जब मुस्लिम भी आज़ादी की लड़ाई लड़े थे तो भारत को हिंदू राष्ट्र क्यों होना चाहिए?...


user
0:37
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जब मुस्लिम भी आजादी की लड़ाई लड़ते तो भारत में हिंदू राष्ट्र क्यों होना चाहिए आना चाहिए कि आजादी की लड़ाई के मुसलमानों ने अपना पाकिस्तान में उन्होंने अपना लिया था ना तो फिर हम उन्हें यहां भारत में रहकर राष्ट्र की बात की बात नहीं कर सकते एक बार उनको अपना राष्ट्र पाकिस्तान के रूप में मिल गया तो आ जाना चाहिए पर विधायकों के खिलाफ पाकिस्तान जाना चाहिए

jab muslim bhi azadi ki ladai ladte toh bharat me hindu rashtra kyon hona chahiye aana chahiye ki azadi ki ladai ke musalmanon ne apna pakistan me unhone apna liya tha na toh phir hum unhe yahan bharat me rahkar rashtra ki baat ki baat nahi kar sakte ek baar unko apna rashtra pakistan ke roop me mil gaya toh aa jana chahiye par vidhayakon ke khilaf pakistan jana chahiye

जब मुस्लिम भी आजादी की लड़ाई लड़ते तो भारत में हिंदू राष्ट्र क्यों होना चाहिए आना चाहिए कि

Romanized Version
Likes  394  Dislikes    views  6383
WhatsApp_icon
30 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Rajesh Rana

Educator, Lawyer

1:52
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आजादी की लड़ाई सभी धर्मों के व्यक्तियों ने मिलकर एक साथ लड़ी थी यह देश सभी का देश है यह केवल ना हिंदू है ना मुस्लिम का आना सिक्का नहीं साहित्य हर इंसान हो तो हर उस इंसान का देश है तो इस देश को अपना जमानता है अपना जानता है या फिर किसी का कोई भी आदमी है हमारे देश में जो इस देश को एक पर्टिकुलर धन का बना देना चाहते हो सभी धर्मों में है याद रखना ऐसा नहीं है कि किसी खास धर्म में ही है जिनकी संख्या ज्यादा है वह समाज में ज्यादा फेमस हो जाते लेकिन यह सभी धर्मों में हैं जो चाहते हैं कि उनके धर्म का झंडा लाल किले पर फहराया जाता है यह हमारी समस्या नहीं है उनकी परवरिश उनकी शिक्षा किस तरह से हुई है यह समस्या उन्हें क्या सिखाया गया है यह उनकी समस्या पूरे देश की समस्या नहीं है और चंदा आदमी इस पूरे देश को डिस्टर्ब नहीं कर सकता मैं झूठी हो पीपल जो भारत में रहते हैं यही मानते हैं कि सभी धर्मों पर देश और चंदा आदमी यह मानते हैं कि किसी खास धर्म का दत्त हो जाना चाहिए समस्या हमारी नहीं है ना हमारे देश की है हमारे देश के कुछ नागरिकों की निजी समस्या है वह किसी ना किसी मानसिक बीमारी से ग्रसित हैं उसका इलाज होगा या नहीं होगा यह हम नहीं जानते कि उनका इलाज होना चाहिए उनको यह ज्ञान देना चाहिए यह देश सभी का है इसके आजादी में सभी ने अपनी पूर्णाहुति दी थी

azadi ki ladai sabhi dharmon ke vyaktiyon ne milkar ek saath ladi thi yah desh sabhi ka desh hai yah keval na hindu hai na muslim ka aana sikka nahi sahitya har insaan ho toh har us insaan ka desh hai toh is desh ko apna jamanata hai apna jaanta hai ya phir kisi ka koi bhi aadmi hai hamare desh mein jo is desh ko ek particular dhan ka bana dena chahte ho sabhi dharmon mein hai yaad rakhna aisa nahi hai ki kisi khaas dharm mein hi hai jinki sankhya zyada hai vaah samaj mein zyada famous ho jaate lekin yah sabhi dharmon mein hain jo chahte hain ki unke dharm ka jhanda laal kile par fahraya jata hai yah hamari samasya nahi hai unki parvarish unki shiksha kis tarah se hui hai yah samasya unhe kya sikhaya gaya hai yah unki samasya poore desh ki samasya nahi hai aur chanda aadmi is poore desh ko disturb nahi kar sakta main jhuthi ho pipal jo bharat mein rehte hain yahi maante hain ki sabhi dharmon par desh aur chanda aadmi yah maante hain ki kisi khaas dharm ka dutt ho jana chahiye samasya hamari nahi hai na hamare desh ki hai hamare desh ke kuch nagriko ki niji samasya hai vaah kisi na kisi mansik bimari se grasit hain uska ilaj hoga ya nahi hoga yah hum nahi jante ki unka ilaj hona chahiye unko yah gyaan dena chahiye yah desh sabhi ka hai iske azadi mein sabhi ne apni purnahuti di thi

आजादी की लड़ाई सभी धर्मों के व्यक्तियों ने मिलकर एक साथ लड़ी थी यह देश सभी का देश है यह के

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  160
WhatsApp_icon
user

Chandraprakash Joshi

Ex-AGM RBI & CEO@ixamBee.com

1:38
Play

इतिहास तो एक ही इस बात पर प्रश्न करता है, कि संघ ने आजादी की लड़ाई कितनी लड़ी थी? ठीक है, अब उसको अलग अलग तरीके से लिखा जाता है, बोला जाता है, मेरे पास भी कोई डेफिनेट आंसर नहीं है, कि मैं बोलूं कि मुझे इतिहास कितनी डीप नॉलेज है, कि मैं उस पर कमेंट करूं| बट ऐसा कहीं इतिहास में नहीं लिखा है, कि संग ने देश की आजादी बहुत जबरदस्त तरीके से लड़ी| आजादी की लड़ाई लड़ने से इस बात का कोई संबंध नहीं है, और संघ का जो एजेंडा है, वह आज के डेट में तो बहुत सारा पॉलिटिकल हो चुका है, उसे एजेंडे को राजनीतिक बना दिया है| तो मुझे लगता है कि आम आदमी, जो भारत का आम आदमी है| और आज भारत को आजाद हुए 70 साल से ऊपर हो चुके हैं, तो भारत एजे देश क्या बनना है? उसकी एक डायरेक्शन तय हो गई है| तो वह समझ सकता है, कि आम आदमी यंहा का समझ सकता है, कि कौन राजनीति कर रहा है? और कहां पर कुछ चीजें हैं, जो संग अच्छा भी कर रहा है, उसमें कोई डाउट नहीं है, लेकिन कहां पर वो चीज़े गलत हो रही है, वह थिन लाइन होती है| तो वह मुझे लगता है, देश की जनता को समझ में आती है| आज की जनता इतनी जागरुक है, आज कम्युनिकेशन मीडिया इतना स्ट्रांग है, इंटरनेट, टेलीविजन, न्यूज पेपर, सब के माध्यम से सब को सबकी सच्चाई का पता लग रहा है| थोड़े दिन तक ये चलेगा बहकावा उसके बाद लोगों को थोड़ी देर में समझ में आएगा, तो फिर अपने आप उलट फेर होएंगे| चीजे बदलेंगी, सरकारें बदलेंगी| तो मुझे लगता है, जनता की समझदारी पर हमें भरोसा होना चाहिए, कि कहां पर राजनीति हो रही है? और कहां पर देश के विकास की बात हो रही है? और जनता इसका फैसला करेगी|

itihas toh ek hi is baat par prashna karta hai ki sangh ne azadi ki ladai kitni ladi thi theek hai ab usko alag alag tarike se likha jata hai bola jata hai mere paas bhi koi definet answer nahi hai ki main bolu ki mujhe itihas kitni deep knowledge hai ki main us par comment karu but aisa kahin itihas mein nahi likha hai ki sang ne desh ki azadi bahut jabardast tarike se ladi azadi ki ladai ladane se is baat ka koi sambandh nahi hai aur sangh ka jo agenda hai vaah aaj ke date mein toh bahut saara political ho chuka hai use agent ko raajnitik bana diya hai toh mujhe lagta hai ki aam aadmi jo bharat ka aam aadmi hai aur aaj bharat ko azad hue 70 saal se upar ho chuke hain toh bharat AJ desh kya banna hai uski ek direction tay ho gayi hai toh vaah samajh sakta hai ki aam aadmi yanha ka samajh sakta hai ki kaun raajneeti kar raha hai aur kahaan par kuch cheezen hain jo sang accha bhi kar raha hai usme koi doubt nahi hai lekin kahaan par vo chizey galat ho rahi hai vaah thin line hoti hai toh vaah mujhe lagta hai desh ki janta ko samajh mein aati hai aaj ki janta itni jagruk hai aaj communication media itna strong hai internet television news paper sab ke madhyam se sab ko sabki sacchai ka pata lag raha hai thode din tak ye chalega bahkava uske baad logo ko thodi der mein samajh mein aayega toh phir apne aap ulat pher hoenge chije badlengi sarkaren badlengi toh mujhe lagta hai janta ki samajhdari par hamein bharosa hona chahiye ki kahaan par raajneeti ho rahi hai aur kahaan par desh ke vikas ki baat ho rahi hai aur janta iska faisla karegi

