सूर्य नमस्कार का इतिहास क्या है हम इसके साथ कैसे आए?...


user
1:05
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कब शुरु वहां जाना थोड़ा मुश्किल है और बताना भी थोड़ा मुश्किल है लेकिन सूर्य नमस्कार जो है यह मानते हैं कि जब तक सूर्य है तब तक सकती है चोरी जो है हमें शक्ति देता है हमें जीवन देता है तो इसे हम हर दिन सूर्य का नमन करते हैं नमस्कार करते हैं उनसे हम ऊर्जा कैसे लेते हैं और अपना जीवन सवार थे इनमें से कई अलग-अलग प्रकार जो है आज चुके हैं कम से कम जो मैंने अपनी 10 साल की प्रैक्टिस में देखा है 60 से 70 तो मेरी लेकिन सूर्य नमस्कार योगा प्रैक्टिस के लिए बहुत जरूरी है क्योंकि वह अपने शरीर को प्रिपेयर करता है आपके शरीर को जो है रेडी करता है आगे की युग के प्रसिद्ध फिल्म

kab shuru wahan jana thoda mushkil hai aur batana bhi thoda mushkil hai lekin surya namaskar jo hai yah maante hain ki jab tak surya hai tab tak sakti hai chori jo hai hamein shakti deta hai hamein jeevan deta hai toh ise hum har din surya ka naman karte hain namaskar karte hain unse hum urja kaise lete hain aur apna jeevan savar the inmein se kai alag alag prakar jo hai aaj chuke hain kam se kam jo maine apni 10 saal ki practice me dekha hai 60 se 70 toh meri lekin surya namaskar yoga practice ke liye bahut zaroori hai kyonki vaah apne sharir ko prepare karta hai aapke sharir ko jo hai ready karta hai aage ki yug ke prasiddh film

कब शुरु वहां जाना थोड़ा मुश्किल है और बताना भी थोड़ा मुश्किल है लेकिन सूर्य नमस्कार जो है

Romanized Version
Likes  9  Dislikes    views  117
WhatsApp_icon
19 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Dr Nisha Joshi

Yoga Trainer

1:16
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार का इतिहास हिंदी टिप्पण के मारे नहीं है यह और यह बाद में परंपरा में आया है कि आधुनिकीकरण लोग एक घंटा नहीं कर सकते हैं प्लेटफार्म में किया जाता है जो के लिए बहुत अच्छा होता है

namaskar ka itihas hindi tippan ke maare nahi hai yah aur yah baad mein parampara mein aaya hai ki adhunikikaran log ek ghanta nahi kar sakte hain platform mein kiya jata hai jo ke liye bahut accha hota hai

नमस्कार का इतिहास हिंदी टिप्पण के मारे नहीं है यह और यह बाद में परंपरा में आया है कि आधुनि

Romanized Version
Likes  18  Dislikes    views  446
WhatsApp_icon
play
user

Shiv Yog Physiotherapy And Yoga Classes

Physiotherapist and Yoga therapist

0:53

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पांडव के काल सेना भारत काल सर्प योग ना भारत के काल से जुड़ा हुआ है साथ में हमारे जो मुगल काल में भी यह फैसिलिटी हमारे योग महाराज के पराठा शिवाजी छत्रपति शिवाजी महाराज छत्रपति शिवाजी के गुरु जी नमस्कार का दूजा ब्याह करवा कर की अनेकों कथाएं हैं और प्राचीन कथाएं हैं इससे पता चलता है कि कोई नमस्कार प्राचीन काल से ही प्रचलित और अभ्यास में रहा है

pandav ke kaal sena bharat kaal sarp yog na bharat ke kaal se juda hua hai saath mein hamare jo mughal kaal mein bhi yeh facility hamare yog maharaj ke paratha shivaji chhatrapati shivaji maharaj chhatrapati shivaji ke guru ji namaskar ka dooja byaah karva kar ki anekon kathaen hain aur prachin kathaen hain isse pata chalta hai ki koi namaskar prachin kaal se hi prachalit aur abhyas mein raha hai

पांडव के काल सेना भारत काल सर्प योग ना भारत के काल से जुड़ा हुआ है साथ में हमारे जो मुगल क

