मैं पढ़ने में कमज़ोर नहीं हूँ बस फॅमिली प्रॉब्लम से दुखी हूँ। ऐसे में मुझे क्या करना चाहिए?...


user

POOJA ( Psychologist )

Education Counselor

3:56
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पीके बहुत अच्छा पहुंचाना जैसा कि आप बता रहे हैं क्या पढ़ने में कमजोर नहीं है बस श्याम जी प्रॉब्लम से दुखी ऐसे में आपको क्या करना चाहिए ऐसे में आप मुझसे कुछ जवाब मैं आपको दूंगी आप उनको फॉलो करिए देखिए आप पढ़ने में कमजोर है इसका मतलब पढ़ाई में बहुत अच्छे हैं यही आपका प्लस्पॉइंट है पढ़ाई में अच्छा होना क्या पढ़ाई में बहुत अच्छे हैं लेकिन फैमिली में जो भी प्रॉब्लम है अभी आप उस लायक नहीं है जो उन प्रॉब्लम को ठीक कर सके हां बस अब आप पढ़ाई करके कुछ बन जाएंगे तो जरूर अपनी फैमिली के लिए कुछ ना कुछ कर पाएंगे अभी तो आप अगर दो जगह अपने माइंड को डाइवर्ट करके रखेंगे अगर आपको काम जैसे अभी आपका जैसे फैमिली में प्रॉब्लम वजह से आप पढ़ाई अच्छे से नहीं कर पा रहे हो पढ़ाई भी अच्छे से नहीं हो पाएगी और फैमिली की प्रॉब्लम तो आप ठीक नहीं कर पाओगे क्योंकि आपको अभी इतना कहा जाना दीजिए ज्ञान नहीं है पता नहीं है ना और आप फाइनेंस लिए भी हल कर सकते प्लीज जो आप का ऑपरेशन में इन्वेस्टमेंट कर रहे हैं ना पढ़ाई में खर्चा हो रहा है और उन्हें उम्मीद है कि आप पढ़ लिखकर हमारा नाम लिखा कहां जाए हेल्प करोगे ना फाइनेंस लि स्थिति अच्छी होगी यह तो फैमिली की फाइनल की प्रॉब्लम चलती रहती है तो आप उसमें इन्वॉल्व होकर अपने परिवार को इस तरह से कुछ रख सकते हैं क्या आप अपने रिजल्ट से उन्हें अच्छा रखें उन्हें खुश रखिए फैमिली की कहा जाए जो भी प्रॉब्लम है आपकी आप अभी ठीक नहीं कर सकते टेंशन लेकर आप अपने आप जरूर पढ़ाई कर लौट कर सकते हो ना हां मगर जब पढ़ाई आपत्ति कर लोगे तो जरूर आप अपनी फैमिली की एक कहा जाए पानी रे पानी तो बहुत अच्छी हेल्प करोगे और उस लायक बन जाओगे तो बच्चों को ज्यादा फैमिली की टेंशन नहीं लेनी चाहिए उतने ही लीजिए जितने आपके कहा है आपके आप कुछ कर सकते हैं दवाई नहीं कर सकते तो आप अपना पढ़ाई पर फोकस रखी है पढ़ाई करते रहिए पढ़ाई में करेंगे अच्छे से आगे जाकर कुछ बनेंगे तो जरूर फैमिली की हेल्प करेंगे जिससे कहा जाए आपका नाम लिखो जो उम्मीद है वह मैं जरूर पूरी हुई थी है ना तो आपको मैं यही कहना चाहूंगी आप सब अपना पढ़ाई के फोकस रखिए फैमिली की प्रॉब्लम को पेरेंट्स तक ही छोड़ दीजिए वह देख लेंगे जैसा भी होगा मार पेरेंट्स अपने आप बैटरी देते हैं और बाकी यह सब चलता रहता है बेटा अभी की लाइफ में कहा जाए घर गृहस्ती में यह सब चलता था इसलिए कोई एकाध कुछ अलग बात है आप ही के सामने सबके सामने में कुछ ना कुछ लगा रहता है ना तो आप बिल्कुल मत अपना पढ़ाई कर रखी है इससे आपको बहुत बेनिफिट होगा आप अच्छे से पढ़ाई करके कुछ बन जाओगे अपने पेरेंट्स का नाम रोशन करोगे अपना नाम रोशन करोगे तो फिर आपको कहा जाए लाइफ में इस जो फैमिली प्रॉब्लम होगा इसलिए दूर हो जाएगी यह ना तो आप अपना एजुकेशन अच्छे से स्टडी करें मैं यही कहना चाहूंगी आपको ठीक है थैंक यू सो मच

