हिंदुस्तान को क्या सिर्फ हिंदुओं का राष्ट्र होना चाहिए या नहीं?...


user
0:18
Play

Likes  276  Dislikes    views  3070
WhatsApp_icon
14 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Ghanshyamvan

मंदिर सेवा

0:24
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखें जब हमारा देश आजाद हुआ उसके बाद हिंदू पाकिस्तान का बंटवारा हुआ हो जब इस्लाम धर्म का प्रतीक पाकिस्तान हिंदू को कॉल संचित हिंदुस्तान हिंदू खड़ा हो जाता है यह होना चाहिए

dekhen jab hamara desh azad hua uske baad hindu pakistan ka batwara hua ho jab islam dharm ka prateek pakistan hindu ko call sanchit Hindustan hindu khada ho jata hai yah hona chahiye

देखें जब हमारा देश आजाद हुआ उसके बाद हिंदू पाकिस्तान का बंटवारा हुआ हो जब इस्लाम धर्म का प

Romanized Version
Likes  95  Dislikes    views  1428
WhatsApp_icon
user
0:38
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हिंदुस्तान को मानवता इंसानियत तुम्हारा मात्र के प्रति संवेदना गाना माहिती दया करुणा विवाद के प्रति दया भावना और श्रेष्ठ है गाना नियम और दूसरे स्टेशनों का पालन करते हुए दर्द का कफन से हमें चाहिए गुरु महाराज बाग प्राणी मात्र बारे माता के खिलाफ कार्यकर्ता और के लिए जो है उसके खिलाफ जो है और कोई काम नहीं करना चाहिए

Hindustan ko manavta insaniyat tumhara matra ke prati samvedana gaana mahiti daya corona vivaad ke prati daya bhavna aur shreshtha hai gaana niyam aur dusre stationo ka palan karte hue dard ka kafan se hamein chahiye guru maharaj bagh prani matra bare mata ke khilaf karyakarta aur ke liye jo hai uske khilaf jo hai aur koi kaam nahi karna chahiye

हिंदुस्तान को मानवता इंसानियत तुम्हारा मात्र के प्रति संवेदना गाना माहिती दया करुणा विवाद

Romanized Version
Likes  46  Dislikes    views  685
WhatsApp_icon
user

Shubham

Software Engineer in IBM

1:09
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

के पी जी मैं आपके क्वेश्चन का विरोध करता हूं और बताना चाहता हूं कि हिंदुस्तान को सिर्फ हिंदुओं का रास्ता नहीं होना चाहिए और आपको तो पता ही है हिंदुस्तान जो है वह सारे धर्मों का राष्ट्र माना जाता है इतिहास से ही उसने सारे धर्मों के लोगों को पनाह दिए अपनी धरती पर अपनी मातृभूमि पर और मैं आपको बता दूं आपको क्या लगता है अगर भारत से मुसलमान क्वेश्चन अगर अन्य जात को हटाकर अन्य का सृजन को हटा दिया कर सिर्फ हिंदू होंगे तो क्या भारत में लड़ाई नहीं होगी आपको तो पता ही है हिंदू धर्म के अंदर भी इतनी लड़ाई चल रही है पूछो मत उसमें भी ऐसी ऐसी ऐसी चीजों के पीछे लड़ाई हो रही है तो ऐसे क्वेश्चन डालना है ऐसे क्वेश्चन हो पर टिप्पणी करना गलत है और मैं मानता हूं कि भारत शुरू से ही सारे धर्मों का घर रहा है तो बस यही बोलूंगा

ke p ji main aapke question ka virodh karta hoon aur bataana chahta hoon ki Hindustan ko sirf hinduon ka rasta nahi hona chahiye aur aapko toh pata hi hai Hindustan jo hai vaah saare dharmon ka rashtra mana jata hai itihas se hi usne saare dharmon ke logo ko panah diye apni dharti par apni matribhoomi par aur main aapko bata doon aapko kya lagta hai agar bharat se muslim question agar anya jaat ko hatakar anya ka srijan ko hata diya kar sirf hindu honge toh kya bharat mein ladai nahi hogi aapko toh pata hi hai hindu dharm ke andar bhi itni ladai chal rahi hai pucho mat usme bhi aisi aisi aisi chijon ke peeche ladai ho rahi hai toh aise question dalna hai aise question ho par tippani karna galat hai aur main manata hoon ki bharat shuru se hi saare dharmon ka ghar raha hai toh bus yahi boloonga