इतिहास तो एक ही इस बात पर प्रश्न करता है, कि संघ ने आजादी की लड़ाई कितनी लड़ी थी? ठीक है,

Romanized Version
Likes  128  Dislikes    views  5901
WhatsApp_icon
user

Dr. Chinmaya Behera

Eco.,Fin., Pol.,life.,&career

0:25
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हां मुस्लिम भी आजादी की लड़ाई लड़े थे पर जब देश का बंटवारा हुआ मुस्लिम लोगों ने एक अलग देश मांग क्या इसीलिए पाकिस्तान एक मुस्लिम कंट्री में माना जाता है पर जब भारत में इतने सारे हिंदू है क्यों भारत को हिंदू राष्ट्र घोषित किया ना जाए

haan muslim bhi azadi ki ladai lade the par jab desh ka batwara hua muslim logo ne ek alag desh maang kya isliye pakistan ek muslim country mein mana jata hai par jab bharat mein itne saare hindu hai kyon bharat ko hindu rashtra ghoshit kiya na jaye

हां मुस्लिम भी आजादी की लड़ाई लड़े थे पर जब देश का बंटवारा हुआ मुस्लिम लोगों ने एक अलग देश

Romanized Version
Likes  17  Dislikes    views  862
WhatsApp_icon
play
user

Govind Saraf

Entrepreneur

1:40

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

एकदम सही बात है जब मुस्लिम भी आजादी की लड़ाई लड़े थे तो भारत हिंदू राष्ट्र क्यों होना चाहिए मैं एक बार देख ली कहना चाहूंगा यह सवाल आप उनसे पूछें भारत के पहले प्रधानमंत्री से आजाद भारत के पहले प्रधानमंत्री से की उन्हें यह राइट कौन दिया था कि भारत को दो टुकड़ों में बांटने का एक चौथा पाकिस्तान एक हिंदुस्तान क्यों वह कौन होते हैं भारत को दो टुकड़ों में बांटने वाले देखो अगर आज भारत दो टुकड़ों में बंटा है तो पाकिस्तान जो था उसने पाकिस्तान को मुस्लिम मुस्लिम देश के लिए बांटा गया है भारत को हिंदुस्तान के देश के रखा गया इसलिए भारत के हिंदू राष्ट्र कहा जाता है पाकिस्तान के आज मेंबर ऑफ पार्लियामेंट में देखे तो कोई भी ऐसे में नंबर नहीं है जो हिंदुस्तानी दिखे जो इंडियन सोंग ए मैक्सिमम को मैक्सिमम क्या सब हां पर मुस्लिम से हैं non-muslims एक भी पार्लियामेंट के मेंबर नहीं है लेकिन अब वह धीरे धीरे स्टार्ट कर रहे हैं नॉन मुस्लिम को भी पार्लियामेंट में मेंबर बनाना लेकिन भारत में आज देखिए तो हिंदू भी है मुस्लिम भी है इस तरीके से मुस्लिम को भी उस लेबल पर हमने रिस्पेक्ट दिया उन्हें उनकी हमारे देश में मौजूद है उनका स्वागत किया डेफिनटली हम भारत को हिंदू राष्ट्र नहीं बल्कि खेल एक भारत के रूप में देख रहे हैं लेकिन आज इस जब भारत आजाद भारत के पहले प्रधानमंत्री ने जब उसे डिवाइड किया था तो उनसे पूछना चाहिए उन्होंने क्या सोचकर डिवाइड किया था कि मुस्लिम्स के लिए पाकिस्तान होगा भाई बिंदु के लिए हिंदुस्तान होगा यह सबसे बड़ी सवाल जाती है आजाद देश के पहले प्रधानमंत्री के लिए

ekdam sahi baat hai jab muslim bhi azadi ki ladai lade the toh bharat hindu rashtra kyon hona chahiye main ek baar dekh li kehna chahunga yeh sawal aap unse puchen bharat ke pehle Pradhanmantri se azad bharat ke pehle Pradhanmantri se ki unhein yeh right kaun diya tha ki bharat ko do tukadon mein baantne ka ek chautha pakistan ek Hindustan kyon wah kaun hote hai bharat ko do tukadon mein baantne wale dekho agar aaj bharat do tukadon mein bata hai toh pakistan jo tha usne pakistan ko muslim muslim desh ke liye baata gaya hai bharat ko Hindustan ke desh ke rakha gaya isliye bharat ke hindu rashtra kaha jata hai pakistan ke aaj member of parliament mein dekhe toh koi bhi aise mein number nahi hai jo hindustani dikhe jo indian song a maximum ko maximum kya sab haan par muslim se hai non-muslims ek bhi parliament ke member nahi hai lekin ab wah dhire dhire start kar rahe hai non muslim ko bhi parliament mein member banana lekin bharat mein aaj dekhie toh hindu bhi hai muslim bhi hai is tarike se muslim ko bhi us lebal par humne respect diya unhein unki hamare desh mein maujud hai unka swaagat kiya definatali hum bharat ko hindu rashtra nahi balki khel ek bharat ke roop mein dekh rahe hai lekin aaj is jab bharat azad bharat ke pehle Pradhanmantri ne jab use divide kiya tha toh unse poochna chahiye unhone kya sochkar divide kiya tha ki Muslims ke liye pakistan hoga bhai bindu ke liye Hindustan hoga yeh sabse baadi sawal jati hai azad desh ke pehle Pradhanmantri ke liye

एकदम सही बात है जब मुस्लिम भी आजादी की लड़ाई लड़े थे तो भारत हिंदू राष्ट्र क्यों होना चाहि

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  572
WhatsApp_icon
user
1:19
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मेरे कुछ बारे में जो मेरा व्यक्तिगत राय है यही है कि यदि हिंदू राष्ट्र का 2 क्वेश्चन होता है हिंदुस्तान का जब आजादी में मुसलमान भी शामिल थे तो उधर जाति के आधार पर पाकिस्तान भी नहीं बनाना चाहिए था पाकिस्तान पेश करना चाहिए पाकिस्तान की धर्मनिरपेक्षता का कुछ नाम की चीज बची नहीं वहां का रामू ने मुस्लिम राष्ट्र घोषित कर दिया और इधर सारा मिक्स कर दिया तो वह तो 1 डिवाइडेड जो किया उसमें संतुलन नहीं हुआ तो संतुलन होना चाहिए था थोड़ी दिक्कत है और बाकी नहीं करता ही होना चाहिए लेकिन इस तरह के दंगे फसाद चलाने वालों पर थोड़ी सख्ती होनी चाहिए तो सोशल मीडिया पर पोस्ट करते हैं खड़े हो गए भाषण देते हैं जातिवाद उन लोगों पर पाबंदी लगानी चाहिए जो हिंदू-मुस्लिम करें किसी मंच पर खड़ा हो गई इस तरह का करें उसको तुरंत मुकदमा दर्ज हो कुछ बनाना पड़ेगा नहीं लिखना कि मुस्लिम शब्द बोलना

mere kuch bare mein jo mera vyaktigat rai hai yahi hai ki yadi hindu rashtra ka 2 question hota hai Hindustan ka jab azadi mein muslim bhi shaamil the toh udhar jati ke aadhaar par pakistan bhi nahi banana chahiye tha pakistan pesh karna chahiye pakistan ki dharmanirapekshata ka kuch naam ki cheez bachi nahi wahan ka ramu ne muslim rashtra ghoshit kar diya aur idhar saara mix kar diya toh wah toh 1 divided jo kiya usme santulan nahi hua toh santulan hona chahiye tha thodi dikkat hai aur baki nahi karta hi hona chahiye lekin is tarah ke dange fasad chalane walon par thodi sakhti honi chahiye toh social media par post karte hain khade ho gaye bhashan dete hain jaatiwad un logo par pabandi lagani chahiye jo hindu muslim karein kisi manch par khada ho gayi is tarah ka karein usko turant mukadma darj ho kuch banana padega nahi likhna ki muslim shabd bolna