pk bahut accha pahunchana jaisa ki aap bata rahe hain kya padhne me kamjor nahi hai bus shyam ji problem se dukhi aise me aapko kya karna chahiye aise me aap mujhse kuch jawab main aapko dungi aap unko follow kariye dekhiye aap padhne me kamjor hai iska matlab padhai me bahut acche hain yahi aapka plaspaint hai padhai me accha hona kya padhai me bahut acche hain lekin family me jo bhi problem hai abhi aap us layak nahi hai jo un problem ko theek kar sake haan bus ab aap padhai karke kuch ban jaenge toh zaroor apni family ke liye kuch na kuch kar payenge abhi toh aap agar do jagah apne mind ko Divert karke rakhenge agar aapko kaam jaise abhi aapka jaise family me problem wajah se aap padhai acche se nahi kar paa rahe ho padhai bhi acche se nahi ho payegi aur family ki problem toh aap theek nahi kar paoge kyonki aapko abhi itna kaha jana dijiye gyaan nahi hai pata nahi hai na aur aap finance liye bhi hal kar sakte please jo aap ka operation me investment kar rahe hain na padhai me kharcha ho raha hai aur unhe ummid hai ki aap padh likhkar hamara naam likha kaha jaaye help karoge na finance li sthiti achi hogi yah toh family ki final ki problem chalti rehti hai toh aap usme involve hokar apne parivar ko is tarah se kuch rakh sakte hain kya aap apne result se unhe accha rakhen unhe khush rakhiye family ki kaha jaaye jo bhi problem hai aapki aap abhi theek nahi kar sakte tension lekar aap apne aap zaroor padhai kar lot kar sakte ho na haan magar jab padhai apatti kar loge toh zaroor aap apni family ki ek kaha jaaye paani ray paani toh bahut achi help karoge aur us layak ban jaoge toh baccho ko zyada family ki tension nahi leni chahiye utne hi lijiye jitne aapke kaha hai aapke aap kuch kar sakte hain dawai nahi kar sakte toh aap apna padhai par focus rakhi hai padhai karte rahiye padhai me karenge acche se aage jaakar kuch banenge toh zaroor family ki help karenge jisse kaha jaaye aapka naam likho jo ummid hai vaah main zaroor puri hui thi hai na toh aapko main yahi kehna chahungi aap sab apna padhai ke focus rakhiye family ki problem ko parents tak hi chhod dijiye vaah dekh lenge jaisa bhi hoga maar parents apne aap battery dete hain aur baki yah sab chalta rehta hai beta abhi ki life me kaha jaaye ghar grihasti me yah sab chalta tha isliye koi ekadh kuch alag baat hai aap hi ke saamne sabke saamne me kuch na kuch laga rehta hai na toh aap bilkul mat apna padhai kar rakhi hai isse aapko bahut benefit hoga aap acche se padhai karke kuch ban jaoge apne parents ka naam roshan karoge apna naam roshan karoge toh phir aapko kaha jaaye life me is jo family problem hoga isliye dur ho jayegi yah na toh aap apna education acche se study kare main yahi kehna chahungi aapko theek hai thank you so match

पीके बहुत अच्छा पहुंचाना जैसा कि आप बता रहे हैं क्या पढ़ने में कमजोर नहीं है बस श्याम जी

Romanized Version
Likes  33  Dislikes    views  644
WhatsApp_icon
16 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Maruti Makwana

Performance Strategist

1:44
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए आपकी कमजोरी ना तो आपकी फैमिली प्रॉब्लम है ना ही आप पढ़ाई में कमजोर हो यह मैं मान सकता हूं मेरे हिसाब से आपका ध्यान जो है वह विचलित हो जाता है जब आपके परिवार में कोई तरह की प्रॉब्लम आती है या फिर आप मन से दुखी होते हो तो यह सीधा सा प्रॉब्लम है जब आप अपने काम में या फिर अपनी पढ़ाई में फोकस नहीं रख पाते मेरे हिसाब से आपको ऐसी चीजें करनी चाहिए जिससे आपका मन जो है वह ज्यादा विचलित ना रहे और किसी एक जगह पर फोकस रख पाओ तो करने के बहुत सारे रास्ते हैं लेकिन सबसे पहले तो मैं यह बताना चाहूंगा कि आपके फैमिली प्रॉब्लम्स ओं है उनको सवाल करने की कोशिश करो पढ़ाई में थोड़े कम माता जाए यह तमाशा जाए उसे जिंदगी में ज्यादा फर्क नहीं पड़ता पर पड़ता है कि आपको जो जो प्रॉब्लम आती है उसको आप कैसे पेश करते हो और उसको कैसे कॉल करते हो तो आपकी फैमिली प्रॉब्लम को कॉल करना यह आपकी जिम्मेदारी है आप उसको कॉल करने की कोशिश करो और जो चीजें आपके हाथ में है ही नहीं उस पर फोकस मत रखो क्योंकि जो चीजों को आप सवाल नहीं कर सकते अगर उन चीजों पर फोकस रखोगे तो आपके दिमाग को हार मानने की आदत हो जाएगी इससे अच्छा है कि जो चीजें हमारे कंट्रोल में नहीं है हम उसके फोटो की ना रखें और जो सीधे हमारे कंट्रोल में है उसी पर फोकस रखें जैसे कि आप पढ़ाई करो कि आपके फोकस में होना चाहिए और अगर ऐसी कोई प्रॉब्लम है जो आप पीठ करके भी उसको साल नहीं कर सकते तो फिर उसे उसके फोकस मत रखो जब समय आएगा वह खुद-ब-खुद कॉल हो जाएगी