के पी जी मैं आपके क्वेश्चन का विरोध करता हूं और बताना चाहता हूं कि हिंदुस्तान को सिर्फ हिं

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  62
WhatsApp_icon
user
2:26
Play

Likes  70  Dislikes    views  1408
WhatsApp_icon
play
user

Sa Sha

Journalist since 1986

1:06

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आजादी से पहले हो या आजादी के बाद हिंदुस्तान हमेशा से धर्मनिरपेक्ष रहा है और मेरी समझ में तो हमारा मानस इधर में पिक्चर इसे किसी भी धर्म के दायरे में समेटा नादानी होगी इसलिए भी क्योंकि जब हम हिंदू संस्कृति की बात करती हैं सब यूनिटी इन डाइवर्सिटी की बात करती है गंगा जमुनी तहजीब का हवाला देते हैं हिंदुस्तानी है जहां अकेले हिंदू धर्म ही नहीं बल्कि सिख बौद्ध जैन विश्नोई जैसे कई धर्मों का जन्म कहां हुआ इसके अलावा इस्लाम क्रिश्चियन पासी यहूदी धर्म धर्मों के साथ मिलकर ही विश्व में भारत की एक पहचान बनती है और एक इंसान के रुप में इंसान की पहचान होती है रक्त हाड़-मांस दुख दर्द तकलीफ निधन कहां बेचा जाता है सब के खून का रंग लाल होता है दुख दर्द धर्म के आधार पर नहीं आता इसलिए हिंदुस्तान को किसी भी धर्म के दायरे में नहीं पड़ना चाहिए

azadi se pehle ho ya azadi ke baad Hindustan hamesha se dharmanirapeksh raha hai aur meri samajh mein toh hamara manas idhar mein picture ise kisi bhi dharm ke daayre mein sameta naadaani hogi isliye bhi kyonki jab hum hindu sanskriti ki baat karti hain sab unity in diversity ki baat karti hai ganga jamuni tahjib ka hawala dete hain hindustani hai jaha akele hindu dharm hi nahi balki sikh Baudh jain Vishnoi jaise kai dharmon ka janam kahaan hua iske alava islam Christian pasi yahudi dharm dharmon ke saath milkar hi vishwa mein bharat ki ek pehchaan banti hai aur ek insaan ke roop mein insaan ki pehchaan hoti hai rakt hard maas dukh dard takleef nidhan kahaan becha jata hai sab ke khoon ka rang laal hota hai dukh dard dharm ke aadhaar par nahi aata isliye Hindustan ko kisi bhi dharm ke daayre mein nahi padhna chahiye

आजादी से पहले हो या आजादी के बाद हिंदुस्तान हमेशा से धर्मनिरपेक्ष रहा है और मेरी समझ में त

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  31
WhatsApp_icon
user

Sefali

Media-Ad Sales

0:37
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हिंदुस्तान का मतलब यह नहीं कि केवल हिंदू ही इस देश में रहेंगे हिंदुस्तान माना है क्या है विभिन्न जाति विभिन्न धर्म के लोग एक साथ रहते हैं एकजुट के साथ रहते हैं तो इस तरह इस तरह का सवाल उठाना इस तरह सिर्फ लोगों के अंतर में लोगों के रिलीजन और दो लोगों के अंदर डिफरेंस क्रिएट करना बहुत गलत है सब इक्वल है इस देश में चाहे वह हिंदू हो मुसलमान हो लिखो सही हो तो इस तरह का सवाल उठना ही नहीं चाहिए