Romanized Version
Likes  58  Dislikes    views  645
WhatsApp_icon
user
1:16
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बिल्कुल सर नमस्कार नमस्कार नमस्कार तो अपने आप में एक परी को नमस्कार से कोई जॉब नहीं है जो दूर ना किया जा सके लेकिन सूर्य नमस्कार करने के लिए हमें आहार का भी संशोधन बीच में होना चाहिए क्योंकि आत्मा और परमात्मा में जानकारी उस परमपिता परमात्मा का परिचय आत्मज्ञान परमात्मा ज्ञान काल्पनिक बातें नहीं है यह मनुष्यता तंत्र संबंधी कई प्रकार के अभ्यास जो आप करेंगे किसी के अंतर्गत से आपको सूर्य नमस्कार एक बहुत ही ध्यान दें प्रक्रिया किसे संबोधित करते हैं वैज्ञानिक जांच कर कर के परेशान हो गए और की प्रक्रिया एक साथ हो जाती है

bilkul sir namaskar namaskar namaskar toh apne aap mein ek pari ko namaskar se koi job nahi hai jo dur na kiya ja sake lekin surya namaskar karne ke liye hamein aahaar ka bhi sanshodhan beech mein hona chahiye kyonki aatma aur paramatma mein jaankari us parampita paramatma ka parichay atmagyan paramatma gyaan kalpnik batein nahi hai yah manushyata tantra sambandhi kai prakar ke abhyas jo aap karenge kisi ke antargat se aapko surya namaskar ek bahut hi dhyan de prakriya kise sambodhit karte hain vaigyanik jaanch kar kar ke pareshan ho gaye aur ki prakriya ek saath ho jaati hai

बिल्कुल सर नमस्कार नमस्कार नमस्कार तो अपने आप में एक परी को नमस्कार से कोई जॉब नहीं है जो

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  190
WhatsApp_icon
user

Varun Kushwah B. K

Yoga Trainer

2:16
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सूर्य नमस्कार योग का पाठ नहीं था पहले सूर्य नमस्कार कुछ योगेश लोग जैसे आज के समय में योग में से पावर योग निकला है तो पावर योग में सिर्फ आसनों को लिया गया है और आशाओं को उन्होंने थोड़ा सा अलग तरीके से डिजाइन किया तो पावर योगा उनका नाम पड़ गया आसन वही करते हैं अस्थाना डिजाइन अलग है वैसे पहले कुछ लोग या ऐसा कह सकते हैं कुछ रिश्ते लोग जो भी कुछ आसनों को इस तरीके से करते थे तो सूर्य नमस्कार का एक पाठ बन गया जो कुछ ऋषि मुनि इस तरीके से इस सूचना को करते थे कि वह पूरा एक सिकंस बन गया था खड़े होकर नीचे जाना पूरा आसनों के माध्यम से और आसनों के माध्यम से ही वापस आना तो वह पर सूर्य नमस्कार का एक पार्ट में बात करें तो इस तरीके से नमस्कार करना है बहुत सारे लोग उस समय में इसको करने लगे और देखा क्या के योग की आंखों से होता है तो उसको योग का पाठ बना दिया गया योग में उसको जोड़ लिया गया वह योग का पार्ट नहीं है सॉरी माता पर इसमें सूर्य नमस्कार के ऊपर अभी रिसर्च हुए और उसमें बहुत अच्छा रिश्ता के देखा गया कि एक व्यक्ति अगर घर में रहकर कार्य करता है कि भी देखता है खाना बनाता है या फिर कोई आया है गेट पर दरवाजा खुलता है तो इतना जो भी घर में कार्य कर रहा है उससे उसकी 30 से 35% मांसपेशियां उपयोग हो पाती हैं और जो एक सूर्यनमस्कार व्यक्ति कर रहा है उस व्यक्ति को वह सेवंथ 75% तक अपनी मांसपेशियों का उपयोग करता है तो 70 से 75% तक मांसपेशियों का उपयोग करते जब उन पर स्थापित हुआ और बेंगलुरु में तो वहां पर यह पाया गया कि सबसे ज्यादा सूर्य नमस्कार करने वाले व्यक्ति रह सकता है घर में रहकर कार्य करने वाला व्यक्ति अगर यह समझता है कि भैया मैं इतना कार्य करता हूं दिन में यह करता हूं जो भी है तो वह व्यक्ति अपने आपको लंबे समय तक साथ नहीं रह सकते उनको कोई ना कोई का सामना करना पड़ता है

