan kya kar sakte hai khaali mahal se hindutv karne se kuch nahi hone vala vaah toh jaise nikli hai aur hindutv ki wajah main toh yah batao ki har ek insaan barabar hai hum sab ko ek dusre ka respect karna chahiye uske bhavnao ka rishta karna chahiye bhale hi vaah kisi jati dharm kahin se bhi ho kisi bhi pradesh se ho sampraday se koi fark nahi pata sab ek hi hai sab bharat ke nagarik hai vaah light of india and va all R brothers and sisters of irada hamein dekhna hai ki hum isko aage kaise le jayen mahesh hindutv karne se kuch nahi hoga hindutv ke naam se kuch nahi hoga hindu toh yahi bolta hai ki hum sab ek hai gaate hain

लेकिन सवाल में दो बातें हैं पहला तो यह कि भारत को हिंदू राष्ट्र घोषित करना और दूसरा यह कि

Romanized Version
Likes  677  Dislikes    views  8075
WhatsApp_icon
user

महेश दुबे

कवि साहित्यकार

0:29
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पाकिस्तान का उदाहरण हमारे सामने है जिसने धर्म पर आधारित राष्ट्र का निर्माण किया और आज वह पतन के गर्त में गिरा हुआ है और सेकुलरिज्म अपनाकर हिंदुस्तान ने प्रगति के रास्तों पर बहुत लंबा सफर तय किया है आज हम चांद पर पहुंच रहे हैं और पाकिस्तान चंदे के लिए यहां-वहां घूम रहा है इसलिए धर्म पर आधारित राष्ट्र घोषित करने से राष्ट्र का कभी कोई भला नहीं हो सकता

pakistan ka udaharan hamare saamne hai jisne dharm par aadharit rashtra ka nirmaan kiya aur aaj vaah patan ke gart mein gira hua hai aur secularism apnakar Hindustan ne pragati ke raston par bahut lamba safar tay kiya hai aaj hum chand par pohch rahe hain aur pakistan chande ke liye yahan wahan ghum raha hai isliye dharm par aadharit rashtra ghoshit karne se rashtra ka kabhi koi bhala nahi ho sakta

पाकिस्तान का उदाहरण हमारे सामने है जिसने धर्म पर आधारित राष्ट्र का निर्माण किया और आज वह प

Romanized Version
Likes  69  Dislikes    views  1375
WhatsApp_icon
user

डॉ सतीश सारस्वत

इलेक्ट्रो होम्योपैथ चिकित्सक एवं सामाजिक कार्यकर्ता

1:34
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आप लोगों से पूछा है क्या भारत को हिंदू राष्ट्र घोषित करने से भारत दुनिया का नंबर वन देश बन जाएगा तो मैं आपको बता दूं भारत आज भी नंबर वन है हमारे यहां सभी धर्म के लोग रहते हैं और विश्व में मैं जानता हूं तीसरा नंबर है हमारे देश का जो तरक्की के रास्ते पर है हिंदू मुस्लिम सिख इसाई इस देश में मिलकर रहते हैं मिलकर रह रहे हैं अब मिलकर रहेंगे और एक विशेष वर्ग चाहे वो हिंदू हो मुसलमानों से गोवा के लिए पाकिस्तान को देख लिए बांग्लादेश को देख लीजिए और जितने भी देश मुस्लिम कंट्री है देख लीजिए बहुत कम है पाकिस्तान को उठाकर भेज दीजिए वहां पर आतंकवादी की फसल पैदा होती है और इंडिया में राष्ट्रपति की फसल पैदा होती है मुसलमानों के लिए राज्यपाल की फसल पैदा होती है मुसलमानों के लिए हर देश के लिए समाज के लिए तो मेरा कहने का तात्पर्य हिंदू राष्ट्र घोषित होने से हिंदुस्तान तरक्की नहीं कर सकता है और आज हिंदुस्तान अगर वो तरक्की कर रहा है तो हम चार और युवाओं को मिलाकर हिंदू मुस्लिम सिख इसाई यों को मिलाकर जब देश तरक्की पर देश तरक्की कर रहा है धन्यवाद

aap logo se poocha hai kya bharat ko hindu rashtra ghoshit karne se bharat duniya ka number van desh ban jaega toh main aapko bata doon bharat aaj bhi number van hai hamare yahan sabhi dharm ke log rehte hain aur vishwa mein main jaanta hoon teesra number hai hamare desh ka jo tarakki ke raste par hai hindu muslim sikh isai is desh mein milkar rehte hain milkar reh rahe hain ab milkar rahenge aur ek vishesh varg chahen vo hindu ho musalmanon se goa ke liye pakistan ko dekh liye bangladesh ko dekh lijiye aur jitne bhi desh muslim country hai dekh lijiye bahut kam hai pakistan ko uthaakar bhej dijiye wahan par aatankwadi ki fasal paida hoti hai aur india mein rashtrapati ki fasal paida hoti hai musalmanon ke liye rajyapal ki fasal paida hoti hai musalmanon ke liye har desh ke liye samaj ke liye toh mera kehne ka tatparya hindu rashtra ghoshit hone se Hindustan tarakki nahi kar sakta hai aur aaj Hindustan agar vo tarakki kar raha hai toh hum char aur yuvaon ko milakar hindu muslim sikh isai yo ko milakar jab desh tarakki par desh tarakki kar raha hai dhanyavad

आप लोगों से पूछा है क्या भारत को हिंदू राष्ट्र घोषित करने से भारत दुनिया का नंबर वन देश बन

Romanized Version
Likes  67  Dislikes    views  1317
WhatsApp_icon
user

Piyush Goel

Mech Engg, Motivator.