मेरे कुछ बारे में जो मेरा व्यक्तिगत राय है यही है कि यदि हिंदू राष्ट्र का 2 क्वेश्चन होता

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  219
WhatsApp_icon
user

Karan Janwa

Automobile Engineer

1:14
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखें उपनिवेश काल में भारत अभी वर्तमान स्वरूप में उस ग्रुप में नहीं था पहले जो भारत था उसमें पहले वर्तमान का बांग्लादेश और पाकिस्तान क्षेत्र की भारत के अंदर याद रखें और भारतीय स्वतंत्रा में हिंदू और मुसलमान दोनों का ही बराबर योगदान रहा था जो हिंदू अधिक संख्या में कांग्रेस पार्टी से थे और जितने भी मुसलमान थे मुस्लिम पार्टी से उसके बाद भारत के विभाजन की घोषणा हुई तो मोहम्मद अली जिन्ना ने एक्सप्रेस की मांग की तो इंडियन नेशनल कांग्रेस और मुस्लिम देखा तो नहीं दो स्वतंत्र राष्ट्र भारत और परेशान करने की घोषणा की थी तो मोहम्मद अली जिन्ना ने पाकिस्तान की मांग की जितने भी मुसलमान थे उन सभी को पाकिस्तान में भेज दिया गया इस वजह से भारत में जितने भी हिंदू थे वह घर पर है इस वजह से भारत को एक हिंदू राष्ट्र होना चाहिए धन्यवाद

dekhen upnivesh kaal mein bharat abhi vartaman swaroop mein us group mein nahi tha pehle jo bharat tha usme pehle vartaman ka bangladesh aur pakistan kshetra ki bharat ke andar yaad rakhen aur bharatiya swatantra mein hindu aur musalman dono ka hi barabar yogdan raha tha jo hindu adhik sankhya mein congress party se the aur jitne bhi musalman the muslim party se uske baad bharat ke vibhajan ki ghoshana hui toh muhammad ali jinnah ne express ki maang ki toh indian national congress aur muslim dekha toh nahi do swatantra rashtra bharat aur pareshan karne ki ghoshana ki thi toh muhammad ali jinnah ne pakistan ki maang ki jitne bhi musalman the un sabhi ko pakistan mein bhej diya gaya is wajah se bharat mein jitne bhi hindu the vaah ghar par hai is wajah se bharat ko ek hindu rashtra hona chahiye dhanyavad

देखें उपनिवेश काल में भारत अभी वर्तमान स्वरूप में उस ग्रुप में नहीं था पहले जो भारत था उसम

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  268
WhatsApp_icon
user

Ved Prakash Arya

Health and Fitness Expert

0:13
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपको 24 मुसलमानों के नाम को छोड़कर के अन्य मुसलमानों का नाम नहीं लेंगे उन्होंने सिर्फ लड़ाई किया था अपने लिए हिंदुस्तान के लिए नहीं

aapko 24 musalmanon ke naam ko chhodkar ke anya musalmanon ka naam nahi lenge unhone sirf ladai kiya tha apne liye Hindustan ke liye nahi

आपको 24 मुसलमानों के नाम को छोड़कर के अन्य मुसलमानों का नाम नहीं लेंगे उन्होंने सिर्फ लड़ा

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  1
WhatsApp_icon
user

Lal Babu Mehta

Zila Adhyaksh BJP

0:33
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आजादी की लड़ाई में हिंदू और मुस्लिम दोनों साथ साथ लड़े थे और बड़ी मजबूती के साथ लड़े थे उनका एक एग्जांपल सीमांत गांधी भी हैं के नाम से जानते हैं अब्दुल गफ्फार खान और सारे बहुत ऐसे नेता है जो कि आजादी की लड़ाई में महत्वपूर्ण भूमिका निभाए थे देश को हिंदू राष्ट्र का है क्यों नहीं होना चाहिए यह सही सही नहीं है क्योंकि यह धर्मपेठ से देश है और यहां हिंदू मुस्लिम सभी के रहने का अधिकार संविधान के द्वारा ही प्रदान किया गया है

azadi ki ladai mein hindu aur muslim dono saath saath lade the aur badi majbuti ke saath lade the unka ek example simaant gandhi bhi hain ke naam se jante hain abdul gaffar khan aur saare bahut aise neta hai jo ki azadi ki ladai mein mahatvapurna bhumika nibhaye the desh ko hindu rashtra ka hai kyon nahi hona chahiye yah sahi sahi nahi hai kyonki yah dharmapeth se desh hai aur yahan hindu muslim sabhi ke rehne ka adhikaar samvidhan ke dwara hi pradan kiya gaya hai

आजादी की लड़ाई में हिंदू और मुस्लिम दोनों साथ साथ लड़े थे और बड़ी मजबूती के साथ लड़े थे उन

Romanized Version
Likes  37  Dislikes    views  708
WhatsApp_icon
user

Abhishek Sharma

Forest Range Officer, MP

1:36
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हिंदू मुस्लिम हमेशा एक साथ लड़े हैं चाहे वह आजादी की बात हो चाहे वह आजादी से पहले की बात हो आप देखेंगे जब यह बताओ इतिहास उठा कर देखेंगे आपको याद आएगा जो मुस्लिम संस्था थी मुस्लिम लीग ने अपने आप को अलग करने की कोशिश की थी केवल वह भी इसलिए क्योंकि उस समय 50 के दशक में या 40 दशक में उस समय पूरा का पूरा संसार ही धर्म के आधार पर चल रहा था अब यूरोप की बात करें तो वहां पर भी जो वहां के धर्मगुरु होते हैं उनके पीछे पीछे बहुत फॉलो कर रहे थे वह हमारे देश में जितना नया हुए उससे कई गुना ज्यादा न्यासी यूरोप में हुआ है इसलिए वहां के देश के लोग अब यूरोप में बिल्कुल भी किसी भी तरह का धर्म नहीं मानते हो अपने आपको क्या 16 लोग जो हैं वह नहीं मानते हैं भारत में भी इस तरह की चीजों से में चल रही थी इसलिए समस्या ऑपरेशन हुआ लेकिन हम 2018 में जब बात करें तो भारत को हमें हिंदू राष्ट्र बोलना सही नहीं है हमें यह बोलना चाहिए कि भारत एक सेकुलर कंट्री है सभी धर्मों को बराबर यूज करते हैं अपनी रंग इज्जत करते हैं और दूसरे घर की नहीं करते तो शायद यह कहना सबसे ज्यादा उपयुक्त होगा भारत को हिंदू राष्ट्र होने की आवश्यकता नहीं है मैं तो कहता हूं दुनिया की किसी राष्ट्र को किसी एक धर्म से जुड़ा होना जरूरी नहीं है वह उस समय की बात और थी अब आप देख रहे हैं सोसाइटी जिस तरह से चेंज हो रही है वह धर्म के आधार पर ना होते हुए पैसे के आधार पर है अब वर्ग हो गया है मिडल क्लास लोगों का स्वर्गवास आप देखेंगे अपने आसपास के क्षेत्र में इन्हीं तेरस की चीजों में सारी की सारी छोटा सोसाइटी बदल गई है तू इस तरह हमें याद रखना चाहिए कि हमें धर्म के आधार पर नाचते हुए आरती किसी का कर ना होते हुए सबको बराबर की सम्मान तथा बराबर का आदर देना चाहिए थैंक यू

hindu muslim hamesha ek saath lade hain chahen vaah azadi ki baat ho chahen vaah azadi se pehle ki baat ho aap dekhenge jab yah batao itihas utha kar dekhenge aapko yaad aayega jo muslim sanstha thi muslim league ne apne aap ko alag karne ki koshish ki thi keval vaah bhi isliye kyonki us samay 50 ke dashak mein ya 40 dashak mein us samay pura ka pura sansar hi dharm ke aadhaar par chal raha tha ab europe ki baat kare toh wahan par bhi jo wahan ke dharmguru hote hain unke peeche peeche bahut follow kar rahe the vaah hamare desh mein jitna naya hue usse kai guna zyada nyasi europe mein hua hai isliye wahan ke desh ke log ab europe mein bilkul bhi kisi bhi tarah ka dharm nahi maante ho apne aapko kya 16 log jo hain vaah nahi maante hain bharat mein bhi is tarah ki chijon se mein chal rahi thi isliye samasya operation hua lekin hum 2018 mein jab baat kare toh bharat ko hamein hindu rashtra bolna sahi nahi hai hamein yah bolna chahiye ki bharat ek secular country hai sabhi dharmon ko barabar use karte hain apni rang izzat karte hain aur dusre ghar ki nahi karte toh shayad yah kehna sabse zyada upyukt hoga bharat ko hindu rashtra hone ki avashyakta nahi hai toh kahata hoon duniya ki kisi rashtra ko kisi ek dharm se juda hona zaroori nahi hai vaah us samay ki baat aur thi ab aap dekh rahe hain society jis tarah se change ho rahi hai vaah dharm ke aadhaar par na hote hue paise ke aadhaar par hai ab varg ho gaya hai middle kashi logo ka swargavas aap dekhenge apne aaspass ke kshetra mein inhin teres ki chijon mein saree ki saree chota society badal gayi hai tu is tarah hamein yaad rakhna chahiye ki hamein dharm ke aadhaar par naachte hue aarti kisi ka kar na hote hue sabko barabar ki sammaan tatha barabar ka aadar dena chahiye thank you