dekhiye aapki kamzori na toh aapki family problem hai na hi aap padhai mein kamjor ho yah main maan sakta hoon mere hisab se aapka dhyan jo hai vaah vichalit ho jata hai jab aapke parivar mein koi tarah ki problem aati hai ya phir aap man se dukhi hote ho toh yah seedha sa problem hai jab aap apne kaam mein ya phir apni padhai mein focus nahi rakh paate mere hisab se aapko aisi cheezen karni chahiye jisse aapka man jo hai vaah zyada vichalit na rahe aur kisi ek jagah par focus rakh pao toh karne ke bahut saare raste hain lekin sabse pehle toh main yah bataana chahunga ki aapke family problems on hai unko sawaal karne ki koshish karo padhai mein thode kam mata jaaye yah tamasha jaaye use zindagi mein zyada fark nahi padta par padta hai ki aapko jo jo problem aati hai usko aap kaise pesh karte ho aur usko kaise call karte ho toh aapki family problem ko call karna yah aapki jimmedari hai aap usko call karne ki koshish karo aur jo cheezen aapke hath mein hai hi nahi us par focus mat rakho kyonki jo chijon ko aap sawaal nahi kar sakte agar un chijon par focus rakhoge toh aapke dimag ko haar manne ki aadat ho jayegi isse accha hai ki jo cheezen hamare control mein nahi hai hum uske photo ki na rakhen aur jo sidhe hamare control mein hai usi par focus rakhen jaise ki aap padhai karo ki aapke focus mein hona chahiye aur agar aisi koi problem hai jo aap peeth karke bhi usko saal nahi kar sakte toh phir use uske focus mat rakho jab samay aayega vaah khud bsp khud call ho jayegi

देखिए आपकी कमजोरी ना तो आपकी फैमिली प्रॉब्लम है ना ही आप पढ़ाई में कमजोर हो यह मैं मान सकत

Romanized Version
Likes  12  Dislikes    views  333
WhatsApp_icon
user

Umesh Upaadyay

Life Coach | Motivational Speaker

1:52
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सवाले में पढ़ने में कमजोर नहीं बस फैमिली प्रॉब्लम से दुखी हूं वैसे मुझे क्या करना चाहिए ऑफिस के घर फैमिली में कुछ दिक्कत परेशानी चल रही है तू और घर का सदस्य 8 मिनट लेट होगा उससे परेशानियां होगी दुखी होगा आपके दुखी होने से प्रॉब्लम सॉल्व हो जाएगी नहीं होगी अगर आप दिल्ली में चलते थे उसके बारे में तो आप उसके लिए कुछ कीजिए उसको सवाल करने की कोशिश कीजिए अगर कुछ नहीं कर सकते तो लोगों की मदद से उसको सवाल करने की कोशिश कीजिए अगर फिर भी कुछ नहीं हो सकता तो कम से कम इतना तो मत कीजिए कि आप दुखी हो उसके बारे में अब क्योंकि आप कुछ नहीं करेंगे और आप उसके बारे में सोचेंगे आप उस बीच में रहेंगे तो अभी आपको इंपैक्ट करेगा आप दुखी होते रहेंगे और आप एक काफी डिस्टेंस कवर कर लेंगे इसी दुखी होने के सिलसिले में तो बजाय इसके या तो आप उसको सॉल्व कीजिए या फिर आप अपनी पूरी एनर्जी पूरा एयरपोर्ट पढ़ाई की तरह डालें क्योंकि आप अच्छे से जानते हैं कि आप पढ़ाई में कमजोर नहीं है तो आप पढ़ाई में मन लगाइए उससे क्या होगा आपका ध्यान इधर-उधर नहीं जाएगा और आप इस दिशा में तो कम से कम अपने आप को अग्रसर करते चले जाएंगे आपकी पढ़ाई तो अच्छी तरह से चलती चली जाएगी आज नहीं तो कल कल नहीं तो परसों यह फैमिली वाली तो हम तो ठीक-ठाक हो ही जाएगी लेकिन यह पढ़ाई अगर आज से जो करना था आज जो पढ़ना था वह नहीं किया टाइम ही था आपके पास वह चला गया वह दोबारा से नहीं आएगा तो आपको दोनों को लेकर साथ में चलना चाहिए बजाय चिंता करके फैमिली प्रॉब्लम को लेकर अगर आप कुछ कर सकते तो कीजिए आजम भाई प्लीज पुट एनर्जी एंड एयरपोर्ट की आमिर को पढ़ाई में अव्वल आना है पढ़ाई में आगे बढ़ना है वह आप से उसकी पकड़ा से छूटना चाहिए बहुत जरूरी है आज नहीं तो कल तो प्रॉब्लम ठीक-ठाक हो जाएगी