1:03
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दोस्तों नमस्कार कृष्ण कुमार गोयल आप एक क्वेश्चन का जवाब देने के लिए क्या भारत को हिंदू राष्ट्र हिंदू राष्ट्र घोषित होते ही दुनिया का दूसरा हिंदू राष्ट्र जाएगा और नंबर वन बनाने के लिए तो आपकी और हमारी जिम्मेदारी है दोस्तों आपकी और हमारी जिम्मेदारी है जब तक किस देश का नागरिक राष्ट्रीय के लिए कुछ समय नहीं निकालेगा नंबर वन होने की बात नहीं बनती है नंबर वन

doston namaskar krishna kumar goyal aap ek question ka jawab dene ke liye kya bharat ko hindu rashtra hindu rashtra ghoshit hote hi duniya ka doosra hindu rashtra jaega aur number van banne liye toh aapki aur hamari jimmedari hai doston aapki aur hamari jimmedari hai jab tak kis desh ka nagarik rashtriya ke liye kuch samay nahi nikalega number van hone ki baat nahi banti hai number van

दोस्तों नमस्कार कृष्ण कुमार गोयल आप एक क्वेश्चन का जवाब देने के लिए क्या भारत को हिंदू राष

Romanized Version
Likes  152  Dislikes    views  2075
WhatsApp_icon
user

Vinod Tiwari

Journalist

0:22
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दूध करना ही पड़ेगा प्राचीन प्रथाएं हमारा हिंदुस्तान भारत बिल है तो सबसे पहले हमारी बात रखना जरूरी है तो हम तो यही कोशिश करना चाहिए

doodh karna hi padega prachin prathayen hamara Hindustan bharat bill hai toh sabse pehle hamari baat rakhna zaroori hai toh hum toh yahi koshish karna chahiye

दूध करना ही पड़ेगा प्राचीन प्रथाएं हमारा हिंदुस्तान भारत बिल है तो सबसे पहले हमारी बात रखन

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  415
WhatsApp_icon
user

Dr. Chinmaya Behera

Eco.,Fin., Pol.,life.,&career

0:24
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारत को हिंदू राष्ट्र घोषित करने से भारत दुनिया का नंबर वन देश नहीं बनेगा क्योंकि नंबर वन देश तब बनता है जब देश में निवेश आता है उससे धर्म से कोई लेना देना नहीं

bharat ko hindu rashtra ghoshit karne se bharat duniya ka number van desh nahi banega kyonki number van desh tab banta hai jab desh mein nivesh aata hai usse dharm se koi lena dena nahi

भारत को हिंदू राष्ट्र घोषित करने से भारत दुनिया का नंबर वन देश नहीं बनेगा क्योंकि नंबर वन

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  421
WhatsApp_icon
user

Ravi

Director, Ravi IAS Academy

0:45
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारत अपनी संस्कृति और सभ्यता के लिए पूजा जाता है भारत हिंदू और मुस्लिम राष्ट्र बन कर विश्व धरोहर नहीं बन सकता भारत धर्मनिरपेक्ष लोकतांत्रिक गणराज्य और यह लोग धर्मनिरपेक्ष रह कर ही देश या दुनिया का नंबर वन देश बन जाएगा और बना रहेगा क्योंकि भारत के लोग सब एक साथ बंधुता और भाईचारा के साथ रहने में विश्वास करते हैं हमारे संविधान के प्रस्तावना भी अभी इसके बारे में जिक्र किया गया है

bharat apni sanskriti aur sabhyata ke liye puja jata hai bharat hindu aur muslim rashtra ban kar vishwa dharohar nahi ban sakta bharat dharmanirapeksh loktantrik ganrajya aur yah log dharmanirapeksh reh kar hi desh ya duniya ka number van desh ban jaega aur bana rahega kyonki bharat ke log sab ek saath bandhuta aur bhaichara ke saath rehne mein vishwas karte hain hamare samvidhan ke prastavna bhi abhi iske bare mein jikarr kiya gaya hai

भारत अपनी संस्कृति और सभ्यता के लिए पूजा जाता है भारत हिंदू और मुस्लिम राष्ट्र बन कर विश्व

Romanized Version
Likes  483  Dislikes    views  3546
WhatsApp_icon
user

Vaibhav Ali

Youtuber TV Personality

0:58
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

BF के सवाल पर मुझे तो यह चिड़िया होती है पर अगर आप ने सवाल पूछा कि अगर भारत देश को हिंदू राष्ट्र घोषित कर दे तो क्या नंबर वन बनेगा बिल्कुल नहीं बनेगा यह बिल्कुल नहीं बनेगा क्योंकि एक देश एक रहने की जगह जो होती है आप रिलेशन को छोड़ घर में अगर चार पांच लोग रहते हैं इन सब की सोच अलग-अलग है इन सब का कार्य अलग-अलग है सबका माननीय अलग-अलग है तू वैसे ही भारत जैसे देश में जहां पर इतने और वो लोग रहते हैं इन सब का सोच अलग है सबके रिलीज़ इन अलग है और और इन सब के कार्यालय देवरी जोड़ के भारत देश बनता है और भारत देश जो आज है वह काफी अच्छा है और काफी मुकाम पर पहुंच चुका है और काफी और सुना बाकी है जिस पर हम जैसे पर हम लोग काम पर लगे हुए हैं कि भारत को नंबर वन बनाएं पत्र भी हिंदू राष्ट्र घोषित करने से भारत नंबर वन कभी नहीं बन पाएगा

BF ke sawal par mujhe toh yeh chidiya hoti hai par agar aap ne sawal puchha ki agar bharat desh ko hindu rashtra ghoshit kar de toh kya number van banega bilkul nahi banega yeh bilkul nahi banega kyonki ek desh ek rehne ki jagah jo hoti hai aap relation ko chod ghar mein agar char paanch log rehte hain in sab ki soch alag alag hai in sab ka karya alag alag hai sabka mananiya alag alag hai tu waise hi bharat jaise desh mein jaha par itne aur vo log rehte hain in sab ka soch alag hai sabke release in alag hai aur aur in sab ke karyalaya devari jod ke bharat desh baata hai aur bharat desh jo aaj hai wah kaafi accha hai aur kaafi mukam par pohch chuka hai aur kaafi aur suna baki hai jis par hum jaise par hum log kaam par lage hue hain ki bharat ko number van banaye patra bhi hindu rashtra ghoshit karne se bharat number van kabhi nahi ban payega

BF के सवाल पर मुझे तो यह चिड़िया होती है पर अगर आप ने सवाल पूछा कि अगर भारत देश को हिंदू र