हिंदू मुस्लिम हमेशा एक साथ लड़े हैं चाहे वह आजादी की बात हो चाहे वह आजादी से पहले की बात ह

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  258
WhatsApp_icon
user

ganesh pazi

Motivator

0:21
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारत कभी भी हिंदू राष्ट्र नहीं सुना हो सकता भारत में लोकतंत्र देश में विभिन्न किस्म की सारी जातियां रहती है लोकतंत्र में किसी भी जाति विशेष के लिए कोई नहीं सारे लोग एक समान

bharat kabhi bhi hindu rashtra nahi suna ho sakta bharat mein loktantra desh mein vibhinn kism ki saree jatiya rehti hai loktantra mein kisi bhi jati vishesh ke liye koi nahi saare log ek saman

भारत कभी भी हिंदू राष्ट्र नहीं सुना हो सकता भारत में लोकतंत्र देश में विभिन्न किस्म की सार

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  71
WhatsApp_icon
user

Achary Dhruv sashtri

Achary and Youtuber

1:43
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न कम सिंगाजी है लेकिन मैं आपकी जानकारी के लिए दिखा दो कि देश की आजादी के लिए मुसलमानों ने लड़ाई लड़ी है दम सही बात है लेकिन आप यह क्यों भूल जाते हैं कि जब देश आजाद हुआ सब ने मिलकर लड़ाई लड़ी तो किसी देश से पाकिस्तान निकला पाकिस्तान में भी हिंदू से ईसाई के सिक्के तो फिर पाकिस्तान इस्लामिक स्टेट कंट्री कैसे बनी उसी पाकिस्तान से बांग्लादेश निकला तो इस्लामिक कंट्री कैसे बनी अगर भारत के दो टुकड़े होते हैं एक इस्लामिक कंट्री बनती है तो दूसरा हिंदू राष्ट्र क्यों नहीं बनना चाहिए या तो फिर वह भी इस्लामिक कंट्री नहीं होनी चाहिए और फिर अगर वह है तो यह क्यों होनी चाहिए बेशक आपको ने लड़ाई किसके लिए जब पाकिस्तान के हिंदू न लाएं नहीं की थी की थी लेकिन 4th क्रॉस कंट्री बनी नहीं बनी इस्लामिक कंट्री वाली स्कॉलर तब यहां के लोगों ने लड़ा था लेकिन फिर भी अगर ऐसा होता है जबकि ऐसा है नहीं लेकिन फिर भी अगर ऐसा होता कि भारत हिंदू राष्ट्र बनता है एकदम यह बाजी से निश्चित रूप से बनना ही चाहिए और हिंदू राष्ट्र बनने के बाद भी जितने मुसलमान भारत में सुरक्षित होंगे उतना विश्व के किसी भी मुस्लिम कंट्री मूवी सेक्स मूवी देखना भारत के मुसलमानों को अन्य देशों में सम्मान मिलता है उतना अन्य किसी मुस्लिम कंट्री के मुसलमान को कहीं भी सम्मान मिलता है इसलिए अगर यह हिंदू राष्ट्र बनता भी है तो भी मुसलमानों का ही है और इसलिए यह बनना भी चाहिए

aapka prashna kam singaji hai lekin main aapki jaankari ke liye dikha do ki desh ki azadi ke liye musalmanon ne ladai ladi hai dum sahi baat hai lekin aap yah kyon bhool jaate hain ki jab desh azad hua sab ne milkar ladai ladi toh kisi desh se pakistan nikala pakistan mein bhi hindu se isai ke sikke toh phir pakistan islamic state country kaise bani usi pakistan se bangladesh nikala toh islamic country kaise bani agar bharat ke do tukde hote hain ek islamic country banti hai toh doosra hindu rashtra kyon nahi bana chahiye ya toh phir vaah bhi islamic country nahi honi chahiye aur phir agar vaah hai toh yah kyon honi chahiye beshak aapko ne ladai kiske liye jab pakistan ke hindu na laye nahi ki thi ki thi lekin 4th cross country bani nahi bani islamic country wali scholar tab yahan ke logo ne lada tha lekin phir bhi agar aisa hota hai jabki aisa hai nahi lekin phir bhi agar aisa hota ki bharat hindu rashtra baata hai ekdam yah baazi se nishchit roop se bana hi chahiye aur hindu rashtra banne ke baad bhi jitne muslim bharat mein surakshit honge utana vishwa ke kisi bhi muslim country movie sex movie dekhna bharat ke musalmanon ko anya deshon mein sammaan milta hai utana anya kisi muslim country ke muslim ko kahin bhi sammaan milta hai isliye agar yah hindu rashtra baata bhi hai toh bhi musalmanon ka hi hai aur isliye yah bana bhi chahiye

आपका प्रश्न कम सिंगाजी है लेकिन मैं आपकी जानकारी के लिए दिखा दो कि देश की आजादी के लिए मुस

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  134
WhatsApp_icon
user

Sagar सागर

Engineer ,Singer,Director

0:53
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हिंदू और मुस्लिमों ने दोनों ने ही मिलकर भारत की आजादी में अपना योगदान दिया था परंतु भारत का विभाजन धर्म के आधार पर ही हुआ था उस समय मुस्लिम 9 करोड़ के आसपास थे और उन्होंने अपने जातीय 4th अपने धर्म के अनुसार ही अपने देश पाकिस्तान को मांगा था कि हमें धर्म के आधार पर अलग देश चाहिए जब मुस्लिमों ने अपने धर्म के आधार पर अपना देश अलग बना लिया तो क्या भारत को हिंदू राष्ट्र नहीं होना चाहिए था लेकिन उस टाइम पर की गई करती आज बहुत भारी पड़ रही है अगर उसी समय हिंदुस्तान को हिंदू राष्ट्र घोषित कर दिया जाता तो आज भारत में फिर से एक नई पाकिस्तान की डिमांड ना होती है

hindu aur muslimo ne dono ne hi milkar bharat ki azadi me apna yogdan diya tha parantu bharat ka vibhajan dharm ke aadhar par hi hua tha us samay muslim 9 crore ke aaspass the aur unhone apne jatiye 4th apne dharm ke anusaar hi apne desh pakistan ko manga tha ki hamein dharm ke aadhar par alag desh chahiye jab muslimo ne apne dharm ke aadhar par apna desh alag bana liya toh kya bharat ko hindu rashtra nahi hona chahiye tha lekin us time par ki gayi karti aaj bahut bhari pad rahi hai agar usi samay Hindustan ko hindu rashtra ghoshit kar diya jata toh aaj bharat me phir se ek nayi pakistan ki demand na hoti hai

हिंदू और मुस्लिमों ने दोनों ने ही मिलकर भारत की आजादी में अपना योगदान दिया था परंतु भारत क

Romanized Version
Likes  15  Dislikes    views  266
WhatsApp_icon
user

smart king

Student

0:27
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारत

bharat

भारत

Romanized Version
Likes  25  Dislikes    views  357
WhatsApp_icon
user
0:40
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आई लव माय डियर फ्रेंड आपका क्वेश्चन कि जब मुस्लिम भी देश के आजादी के लिए लड़ाई लड़ रहे थे तो हिंदू भारत को हिंदू राष्ट्र क्यों होना चाहिए बिल्कुल नहीं होना चाहिए नहीं है नहीं होगा क्योंकि मुस्लिम और हिंदू ही नहीं सीख जैन पारसी बौद्ध और जो किसी भी धर्म को नहीं मानते सभी लोगों की इस देश के लिए बड़ी-बड़ी कुर्बानियां दी हैं सभी ने किसी ने किसी कोई पीछे नहीं है सभी का बड़ा बड़ा ही बलिदान है रही बात मुस्लिमों की हमेशा एक निगाह होती है मुस्लिमों पर उनको शक के दायरे में देखा जाता है वह अपने आप को देखे वह लोग जो के दायरे में देखकर मुसलमान पक्का सच्चा देशभक्त है

