बिना किसी संगीत प्रशिक्षण के किशोर कुमार इतने महान गायक कैसे बन गए?...


play
user

Jeet Dholakia

Anchor and Media Professional

1:48

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बॉलीवुड में प्लेबैक सिंगिंग करने के लिए ऐसा कहा जाता है कि भाई आपके पास अगर संगीत का कोई बैकग्राउंड है आपने संगीत का प्रशिक्षण लिया है आज तो ही आप अच्छे गायक बन सकते हो पर किशोर कुमार एक ऐसे गायक थे आज उन्होंने कोई भी संगीत का प्रशिक्षण नहीं लिया था फिर भी काफी सारे ऐसे लोग हैं जो इनको पूछते हैं उनकी पूजा करते हैं क्योंकि किशोर कुमार और उन लोगों में इतनी फेवरेट है कि लोगों की पूजा करते हैं उनकी गाने रिपीट मोड़ पर सुनते रहते हैं तो कहीं ना कहीं ऐसा कहा जाता है कि पहले ऐसा नहीं था कि अगर आपने कोई प्रशिक्षण लिया है तो ही आप महान गायक बन सकते हो आप किशोर कुमार एक मल्टी टैलेंटेड कलाकार थे और वह एक्टर विद थे वह डायरेक्टर भी थे वह सिंगर भी थे तो कहीं ना कहीं उनमें जो मल्टी टैलेंट थी उसी का इस्तेमाल करके वह आगे आए थे और लोगों के दिलों पर उन्होंने राज किया था ना कि किया था पर वह आज भी काफी सारे ऐसे लोग हैं जो किशोर कुमार के तो आज भी वह लोगों के दिलों पर राज कर रहे हैं भले उनका वह भी नहीं है पर उनके गाने अभी भी लोगों के दिमाग में जो बातें हैं तब लोग उनके वह गाने सुनने के लिए बेताब हो जाते हैं और अगर गाना कहीं सुना देता है तो लोग वहां रुक जाते हैं तो प्रशिक्षण पहले के जमाने में ऐसा नहीं था कि म्यूजिक का प्रशिक्षण लिया है तू ही आप अच्छे सिंगर बन सकते हो आप ने एक अच्छी टैलेंट है तो ही आप तो भी आप एक अच्छे सिंगर या फिर अच्छे कलाकार बन सकते हो ऐसे काफी सारे हमारे पास एग्जांपल है जिन्होंने कोई भी प्रशिक्षण नहीं लिया था फिर भी वह एक बहुत ही अच्छे कलाकार साबित हुए हैं वह बहुत ही अच्छे मल्टी टैलेंटेड एक्टर साबित हुए हैं सिंगर साबित हुए हैं तो किशोर कुमार के केस में भी यही है कि उन्होंने कोई भी प्रशिक्षण नहीं लिया था फिर भी उनकी अपनी इमेल स्कूल से वह लोगों पर जादू कर रहे थे अपना

bollywood mein playback singing karne ke liye aisa kaha jata hai ki bhai aapke paas agar sangeet ka koi background hai aapne sangeet ka prashikshan liya hai aaj toh hi aap acche gayak ban sakte ho par kishore kumar ek aise gayak the aaj unhone koi bhi sangeet ka prashikshan nahi liya tha phir bhi kaafi saare aise log hain jo inko poochhte hain unki puja karte hain kyonki kishore kumar aur un logo mein itni favourite hai ki logo ki puja karte hain unki gaane repeat mod par sunte rehte hain toh kahin na kahin aisa kaha jata hai ki pehle aisa nahi tha ki agar aapne koi prashikshan liya hai toh hi aap mahaan gayak ban sakte ho aap kishore kumar ek multi talented kalakar the aur vaah actor with the vaah director bhi the vaah singer bhi the toh kahin na kahin unmen jo multi talent thi usi ka istemal karke vaah aage aaye the aur logo ke dilon par unhone raj kiya tha na ki kiya tha par vaah aaj bhi kaafi saare aise log hain jo kishore kumar ke toh aaj bhi vaah logo ke dilon par raj kar rahe hain bhale unka vaah bhi nahi hai par unke gaane abhi bhi logo ke dimag mein jo batein hain tab log unke vaah gaane sunne ke liye betaab ho jaate hain aur agar gaana kahin suna deta hai toh log wahan ruk jaate hain toh prashikshan pehle ke jamane mein aisa nahi tha ki music ka prashikshan liya hai tu hi aap acche singer ban sakte ho aap ne ek achi talent hai toh hi aap toh bhi aap ek acche singer ya phir acche kalakar ban sakte ho aise kaafi saare hamare paas example hai jinhone koi bhi prashikshan nahi liya tha phir bhi vaah ek bahut hi acche kalakar saabit hue hain vaah bahut hi acche multi talented actor saabit hue hain singer saabit hue hain toh kishore kumar ke case mein bhi yahi hai ki unhone koi bhi prashikshan nahi liya tha phir bhi unki apni imel school se vaah logo par jadu kar rahe the apna