Romanized Version
Likes  40  Dislikes    views  1589
WhatsApp_icon
user

Chandraprakash Joshi

Ex-AGM RBI & CEO@ixamBee.com

1:58
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दो चीज में बोलना चाहूंगा इस बात पर, पहला तो यह कि हम नंबर एक से मतलब क्या है हमारा, नंबर एक देश बहुत सब्जेक्टिव है क्यूंकि इसकी डेफिनिशन अलग अलग होती हैl आप इकोनॉमिक पावर में या आप मसल पावर मींस मिलिट्री पावर में अगर बात करेंगे तो अमरीका नंबर एक देश है लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि अमेरिका के लोग सबसे ज्यादा सुखी हैंl यह बहुत सारे जो इंडेक्स हैं जो ज्यादा इंपॉर्टेंट इन ह्यूमन डेवलपमेंट इंडेक्स जिसमें लोगों को फ्रीडम है और लोगो का इकनोमिक डेवलपमेंट है और लोगों को जो आजादी काम करने की और जो ओवरऑल आराम है वो अमेरिका उस में आगे रहता हैl उसमें यूरोप के कुछ छोटे देश जैसे कि नॉर्वे, स्वीडन, डेनमार्क यह सब कंट्री ज्यादा आगे रहते हैं, तो अगर आप ओवरऑल सिटीजंस की कंफर्ट की बात करेंगे तो शायद इन छोटे देशों में ज्यादा है बजाएं अमेरिका केl तो एक तो पहला पॉइंट था की नंबर एक क्या हैl नंबर दो नाम हिंदू राष्ट्र हो या सेकुलर राष्ट्र हो या कोई तीसरा नाम हम सोच लें, नाम से कुछ ज्यादा फर्क नहीं पड़ना है, होना है वह काम से तो आज आप भारत का नाम बदलक के हिंदू राष्ट्र कर दो, तो उसे देश की परिस्थिति कैसे बदलने वाली है सब जानते हैं, कुछ नहीं होने वाला है उससे राईटl तो हमें करना पड़ेगा काम करके, पॉलिटिकल सिस्टम बहुत इंपोर्टेंट होता है देश में कि किस तरीके से देश के लोग सही डायरेक्शन में काम करेंl अमेरिका इतना विकसित हुआ है पिछले 200 सालों में क्योंकि उन्होंने लोगों को काम करने की फ्रीडम दी है और लोगों की उस फ्रीडम को समझा है कि किस तरीके से वह देश के विकास में आगे बढ़ सकते हैंl तो नाम भले ही कुछ भी दे लेकिन हमें वह एनवायरमेंट क्रिएट करना है कि जिसमें यह देश के जो सवा करोड़ लोग हो वह देश को आगे ले कर जाए तब भारत देश का दुनिया का नंबर वन राष्ट्र बनेगाl

do cheez mein bolna chahunga is baat par pehla to yeh ki chahiye hum number ek se matlab kya hai hamara number ek desh bahut chahiye hai kyunki iski definition alag alag hoti hai aap economic power mein ya aap masal power means miltary power mein agar baat karenge to america number ek desh hai lekin iska matlab yeh nahi hai ki chahiye america ke log sabse jyada sukhi hain yeh bahut sare jo index hain jo jyada important chahiye in human development index jisme logo chahiye ko freedom hai aur logo ka economic development hai aur logo chahiye ko jo azadi kaam karne ki aur jo chahiye aaram hai vo america us mein aage rehta hai usamen chahiye europe ke kuch chote desh jaise ki chahiye norway chahiye Sweden Denmark yeh sab country jyada aage rehte hain to agar aap chahiye diye ki confort ki baat karenge to shayad in chote deshon mein jyada hai bajaye america ke to ek to pehla point tha ki number ek kya hai number do naam hindu rashtra ho ya secular rashtra ho ya koi teesra naam hum soch le naam se kuch jyada fark nahi padhna hai hona hai wah kaam se to aaj aap bharat ka naam chahiye ke hindu rashtra kar chahiye do to use desh ki paristithi kaise badalne wali hai sab jante hain kuch nahi hone wala hai usse chahiye to hume karna padega kaam karke political system bahut important hota hai desh mein ki chahiye kis tarike se desh ke log sahi direction mein kaam kare chahiye america itna viksit hua hai pichle 200 salon mein kyonki unhone logo chahiye ko kaam karne ki freedom di hai aur logo chahiye ki us freedom ko samjha hai ki chahiye kis tarike se wah desh ke vikash mein aage badh sakte hain to naam bhale hi kuch bhi de lekin hume wah chahiye create karna hai ki chahiye jisme yeh desh ke jo sava chahiye crore log ho wah desh ko aage le kar chahiye jaye tab bharat desh ka duniya ka number van rashtra banega

दो चीज में बोलना चाहूंगा इस बात पर, पहला तो यह कि हम नंबर एक से मतलब क्या है हमारा, नंबर ए