savale mein padhne mein kamjor nahi bus family problem se dukhi hoon waise mujhe kya karna chahiye office ke ghar family mein kuch dikkat pareshani chal rahi hai tu aur ghar ka sadasya 8 minute late hoga usse pareshaniya hogi dukhi hoga aapke dukhi hone se problem solve ho jayegi nahi hogi agar aap delhi mein chalte the uske bare mein toh aap uske liye kuch kijiye usko sawaal karne ki koshish kijiye agar kuch nahi kar sakte toh logo ki madad se usko sawaal karne ki koshish kijiye agar phir bhi kuch nahi ho sakta toh kam se kam itna toh mat kijiye ki aap dukhi ho uske bare mein ab kyonki aap kuch nahi karenge aur aap uske bare mein sochenge aap us beech mein rahenge toh abhi aapko impact karega aap dukhi hote rahenge aur aap ek kaafi distance cover kar lenge isi dukhi hone ke silsile mein toh bajay iske ya toh aap usko solve kijiye ya phir aap apni puri energy pura airport padhai ki tarah Daalein kyonki aap acche se jante hai ki aap padhai mein kamjor nahi hai toh aap padhai mein man lagaaiye usse kya hoga aapka dhyan idhar udhar nahi jaega aur aap is disha mein toh kam se kam apne aap ko agrasar karte chale jaenge aapki padhai toh achi tarah se chalti chali jayegi aaj nahi toh kal kal nahi toh parso yah family wali toh hum toh theek thak ho hi jayegi lekin yah padhai agar aaj se jo karna tha aaj jo padhna tha vaah nahi kiya time hi tha aapke paas vaah chala gaya vaah dobara se nahi aayega toh aapko dono ko lekar saath mein chalna chahiye bajay chinta karke family problem ko lekar agar aap kuch kar sakte toh kijiye azam bhai please put energy and airport ki aamir ko padhai mein avval aana hai padhai mein aage badhana hai vaah aap se uski pakada se chutana chahiye bahut zaroori hai aaj nahi toh kal toh problem theek thak ho jayegi

सवाले में पढ़ने में कमजोर नहीं बस फैमिली प्रॉब्लम से दुखी हूं वैसे मुझे क्या करना चाहिए ऑफ

Romanized Version
Likes  9  Dislikes    views  301
WhatsApp_icon
user

Ragini Kshatriya

Lifecoach@Lifezhonour

1:56
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पहले तो मैं आपको यह बताना चाहूंगी की तामिली होना अपने आप में बहुत बड़ी ब्लेसिंग है जिनकी शामली नहीं होती है वह शायद काफी चीजों से चूक जाते हैं उनको 19 बॉन्डिंग उनको शेयरिंग एक दूसरे के लिए इतना प्यार कि उसके लिए नहीं कह रही है सारी चीजों के बारे में पता नहीं होता है कौन-कौन से होते हैं फैमिली में भी काफी बार हमारे प्रॉब्लम्स आ जाती हैं आएंगे नो मनमुटाव हो जाते हैं लोग एक दूसरे से बात करना बंद कर देते हैं या एक दूसरे के प्रति घृणा रखने लग जाते हैं इन्हीं से काफी डिस शॉपिंग होती है विगत जहां पर इमोशन इन वर्ल्ड है वहां पर ही चीजें डिस्टर्ब करेंगे यदि आप सोचें कि इनसे आज नहीं तो कल फैमिली प्रॉब्लम सॉल्व हो जाएगी जो आपकी पढ़ाई छूट रही है क्यों वापस आ सकती है नहीं जो आप पढ़ाई नहीं करेंगे जिसकी वजह से आप शायद दूसरों से थोड़ा पीछे रह जाए तो क्या आप को खबर कर पायेंगे नहीं जो चीज आप पीछे से नहीं कब्र कर सकते उसे करेंटली क्यों बिगाड़ा तो मैं भी आप यह अपने आप को प्रोत्साहन दे सकते हैं कि मैं शायद कोई फ्रेंड के साथ दिनों बैठकर ग्रुप सरी कल्लू स्कूल की या कॉलेज की लाइब्रेरी में थोड़ी पढ़ाई कर लो ताकि जब मैं तो घर में आओ और घर का अगर कुछ माहौल ऐसा है तो मुझे डिस्टर्ब ना हो मैं कोई फ्रेंड के यहां से ओवर करके कभी पढ़ाई कर लूं क्या मैं अपने आप को प्रोत्साहन दूं कि आज पढ़ लिखकर जब मैं भी एक अच्छे लेवल पर चले जाऊंगा या चली जाऊंगी तुम मैं एक पौधा रखूंगी मैं भी अपनी फैमिली में चीजों को बैठक कर सकूं क्योंकि अभी शायद आप छोटे हैं काफी चीज नहीं कर पा रहे हैं तो उस मोटिवेशन से उस लक्ष्य से अब अपनी पढ़ाई पर ऑन कर दीजिए

pehle toh main aapko yah bataana chahungi ki tamili hona apne aap mein bahut badi blessing hai jinki shamili nahi hoti hai vaah shayad kaafi chijon se chuk jaate hain unko 19 bonding unko sharing ek dusre ke liye itna pyar ki uske liye nahi keh rahi hai saree chijon ke bare mein pata nahi hota hai kaun kaunsi hote hain family mein bhi kaafi baar hamare problems aa jaati hain aayenge no manmutaav ho jaate hain log ek dusre se baat karna band kar dete hain ya ek dusre ke prati ghrina rakhne lag jaate hain inhin se kaafi dis shopping hoti hai vigat jaha par emotion in world hai wahan par hi cheezen disturb karenge yadi aap sochen ki inse aaj nahi toh kal family problem solve ho jayegi jo aapki padhai chhut rahi hai kyon wapas aa sakti hai nahi jo aap padhai nahi karenge jiski wajah se aap shayad dusro se thoda peeche reh jaaye toh kya aap ko khabar kar payenge nahi jo cheez aap peeche se nahi kabr kar sakte use karentali kyon bigada toh main bhi aap yah apne aap ko protsahan de sakte hain ki main shayad koi friend ke saath dino baithkar group sari kallu school ki ya college ki library mein thodi padhai kar lo taki jab main toh ghar mein aao aur ghar ka agar kuch maahaul aisa hai toh mujhe disturb na ho main koi friend ke yahan se over karke kabhi padhai kar loo kya main apne aap ko protsahan doon ki aaj padh likhkar jab main bhi ek acche level par chale jaunga ya chali jaungi tum main ek paudha rakhungi main bhi apni family mein chijon ko baithak kar saku kyonki abhi shayad aap chote hain kaafi cheez nahi kar paa rahe hain toh us motivation se us lakshya se ab apni padhai par on kar dijiye

