एक आम भारतीय होने के नाते आपको को किन-किन बातों पर गुस्सा आता है?...


user

Bhuvi Jain

Engineer, Educator, Writer

1:40
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हम इंडियंस बहुत सेल्फिश है अपना घर तो साफ रख सकते हैं पर अपना देश नहीं हर रोज हम 259 देशभक्ति के इंडिया के ग्लोरियस फास्ट के मैसेजेस आगे पीछे हम स्वागत करते हैं ऐसे करने वाला भारतीय पब्लिक प्रॉपर्टी को अपना नहीं समझता नए रेल की बोगी इसके सीट्स को ब्रेड से काटने वाला गुस्सा आने पर बसों को जलाने वाला दंगे फसाद में तोड़फोड़ करने वाला क्यों यानी लाइन को तोड़ने वाला नियमों को तोड़ने वाला घूस देने वाला घूस लेने वाला गोरी चमड़ी के पीछे भागने वाला और कितनी संपत्ती संपत्ती मान के बेइज्जत करने वाला हर ऐसे इंडियन को देख कर मेरा खून खोलता है हम भारतीय होने के नाते मैं चाहती हूं कि आधुनिक भारत जाति से ऊपर उठे पर पैदा होते ही शाम में बच्चे का नाम रिलीजन और काश लिखने को मजबूर किया जाता है सरकार के द्वारा कहां से हम भूले जाति को जब एक मृत बच्चे को गोद में लेकर श्मशान घाट तक पैदल चलकर जाता है क्योंकि वह गरीब है और उसकी जाति नीची मानी जाती है तब आम भारतीय का खून खोलता है कहां है तेरा किस देश में लोग पैसों के लिए वोट देते हैं तब आम भारतीय का खून खोलता है वोट बैंक के चक्कर में काश पॉलिटिक्स खेले जाते हैं तो बेहिसाब गुस्सा आता है भारत में अनेक ऐसे हम जैसे लोग हैं आम नागरिक जिन्हें इन बातों पर गुस्सा आता है आइए अल्बर्ट पिंटो ना बन कर हम रह जाय भरत को बेहतर बनाते हैं कुछ फर्क करके दिखाते हैं

hum indians bahut selfish hai apna ghar to saaf rakh sakte hain par apna desh nahi har roj hum 259 deshbhakti ke india ke glorious fast ke messages aage piche hum swaagat karte hain aise karne vala bharatiya public property ko apna nahi samajhata naye rail ki boggie iske seats ko bred se katne vala gussa aane par bason ko jalane vala denge fasad mein thorphor karne vala kyon yani line ko todne vala niyamon ko todne vala ghus dene vala ghus lene vala gori chamadi ke piche bhagne vala aur kitni sampatti sampatti maan ke beijjat karne vala har aise indian ko dekh kar mera khoon kholta hai hum bharatiya hone ke naate main chahti hoon ki aadhunik bharat jati se upar uthe par paida hote hi shaam mein bacche ka naam religion aur kash likhne ko majboor kiya jata hai sarkar ke Dwara kahaan se hum bhule jati ko jab ek mrit bacche ko god mein lekar shmashan ghat tak paidal chalkar jata hai kyonki wah garib hai aur uski jati nichi maani jati hai tab aam bharatiya ka khoon kholta hai kahaan hai tera kis desh mein log paison ke liye vote dete hain tab aam bharatiya ka khoon kholta hai vote bank ke chakkar mein kash politics khele jaate hain to behisaab gussa aata hai bharat mein anek aise hum jaise log hain aam nagarik jinhen in baaton par gussa aata hai aaiye albert Pinto na ban kar hum rah jaay Bharat ko behtar banate hain kuch fark karke dikhate hain

हम इंडियंस बहुत सेल्फिश है अपना घर तो साफ रख सकते हैं पर अपना देश नहीं हर रोज हम 259 देशभक

Romanized Version
Likes  91  Dislikes    views  2025
WhatsApp_icon
4 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user