Romanized Version
Likes  39  Dislikes    views  2079
WhatsApp_icon
user

साकेत कुमार

Senior Software Developer

4:48
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखे हिंदू राष्ट्र की जो जो पहली परिकल्पना इतिहास में मिलती है वह सावरकर के लेखकों में मिलती है सावरकर ने एक परिकल्पना दी थी हिंदू राष्ट्र की और उसमें जो माहौल था उस समय का जो वातावरण था उसके हिसाब से सावरकर ने जो देखा वह लिखा और अगर आप सागर का की बात करें तो वह मुसलमानों को हिंदुओं से कमतर जी देते हैं अपने लेखों में वह एक ही देश में दो राष्ट्रपति ने की बात करते हैं जहां पर मुसलमान और हिंदू हैं वह अपने अपने इलाकों में रहेंगे तो इस तरह की बातें करते हैं जो कि काफी विस्फोटक था और अच्छी बात है कि उस पर हम लोगों ने आगे कदम नहीं बढ़ाया सबर करके उसी प्रेरणा से आज कुछ लोग बहुत ज्यादा प्रभावित हैं खासकर जो सत्ता में राजनीतिक दल है भाजपा आर एस एस विश्व हिंदू परिषद हिंदू युवा वाहिनी ऐसे बहुत सारे हिंदुओं के दल है तथाकथित दल पता नहीं कहां चले जाते हैं जब हिंदुओं पर आपत्ति है तो इनकी मांग है भारत एक हिंदू राष्ट्र बनेगा यह बहुत बचकानी बात है बच्चा नहीं इसलिए है क्योंकि मेरे कुछ सवाल हैं जिनका इनके पास कोई जवाब नहीं है जैसे कि भारत में 20 करोड़ मुस्लिम है उनका क्या करूं अगर आपने से हिंदू राष्ट्र बनाया पहले तो हिंदू राष्ट्र का मतलब क्या है शिवसेना हिंदू रहेंगे या यहां यहां जितने भी लोग हैं उन हिंदू मान लिया जाए और कहते हैं कि हिंदू एक संस्कारी यह धर्म से रिलेटेड नहीं है तो जो भी इस पावन धरती पर जन्मा है उसे हिंदू कह दिया जाए जो भी धार्मिक तो इनसे मैं पूछना चाहता हूं कि आपकी हिंदू राष्ट्र में सिर्फ हिंदू रहेंगे या मुस्लिम भी रहेंगे या मुसलमानों को अपने हिंदू कह दिया है अगर नहीं है तो 12022 दौड़ की जो जनसंख्या यह कहां रहेंगे तो इस तरह की जो समस्याएं हैं इस तरह के जो प्रश्न है जिसके बारे में आदमी पहले सोचता नहीं है कुछ बोलने से पहले तभी ऐसे टाइम जो हिंदू राष्ट्र हो गया द्रविड़ नाडु हो गया तो इस तरह की जो सोच है ना वह सो जाती है इसलिए क्योंकि सोचने की क्षमता बहुत कम होती है और बोलने की क्षमता बहुत ज्यादा होती है जो लोग हिंदू राष्ट्र की परिकल्पना में डूबे हैं उनकी सोचने की क्षमता क्षीण है पर बोलने की क्षमता बहुत ज्यादा है ऐसे ही कुछ लोग डोनाल्ड ट्रंप की के लिए याद करवा रहे थे हवन करवा रहे थे डोनल ट्रंप में देवता देखते थे जब से कश्मीर के बारे में झूठ बोला है तब से नौटंकी ट्विटर पर लोगों की बातों को कभी ज्यादा सीरियस नहीं लेना चाहिए भारत के कुल देश है और सेकुलर देश इसलिए नहीं है क्योंकि हम बहुत ज्यादा सम्मान करते हैं दूसरे का हम कितना सम्मान करते हैं वह दिन जाता है कभी दिल्ली के आस में कभी गोधरा में कभी भागलपुर में कभी 9 खाली में तमाम तुम्हारा बराबर दिख जाता है भारत चैनल देश सम्मान के लिए नहीं है कुलर देश से इस देश का टेक्नो रहने से इस देश का अस्तित्व बचाया नहीं तो सिविल वार हो जाएगा सिविल वार को जाकर सबको पता है कुछ पता ही नहीं मिलता है इस देश में और किस तरह का जो पालन का जो शक्ति का संतुलन है बहुत ज्यादा नुकसान होगा जिसका हम 100 साल पीछे चले जाएंगे करोगे इसलिए इतना कि जो जो भी शब्द है जिसे लोग फिरते हो जिससे लोग भागते हो उसका प्रयोग नहीं करना चाहिए क्योंकि यदि उन सब का है जो इस देश को अपना मानते जो इस देश के नागरिक जब किसी भी धर्म किसी भी जाति के रंग धन्यवाद

dekhe hindu rashtra ki jo jo pehli parikalpana itihas mein milti hai vaah savarkar ke lekhako mein milti hai savarkar ne ek parikalpana di thi hindu rashtra ki aur usme jo maahaul tha us samay ka jo vatavaran tha uske hisab se savarkar ne jo dekha vaah likha aur agar aap sagar ka ki baat kare toh vaah musalmanon ko hinduon se kamtar ji dete hai apne lekho mein vaah ek hi desh mein do rashtrapati ne ki baat karte hai jaha par muslim aur hindu hai vaah apne apne ilako mein rahenge toh is tarah ki batein karte hai jo ki kaafi vishphotak tha aur achi baat hai ki us par hum logo ne aage kadam nahi badhaya sabar karke usi prerna se aaj kuch log bahut zyada prabhavit hai khaskar jo satta mein raajnitik dal hai bhajpa R s s vishwa hindu parishad hindu yuva vahini aise bahut saare hinduon ke dal hai tathakathit dal pata nahi kahaan chale jaate hai jab hinduon par apatti hai toh inki maang hai bharat ek hindu rashtra banega yah bahut bachkani baat hai baccha nahi isliye hai kyonki mere kuch sawaal hai jinka inke paas koi jawab nahi hai jaise ki bharat mein 20 crore muslim hai unka kya karu agar aapne se hindu rashtra banaya pehle toh hindu rashtra ka matlab kya hai shivsena hindu rahenge ya yahan yahan jitne bhi log hai un hindu maan liya jaaye aur kehte hai ki hindu ek sanskari yah dharm se related nahi hai toh jo bhi is paavan dharti par janma hai use hindu keh diya jaaye jo bhi dharmik toh inse main poochna chahta hoon ki aapki hindu rashtra mein sirf hindu rahenge ya muslim bhi rahenge ya musalmanon ko apne hindu keh diya hai agar nahi hai toh 12022 daudh ki jo jansankhya yah kahaan rahenge toh is tarah ki jo samasyaen hai is tarah ke jo prashna hai jiske bare mein aadmi pehle sochta nahi hai kuch bolne se pehle tabhi aise time jo hindu rashtra ho gaya dravid nadu ho gaya toh is tarah ki jo soch hai na vaah so jaati hai isliye kyonki sochne ki kshamta bahut kam hoti hai aur bolne ki kshamta bahut zyada hoti hai jo log hindu rashtra ki parikalpana mein doobe hai unki sochne ki kshamta kshin hai par bolne ki kshamta bahut zyada hai aise hi kuch log donald trump ki ke liye yaad karva rahe the hawan karva rahe the donal trump mein devta dekhte the jab se kashmir ke bare mein jhuth bola hai tab se nautanki twitter par logo ki baaton ko kabhi zyada serious nahi lena chahiye bharat ke kul desh hai aur secular desh isliye nahi hai kyonki hum bahut zyada sammaan karte hai dusre ka hum kitna sammaan karte hai vaah din jata hai kabhi delhi ke aas mein kabhi godhara mein kabhi bhagalpur mein kabhi 9 khaali mein tamaam tumhara barabar dikh jata hai bharat channel desh sammaan ke liye nahi hai cooler desh se is desh ka techno rehne se is desh ka astitva bachaya nahi toh civil war ho jaega civil war ko jaakar sabko pata hai kuch pata hi nahi milta hai is desh mein aur kis tarah ka jo palan ka jo shakti ka santulan hai bahut zyada nuksan hoga jiska hum 100 saal peeche chale jaenge karoge isliye itna ki jo jo bhi shabd hai jise log phirte ho jisse log bhagte ho uska prayog nahi karna chahiye kyonki yadi un sab ka hai jo is desh ko apna maante jo is desh ke nagarik jab kisi bhi dharm kisi bhi jati ke rang dhanyavad

देखे हिंदू राष्ट्र की जो जो पहली परिकल्पना इतिहास में मिलती है वह सावरकर के लेखकों में मिल