पहले तो मैं आपको यह बताना चाहूंगी की तामिली होना अपने आप में बहुत बड़ी ब्लेसिंग है जिनकी श

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  333
WhatsApp_icon
user

Rishi Mishra

Rehabilitation Psychologist

1:06
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पहली बात तो यह है कि प्रॉब्लम है ऐसा समुद्र है जिसमें जाएंगे और गहरा होता जाएगा बाजार वालों से जुड़े हुए हैं तो हम अपने आप को सक्षम बना कर कैसे उस प्रॉब्लम को हल्का कर सकते हैं क्योंकि यह नहीं कि वह खत्म हो जाएगी अगर वह किसी के विचारधारा व्यक्ति के व्यवहार द्वारा जो है वह अगर उसमें कोयला जलता रहता है उसके अंदर तो हम उसको खत्म नहीं कर सकते लेकिन हम अपने आप को इस तरह से सक्षम बना कर उसी को कम कर सकते हैं या अपने आप को उस प्रॉब्लम से अटैक लॉजिकली उसका एक ही तरीका है अपने आप को परिपक्व बनाने का

pehli baat toh yeh hai ki problem hai aisa samudra hai jisme jaenge aur gehra hota jayega bazaar walon se jude hue hain toh hum apne aap ko saksham bana kar kaise us problem ko halka kar sakte hain kyonki yeh nahi ki wah khatam ho jayegi agar wah kisi ke vichardhara vyakti ke vyavahar dwara jo hai wah agar usme koyla jalta rehta hai uske andar toh hum usko khatam nahi kar sakte lekin hum apne aap ko is tarah se saksham bana kar usi ko kam kar sakte hain ya apne aap ko us problem se attack lajikali uska ek hi tarika hai apne aap ko paripakva banane ka

पहली बात तो यह है कि प्रॉब्लम है ऐसा समुद्र है जिसमें जाएंगे और गहरा होता जाएगा बाजार वालो

Romanized Version
Likes  71  Dislikes    views  1535
WhatsApp_icon
play
user

Upasana Chaddha

Psychologist

2:01

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जरूरी है इसके लिए बच्चे के लिए क्योंकि वाले कहते हैं पढ़ाई में कमजोर नहीं है पर क्योंकि घर के हालात ऐसे हैं जिसकी वजह से वह बहुत सारी चीजें हैं वह बहुत खुश नहीं रहते होंगे बहुत लड़ाई नहीं करते होंगे उस एनवायरमेंट में उनके लिए बहुत जरूरी है कि वह अपने अगर घर वालों से नहीं तो एक कोई ऐसे एडल्ट से जो 18 साल से ऊपर हो उससे बात करें अपनी तकलीफ है अपने परेशानियों को शेयर करें ताकि उसको एक अच्छी राह मिल सके एक अच्छी एडवाइज मिल सके और वह उसका नाम से मुक्त होकर अपने जो पढ़ाई है उससे भी ध्यान दे सके क्योंकि घर पर तनाव रहेगा जब घर की परेशानियां और मशीनों की वजह से क्योंकि अगर घर पर ही चीजें ऐसी चल रही है जहां बच्चा चीजों को ठीक से नहीं देख पा रहा तो बहुत बाद में ऐसी हो जाती है किस आई मां-बाप के पास भी वह अपनी परेशानियों के साथ आप इतना टाइम नहीं रहता कि बच्चे को देख सके और उसको संभाल सके और उसकी मानसिक स्थिति के ऊपर गौर कर सके तो वहां पर जरूरी होता है कोई नहीं तो एक चीज है जिससे आप क्लोज है जिससे बात कर सकते हैं या कोई और अडल्ट कोई और घर वाला कोई और अंकल आंटी आपके घर के पास जिसके ऊपर आप विश्वास कर सकते हैं उनसे अपनी दिक्कतें परेशानियां शेयर करें तो आपको थोड़ा सा इश्क है अपनी बात शेयर कर के मन हल्का जो होता है और किसी बड़े से बात करेंगे तो समझेंगे जो आपकी बात को गालियों करेंगे और फिर एक अच्छे एडवाइस दे सकते नहीं तो आप का प्रेस कब होगा तनाव कम होगा तो आप बाकी जगहों पर अगर एक मन उदासी होती है जो थोड़ी आती ठीक होने लगती है दूसरी चीज जो एक बार बहुत अच्छे से कर सकता वही कर सकता कि अपने विचारों को अपने को जो एक टाइम पर आता है कि बहुत दुखी होता है मन तो जब हम कैसे लिखते हैं अपने इमोशन देखते हैं तब भी हम एक बहुत हल्का महसूस होता है लिखते हैं ना खुद से हमें अपुन लिखने से ही अपने जवाब अपने परेशानियों के खुद मिलते हैं तो वह करने से वह अपने तन आपको काफी हद तक ठीक कर पाएगा