I love my dear friend aapka question ki jab muslim bhi desh ke azadi ke liye ladai lad rahe the toh hindu bharat ko hindu rashtra kyon hona chahiye bilkul nahi hona chahiye nahi hai nahi hoga kyonki muslim aur hindu hi nahi seekh jain parasi Baudh aur jo kisi bhi dharm ko nahi maante sabhi logo ki is desh ke liye badi badi kurbaniyan di hain sabhi ne kisi ne kisi koi peeche nahi hai sabhi ka bada bada hi balidaan hai rahi baat muslimo ki hamesha ek nigah hoti hai muslimo par unko shak ke daayre me dekha jata hai vaah apne aap ko dekhe vaah log jo ke daayre me dekhkar musalman pakka saccha deshbhakt hai

आई लव माय डियर फ्रेंड आपका क्वेश्चन कि जब मुस्लिम भी देश के आजादी के लिए लड़ाई लड़ रहे थे

Romanized Version
Likes  17  Dislikes    views  174
WhatsApp_icon
user
1:17
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी प्यारे भाई आप का सवाल है जब मुस्लिम भी आजादी की लड़ाई लड़ी थी तो भारत को हिंदू राष्ट्र क्यों होना चाहिए बिल्कुल आपका साथ चाहिए यह बात अगर हिंदू भाई भी समझ जाए तो झगड़ा ही खत्म हो जाए लेकिन यह जो है भूल गए वो लोग हिंदू के मुसलमानों ने भी आजादी में हिस्सा लिया था इस बात को भूल चुके हैं हिंदू राष्ट्र बनाना चाहते हैं ठीक है उनको याद है याद नहीं तो याद दिलाई जाए ठीक है हिंदू राष्ट्र ने बनना चाहिए जब मुसलमान ने हिस्सा लिया तो किसी के हिस्सा को मारना गलत है यह देसी मुल्क सबका है तो सबको रहने का यहां पर अधिकार है सब कोई हत्यारे रहने का कुत्ते

ji pyare bhai aap ka sawaal hai jab muslim bhi azadi ki ladai ladi thi toh bharat ko hindu rashtra kyon hona chahiye bilkul aapka saath chahiye yah baat agar hindu bhai bhi samajh jaaye toh jhagda hi khatam ho jaaye lekin yah jo hai bhool gaye vo log hindu ke musalmanon ne bhi azadi me hissa liya tha is baat ko bhool chuke hain hindu rashtra banana chahte hain theek hai unko yaad hai yaad nahi toh yaad dilai jaaye theek hai hindu rashtra ne banna chahiye jab musalman ne hissa liya toh kisi ke hissa ko marna galat hai yah desi mulk sabka hai toh sabko rehne ka yahan par adhikaar hai sab koi hatyare rehne ka kutte

जी प्यारे भाई आप का सवाल है जब मुस्लिम भी आजादी की लड़ाई लड़ी थी तो भारत को हिंदू राष्ट्र

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  128
WhatsApp_icon
user

शशांक पाण्डेय

इंकलाब जिंदाबाद

1:39
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारत में जो है हिंदुओं की जो जनसंख्या है वह ज्यादा और ऐसा नहीं कि यहां सिर्फ हिंदू ही हैं यहां मुसलमान भी हैं हमारे महात्मा गांधी और जिन्ना जी इतिहास में देखिए आप तो पाकिस्तान की मांग ही इसलिए हुई थी कि मुसलमानों को सेफ्टी चाहिए थी अलग से तो उस हिसाब से पाकिस्तान बना यार आपका बंगाल विभाजन आपने पढ़ा होगा धर्मेन गाल बन गया तो उस समय जो विवाद हुए चिकनी दंगा हुआ फसाद हुआ लोगों के मन में यह आया कि वह पाकिस्तान है यह भारत भारत में हिंदू राष्ट्र क्योंकि हिंदू अधिक पाकिस्तान में है कि वहां जो है मुसलमानों की संख्या अधिक है लेकिन ऐसा नहीं है हिंदू नहीं हिंदू भी लेकिन वह कहलाता तुम मुस्लिम बाहुल्य क्षेत्र यह लोगों की सोच है या कह सकते हैं जा तू आता है कुछ भी कहिए लेकिन जो है वह वास्तविकता में है इसको हम और आप नकार नहीं सकते और ऐसा ही है ऐसा नहीं कि देश की लड़ाई में मुसलमानों ने भी साथ नहीं दिया दिया सब ने मिल कर दिया तो यही पॉइंट है मुझे लगता है कि इसी कारण ऐसा हो रहा है अच्छा लगा हो तो लाइक करें शेयर करें कमेंट करें जय हिंद जय भारत वंदे मातरम

bharat mein jo hai hinduon ki jo jansankhya hai vaah zyada aur aisa nahi ki yahan sirf hindu hi hain yahan muslim bhi hain hamare mahatma gandhi aur jinnah ji itihas mein dekhiye aap toh pakistan ki maang hi isliye hui thi ki musalmanon ko safety chahiye thi alag se toh us hisab se pakistan bana yaar aapka bengal vibhajan aapne padha hoga dharmen gaal ban gaya toh us samay jo vivaad hue chikani danga hua fasad hua logo ke man mein yah aaya ki vaah pakistan hai yah bharat bharat mein hindu rashtra kyonki hindu adhik pakistan mein hai ki wahan jo hai musalmanon ki sankhya adhik hai lekin aisa nahi hai hindu nahi hindu bhi lekin vaah kehlata tum muslim bahulya kshetra yah logo ki soch hai ya keh sakte hain ja tu aata hai kuch bhi kahiye lekin jo hai vaah vastavikta mein hai isko hum aur aap nakar nahi sakte aur aisa hi hai aisa nahi ki desh ki ladai mein musalmanon ne bhi saath nahi diya diya sab ne mil kar diya toh yahi point hai mujhe lagta hai ki isi karan aisa ho raha hai accha laga ho toh like kare share kare comment kare jai hind jai bharat vande mataram

भारत में जो है हिंदुओं की जो जनसंख्या है वह ज्यादा और ऐसा नहीं कि यहां सिर्फ हिंदू ही हैं

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  161
WhatsApp_icon
user

Suraj kandpal

Mechatronics engineer fresher

0:59
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

तेरी चीज में है कहना चाहता हूं कि हिंदू अभी भारत एक हिंदू राष्ट्र नहीं है भारत बहुत रिलीजन स्कोर बनाकर मिला मिलकर बना हुआ जो लोग बोलते हैं कि यह हिंदू राष्ट्र है वह बहुत बहुत गलत है क्योंकि यहां पर दोनों हिंदू और मुस्लिम एक ही हिंदू मुस्लिम सिख इसाई सब एक साथ रहते हैं और हां अगर जहां तक बात है कि आज यहां पर थोड़ा हिंदू और हिंदू चल रहा है हिंदुत्व चलता है कि वह था जब पाकिस्तान अलग हुआ था तब सारे मुस्लिम चले गए थे पाकिस्तान और उसके बाद सारे हिंदू लड़े थे हिंदुस्तान के अंदर और इसी वजह से भारत को चाहिए भारत भारत के अंदर इमेज है कि वह एक हिंदू राष्ट्र है पर मेरे हिसाब से हिंदू राष्ट्र नहीं एक ऐसा रास्ता है जो बहुत अलग अलग रिजल्ट को लेकर हिंदू मुस्लिम सब को लेकर बना हुआ है

teri cheez mein hai kehna chahta hoon ki chahiye hindu abhi bharat ek hindu rashtra nahi hai bharat bahut chahiye score banakar mila milkar bana hua jo log bolte hain ki chahiye yeh hindu rashtra hai wah bahut bahut galat hai kyonki yahan par dono hindu aur muslim ek hi hindu muslim sikh isaee sab ek saath rehte hain aur haan agar jaha tak baat hai ki chahiye aaj yahan par thoda hindu aur hindu chal raha hai hindutva chalta hai ki chahiye wah tha jab pakistan alag hua tha tab sare muslim chale gaye the pakistan aur uske baad sare hindu lade the hindustan ke andar aur isi wajah se bharat ko chahiye bharat bharat ke andar image hai ki chahiye wah ek hindu rashtra hai par mere hisab se hindu rashtra nahi ek aisa rasta hai jo bahut alag alag result ko lekar hindu muslim sab ko lekar bana hua hai