Romanized Version
Likes  520  Dislikes    views  7298
WhatsApp_icon
user

Mr. Mukesh Kumar

Youtuber, https://youtu.be/lxwi7CXLHSQ

1:07
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पहली बात कि भारत को हिंदू राष्ट्र घोषित किया ही नहीं जा सकता क्योंकि यहां केवल हिंदू ही जाति के लोग नहीं रखते यहां बहुत से जाति के भी लोग रहते हैं जो इस भारत के हाथ मतलब हमारे भारत के द्वारा और भारत के जब वह धरोहर है तो उनसे भारत को जुदा नहीं किया जा सकता दूसरी बात कि भारत एक धर्मनिरपेक्ष देश है और यहां हम देखते आ रहे हैं कि जिस प्रकार से अन्य बिरादरी ओके अन्य जांच के अन्य धर्म के लोग अपनी 1:00 बजे बढ़ा रहे हैं तो आने वाले समय में ही या और भी ज्यादा कठिन हो जाएगा इसलिए इसके बारे में सोचना बंद कर दें बस आप यह भावना रख हम इंसान है इंसान की तरह रहें और अपना जीवन सही से

pehli baat ki bharat ko hindu rashtra ghoshit kiya hi nahi ja sakta kyonki yahan keval hindu hi jati ke log nahi rakhte yahan bahut se jati ke bhi log rehte hain jo is bharat ke hath matlab hamare bharat ke dwara aur bharat ke jab vaah dharohar hai toh unse bharat ko juda nahi kiya ja sakta dusri baat ki bharat ek dharmanirapeksh desh hai aur yahan hum dekhte aa rahe hain ki jis prakar se anya biradari ok anya jaanch ke anya dharm ke log apni 1 00 baje badha rahe hain toh aane waale samay mein hi ya aur bhi zyada kathin ho jaega isliye iske bare mein sochna band kar de bus aap yah bhavna rakh hum insaan hai insaan ki tarah rahein aur apna jeevan sahi se

पहली बात कि भारत को हिंदू राष्ट्र घोषित किया ही नहीं जा सकता क्योंकि यहां केवल हिंदू ही जा

Romanized Version
Likes  9  Dislikes    views  402
WhatsApp_icon
user

Ravi Sharma

Advocate

1:59
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारत को एक बार फिर हिंदू राष्ट्र घोषित करने से भारत दुनिया का नंबर वन देश नहीं बन सकता चाहे भारत हिंदू राष्ट्र माने या ना बने इस सिचुएशन में भी भारत दुनिया का नंबर वन देश नहीं बन सकता क्योंकि भारत अभी भी विकसित देशों से कम से कम 20 से 30 साल पीछे चल रहा है देखिए भारत में जिस प्रकार से अराजकता लूट व भ्रष्टाचार चला है पिछले 70 सालों में विभिन्न सरकारें आई उन्होंने अलग-अलग प्रकार की योजनाएं बनाई परियोजनाएं बनाएं विभिन्न प्रकार की प्रणालियों निवेश के रास्ते जनता के लिए लेकर आया लेकिन उन पर अमल नहीं हो पाया कागजों में खो कर रह गई अधिकतर परियोजना एवं भारत का जो मूलभूत समस्याएं थी उनसे उसको निजात नहीं दिलाया गया इसके अलावा भारत की गरीब लोग गरीब से गरीब होते गए हम अमीर अमीर से अमीर बनते हैं इस सरकार से आर्थिक असमानता भ्रष्टाचार और जो पापुलेशन ग्रोथ थी उसकी वजह से भारत नीचे और पीछे होता चला गया मोदी सरकार के आने के बाद से मोदी सरकार ने इस बारे में कुछ अथक प्रयास करें कुछ शुरुआत करें परंतु फिर भी भारत को अभी विकसित बनने में कम से कम 20 से 30 साल का समय और लगेगा अब रही बात हिंदू राष्ट्र घोषित करने की तो हिंदू राष्ट्र घोषित करना या ना करना इस से कोई भी किसी भी प्रकार का प्रभाव नहीं पड़ेगा क्योंकि हिंदू धर्म अपने आप में ही बहुत बढ़ा हुआ है विभिन्न विभिन्न पद दो संप्रदायों समुदायों जातियों में बटा हुआ हिंदू धर्म किसी भी प्रकार से एकजुट होकर हिंदू राष्ट्र नहीं बन सकता उस में भी कई पेच रहेंगे आपसी झगड़े होंगे फसाद होंगे दंगे होंगे और उसका कोई औचित्य आज के आधुनिक युग में नजर नहीं आता है आज का युग विज्ञान का युग है निवेश का योग हैं व्यवसाय व्यापार का योग है ना कि धर्म संप्रदाय में जातियों का योग है तो मैं माफी चाहता हूं परंतु मुझे नहीं रखा हिंदू राष्ट्र घोषित करने से भारत दुनिया का नंबर वन देश कभी भी बन पाएगा धन्यवाद

bharat ko ek bar phir hindu rashtra ghoshit karne se bharat duniya ka number van desh nahi ban sakta chahe bharat hindu rashtra mane ya na bane is situation mein bhi bharat duniya ka number van desh nahi ban sakta kyonki bharat abhi bhi viksit deshon se kam se kam 20 se 30 saal piche chal raha hai dekhie chahiye bharat mein jis prakar se arajkata loot va bhrashtachar chala hai pichle 70 salon mein vibhinn sarkaren eye unhone alag alag prakar ki yojanaye banai pariyojanaen chahiye banaye vibhinn prakar ki pranaleeyon nivesh ke raste janta ke liye lekar aaya lekin un par amal nahi ho paya chahiye mein kho kar chahiye rah gayi adhiktar pariyojana evam bharat ka jo mulbhut samasyaen thi unse usko nijat nahi dilaya gaya iske alava bharat ki garib log garib se garib hote gaye hum amir amir se amir bante hain is sarkar se aarthik asamanta bhrashtachar aur jo population growth thi uski wajah se bharat niche aur piche hota chala gaya modi sarkar ke aane ke baad se modi sarkar ne is bare mein kuch athak prayas kare chahiye kuch shuruvat kare chahiye parantu phir bhi bharat ko abhi viksit banane mein kam se kam 20 se 30 saal ka samay aur lagega ab rahi baat hindu rashtra ghoshit karne ki to hindu rashtra ghoshit karna ya na karna is se koi bhi kisi bhi prakar ka prabhav nahi padega kyonki hindu dharm apne aap mein hi bahut badha hua hai vibhinn vibhinn pad do sampradayon chahiye samudayo jaatiyo mein bata hua hindu dharm kisi bhi prakar se ekjoot hokar hindu rashtra nahi ban sakta us mein bhi kai chahiye rahenge aapasi chahiye jhagde honge fasad honge denge honge aur uska koi auchitya aaj ke aadhunik yug mein nazar nahi aata hai aaj ka yug vigyan ka yug hai nivesh ka yog hain vyavasaya vyapar ka yog hai na ki chahiye dharm sampraday mein jaatiyo ka yog hai to main maafi chahta hoon parantu mujhe nahi rakha hindu rashtra ghoshit karne se bharat duniya ka number van desh kabhi bhi ban payega dhanyavad