Govind Saraf

Entrepreneur

1:57

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

एक आम भारतीय होने के नाते मुझे उन बातों पर गुस्सा आता है जो बहुत ही सुने में साधारण क्षमता है लेकिन बहुत इंपोर्टेंट एंड बहुत ही जरूरी मुद्दा है सबसे बड़ी बात पर स्वच्छता अभियान इतनी सही स्वच्छता अभियान की के अभियान चलाएगा लेकिन आज भी कुछ लोग हैं जो पान का पिक और गंदगी की सलाह बिना नहीं रहते सिग्नेचर ब्रिज दिल्ली में बना था उसमें भी पान के पीक के कितने गंदगी कम में कितने निशान पाए गए कितने दफे दाग धब्बे पाएगा तू आज भी लोग गंदगी के बिना से रहते नहीं है लोग यह नहीं मानते पब्लिक प्रॉपर्टी का नुकसान उनका ही नुकसान है उनके देश के अगेंस्ट उनके देश के गौरव के अगेंस्ट है तो इस संसार में थे लेकिन आज भी लोग नहीं समझते अपने हरकत से बाज नहीं आते दूसरी बात है यह खुले में शौच करना आज आप जितना भी अभियान पर आए लेकिन आज उनके मानसिकता नहीं बदली है आज भी करीना की जेंट्स एंड यू सॉलिड नहीं करके कोई न कोई सजा कर के नारा खोजते हैं इससे गंदगी फैलती है इस बीमारियां फैलती है लोग यह नहीं समझते हैं तो सबसे बड़ी बात है कि आम आदमी होने के नाते बहुत तकलीफ मुझे महसूस होती है जब मैं ऐसा करते हुए देखता हूं कोशिश भी करता हूं रोकने का कई बार झड़प भी हो जाती झगड़ा भी हो जाते हैं लेकिन लोग समझने तैयार नहीं होते मेरा मानना है सरकार को अब प्रशासन को इस पर कड़ी से कड़ी कार्रवाई रखनी चाहिए और कड़ा से कड़ा फाइनेंस पर लगाना चाहिए लोग सुधरेंगे नहीं जब तक उन्हें सख्त सख्त सजा दी जाए मुझे आज भी याद है मैं एक जगह बोल रहा था जब एक इंसान ने मुझे मेरे पब्लिकेशन में लिखकर कहा था कि जब तक सरकार भारी जब तक सरकार जुर्माना अगले महीने की मैं नहीं सोऊंगा तो आज भी को सबसे जिद्दी कट्टरवादी लोग हैं जो सुधारना नहीं चाहते

ek aam bharatiya hone ke naate mujhe un baaton par gussa aata hai jo bahut hi sune mein sadhaaran kshamta hai lekin bahut important end bahut hi zaroori mudda hai sabse badi baat par Svachchhata abhiyan itni sahi Svachchhata abhiyan ki ke abhiyan chalayega lekin aaj bhi kuch log hain jo pan ka pic aur gandagi ki salah bina nahi rehte signature bridge delhi mein bana tha usamen bhi pan ke peak ke kitne gandagi kam mein kitne nishaan paye gaye kitne dafe daag dhabbe payega tu aaj bhi log gandagi ke bina se rehte nahi hai log yeh nahi manate public property ka nuksan unka hi nuksan hai unke desh ke against unke desh ke gaurav ke against hai to is sansar mein the lekin aaj bhi log nahi samajhte apne harkat se baaj nahi aate dusri baat hai yeh khule mein sauch karna aaj aap jitna bhi abhiyan par aaye lekin aaj unke mansikta nahi badli hai aaj bhi kareena ki gents end you solid nahi karke koi n koi saja kar ke naara khojate hain isse gandagi failati hai is bimariyan failati hai log yeh nahi samajhte hain to sabse badi baat hai ki aam aadmi hone ke naate bahut takleef mujhe mehsus hoti hai jab main aisa karte huye dekhta hoon koshish bhi karta hoon rokne ka kai baar jhadap bhi ho jati jhadna bhi ho jaate hain lekin log samjhne taiyaar nahi hote mera manana hai sarkar ko ab prashasan ko is par kadi se kadi karyawahi rakhni chahiye aur kada se kada finance par lagana chahiye log sudhrenge nahi jab tak unhen sakht sakht saja di jaye mujhe aaj bhi yaad hai ek jagah bol raha tha jab ek insaan ne mujhe mere publication mein likhkar kaha tha ki jab tak sarkar bhari jab tak sarkar jurmana agle mahine ki main nahi sounga to aaj bhi ko sabse jiddi kattarvaadee log hain jo sudharna nahi chahte

एक आम भारतीय होने के नाते मुझे उन बातों पर गुस्सा आता है जो बहुत ही सुने में साधारण क्षमता