तेरी चीज में है कहना चाहता हूं कि हिंदू अभी भारत एक हिंदू राष्ट्र नहीं है भारत बहुत रिलीजन

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  190
WhatsApp_icon
user

Rajat sharma

वलको प्रोडक्ट

1:36
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारत देश सभी जातियों का देश माना जाता इसमें हिंदू मुस्लिम सिख ईसाई कितनी जातियां हैं सब एक बराबर है भारत संस्कृति का देश है हिंदी भाषाओं का देश है भारत की अलग देशों में अपने आप में एक छवि बनी हुई है भारत को आज की डेट में हिंदू राष्ट्र होना बहुत जरूरी है क्योंकि जो सरकार आती है वह वर्तमान की सरकार को छोड़कर जो एक्सप्रेस में बोलूंगा मुस्लिम विरोधी जो सरकार है मोदी सरकार इस सरकार में तो केवल और केवल हिंदुत्व के लिए सोचा जाता है जबकि हिंदुओं के नाम पर हिंदू एक हिंदू को बदनाम करने में लगे हुए हैं केंद्र सरकार ने अभी तक कोई कार्यवाही नहीं करी और ना करने वाली हो जाती है कि इसमें केवल और केवल हिंदू राष्ट्र हिंदू राष्ट्र भारत एक हिंदू राष्ट्र देश बना रहे चार भारत सारी जातियों का देश बना रहे हम सबको प्यारा है भारत हमारा देश है भारत माता की जय

bharat desh sabhi jaatiyo ka desh mana jata isme hindu muslim sikh isai kitni jatiya hain sab ek barabar hai bharat sanskriti ka desh hai hindi bhashaon ka desh hai bharat ki alag deshon mein apne aap mein ek chhavi bani hui hai bharat ko aaj ki date mein hindu rashtra hona bahut zaroori hai kyonki jo sarkar aati hai vaah vartaman ki sarkar ko chhodkar jo express mein boloonga muslim virodhi jo sarkar hai modi sarkar is sarkar mein toh keval aur keval hindutv ke liye socha jata hai jabki hinduon ke naam par hindu ek hindu ko badnaam karne mein lage hue hain kendra sarkar ne abhi tak koi karyavahi nahi kari aur na karne wali ho jaati hai ki isme keval aur keval hindu rashtra hindu rashtra bharat ek hindu rashtra desh bana rahe char bharat saree jaatiyo ka desh bana rahe hum sabko pyara hai bharat hamara desh hai bharat mata ki jai

भारत देश सभी जातियों का देश माना जाता इसमें हिंदू मुस्लिम सिख ईसाई कितनी जातियां हैं सब एक

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  98
WhatsApp_icon
user

Jigyasu

Jack of all trades

1:19
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए थोड़ा अलग क्वेश्चन है और इसका मुंह लगता नहीं वह सीधा जवाब है पर जो लोग कहते हैं कि भारत को हिंदू राष्ट्र बनाना चाहिए उनका उनकी रीजनिंग ऐसे है कि मुस्लिम लोग जो है अगर आजादी की लड़ाई लड़े थे तो उसके बाद काफी मुस्लिम लोगों ने पाकिस्तान के लिए भी लड़ाई लड़ी और मतलब पाकिस्तान हम देखते हैं वह कोई एक सेकुलर कंट्री नहीं है धर्मनिरपेक्ष देश नहीं है वह एक इस्लाम के नाम पर बना हुआ देश है और

dekhie chahiye thoda alag question hai aur iska mooh lagta nahi wah sidhaa jawab hai par jo log kehte hain ki chahiye bharat ko hindu rashtra banana chahiye unka unki reasoning aise hai ki chahiye muslim log jo hai agar azadi ki ladai lade the to uske baad kaafi muslim logo chahiye ne pakistan ke liye bhi ladai ladi aur matlab pakistan hum dekhte hain wah koi ek secular country nahi hai dharmanirapeksh desh nahi hai wah ek islam ke naam par bana hua desh hai aur

देखिए थोड़ा अलग क्वेश्चन है और इसका मुंह लगता नहीं वह सीधा जवाब है पर जो लोग कहते हैं कि भ

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  137
WhatsApp_icon
user
1:40
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखे यह बात बिल्कुल सही है कि आजादी की लड़ाई दोनों हिंदू और मुसलमानों ने मिलकर लड़ी थी और दोनों उस भारत की आजादी के लिए लड़े थे जो अंग्रेजों का गुलाम था जब भारत आजाद हुआ उससे पहले मोहम्मद अली जिन्ना और उनके साथियों ने जो है यह क्या कर मांग उठाई कि जो यह देश है यहां मुसलमान जाति के लिए जो है वह आफ थे कंट्री नहीं है क्योंकि यहां पर वह मुसलमान जो है अल्पसंख्यक हिंदू जो है बहुसंख्यक के तूने अलग राज्य चाहिए जब उन्हें अलग राज्य मिल गया तो उन्होंने अपने जो पाकिस्तान है उसे 1 तरीके से मुस्लिम देश घोषित किया बल्कि वह पाकिस्तान दोस्तों में छोटा और पूर्वी पाकिस्तान मालिश बनाते हैं जहां तक हमारे देश को हिंदू राष्ट्र घोषित किए जाने की समाधि की हिंदू राष्ट्र क्यों किया जाना चाहिए तो सबसे पहली बात तो हमें उन लोगों से सवाल पूछना चाहिए जो इस देश को हिंदू राष्ट्र घोषित करने की मांग कर रहे हैं यानी आरएसएस वीएचपी अभी जितने भी हिंदू संगठन से यह पूछा था कि उनका उनका कितना योगदान है भारत की आजादी की लड़ाई में क्या वह उसी भर की आजादी के लिए लड़ रहे थे जो अंग्रेजों का गुलाम था या फिर ऐसे ही पूछा जाना चाहिए को सभी धर्मों की एकता क्यों खेल रही है आपको क्या समस्या और किस देश में सभी धर्म एक है जब हमारा देश आजाद हुआ उससे वह संवैधानिक देश बना तो हमारे संविधान में सभी धर्मों की एकता को स्वीकारा है हमारे संग अमेरिका की कोई भी झूठा है वह को एक धर्म जो है वह देश का जो है सबसे प्रमुख धर्म से माना जाएगा बल्कि एक आ गया था क्योंकि हमारा देश जो है एक बहु जातीय देश है वहां पर अलग-अलग जातियां हैं इसीलिए हमारे जो धर्म हमारी जो संविधान है उसमें जो है सभी जातियों को सभी धर्मों को एक माना गया है और जो भी चीज की मांग उठाते हैं वह सबसे पहले अपनी आजादी की लड़ाई में का क्या योगदान था उसका प्रमाण जो है वह लोगों के सामने लेकर आएं

dekhe yah baat bilkul sahi hai ki azadi ki ladai dono hindu aur musalmanon ne milkar ladi thi aur dono us bharat ki azadi ke liye lade the jo angrejo ka gulam tha jab bharat azad hua usse pehle muhammad ali jinnah aur unke sathiyo ne jo hai yah kya kar maang uthayi ki jo yah desh hai yahan muslim jati ke liye jo hai vaah of the country nahi hai kyonki yahan par vaah muslim jo hai alpsankhyak hindu jo hai bahusankhyak ke tune alag rajya chahiye jab unhe alag rajya mil gaya toh unhone apne jo pakistan hai use 1 tarike se muslim desh ghoshit kiya balki vaah pakistan doston mein chota aur purvi pakistan maalish banate hain jaha tak hamare desh ko hindu rashtra ghoshit kiye jaane ki samadhi ki hindu rashtra kyon kiya jana chahiye toh sabse pehli baat toh hamein un logo se sawaal poochna chahiye jo is desh ko hindu rashtra ghoshit karne ki maang kar rahe hain yani R vhp abhi jitne bhi hindu sangathan se yah poocha tha ki unka unka kitna yogdan hai bharat ki azadi ki ladai mein kya vaah usi bhar ki azadi ke liye lad rahe the jo angrejo ka gulam tha ya phir aise hi poocha jana chahiye ko sabhi dharmon ki ekta kyon khel rahi hai aapko kya samasya aur kis desh mein sabhi dharm ek hai jab hamara desh azad hua usse vaah samvaidhanik desh bana toh hamare samvidhan mein sabhi dharmon ki ekta ko swikara hai hamare sang america ki koi bhi jhutha hai vaah ko ek dharm jo hai vaah desh ka jo hai sabse pramukh dharm se mana jaega balki ek aa gaya tha kyonki hamara desh jo hai ek bahu jatiye desh hai wahan par alag alag jatiya hain isliye hamare jo dharm hamari jo samvidhan hai usme jo hai sabhi jaatiyo ko sabhi dharmon ko ek mana gaya hai aur jo bhi cheez ki maang uthate hain vaah sabse pehle apni azadi ki ladai mein ka kya yogdan tha uska pramaan jo hai vaah logo ke saamne lekar aaen