भारत को एक बार फिर हिंदू राष्ट्र घोषित करने से भारत दुनिया का नंबर वन देश नहीं बन सकता चाह

Romanized Version
Likes  15  Dislikes    views  399
WhatsApp_icon
play
user

Rahul Bharat

राजनैतिक विश्लेषक

1:59

Likes  25  Dislikes    views  1602
WhatsApp_icon
user

Lal Babu Mehta

Zila Adhyaksh BJP

0:32
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारत हिंदू राष्ट्र घोषित करने से दुनिया का नंबर वन देश नहीं बन पाएगा क्योंकि भारत एक धर्मनिरपेक्ष राष्ट्र है जो कि वर्तमान संविधान संशोधन में जोड़ा गया था लेकिन कभी हो ही नहीं सकते और इस कारण विकास नहीं हो सकता और हिंदू राष्ट्र घोषित करना ही विकास का रिप्लाई नहीं

bharat hindu rashtra ghoshit karne se duniya ka number van desh nahi ban payega kyonki bharat ek dharmanirapeksh rashtra hai jo ki vartaman samvidhan sanshodhan mein joda gaya tha lekin kabhi ho hi nahi sakte aur is karan vikas nahi ho sakta aur hindu rashtra ghoshit karna hi vikas ka reply nahi

भारत हिंदू राष्ट्र घोषित करने से दुनिया का नंबर वन देश नहीं बन पाएगा क्योंकि भारत एक धर्मन

Romanized Version
Likes  25  Dislikes    views  863
WhatsApp_icon
user

Bhim Singh

Politician|Activist|SupremeCourt lawyer|Author

1:50
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मैं एक बार अपने हिंदुस्तानी हूं बेशक हिंदुस्तान में अपना झंडा मुझे फेसबुक में जनरल जोरावर सिंह के परिवार से हूं जिन्होंने जम्मू कश्मीर और लद्दाख को 18 मिनट में एक राज एक देश में भ्रमण किया है पूरे विश्व का भी है वह भी हिंदी में भी अर्जुन चित्र में दिखाएं सारा मेरा शादी 5 साल का मेरा तजुर्बा क्या है इसलिए मुझे भारत की सरकारों ने जम्मू की सरकारों ने दबाया जाए दबाया जाए मैं आज भी करता था मैं पूरी शक्ल में काम करता था लेकिन मैं कभी भी किसी व्यक्ति को

main ek baar apne hindustani hoon vesak Hindustan mein apna jhanda mujhe facebook mein general zoravar Singh ke parivar se hoon jinhone jammu kashmir aur ladakh ko 18 minute mein ek raaj ek desh mein bhraman kiya hai poore vishwa ka bhi hai wah bhi hindi mein bhi arjun chitra mein dikhaen saara mera shadi 5 saal ka mera tajurba kya hai isliye mujhe bharat ki sarkaro ne jammu ki sarkaro ne dabaya jaye dabaya jaye main aaj bhi karta tha main puri shakl mein kaam karta tha lekin main kabhi bhi kisi vyakti ko

मैं एक बार अपने हिंदुस्तानी हूं बेशक हिंदुस्तान में अपना झंडा मुझे फेसबुक में जनरल जोरावर