Romanized Version
Likes  77  Dislikes    views  1683
WhatsApp_icon
user

Vikas Singh

Political Analyst

1:52
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

एक भारतीय होने के नाते मुझे कुछ बातों पर बहुत गुस्सा आता है और बहुत ज्यादा गुस्सा आता है कंट्रोल नहीं कर पाता हूं कभी-कभी सोचता हूं कि धारा 370 क्यों लागू किया गया धारा 370 जब हमारे देश हित के लिए नहीं था तो इसे लागू क्यों किया गया कैलाश मानसरोवर आज हमारे देश में होता है वह चाइना में क्यों चला गया और सोचता हूं कि भगवान श्रीराम जो पूरी दुनिया के भगवान हैं उनका मंदिर अभी तक क्यों नहीं बना हिंदुस्तान में 100 करोड़ हिंदुओं के होने के बाद भी भगवान श्रीराम का मंदिर नहीं बन पा रहा है यह दुर्भाग्य है तो यही सोचता हूं कि हम लोगों में एकता नहीं है अगर एकता रहती तो भगवान श्री राम का भव्य मंदिर आज नहीं सौ साल पहले बन गया होता लेकिन ऐसा नहीं हुआ तो यह सब बातें सोच कर बहुत दुख होता है लेकिन प्रधानमंत्री मोदी जी का बहुत बड़ा फैन हूं मोदी जी जैसे महापुरुष हमें हमारे देश को मिला है आज विश्व में सबसे लोकप्रिय लीडर है सबसे इमानदार लीटर है और सबसे अच्छी नियत से कार्य करने वाले लीटर है तो मैं आप सभी भारत वासियों से निवेदन करना चाहता हूं 2019 का चुनाव नजदीक है 11 तारीख को चुनाव स्टार्ट है आप सभी लोगों को भ्रमित होने की जरूरत नहीं है आप सभी लोग अपना महत्वपूर्ण वोट भारतीय जनता पार्टी को करें ताकि भगवान श्री राम का भव्य मंदिर बन सके धारा 370 को हटाया जा सके हमारी फौज को मजबूत किया जा सके हमारे किसान भाइयों को उनका अधिकार मिल सके गरीबों को उनका अधिकार मिल सकें और पूरा हिंदुस्तान खुश रह सके धन्यवाद

ek bharatiya hone ke naate mujhe kuch baaton par bahut gussa aata hai aur bahut zyada gussa aata hai control nahi kar pata hoon kabhi kabhi sochta hoon ki dhara 370 kyon laagu kiya gaya dhara 370 jab hamare desh hit ke liye nahi tha toh ise laagu kyon kiya gaya kailash maansarovar aaj hamare desh mein hota hai wah china mein kyon chala gaya aur sochta hoon ki bhagwan shriram jo puri duniya ke bhagwan hain unka mandir abhi tak kyon nahi bana Hindustan mein 100 crore hinduon ke hone ke baad bhi bhagwan shriram ka mandir nahi ban pa raha hai yeh durbhagya hai toh yahi sochta hoon ki hum logo mein ekta nahi hai agar ekta rehti toh bhagwan shri ram ka bhavya mandir aaj nahi sau saal pehle ban gaya hota lekin aisa nahi hua toh yeh sab batein soch kar bahut dukh hota hai lekin Pradhanmantri modi ji ka bahut bada fan hoon modi ji jaise mahapurush humein hamare desh ko mila hai aaj vishwa mein sabse lokpriya leader hai sabse imaandaar litre hai aur sabse acchi niyat se karya karne wale litre hai toh main aap sabhi bharat vasiyo se nivedan karna chahta hoon 2019 ka chunav nazdeek hai 11 tarikh ko chunav start hai aap sabhi logo ko bharmit hone ki zarurat nahi hai aap sabhi log apna mahatvapurna vote bharatiya janta party ko karein taki bhagwan shri ram ka bhavya mandir ban sake dhara 370 ko hataya ja sake hamari fauj ko majboot kiya ja sake hamare kisan bhaiyo ko unka adhikaar mil sake garibon ko unka adhikaar mil sake aur pura Hindustan khush reh sake dhanyavad

एक भारतीय होने के नाते मुझे कुछ बातों पर बहुत गुस्सा आता है और बहुत ज्यादा गुस्सा आता है क

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  381
WhatsApp_icon
user
0:53
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए एक आम भारतीय होने के नाते मुझे उन बातों पर गुस्सा आता है जब कोई भी सिस्टम गलत कदम उठाता है यदि कोई भी थानेदार गलत कदम उठाता है या कोई भी गलत तरीके से गलत का साथ देता है उसके ऊपर ना करने के कारण सुनाओ भी आता है और लोगों लोगों के अंदर की भावनाएं उनके साथ खिलवाड़ करने के नाते दिलों से भी जाता है इसीलिए कई मुद्दे हैं इस वजह से यह जब भी दिक्कतें होती हैं यह जब भी अन्य देश हमारा हीरेश हमारे ही देश के लोग जब गद्दारी करने लगते बुरा लगता है तो सही सब सिस्टम है

dekhiye ek aam bharatiya hone ke naate mujhe un baaton par gussa aata hai jab koi bhi system galat kadam uthaata hai yadi koi bhi thanedaar galat kadam uthaata hai ya koi bhi galat tarike se galat ka saath deta hai uske upar na karne ke karan sunao bhi aata hai aur logo logo ke andar ki bhaavnaye unke saath khilwad karne ke naate dilon se bhi jata hai isliye kai mudde hain is wajah se yah jab bhi dikkaten hoti hain yah jab bhi anya desh hamara hiresh hamare hi desh ke log jab gaddari karne lagte bura lagta hai toh sahi sab system hai

देखिए एक आम भारतीय होने के नाते मुझे उन बातों पर गुस्सा आता है जब कोई भी सिस्टम गलत कदम उठ

Romanized Version
Likes  64  Dislikes    views  627
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!