देखे यह बात बिल्कुल सही है कि आजादी की लड़ाई दोनों हिंदू और मुसलमानों ने मिलकर लड़ी थी और

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  387
WhatsApp_icon
user
0:52
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

माना कि भारत की आजादी में मुसलमानों ने भी लड़ाई लड़ी थी लेकिन उस समय मुस्लिम कम्युनिटी के लीडर जिन्ना ने अंग्रेजों के समक्ष एक प्रस्ताव पारित किया कि आपके आने से पहले भारत में मुगल राज्य था अथवा हमको एक मुगल राज्य फिर से वापस चाहिए तो उस समय उन्होंने भारत के किसी भी कोने में एक मुगल राज्य की मांग की जिस को स्वीकार करते हुए गांधी जी ने उन्हें पाकिस्तान बंटवारे के रूप में दिया

mana ki bharat ki azadi mein musalmanon ne bhi ladai ladi thi lekin us samay muslim community ke leader jinnah ne angrejo ke samaksh ek prastaav paarit kiya ki aapke aane se pehle bharat mein mughal rajya tha athva hamko ek mughal rajya phir se wapas chahiye toh us samay unhone bharat ke kisi bhi kone mein ek mughal rajya ki maang ki jis ko sweekar karte hue gandhi ji ne unhe pakistan batware ke roop mein diya

माना कि भारत की आजादी में मुसलमानों ने भी लड़ाई लड़ी थी लेकिन उस समय मुस्लिम कम्युनिटी के

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  77
WhatsApp_icon
user

sujeet Kumar

Teaching

1:03
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मुस्लिम लड़ाई लड़े थे यह तो बात थी कि हिंदू और मुस्लिम भारत को आजाद कराने के लिए लड़े थे तब उस समय राष्ट्रवाद था हिंदू और मुस्लिम हिंदू और मुस्लिम के साथ संप्रदायवाद नहीं था लेकिन जब देश के आजाद होने के बाद भारत में सांप्रदायिकता का जन्म हुआ इससे पाकिस्तान ने एक अपना अलग स्वराष्ट्र घोषित कर लिया इससे इसलिए भारत को एक हिंदू रात होना चाहिए क्योंकि पाकिस्तान एक मुसलमान राष्ट्र है तो भारत को भी एक हिंदू रात होना चाहिए जैसा कि जर्मनी रूस एक हिंदू रा

muslim ladai lade the yah toh baat thi ki hindu aur muslim bharat ko azad karane ke liye lade the tab us samay rashtravad tha hindu aur muslim hindu aur muslim ke saath sampradayvad nahi tha lekin jab desh ke azad hone ke baad bharat mein saampradayikta ka janam hua isse pakistan ne ek apna alag swarashtra ghoshit kar liya isse isliye bharat ko ek hindu raat hona chahiye kyonki pakistan ek muslim rashtra hai toh bharat ko bhi ek hindu raat hona chahiye jaisa ki germany rus ek hindu ra

मुस्लिम लड़ाई लड़े थे यह तो बात थी कि हिंदू और मुस्लिम भारत को आजाद कराने के लिए लड़े थे त

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  79
WhatsApp_icon
user

amit-only indian

Engineer-passion-Tech sci modi

0:20
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

न्यूज इंपॉसिबल है यह हो ही नहीं सकता क्योंकि भारत 1 से करोली रूम पर चलने वाला देश है वह पाकिस्तान बनना नहीं चाहता इसलिए सोच सोच वाले सुभाष छोड़ दे कभी नहीं हो सकता

news Impossible hai yeh ho hi nahi sakta kyonki bharat 1 se karoli room par chalne vala desh hai wah pakistan banana nahi chahta isliye soch soch wale subhash chod de kabhi nahi ho sakta

न्यूज इंपॉसिबल है यह हो ही नहीं सकता क्योंकि भारत 1 से करोली रूम पर चलने वाला देश है वह पा

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  103
WhatsApp_icon
user

Aditya Patel

सुनो ..सुनाओ..सीखो!

0:16
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारत एक हिंदू राष्ट्र नहीं है भारत एक धर्मनिरपेक्ष राष्ट्र है भारत के संविधान में यह कहीं भी नहीं लिखा हुआ है कि भारत एक हिंदू राष्ट्र है या किसी धर्म से मिलना राष्ट्र है

bharat ek chahiye hindu rashtra nahi hai bharat ek chahiye dharmanirapeksh rashtra hai bharat ke samvidhan mein yeh kahin bhi nahi likha hua hai ki bharat ek chahiye hindu rashtra hai ya kisi dharm se milna rashtra hai

भारत एक हिंदू राष्ट्र नहीं है भारत एक धर्मनिरपेक्ष राष्ट्र है भारत के संविधान में यह कहीं

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  180
WhatsApp_icon
user
1:31
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नहीं ऐसा कहना उचित नहीं होगा कि आजादी की लड़ाई में सिर्फ हिंदू भाई थे नहीं आजादी की लड़ाई में हिंदू और मुस्लिम सत्य आपने एक स्पीच सुना होगा हिंदू मुस्लिम भाई भाई हिंदू मुस्लिम सिख ईसाई आपस में सब भाई भाई यह तो आप अनजान नहीं है तो इसमें सबका हाथ ठीक है और इस में मुसलमानों का जितना योगदान था उतना हिंदू भाइयों कविता तो इसलिए मेरा मानना है कि भारत देश हिंदू राष्ट्र घोषित नहीं होना चाहिए क्योंकि इसमें मेरी भी मेरा भी योगदान है और आपका भी है सब बोलते हैं आपके पास एक भी था प्लॉट है आप एक बिता के दो भाई हैं अगर आपका पिता एक बीघा जमीन आपके नाम कर दे और आपको एक भाई को कुछ ना दिया तो आप पर क्या बीतेगी बसंत इसी से अंदाजा लगाया जा सकता है कि हिंदू राष्ट्र होने से ब्रिटिश समुदाय के दिल पर क्या बीतेगी बस में इसीलिए मैं सेंट्रल गवर्नमेंट से मेरी विनती है कि से हिंदू राष्ट्र घोषित ना करें और इसे सेकुलर राष्ट्र होने दें जिसमें हम सब की भलाई है थैंक यू

nahi aisa kehna uchit nahi hoga ki chahiye azadi ki ladai mein sirf hindu bhai the nahi azadi ki ladai mein hindu aur muslim satya aapne ek speech suna hoga hindu muslim bhai bhai hindu muslim sikh isai aapas mein sab bhai bhai yeh to aap anjaan nahi hai to isme sabka hath theek hai aur is mein musalmano ka jitna yogdan tha utana chahiye hindu bhaiyo kavita to isliye mera manana hai ki chahiye bharat desh hindu rashtra ghoshit nahi hona chahiye kyonki isme meri bhi mera bhi yogdan hai aur aapka bhi hai sab bolte hain aapke paas ek bhi tha plot hai aap ek bita ke do bhai hain agar aapka pita ek bigha jameen aapke naam kar chahiye de aur aapko chahiye ek bhai ko kuch na diya to aap par kya bitegi basant isi se andaja lagaya ja sakta hai ki chahiye hindu rashtra hone se british samuday ke dil par kya bitegi bus mein isliye main central government se meri vinati chahiye hai ki chahiye se hindu rashtra ghoshit na kare chahiye aur ise secular rashtra hone de jisme hum sab ki bhalai hai thank you

नहीं ऐसा कहना उचित नहीं होगा कि आजादी की लड़ाई में सिर्फ हिंदू भाई थे नहीं आजादी की लड़ाई