Romanized Version
Likes  18  Dislikes    views  507
WhatsApp_icon
user

Daulat Ram Sharma Shastri

Psychologist | Ex-Senior Teacher

5:17
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नहीं मैं आपसे कदापि सहमत नहीं हूं भारत को हिंदू राष्ट्र घोषित नहीं करना चाहिए हमारी व्यवस्थाएं हमारी तो संविधान के द्वारा सभी धर्मों को समान आदर देने की चुनौती है को विश्व में अनुपम अद्भुत और बहुत अच्छी है अब यह दीगर बात है कि हम सभी धर्मावलंबी सम्मान हमारे संविधान के द्वारा दी हुई उस सफलता के अधिकार को हम समझ नहीं पाते हैं और एक दूसरे पर अटैक करते हैं एक दूसरे के धर्म को भरा बताते हैं जबकि संविधान है साथ ही क्या संविधान तो यह कहता है सभी धर्म समान है सभी धर्मावलंबी एक दूसरे की सहायता करें एक दूसरे का सहयोग करें और एक दूसरे की प्रशंसा करें लेकिन आपस में लड़ने नहीं एक दूसरे को इज्जत नहीं कहें एक दूसरे को बुरा नहीं कहे जबकि हमारे यहां पर जो सभी धर्मावलंबी हैं वहीं एक दूसरी की आलोचनाओं से भरी हुई हम लोगों में इतनी गंदी आदतें हम भारतीयों में भारतीय इसी लकीर को छोटा बनाने के लिए उसे चारों तरफ से मिटाना चालू कर देते हैं जबकि उस लकीर को यदि तो मैं छोटा होना उसके पास अपनी बहुत बड़ी लकीर खींची है जिससे वह अपने आप छोटी हो जाएगी लेकिन हमारे यहां पर यह धर्म जो है एक अफीम गांव काम करो कट्टरता सभी धर्मावलंबियों को लड़ा रही है हिंदू धर्म वाले इस्लाम धर्म को वालों को बुरा कहते हैं इस्लाम धर्म वाली हिंदू धर्म वालों को बुरा कहते हैं फिर कहते हैं हम जैन धर्म की आलोचना करते हैं बौद्ध धर्म की आलोचना एक दूसरा धर्मावलंबी दूसरे धर्म को इंटीरियर कहता है उसी बुराइयां करता है यह दर्शन क्या है यह शिक्षा का कारण एक शिक्षित व्यक्ति तो जानता है कि मेरा धर्म भी उतना ही सम्माननीय जितना कि औरों के धर्म और उनके धर्म भी उतने ही सम्माननीय जितना कि मेरा धर्म तो मेरे लिए तो मंदिर में भी वही राम है और मस्जिद में चला जाता हूं तो वही वहां भी श्रीराम है और गुरुद्वारे में भी यदि दर्शन करना चाहता हूं तो वहां भी श्रीराम है यह तो जाकी रही भावना जैसी प्रभु मूरत देखी तहसील को जिला जी कहते हैं आपकी भावनाओं को डिफरेंट है इसलिए आपको हमको यह नहीं करना चाहिए कि हिंदू राष्ट्र बन जाने से ही भारत दुनिया में नंबर वन कर देश में सकता है नहीं बस हमें सफलता के अधिकार का मिस यूज नहीं करना चाहिए हमें एक दूसरे के धर्म को सम्मान दें ना चाहिए एक दूसरे धर्मों को एलेस्पेक करनी चाहिए यह हमारा नैतिक कर्तव्य है जो सोमवार संविधान को समझाना चाहता है किंतु हम है कि एक दूसरे धर्म को इनफीरियर्स समझते हैं एक दूसरे धर्म में गलतियां ढूंढते हैं एक दूसरे के धर्म की मजाक उड़ाते हैं यही कारण है कि भारतीयों की ऐसी मूर्खता का लाभ हमारी पार्टी पॉलीटिकल पार्टीज ले रही हैं वेद धर्म बाद की राजनीति भाषा बात की राजनीति जातिवाद की राजनीति कर रही हैं और उसी का लाभ लेकर कि तुम देख रहे हो आज हमारी भारत की जो राजनीति की स्थिति बन रही है वह बद से बदतर होती जा रही है इसलिए हम सब को उचित यही है कि हम अपने अपने घरों का पालन करें लेकिन मुझे मेरे धर्म की सफलता केवल वहीं तक है जहां तक मैं दूसरे धर्मों की आलोचना ना करूं उन्हें बढ़ाइए मैं तो उनकी मजाक नहीं उड़ा हूं बल्कि उनका भी उतना ही सम्मान करूं जितना कि मैं मेरे धर्म का करता हूं इसे ही धार्मिक सहिष्णुता कहते हैं और जब तक धार्मिक सहिष्णुता नहीं होगी तब तक हम लोग विकास नहीं कर सकते हैं हमें देश के विकास पर ध्यान देना चाहिए बल्कि मेरा मानना तो यह है कि सभी धर्मों को बंद कर देना चाहिए सभी धर्मों के स्थान पर एक केवल भारत की ताकत धर्म होना चाहिए देश धर्म होना चाहिए मासिक धर्म होना चाहिए भारत का विकास करना भारत को आगे बढ़ाना कि हम सब का सबसे बड़ा धर्म है सबसे बड़ा नैतिक कर्तव्य है और भारत की सूचना पर बनी रहे भारत का सम्मान बरकरार रहे और भारत विकास करता हुआ विश्व में अग्रणी से अधिकतम भूत यह हमारी कामना होनी चाहिए हमारे सब के धर्म जाति पीछे हैं पहले हमारा देश है इस प्रकार की राष्ट्रवाद की भावना देश प्रेम की भावना का होना ही सबसे बड़ा धर्म है मेरी दृष्टि में

nahi main aapse kadapi sahmat nahi hoon bharat ko hindu rashtra ghoshit nahi karna chahiye hamari vyavasthaen hamari toh samvidhan ke dwara sabhi dharmon ko saman aadar dene ki chunauti hai ko vishwa mein anupam adbhut aur bahut achi hai ab yah digar baat hai ki hum sabhi dharmavalambi sammaan hamare samvidhan ke dwara di hui us safalta ke adhikaar ko hum samajh nahi paate hai aur ek dusre par attack karte hai ek dusre ke dharm ko bhara batatey hai jabki samvidhan hai saath hi kya samvidhan toh yah kahata hai sabhi dharm saman hai sabhi dharmavalambi ek dusre ki sahayta kare ek dusre ka sahyog kare aur ek dusre ki prashansa kare lekin aapas mein ladane nahi ek dusre ko izzat nahi kahein ek dusre ko bura nahi kahe jabki hamare yahan par jo sabhi dharmavalambi hai wahi ek dusri ki aalochanaon se bhari hui hum logo mein itni gandi aadatein hum bharatiyon mein bharatiya isi lakir ko chota banne liye use charo taraf se mitana chaalu kar dete hai jabki us lakir ko yadi toh main chota hona uske paas apni bahut baadi lakir khinchi hai jisse vaah apne aap choti ho jayegi lekin hamare yahan par yah dharm jo hai ek afeem gaon kaam karo kattartaa sabhi dharmavalambiyon ko lada rahi hai hindu dharm waale islam dharm ko walon ko bura kehte hai islam dharm wali hindu dharm walon ko bura kehte hai phir kehte hai hum jain dharm ki aalochana karte hai Baudh dharm ki aalochana ek doosra dharmavalambi dusre dharm ko interior kahata hai usi buraiyan karta hai yah darshan kya hai yah shiksha ka karan ek shikshit vyakti toh jaanta hai ki mera dharm bhi utana hi sammananiya jitna ki auron ke dharm aur unke dharm bhi utne hi sammananiya jitna ki mera dharm toh mere liye toh mandir mein bhi wahi ram hai aur masjid mein chala jata hoon toh wahi wahan bhi shriram hai aur gurudware mein bhi yadi darshan karna chahta hoon toh wahan bhi shriram hai yah toh jaki rahi bhavna jaisi prabhu murat dekhi tehsil ko jila ji kehte hai aapki bhavnao ko different hai isliye aapko hamko yah nahi karna chahiye ki hindu rashtra ban jaane se hi bharat duniya mein number van kar desh mein sakta hai nahi bus hamein safalta ke adhikaar ka miss use nahi karna chahiye hamein ek dusre ke dharm ko sammaan de na chahiye ek dusre dharmon ko elespek karni chahiye yah hamara naitik kartavya hai jo somwar samvidhan ko samajhana chahta hai kintu hum hai ki ek dusre dharm ko inafiriyars samajhte hai ek dusre dharm mein galtiya dhoondhate hai ek dusre ke dharm ki mazak udate hai yahi karan hai ki bharatiyon ki aisi murkhta ka labh hamari party political parties le rahi hai ved dharm baad ki raajneeti bhasha baat ki raajneeti jaatiwad ki raajneeti kar rahi hai aur usi ka labh lekar ki tum dekh rahe ho aaj hamari bharat ki jo raajneeti ki sthiti ban rahi hai vaah bad se badataar hoti ja rahi hai isliye hum sab ko uchit yahi hai ki hum apne apne gharon ka palan kare lekin mujhe mere dharm ki safalta keval wahi tak hai jaha tak main dusre dharmon ki aalochana na karu unhe badhaiye main toh unki mazak nahi uda hoon balki unka bhi utana hi sammaan karu jitna ki main mere dharm ka karta hoon ise hi dharmik sahishnuta kehte hai aur jab tak dharmik sahishnuta nahi hogi tab tak hum log vikas nahi kar sakte hai hamein desh ke vikas par dhyan dena chahiye balki mera manana toh yah hai ki sabhi dharmon ko band kar dena chahiye sabhi dharmon ke sthan par ek keval bharat ki takat dharm hona chahiye desh dharm hona chahiye maasik dharm hona chahiye bharat ka vikas karna bharat ko aage badhana ki hum sab ka sabse bada dharm hai sabse bada naitik kartavya hai aur bharat ki soochna par bani rahe bharat ka sammaan barkaraar rahe aur bharat vikas karta hua vishwa mein agranee se adhiktam bhoot yah hamari kamna honi chahiye hamare sab ke dharm jati peeche hai pehle hamara desh hai is prakar ki rashtravad ki bhavna desh prem ki bhavna ka hona hi sabse bada dharm hai meri drishti mein