zaroori hai iske liye bacche ke liye kyonki wale kehte hai padhai mein kamjor nahi hai par kyonki ghar ke haalaat aise hai jiski wajah se wah bahut saree cheezen hai wah bahut khush nahi rehte honge bahut ladai nahi karte honge us environment mein unke liye bahut zaroori hai ki wah apne agar ghar walon se nahi toh ek koi aise adult se jo 18 saal se upar ho usse baat karein apni takleef hai apne pareshaniyo ko share karein taki usko ek acchi raah mil sake ek acchi advise mil sake aur wah uska naam se mukt hokar apne jo padhai hai usse bhi dhyan de sake kyonki ghar par tanaav rahega jab ghar ki pareshaniya aur machino ki wajah se kyonki agar ghar par hi cheezen aisi chal rahi hai jaha baccha chijon ko theek se nahi dekh pa raha toh bahut baad mein aisi ho jati hai kis I maa baap ke paas bhi wah apni pareshaniyo ke saath aap itna time nahi rehta ki bacche ko dekh sake aur usko sambhaal sake aur uski mansik sthiti ke upar gaur kar sake toh wahan par zaroori hota hai koi nahi toh ek cheez hai jisse aap close hai jisse baat kar sakte hai ya koi aur adult koi aur ghar vala koi aur uncle aunty aapke ghar ke paas jiske upar aap vishwas kar sakte hai unse apni dikkaten pareshaniya share karein toh aapko thoda sa ishq hai apni baat share kar ke man halka jo hota hai aur kisi bade se baat karenge toh samjhenge jo aapki baat ko gaaliyon karenge aur phir ek acche advice de sakte nahi toh aap ka press kab hoga tanaav kam hoga toh aap baki jagaho par agar ek man udasi hoti hai jo thodi aati theek hone lagti hai dusri cheez jo ek baar bahut acche se kar sakta wahi kar sakta ki apne vicharon ko apne ko jo ek time par aata hai ki bahut dukhi hota hai man toh jab hum kaise likhte hai apne emotion dekhte hai tab bhi hum ek bahut halka mehsus hota hai likhte hai na khud se humein apun likhne se hi apne jawab apne pareshaniyo ke khud milte hai toh wah karne se wah apne tan aapko kaafi had tak theek kar payega

जरूरी है इसके लिए बच्चे के लिए क्योंकि वाले कहते हैं पढ़ाई में कमजोर नहीं है पर क्योंकि घर

Romanized Version
Likes  20  Dislikes    views  624
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार आपका मैं पढ़ने में कमजोर नहीं हूं बस फैमिली प्रॉब्लम से दुखी हूं ऐसे में मुझे क्या करना चाहिए देखी फैमिली में सभी के प्रॉब्लम और समस्याएं आती जाती रहती है परंतु इसका नकारात्मक प्रभाव अब अपनी शिक्षा पर अपनी पढ़ाई पर न पड़ने दें क्योंकि यदि अभी आप इस तरह का प्रभाव अपनी शिक्षा पर डालेंगे तो इसके नकारात्मक प्रभाव कहीं ना कहीं आप अपने भविष्य में और अपने शैक्षिक जीवन पर भी महसूस करेंगे जिसका आपको आभार आपकी युवावस्था में और भविष्य काल में जरूर होगा क्योंकि अभी आपको इन सब चीजों की समझ नहीं है इसलिए अपनी पढ़ाई को पूरा समय दे इन सब चीजों से अलग हटकर अपने मस्तिष्क को पढ़ाई के लिए कौन से पेट करें धन्यवाद आपका दिन शुभ हो

namaskar aapka main padhne mein kamjor nahi hoon bus family problem se dukhi hoon aise mein mujhe kya karna chahiye dekhi family mein sabhi ke problem aur samasyaen aati jaati rehti hai parantu iska nakaratmak prabhav ab apni shiksha par apni padhai par na padane de kyonki yadi abhi aap is tarah ka prabhav apni shiksha par daalenge toh iske nakaratmak prabhav kahin na kahin aap apne bhavishya mein aur apne shaikshik jeevan par bhi mehsus karenge jiska aapko abhar aapki yuvavastha mein aur bhavishya kaal mein zaroor hoga kyonki abhi aapko in sab chijon ki samajh nahi hai isliye apni padhai ko pura samay de in sab chijon se alag hatakar apne mastishk ko padhai ke liye kaunsi pet kare dhanyavad aapka din shubha ho

नमस्कार आपका मैं पढ़ने में कमजोर नहीं हूं बस फैमिली प्रॉब्लम से दुखी हूं ऐसे में मुझे क्या

Romanized Version
Likes  181  Dislikes    views  3166
WhatsApp_icon
user

Ruchi Garg

Counsellor and Psychologist(Gold MEDALIST)