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  306
WhatsApp_icon
user

mahi

Msa

1:24
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दीपक की हिंदुस्तान की आज़ादी में हिंदुओं और मुसलमानों को बराबर का योगदान है लेकिन यह गौर करने वाली बात यह है कि जिस धरती के लिए हिंदू और मुसलमान मिलकर कि उसकी आजादी के लिए लड़ रहे थे वह उस वक्त हिंदुस्तान बांग्लादेश और पाकिस्तान तीनों मिलाकर के एक ही राष्ट्रपति 1940 आते-आते मोहम्मद अली जिन्ना के नेतृत्व में मुसलमानों ने यह मांग उठाई थी कि वह अलग कौन है लिहाजा भी हिंदुओं के साथ नहीं रह सकते इसीलिए भारत का बटवारा कर उन्हें एक अलग राष्ट्र के रूप में मान्यता दी जानी चाहिए भारत के 3 टुकड़े पर पूर्व उत्तर पश्चिम पाकिस्तान भारत और पूर्वी पाकिस्तान के नाम से 3 टुकड़े कर दिए पूरी पाकिस्तान जो कि अब बांग्लादेश के रूप में जाना जाता है और पश्चिमी पाकिस्तान को मुसलमानों को सौंप दिया गया था और मध्य भारत मध्य भारत का बीच का हिस्सा जो कि हिंदुओं को सौंप दिया गया था तो कानूनी रूप से मुसलमानों के लिए पाकिस्तान हो वह पाकिस्तान और बांग्लादेश हो जाता है और भारत जो कि हिंदुओं के हिस्से की जमीन है तो कानूनी रूप से भारत पूरी तरीके से हिंदू राष्ट्र है और हिंदू राष्ट्र घोषित किया जाना चाहिए

deepak ki Hindustan ki aazadi mein hinduon aur musalmanon ko barabar ka yogdan hai lekin yah gaur karne wali baat yah hai ki jis dharti ke liye hindu aur musalman milkar ki uski azadi ke liye lad rahe the vaah us waqt Hindustan bangladesh aur pakistan tatvo milakar ke ek hi rashtrapati 1940 aate aate muhammad ali jinnah ke netritva mein musalmanon ne yah maang uthayi thi ki vaah alag kaun hai lihaja bhi hinduon ke saath nahi reh sakte isliye bharat ka batwara kar unhe ek alag rashtra ke roop mein manyata di jani chahiye bharat ke 3 tukde par purv uttar paschim pakistan bharat aur purvi pakistan ke naam se 3 tukde kar diye puri pakistan jo ki ab bangladesh ke roop mein jana jata hai aur pashchimi pakistan ko musalmanon ko saunp diya gaya tha aur madhya bharat madhya bharat ka beech ka hissa jo ki hinduon ko saunp diya gaya tha toh kanooni roop se musalmanon ke liye pakistan ho vaah pakistan aur bangladesh ho jata hai aur bharat jo ki hinduon ke hisse ki jameen hai toh kanooni roop se bharat puri tarike se hindu rashtra hai aur hindu rashtra ghoshit kiya jana chahiye

दीपक की हिंदुस्तान की आज़ादी में हिंदुओं और मुसलमानों को बराबर का योगदान है लेकिन यह गौर क

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  622
WhatsApp_icon
user
1:04
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका सवाल ही गलत है हिंदू कोई धर्म नहीं है जिस तरह से हिंदुस्तान में रहने वाले लोग खुद को पहले हिंदू कहते थे अमेरिका में रहने वाले लोग खुद को अमेरिकन कैलेंडर में रहने वाले लोग खुद को कैनेडियन वैसे हिंदुस्तान में रहने वाले लोग पहले खुद को हिंदू कहते थे लेकिन अब हिंदुस्तान का नाम बदलकर भारत तो उसके जो नागरिका को खुद को भारतीय या इंडिया तो जो भारत के दो इंडिया के नागरिक है वह खुद को इंडियन कहते हैं इसी तरह से हिंदुस्तान में रहने वाले लोग खुद को हिंदू कहते थे और हां हिंदू कोई धर्म नहीं है यह धर्म से इस शब्द का कोई नाता नहीं है यह सिर्फ एक राष्ट्र की संस्कृति है धर्म से इसका कोई भी नाता नहीं है धर्म सनातन हिंदू धर्म नहीं है जो कुछ लोग किसी कारणवश इंदु को धर्म बताते हैं हिंदू धर्म नहीं धर्म सनातन है सनातन धर्म हिंदू कोई धर्म नहीं है

aapka sawaal hi galat hai hindu koi dharm nahi hai jis tarah se Hindustan mein rehne waale log khud ko pehle hindu kehte the america mein rehne waale log khud ko american calendar mein rehne waale log khud ko canadian waise Hindustan mein rehne waale log pehle khud ko hindu kehte the lekin ab Hindustan ka naam badalkar bharat toh uske jo nagrika ko khud ko bharatiya ya india toh jo bharat ke do india ke nagarik hai vaah khud ko indian kehte hain isi tarah se Hindustan mein rehne waale log khud ko hindu kehte the aur haan hindu koi dharm nahi hai yah dharm se is shabd ka koi nataa nahi hai yah sirf ek rashtra ki sanskriti hai dharm se iska koi bhi nataa nahi hai dharm sanatan hindu dharm nahi hai jo kuch log kisi karanvash indu ko dharm batatey hain hindu dharm nahi dharm sanatan hai sanatan dharm hindu koi dharm nahi hai

आपका सवाल ही गलत है हिंदू कोई धर्म नहीं है जिस तरह से हिंदुस्तान में रहने वाले लोग खुद को

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  
WhatsApp_icon
user
0:56
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

विकी आज हमें हिंदू राष्ट्र मुस्लिम राष्ट्र एक राष्ट्र यह संप्रदायवादी भावनाओं से अलग हटकर एक मानवतावादी राष्ट्र के निर्माण में ध्यान देना चाहिए और जहां तक मेरा मानना है कि अगर मनुष्य धर्म को छोड़कर अगर एक मनुष्य मनुष्य के रूप से बर्ताव करने की कोशिश करें तो मैं मानता हूं कि राष्ट्र बहुत ही आगे चलकर बहुत उन्नति करेगा क्योंकि आज देश में कानून का शासन है और धर्म जाति के नाम पर अगर हम बटवारा करें तो देश में अराजकता के अलावा हमें और कुछ नहीं मिलेगा तो मैं तो यही कहना चाहूंगा कि धर्म को छोड़ और मनुष्य को महत्व दें और मानववादी बने और जिस से देश की नहीं पूरी दुनिया में मनुष्य बिता उन्नति करेगी यह मनुष्य को ज्यादा महत्व देता हूं धर्म की बजाए धन्यवाद

vicky aaj hamein hindu rashtra muslim rashtra ek rashtra yah sampradayvadi bhavnao se alag hatakar ek manavatavadi rashtra ke nirmaan mein dhyan dena chahiye aur jaha tak mera manana hai ki agar manushya dharm ko chhodkar agar ek manushya manushya ke roop se bartaav karne ki koshish kare toh main manata hoon ki rashtra bahut hi aage chalkar bahut unnati karega kyonki aaj desh mein kanoon ka shasan hai aur dharm jati ke naam par agar hum batwara kare toh desh mein arajkata ke alava hamein aur kuch nahi milega toh main toh yahi kehna chahunga ki dharm ko chod aur manushya ko mahatva de aur manavavadi bane aur jis se desh ki nahi puri duniya mein manushya bita unnati karegi yah manushya ko zyada mahatva deta hoon dharm ki bajaye dhanyavad

विकी आज हमें हिंदू राष्ट्र मुस्लिम राष्ट्र एक राष्ट्र यह संप्रदायवादी भावनाओं से अलग हटकर

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  120
WhatsApp_icon
user

mohmmed rijwan Gauri

Business Owner

0:26
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यह तो मनुवादी लोग हैं जो आपस में भाईचारा ना चाहते हैं उन्होंने ऐसा बोल रखा है कि भारत हमेशा हिंदू राष्ट्र है जबकि भारत के अंदर करीब करीब 810 धर्म रहते हैं और भारत की लड़ाई में हमेशा मुसलमानों का बराबर सहयोग रहा है और बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया है

yah toh manuvadi log hain jo aapas mein bhaichara na chahte hain unhone aisa bol rakha hai ki bharat hamesha hindu rashtra hai jabki bharat ke andar kareeb kareeb 810 dharm rehte hain aur bharat ki ladai mein hamesha musalmanon ka barabar sahyog raha hai aur badh chadhakar hissa liya hai

यह तो मनुवादी लोग हैं जो आपस में भाईचारा ना चाहते हैं उन्होंने ऐसा बोल रखा है कि भारत हमेश

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  90
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!