नहीं मैं आपसे कदापि सहमत नहीं हूं भारत को हिंदू राष्ट्र घोषित नहीं करना चाहिए हमारी व्यवस्

Romanized Version
Likes  48  Dislikes    views  2390
WhatsApp_icon
user

Kinnari Raval

Singer-Artist

0:37
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कुछ नहीं है कि हिंदू राष्ट्र करने से नंबर वन बनने का ऐसा कोई जरूरी नहीं है क्योंकि बनने के लिए तो दोनों जरूरी है मगर जो राष्ट्र की भावना है ना वह बहुत जरूरी है बहुत जरूरी है इसके लिए कोई हिंदुत्व होना जरूरी नहीं है

kuch nahi hai ki hindu rashtra karne se number van banne ka aisa koi zaroori nahi hai kyonki banne ke liye toh dono zaroori hai magar jo rashtra ki bhavna hai na vaah bahut zaroori hai bahut zaroori hai iske liye koi hindutv hona zaroori nahi hai

कुछ नहीं है कि हिंदू राष्ट्र करने से नंबर वन बनने का ऐसा कोई जरूरी नहीं है क्योंकि बनने के

Romanized Version
Likes  185  Dislikes    views  3082
WhatsApp_icon
user

Prateek Mishra

Journalist

0:45
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारतीय संविधान की संरचना है वह एक पंथनिरपेक्ष गणराज्य के रूप में हुई है इसीलिए किसी भी धर्म के अनुसार राष्ट्र निर्माण करने की जो बात सामने आ रही है चाहे वह मुस्लिम और हिंदू हो सिख हो या इसाई हो कुल मिला कर किसी भी धर्म के नाम पर देश बनाना है और कितने देश बने हैं उनकी दुर्गति भी आप देख सकते हैं इसलिए मेरा यह मानना है कि जिस तरीके से पंथनिरपेक्ष राज्य की स्थापना संविधान की संरचना में दी गई है इससे बेहतर कुछ नहीं हो सकता और पंथनिरपेक्षता क्या आधार पर ही देश को विकास करेगा

bharatiya samvidhan ki sanrachna hai wah ek panthnirpeksh ganrajya ke roop mein hui hai isliye kisi bhi dharm ke anusaar rashtra nirmaan karne ki jo baat saamne aa rahi hai chahe wah muslim aur hindu ho sikh ho ya isai ho kul mila kar kisi bhi dharm ke naam par desh banana hai aur kitne desh bane hain unki durgati bhi aap dekh sakte hain isliye mera yeh manana hai ki jis tarike se panthnirpeksh rajya ki sthapna samvidhan ki sanrachna mein di gayi hai isse behtar kuch nahi ho sakta aur panthanirapekshata kya aadhaar par hi desh ko vikas karega

भारतीय संविधान की संरचना है वह एक पंथनिरपेक्ष गणराज्य के रूप में हुई है इसीलिए किसी भी धर्

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  186
WhatsApp_icon
user

Abhay Pratap

Advocate | Social Welfare Activist

0:50
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारत महान देश विश्व में नंबर वन है ही और हिंदू राष्ट्र अगर में घोषित नाभि हो तब भी सारे विश्व के लोग जानते हैं कि भारत एक हिंदू राष्ट्र है जहां एक प्राचीन सभ्यता बसी हुई है जो हिंदू जात के नाम से जानी जाती हिंदू धर्म के नाम से जानी जाती है जो प्रकृति और अध्यात्म से जुड़ी हुई है अतः हिंदू धर्म भारत ही है

bharat mahaan desh vishwa mein number van hai hi aur hindu rashtra agar mein ghoshit nabhi ho tab bhi saare vishwa ke log jante hain ki bharat ek hindu rashtra hai jaha ek prachin sabhyata basi hui hai jo hindu jaat ke naam se jani jaati hindu dharm ke naam se jani jaati hai jo prakriti aur adhyaatm se judi hui hai atah hindu dharm bharat hi hai

भारत महान देश विश्व में नंबर वन है ही और हिंदू राष्ट्र अगर में घोषित नाभि हो तब भी सारे वि

Romanized Version
Likes  126  Dislikes    views  1152
WhatsApp_icon
user
0:23
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारत एक हिंदू राष्ट्र है उसको घोषित करो या मत करो आप लोग सबसे ज्यादा रहते हो हिंदू राष्ट्र और भारत वंदे से इसलिए इसका घोषित करके नंबर वन बनना बनना लगे 12th प्रकार के अपने गुणों से अपनी दक्षता से नंबर वन बन रहा है

bharat ek hindu rashtra hai usko ghoshit karo ya mat karo aap log sabse zyada rehte ho hindu rashtra aur bharat vande se isliye iska ghoshit karke number van banna banna lage 12th prakar ke apne gunon se apni dakshata se number van ban raha hai

भारत एक हिंदू राष्ट्र है उसको घोषित करो या मत करो आप लोग सबसे ज्यादा रहते हो हिंदू राष्ट्र

Romanized Version
Likes  282  Dislikes    views  3216
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
dutkarna meaning in hindi ;

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!