Hindustan ka matlab yah nahi ki keval hindu hi is desh mein rahenge Hindustan mana hai kya hai vibhinn jati vibhinn dharm ke log ek saath rehte hai ekjut ke saath rehte hai toh is tarah is tarah ka sawaal uthna is tarah sirf logo ke antar mein logo ke religion aur do logo ke andar difference create karna bahut galat hai sab equal hai is desh mein chahen vaah hindu ho muslim ho likho sahi ho toh is tarah ka sawaal uthna hi nahi chahiye

हिंदुस्तान का मतलब यह नहीं कि केवल हिंदू ही इस देश में रहेंगे हिंदुस्तान माना है क्या है व

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  19
WhatsApp_icon
user

Vatsal

Engineering Student

0:56
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए इस सवाल का में पूरी तरीके से विरोध करता हूं कि हिंदू हिंदुस्तान को केवल हिंदुओं पर राष्ट्र होना चाहिए बिल्कुल नहीं यह बिल्कुल गलत बात है और यही इन जैसे सवालों से और इन जैसे जो टिप्पणियां होती हैं जो पॉइंट आते हैं निकलकर उसी वजह से जो धर्म के नाम पर बढ़ता जा रहा है हमारा देश हिंदू अलग इकट्ठा हो गया है मुसलमान अलग इकट्ठा हो गया मुसलमान अपने आप को बहुत ही अनुसूचित जाति इसीलिए मानता है कि वह काम हो गया नंबर में और उन्हें ऐसा लगता है कि उनके खिलाफ अत्याचार हो रहा है यह नहीं होना चाहिए हमारा हिंदुस्तान देश इंडिया एक ऐसा देश है जहां सब लोग मिल जुल कर रहते हैं हम तमाम हजारों तरीके कलचर यहां पर है तो सबको मिल जुल कर रहना चाहिए और इस तरीके की बात तो कब बिल्कुल भी उठाओ नहीं होना चाहिए

dekhiye is sawaal ka mein puri tarike se virodh karta hoon ki hindu Hindustan ko keval hinduon par rashtra hona chahiye bilkul nahi yah bilkul galat baat hai aur yahi in jaise sawalon se aur in jaise jo tippaniyaan hoti hain jo point aate hain nikalkar usi wajah se jo dharm ke naam par badhta ja raha hai hamara desh hindu alag ikattha ho gaya hai musalman alag ikattha ho gaya musalman apne aap ko bahut hi anusuchit jati isliye manata hai ki vaah kaam ho gaya number mein aur unhe aisa lagta hai ki unke khilaf atyachar ho raha hai yah nahi hona chahiye hamara Hindustan desh india ek aisa desh hai jaha sab log mil jul kar rehte hain hum tamaam hazaro tarike culture yahan par hai toh sabko mil jul kar rehna chahiye aur is tarike ki baat toh kab bilkul bhi uthao nahi hona chahiye

देखिए इस सवाल का में पूरी तरीके से विरोध करता हूं कि हिंदू हिंदुस्तान को केवल हिंदुओं पर र

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  38
WhatsApp_icon
user

Bari khan

Practicing journalist

1:04
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यार यह तो मेरा गुरूर है कि मैं हिंदुस्तानी हूं और मेरा मानना यह है कि हिंदुस्तान की खूबसूरती तो इसी बात से है कि हम न जाने कितनी शक्लों में हिंदुस्तान के अंदर बाज मौजूद हैं अब दुनिया के किसी और मुंह मालिक में चाहिए आपको इतनी ही तरह के लोग नहीं मिलेंगे अपनी तरह के कल्चर नहीं मिलेंगे जितने आपको आज हिंदुस्तान में देखने को मिलते हैं और यही मेरा सबसे खास बजा है कि हिंदुस्तान जाए पूरी दुनिया में मशहूर है और मेरे पास चंद लाइनें है चंद लाइनें क्या मेरे पास दो लाइन है मैं कहना चाहूंगा कि न पूछो ज़माने को क्या हमारी कहानी है हमारी पहचान तो सिर्फ ये है की हम सिर्फ हिंदुस्तानी हैं तो इसी के साथ मुझे भी गुरु है कि मैं हिंदुस्तानी हूं आप इस बात का गुरुर रखी है और मुझे लगता है कि यह हिंदुस्तान है हर एक इंसान के लिए है यहां पर कोई हिंदुओं को मुसलमान के लिए ऐसा स्पेसिफिक नहीं है