1:14
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

विकी मैं बहुत आपकी परेशानी बिल्कुल समझ सकती हूं कि आप पढ़ाई में कमजोर नहीं है लेकिन फैमिली प्रॉब्लम की वजह से जो है हो सकता है कि आपकी जो पढ़ाई है उस पर बहुत फैक्टर आओ पढ़ने का मन नहीं करता कि बाकी दिमाग में घूमती रहती हैं जो कि पढ़ने बैठते हैं तो घर में लड़ाइयां शुरू हो जाती है या फिर कुछ ना कुछ कुछ बोल देता है जिससे मन उदास हो जाता और पढ़ने में मन नहीं लगता आपको किस कर सकते हैं कि जैसे पर एग्जांपल ज्यादा आप थोड़ा मुझे पढ़ाई करनी होती है घर से बाहर रहे अपने किसी दोस्त के घर है वहां बैठ कर पढ़ ले या फिर लाइब्रेरी में बैठ कर पढ़ सकते हैं अगर घर के आस-पास कोई लाइफ रही है वहां बैठ कर पढ़ सकते हैं स्कूल में जो है स्कूल में अगर एक घंटा ज्यादा रूके तब आप पढ़ सकते हैं उससे जो होगा जब आप बाहर पढ़ाई करेंगे तो आपको पढ़ाई में मन भी ज्यादा लगेगा उधर की बातें ज्यादा दिमाग में नहीं आएंगी इसके अलावा आप अगर आपके स्कूल में कोई काउंसलर है आप उसकी मदद जरूर लीजिए उससे आपको बहुत मन को शांत करने में आपकी बहुत मदद करेंगी यह हमेशा याद रखें कि पढ़ाई एक ऐसा जरिया है जो फैमिली की बहुत सारी प्रॉब्लम को सॉल्व कर सकता है गुड लक

vicky main bahut aapki pareshani bilkul samajh sakti hoon ki aap padhai mein kamjor nahi hai lekin family problem ki wajah se jo hai ho sakta hai ki aapki jo padhai hai us par bahut factor aao padhne ka man nahi karta ki baki dimag mein ghoomti rehti hain jo ki padhne baithate hain toh ghar mein ladaiyan shuru ho jaati hai ya phir kuch na kuch kuch bol deta hai jisse man udaas ho jata aur padhne mein man nahi lagta aapko kis kar sakte hain ki jaise par example zyada aap thoda mujhe padhai karni hoti hai ghar se bahar rahe apne kisi dost ke ghar hai wahan baith kar padh le ya phir library mein baith kar padh sakte hain agar ghar ke aas paas koi life rahi hai wahan baith kar padh sakte hain school mein jo hai school mein agar ek ghanta zyada ruke tab aap padh sakte hain usse jo hoga jab aap bahar padhai karenge toh aapko padhai mein man bhi zyada lagega udhar ki batein zyada dimag mein nahi aayengi iske alava aap agar aapke school mein koi counselor hai aap uski madad zaroor lijiye usse aapko bahut man ko shaant karne mein aapki bahut madad karengi yah hamesha yaad rakhen ki padhai ek aisa zariya hai jo family ki bahut saree problem ko solve kar sakta hai good luck

विकी मैं बहुत आपकी परेशानी बिल्कुल समझ सकती हूं कि आप पढ़ाई में कमजोर नहीं है लेकिन फैमिली

Romanized Version
Likes  713  Dislikes    views  6016
WhatsApp_icon
user

Dr.Nisha Joshi

Psychologist

0:40
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नहीं मैं पढ़ने में कमजोर नहीं हूं बस फैमिली प्रॉब्लम से दुखी हूं ऐसे में मुझे क्या करना चाहिए सिंपल चीज है आप अपने मोशन को कंट्रोल करिए जब आप अपने इमोशनल को कंट्रोल करोगे तो ऑटोमेटिक आप फैमिली प्रॉब्लम से बाहर निकल सकोगे और फैमिली प्रॉब्लम का जो प्रॉब्लम है उसका सलूशन ला को पढ़ने में कमजोर हो तो पढ़ाई करिए प्रैक्टिस पढ़ाई में कमजोर नहीं रह पाओगे आपका दिन शुभ हो धन्यवाद

nahi main padhne mein kamjor nahi hoon bus family problem se dukhi hoon aise mein mujhe kya karna chahiye simple cheez hai aap apne motion ko control kariye jab aap apne emotional ko control karoge toh Automatic aap family problem se bahar nikal sakoge aur family problem ka jo problem hai uska salution la ko padhne mein kamjor ho toh padhai kariye practice padhai mein kamjor nahi reh paoge aapka din shubha ho dhanyavad

नहीं मैं पढ़ने में कमजोर नहीं हूं बस फैमिली प्रॉब्लम से दुखी हूं ऐसे में मुझे क्या करना चा

Romanized Version
Likes  683  Dislikes    views  7680
WhatsApp_icon
user

Kahkashan Parveen

Psychologist

0:42
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

उसको से बात करनी है उसको कंप्लीट करना है सेंड कर पाओगे और अगर

usko se baat karni hai usko complete karna hai send kar paoge aur agar

उसको से बात करनी है उसको कंप्लीट करना है सेंड कर पाओगे और अगर

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  189
WhatsApp_icon
user

Annayee Roy

Counselling Psychologist

0:50
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अभी से चली गई अब इंडस्ट्रीज हां हमें यह देखना पड़ेगा कि जो बच्चा है क्या वह घर के ड्रेस में तो नहीं आ रहा लाइट बच्चे को सांस की प्रॉब्लम है कि नहीं तू अगर स्ट्रेस नहीं है तो फिर रीजन फॉर गर्ल चाइल्ड इन द स्कूल स्कूल में जब ऑनलाइन यूजर आईडी एंड एनालाइज टू सरगम फ्रांसिस में वी कैन टेक टू हेल्प यू आउट वेडामोर फोकस एंड कंसंट्रेशन इन वी कैन गेट समर्थन लाइक अ सम मोर टाइम फ्रॉम बैंक एंड और एलसी कैन यूज द लाइब्रेरी और भी कंफ्यूजन सेम टू गो टू सम लाइब्रेरीज नियर बाय 30 हाउस ओनली द स्टडी शो दैट इज अनेबल टो फोकस ओं स्टडीज डिपार्टमेंट