बॉलीवुड में प्लेबैक सिंगिंग करने के लिए ऐसा कहा जाता है कि भाई आपके पास अगर संगीत का कोई ब

Romanized Version
Likes  86  Dislikes    views  1800
WhatsApp_icon
3 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

S.Shaikh

Science graduate,pg

1:49
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए आप यह कहना चाह रहे हैं आपका कहने का मकसद यह है कि बिना किसी प्रशिक्षण के कोई महान गायक कैसे बन सकता है और आपने इसको मिसाल के तौर पर किशोर कुमार का नाम सामने लाया है तो मैं आपको बता दूं कि जिस काम के अंदर जिस क्षेत्र के अंदर आपकी रुचि होती हैं आप उस फील्ड के अंदर इंटरेस्टेड होते हो तो आपके अंदर का वह जज्बा आपके अंदर कि वह आपको उस क्षेत्र के अंदर खुद मुख्तार बना देती हैं मुकम्मल परिपूर्ण बना देती हैं और आप बिना किसी कोचिंग के बिना किसी प्रशिक्षण के अपने उस क्षेत्र के अंदर अपने आप को परिपूर्ण कर लेते हो रात दिन या हर वक्त आप अपनी और सुरुचि को बेहतर से बेहतर बनाने में लगे रहते हो और एक वक्त आता है जब आप उसमें अपने क्षेत्र में एक महान बन जाते हैं आप अपने अंदर रुचि रखते हो तो आप महान बन सकते हैं बिना किसी प्रशिक्षण

dekhiye aap yah kehna chah rahe hain aapka kehne ka maksad yah hai ki bina kisi prashikshan ke koi mahaan gayak kaise ban sakta hai aur aapne isko misal ke taur par kishore kumar ka naam saamne laya hai toh main aapko bata doon ki jis kaam ke andar jis kshetra ke andar aapki ruchi hoti hain aap us field ke andar interested hote ho toh aapke andar ka vaah jajba aapke andar ki vaah aapko us kshetra ke andar khud mukhtar bana deti hain mukammal paripurna bana deti hain aur aap bina kisi coaching ke bina kisi prashikshan ke apne us kshetra ke andar apne aap ko paripurna kar lete ho raat din ya har waqt aap apni aur suruchi ko behtar se behtar banane mein lage rehte ho aur ek waqt aata hai jab aap usme apne kshetra mein ek mahaan ban jaate hain aap apne andar ruchi rakhte ho toh aap mahaan ban sakte hain bina kisi prashikshan

देखिए आप यह कहना चाह रहे हैं आपका कहने का मकसद यह है कि बिना किसी प्रशिक्षण के कोई महान गा

Romanized Version
Likes  16  Dislikes    views  461
WhatsApp_icon
user

Govind Anuragi

Work At a Job

0:43
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए आप का सवाल है कि बिना किसी प्रशिक्षण के किशोर कुमार इतने महान गायक कैसे बने थे तो आप उन्हीं से पूछ सकते जहां तक मेरा मानना है कि उनका संगीत में बचपन से लाया था थोड़ा रुचि थी और रुचि को चलते चलते उन्होंने संगीतकार गायक शिवसेना हुआ था और युवा संगठन मंत्री राजू नारायण का चयन किया उसके बाद ही उन्होंने संगीत और लक्ष्मण लक्ष्मण जाती है उसके लिए जी जान से जुट गए उसके साथ रखने की कोशिश की और कोशिश करते रहे करते रहे इसलिए वह अपने महान गायक बन चुके हैं

dekhiye aap ka sawaal hai ki bina kisi prashikshan ke kishore kumar itne mahaan gayak kaise bane the toh aap unhi se puch sakte jaha tak mera manana hai ki unka sangeet mein bachpan se laya tha thoda ruchi thi aur ruchi ko chalte chalte unhone sangeetkar gayak shivsena hua tha aur yuva sangathan mantri raju narayan ka chayan kiya uske baad hi unhone sangeet aur lakshman lakshman jaati hai uske liye ji jaan se jut gaye uske saath rakhne ki koshish ki aur koshish karte rahe karte rahe isliye vaah apne mahaan gayak ban chuke hain

देखिए आप का सवाल है कि बिना किसी प्रशिक्षण के किशोर कुमार इतने महान गायक कैसे बने थे तो आप

Romanized Version
Likes  19  Dislikes    views  447
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!