yaar yah toh mera gurur hai ki main hindustani hoon aur mera manana yah hai ki Hindustan ki khoobsoorti toh isi baat se hai ki hum na jaane kitni shaklon mein Hindustan ke andar baaj maujud hain ab duniya ke kisi aur mooh malik mein chahiye aapko itni hi tarah ke log nahi milenge apni tarah ke culture nahi milenge jitne aapko aaj Hindustan mein dekhne ko milte hain aur yahi mera sabse khaas baja hai ki Hindustan jaaye puri duniya mein mashoor hai aur mere paas chand linen hai chand linen kya mere paas do line hai kehna chahunga ki na pucho jamaane ko kya hamari kahani hai hamari pehchaan toh sirf ye hai ki hum sirf hindustani hain toh isi ke saath mujhe bhi guru hai ki main hindustani hoon aap is baat ka guroor rakhi hai aur mujhe lagta hai ki yah Hindustan hai har ek insaan ke liye hai yahan par koi hinduon ko muslim ke liye aisa specific nahi hai

यार यह तो मेरा गुरूर है कि मैं हिंदुस्तानी हूं और मेरा मानना यह है कि हिंदुस्तान की खूबसूर

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  14
WhatsApp_icon
user

Amber Rai

सुनो ..सुनाओ..सीखो!

1:05
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए मैं समझता हूं कि हिंदुस्तान को हैं वह सारे धर्मों की जो है वह घर हैं हिंदुस्तान का इतिहास रहा है कि उसने सारे धर्म जो है चाहे वह हिंदू हो मुस्लिम हो इस्लाम हो सीखो इसाई हो या फिर इस जन्म तो मैं समझता हूं कि मैं हिंदुस्तान में सारे मौका घर है और हम लोग पहले से यूनिटी से रहते थे फ्यूचर में भी रहेंगे और यह बात तो है कुछ नेता छेड़ने की कोशिश करते हैं ताकि उनको पॉलिटिकल बेनिफिट हो अपनी पार्टी के लिए अपने लिए और यह मुद्दे जो है उतने पाटन नहीं है क्योंकि भारत जो है वह पहले से भारत का इतिहास रहा है कि भारत प्यार से सब के साथ रहा है और सबके साथ समान पेश आया है सब कोई यहां पर रहते हैं मिलजुल के एक दूसरे के साथ रहता है और खुशी से रहते हैं तो मुझे नहीं लगता कि कोई दिक्कत है अगर हिंदुस्तान में इतने सारे धर्मों को अपना घर देता है तो यह अच्छी बात है यह हमारे कल्चर को रिप्रेजेंट करता है

dekhiye main samajhata hoon ki Hindustan ko hain vaah saare dharmon ki jo hai vaah ghar hain Hindustan ka itihas raha hai ki usne saare dharm jo hai chahen vaah hindu ho muslim ho islam ho sikho isai ho ya phir is janam toh main samajhata hoon ki main Hindustan mein saare mauka ghar hai aur hum log pehle se unity se rehte the future mein bhi rahenge aur yah baat toh hai kuch neta chedne ki koshish karte hain taki unko political benefit ho apni party ke liye apne liye aur yah mudde jo hai utne patan nahi hai kyonki bharat jo hai vaah pehle se bharat ka itihas raha hai ki bharat pyar se sab ke saath raha hai aur sabke saath saman pesh aaya hai sab koi yahan par rehte hain miljul ke ek dusre ke saath rehta hai aur khushi se rehte hain toh mujhe nahi lagta ki koi dikkat hai agar Hindustan mein itne saare dharmon ko apna ghar deta hai toh yah achi baat hai yah hamare culture ko represent karta hai

देखिए मैं समझता हूं कि हिंदुस्तान को हैं वह सारे धर्मों की जो है वह घर हैं हिंदुस्तान का इ

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  15
WhatsApp_icon
user

Janak

An Enthusiastic Entrepreneur.

