लेडीस और जेंट्स में क्या फर्क होता है?...


play
user

Daulat Ram Sharma Shastri

Psychologist | Ex-Senior Teacher

2:00

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

स्त्री और पुरुष श्री भगवान जी की उत्पत्ति के लोगों के लिए एक सुंदर रचना महानतम रचना है जो इस विचार में तो यदि 10 + कया अंगूठी उतार ता अभी जो मानवीय गुण देख रही हो बहुत समझती है स्त्री नहीं होती आजी पुरुषोत्तम मास का शुद्ध रूप देख रहे हैं जो एक इंसान को संस्कार युक्त बेकरी की देन है इसमें कभी मां बंद करते कभी बहन बंद करके फ्री बंद करके कहीं बंद करके हमेशा खुश को प्रेरित किया है यह एक ताकतवर इंसान को दे वक्त पहुंचा देती है लेकिन उस पुरुष पुरुष एक ही मानी यदि कोई शिव का रूप है और इस पर बिजी हो जाए तो यह कौन है यह हमेशा ही शक्ति करूं मैं ना करूं मैं मेरी दृष्टि में तो स्त्री और पुरुष नहीं दिखता करना चाहे आप तो मैं किसी की मानता मान लूंगा क्योंकि समस्त ब्राह्मणों ने समस्त हिंदू धर्म ग्रंथों में और समस्त धर्मों के धर्म शास्त्रों में पृथ्वी को मान सम्मान है यह वह है जो इंसानियत को जन्म दिया है

stree aur purush shri bhagwan ji ki utpatti ke logo ke liye ek sundar rachna mahantam rachna hai jo is vichar mein toh yadi 10 + kya anguthi utar ta abhi jo manviya gun dekh rahi ho bahut samajhti hai stree nahi hoti aaji purushottam mass ka shudh roop dekh rahe hain jo ek insaan ko sanskar yukt bakery ki then hai ismein kabhi maa band karte kabhi behen band karke free band karke kahin band karke hamesha khush ko prerit kiya hai yeh ek takatwar insaan ko de waqt pohcha deti hai lekin us purush purush ek hi maani yadi koi shiv ka roop hai aur is par busy ho jaye toh yeh kaun hai yeh hamesha hi shakti karu main na karu main meri drishti mein toh stree aur purush nahi dikhta karna chahe aap toh main kisi ki manata maan lunga kyonki samast brahmanon ne samast hindu dharm granthon mein aur samast dharmon ke dharm shashtro mein prithvi ko maan sammaan hai yeh wah hai jo insaniyat ko janam diya hai

स्त्री और पुरुष श्री भगवान जी की उत्पत्ति के लोगों के लिए एक सुंदर रचना महानतम रचना है जो

Romanized Version
Likes  11  Dislikes    views  372
WhatsApp_icon
2 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Kriti

Volunteer

0:12
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लेडीस और जेंट्स में फर्क होता है जैसे कि उनका जो फिजिकल अपीयरेंस होता है वह अलग होता है मेंटली वो अलग-अलग सोचते हैं उनका इमोशनल बिहेवियर्स होता है वह अलग होता है

ladies aur gents mein fark hota hai jaise ki unka jo physical apiyarens hota hai vaah alag hota hai mentally vo alag alag sochte hain unka emotional behaviors hota hai vaah alag hota hai

लेडीस और जेंट्स में फर्क होता है जैसे कि उनका जो फिजिकल अपीयरेंस होता है वह अलग होता है मे

Romanized Version
Likes  16  Dislikes    views  388
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
लेडीस और ; जेंट्स एक्स एक्स ; जेंट्स जेंट्स एक्स एक्स एक्स ; gents aur gents ; एक्स एक्स एक्स जेंट्स ; लेडीस ;

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!