abhi se chali gayi ab industries haan hamein yah dekhna padega ki jo baccha hai kya vaah ghar ke dress mein toh nahi aa raha light bacche ko saans ki problem hai ki nahi tu agar stress nahi hai toh phir reason for girl child in the school school mein jab online user id and analyse to sargam francis mein v can take to help you out vedamor focus and kansantreshan in v can gate samarthan like a some mor time from bank and aur LC can use the library aur bhi confusion same to go to some libraries near bye 30 house only the study show that is unable toe focus on studies department

अभी से चली गई अब इंडस्ट्रीज हां हमें यह देखना पड़ेगा कि जो बच्चा है क्या वह घर के ड्रेस मे

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  66
WhatsApp_icon
user

Aparna Chavan

Psychologist Counsellor

0:38
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पहिले तो प्राथमिक हो जाना होगा ना होगा क्या होगा

pahile to prathmik ho jana hoga na hoga kya hoga

पहिले तो प्राथमिक हो जाना होगा ना होगा क्या होगा

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  117
WhatsApp_icon
user

Ritu

Counselling Psychologist

1:19
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

को अगर वह अगर बच्चा स्कूल जाता है तो अगर स्कूल जा रहा है और ऐसा कुछ प्रॉब्लम है तो स्कूल में सबसे पहले तो उसके पेरेंट्स से बात किया जाए उसके घर के बारे में ओपन किया जाए उसके घर का इलाज सही ना हो ठीक है तो हम उसको मोटिवेट करी थी क्योंकि आपके घर के पीछे नहीं है और हम उसको कोई भी ऐसे ही कुछ भी काम करता है तो हम उसको बनाकर आपको कोई भी कुछ भी आप करते हो मैं शरीर में कहीं भी प्रॉब्लम आ रही है ऐसे में बच्चे के साथ होता है कभी बोलते हैं थोड़ा पैसे ले टेंशन दो जैसे मेरे पास भी आता है बच्चे कुत्ते और कुछ है उस पगली से प्रॉब्लम आती है उसको टाइम टेबल दो फिर मैं हूं मेरे को टाइम टेबल बना कर देती हूं कि मुझे करना है ऐसा करना ही करना तुम करते हैं सब बच्चे कर लेते हैं अब देखो खान डिप्रेशन तो हम भी नहीं मिलना है कि 9% बच्चे कर लेते हैं तो हम लोग स्कूल कम को सपोर्ट देने एंड चिल्ड्रन

ko agar vaah agar baccha school jata hai toh agar school ja raha hai aur aisa kuch problem hai toh school mein sabse pehle toh uske parents se baat kiya jaaye uske ghar ke bare mein open kiya jaaye uske ghar ka ilaj sahi na ho theek hai toh hum usko motivate kari thi kyonki aapke ghar ke peeche nahi hai aur hum usko koi bhi aise hi kuch bhi kaam karta hai toh hum usko banakar aapko koi bhi kuch bhi aap karte ho main sharir mein kahin bhi problem aa rahi hai aise mein bacche ke saath hota hai kabhi bolte hain thoda paise le tension do jaise mere paas bhi aata hai bacche kutte aur kuch hai us pagli se problem aati hai usko time table do phir main hoon mere ko time table bana kar deti hoon ki mujhe karna hai aisa karna hi karna tum karte hain sab bacche kar lete hain ab dekho khan depression toh hum bhi nahi milna hai ki 9 bacche kar lete hain toh hum log school kam ko support dene and children

को अगर वह अगर बच्चा स्कूल जाता है तो अगर स्कूल जा रहा है और ऐसा कुछ प्रॉब्लम है तो स्कूल म

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  68
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

फैमिली को समझा प्यार में चालू होती से समझ जाएंगे उनको मान बताओ ऑटोमेटिक चेंजर हमेशा जाएगा

family ko samjha pyar me chaalu hoti se samajh jaenge unko maan batao Automatic Changer hamesha jaega

फैमिली को समझा प्यार में चालू होती से समझ जाएंगे उनको मान बताओ ऑटोमेटिक चेंजर हमेशा जाएगा

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  80
WhatsApp_icon
user

Gulnaz

लेवल 1 (बिगिनर)

0:28
Play

होते रहते हैं दुख भी आता है और सुख भी आता है आपको इस पर...

Likes  1  Dislikes    views  23
WhatsApp_icon
user

Sachin Bharadwaj

Faculty - Mathematics

0:37
Play

आपको घबराने की जरूरत नहीं फैमिली प्रॉब्लम्स को लेकर बस आपने जो डिसाइड किया कि...

Likes  11  Dislikes    views  27
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!