1:01
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी नहीं भारत को सिर्फ हिंदुओं का राष्ट्र नहीं होना चाहिए मैं नहीं मानता हूं कि भारत को सिर्फ हिंदुओं का राष्ट्र होना चाहिए भले ही इसे हिंदुस्तान कहां जाए या हिंदू हिंदू इसमें सबसे ज्यादा है भले ही हो लेकिन जैसे भारत की पहली रूल है डेमोक्रेसी का है हर एक को अपना अपना एक राइट है हर एक को अपनी जगह है आपने देश में रहने कि यह यह जो यह जो सिस्टम है यह सिस्टम ही गलत है यह हिंदुओं का मुसलमान का क्रिश्चियन का सबसे पहले हम तो हैं मनुष्य हैं इंसान को एक ईमेल ID के लिए एक रानी थी जो जिसे कोई इंसानियत इंसानियत जो होती है उसके ऊपर उस उसे देखा देखकर हमें एक दूसरे को देखना चाहिए एक दूसरे की एक दूसरे को मदद करनी चाहिए एक दूसरे का साथ देना चाहिए ना कि हिंदू और मुसलमान और जो बाकी सारे कष्ट और जो भी है

ji nahi bharat ko sirf hinduon ka rashtra nahi hona chahiye main nahi manata hoon ki bharat ko sirf hinduon ka rashtra hona chahiye bhale hi ise Hindustan kahaan jaaye ya hindu hindu isme sabse zyada hai bhale hi ho lekin jaise bharat ki pehli rule hai democracy ka hai har ek ko apna apna ek right hai har ek ko apni jagah hai aapne desh mein rehne ki yah yah jo yah jo system hai yah system hi galat hai yah hinduon ka muslim ka Christian ka sabse pehle hum toh hain manushya hain insaan ko ek email ID ke liye ek rani thi jo jise koi insaniyat insaniyat jo hoti hai uske upar us use dekha dekhkar hamein ek dusre ko dekhna chahiye ek dusre ki ek dusre ko madad karni chahiye ek dusre ka saath dena chahiye na ki hindu aur muslim aur jo baki saare kasht aur jo bhi hai

जी नहीं भारत को सिर्फ हिंदुओं का राष्ट्र नहीं होना चाहिए मैं नहीं मानता हूं कि भारत को सिर

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  14
WhatsApp_icon
user

Ridhima

Mass Communications Student

0:34
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मेरे हिसाब से अगर ऐसा हुआ कि भारत से हिंदुओं का राष्ट्र बने तो यह गलत होगा हमारे भारत की यही अनोखापन से भारत इतना प्रस्तुत हुआ है भारत पूरी दुनिया में एक ऐसा देश है जो विभिन्न जाति धर्म के लोग एक साथ रहते हैं जिनमें इतने लोग रहते हैं जो अलग-अलग धर्म और जाति के रहते हैं अगर ऐसा नहीं होता तो हमारा देश पर अन्य देशों जैसा ही रहता और भारत के इसी खासियत को अन्य देश हमारे हिंदुस्तान को सहारा ना देते हैं

mere hisab se agar aisa hua ki bharat se hinduon ka rashtra bane toh yah galat hoga hamare bharat ki yahi anokhapan se bharat itna prastut hua hai bharat puri duniya mein ek aisa desh hai jo vibhinn jati dharm ke log ek saath rehte hain jinmein itne log rehte hain jo alag alag dharm aur jati ke rehte hain agar aisa nahi hota toh hamara desh par anya deshon jaisa hi rehta aur bharat ke isi khasiyat ko anya desh hamare Hindustan ko sahara na dete hain

मेरे हिसाब से अगर ऐसा हुआ कि भारत से हिंदुओं का राष्ट्र बने तो यह गलत होगा हमारे भारत की य

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  37
WhatsApp_icon
user

shrawan Dubey

Custom clearance

0:35
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मेरे हिसाब से भारत को हिंदुओं का राष्ट्र घोषित कर देना चाहिए क्योंकि भारत हिंदुओं का राष्ट्र है ही नहीं तो पाकिस्तान को भारत में मिला देना चाहिए क्योंकि पाकिस्तान बांग्लादेश से पहले कोई राष्ट्र थे नहीं भारत से अलग हुए हैं क्योंकि मुस्लिम लोगों ने दंगा किया इसलिए यह लोग अलग हो गए और पाकिस्तान में जितने भी हिंदू थे तीस पर्सेंट हिंदू थे एक भी नहीं बचे सब को काटा खाया जा रहा है वहां पर इसीलिए हिंदुस्तान को हिंदू राष्ट्र घोषित कर देना चाहिए और मैं आपके साथ हूं मैं आपका समर्थन करता हूं इस बात के लिए

mere hisab se bharat ko hinduon ka rashtra ghoshit kar dena chahiye kyonki bharat hinduon ka rashtra hai hi nahi toh pakistan ko bharat mein mila dena chahiye kyonki pakistan bangladesh se pehle koi rashtra the nahi bharat se alag hue hain kyonki muslim logo ne danga kiya isliye yah log alag ho gaye aur pakistan mein jitne bhi hindu the tees percent hindu the ek bhi nahi bache sab ko kaata khaya ja raha hai wahan par isliye Hindustan ko hindu rashtra ghoshit kar dena chahiye aur main aapke saath hoon main aapka samarthan karta hoon is baat ke liye

मेरे हिसाब से भारत को हिंदुओं का राष्ट्र घोषित कर देना चाहिए क्योंकि भारत हिंदुओं का राष्ट

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  311
WhatsApp_icon
user

Pragati

Aspiring Lawyer

0:45
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हिंदुस्तान को सिर्फ हिंदुओं का राष्ट्र इसलिए नहीं होना चाहिए क्योंकि हिंदुस्तान में बहुत ही अलग अलग धर्म के लोग रहते हैं साथ मिलकर जैसे मुस्लिम सिख क्रिस्टियन जैन यह सब अलग-अलग प्रजाति के लोग हैं लेकिन लेकिन सब मिलकर एक साथ एक देश में रह रहे हैं तो आप किसी देश को हिंदुओं का राष्ट्र नहीं कह सकते सिर्फ इसी बुनियाद पर के वहां पर सबसे अधिक हिंदू रहते हैं क्योंकि वहां पर अलग माइनॉरिटी भी है तो हिंदुस्तान को तो हिंदुओं का राष्ट्र सिर्फ नहीं कहा जा सकता और हमारे संविधान में भी यही लिखा हुआ है कि हम अलग-अलग धर्मों से मिलकर बना हुआ एक राष्ट्रीय तो हम सारे धर्मों को भूल कर सिर्फ एक थम के अपना ध्यान केंद्रित नहीं कर सकते

Hindustan ko sirf hinduon ka rashtra isliye nahi hona chahiye kyonki Hindustan mein bahut hi alag alag dharm ke log rehte hain saath milkar jaise muslim sikh christian jain yah sab alag alag prajati ke log hain lekin lekin sab milkar ek saath ek desh mein reh rahe hain toh aap kisi desh ko hinduon ka rashtra nahi keh sakte sirf isi buniyad par ke wahan par sabse adhik hindu rehte hain kyonki wahan par alag minority bhi hai toh Hindustan ko toh hinduon ka rashtra sirf nahi kaha ja sakta aur hamare samvidhan mein bhi yahi likha hua hai ki hum alag alag dharmon se milkar bana hua ek rashtriya toh hum saare dharmon ko bhool kar sirf ek tham ke apna dhyan kendrit nahi kar sakte

हिंदुस्तान को सिर्फ हिंदुओं का राष्ट्र इसलिए नहीं होना चाहिए क्योंकि हिंदुस्तान में बहुत ह

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  36
WhatsApp_icon
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!