surya namaskar yog ka path nahi tha pehle surya namaskar kuch Yogesh log jaise aaj ke samay mein yog mein se power yog nikala hai toh power yog mein sirf aasanon ko liya gaya hai aur ashaon ko unhone thoda sa alag tarike se design kiya toh power yoga unka naam pad gaya aasan wahi karte hain asthana design alag hai waise pehle kuch log ya aisa keh sakte hain kuch rishte log jo bhi kuch aasanon ko is tarike se karte the toh surya namaskar ka ek path ban gaya jo kuch rishi muni is tarike se is soochna ko karte the ki vaah pura ek sikans ban gaya tha khade hokar niche jana pura aasanon ke madhyam se aur aasanon ke madhyam se hi wapas aana toh vaah par surya namaskar ka ek part mein baat kare toh is tarike se namaskar karna hai bahut saare log us samay mein isko karne lage aur dekha kya ke yog ki aankho se hota hai toh usko yog ka path bana diya gaya yog mein usko jod liya gaya vaah yog ka part nahi hai sorry mata par isme surya namaskar ke upar abhi research hue aur usme bahut accha rishta ke dekha gaya ki ek vyakti agar ghar mein rahkar karya karta hai ki bhi dekhta hai khana banata hai ya phir koi aaya hai gate par darwaja khulta hai toh itna jo bhi ghar mein karya kar raha hai usse uski 30 se 35 manspeshiya upyog ho pati hain aur jo ek suryanamaskar vyakti kar raha hai us vyakti ko vaah sevanth 75 tak apni mansapeshiyon ka upyog karta hai toh 70 se 75 tak mansapeshiyon ka upyog karte jab un par sthapit hua aur bengaluru mein toh wahan par yah paya gaya ki sabse zyada surya namaskar karne waale vyakti reh sakta hai ghar mein rahkar karya karne vala vyakti agar yah samajhata hai ki bhaiya main itna karya karta hoon din mein yah karta hoon jo bhi hai toh vaah vyakti apne aapko lambe samay tak saath nahi reh sakte unko koi na koi ka samana karna padta hai

सूर्य नमस्कार योग का पाठ नहीं था पहले सूर्य नमस्कार कुछ योगेश लोग जैसे आज के समय में योग म

Romanized Version
Likes  29  Dislikes    views  421
WhatsApp_icon
user

Ankit Dubey

Yoga Trainer

1:23
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सूर्य नमस्कार 12 12 शंका तो पूछ है क्या करता है 12 दिन तो इसलिए है कि हर दूसरा आसान होता है ना जैसे एक आसन किया जाता है जो पहले अपने कमी रह गई है जो पहले पूर्व में जिस बॉडी पर इफेक्ट नहीं हुआ है वह दूसरे पेज में उसको मेंटेन करता है तो पहले पहले वाले पोज में पहले वाले आसन में जो भी प्रॉब्लम है दूसरी आज तक उसको प्रकट किया जाता है सूर्य नमस्कार से शरीर को ऊर्जावान बनाने के लिए बहुत सारे 24 और भी लोगों ने दिल्ली पर सेट करें तू हमारा बॉडी का फ्लैक्सिबिलिटीज वेट सिस्टम और जो बड़ी प्रॉब्लम है उसका क्यों रहेगा कुछ भी नहीं होगा बॉडी सेक्स करने से आपकी बॉडी का फिटनेस दूसरों से बेटर रहेगा तो सूर्य नमस्कार के पास टाइम नहीं है

surya namaskar 12 12 shanka toh puch hai kya karta hai 12 din toh isliye hai ki har doosra aasaan hota hai na jaise ek aasan kiya jata hai jo pehle apne kami reh gayi hai jo pehle purv mein jis body par effect nahi hua hai vaah dusre page mein usko maintain karta hai toh pehle pehle waale pawege mein pehle waale aasan mein jo bhi problem hai dusri aaj tak usko prakat kiya jata hai surya namaskar se sharir ko urjavan banane ke liye bahut saare 24 aur bhi logo ne delhi par set kare tu hamara body ka flaiksibilitij wait system aur jo badi problem hai uska kyon rahega kuch bhi nahi hoga body sex karne se aapki body ka fitness dusro se better rahega toh surya namaskar ke paas time nahi hai

सूर्य नमस्कार 12 12 शंका तो पूछ है क्या करता है 12 दिन तो इसलिए है कि हर दूसरा आसान होता ह

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  148
WhatsApp_icon
user

Girijakant Singh

Founder/ President Yog Bharati Foundation Trust

1:16
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न है सूर्य नमस्कार का इतिहास क्या है इसके साथ कैसे आए सूर्य नमस्कार जो है वह एक तरह का योग भी है योग का पार्टी है योगासन ही किए जाते हैं जैसे अष्टांग योग में जो आता है यम नियम आसन प्राणायाम प्रत्याहार धारणा ध्यान समाधि आसन किसी को एक अभ्यास बनाया गया जिसमें कई आसनों को एक साथ मिलाकर किया गया तो सूर्य नमस्कार का के नाम से जाना गया जैसे आज का बॉस को वश में करने के उपाय बना लिया है कि हमारे पुराने जो योग हैं उन्होंने सूर्य नमस्कार का अभ्यास को उन्होंने कुछ आसनों को जोड़कर 117 बनाया इसका नाम से नमस्कार का है और हम योगासन से पहले करते हैं क्योंकि इसमें आसन भी है और इस तरह की एक्साइज हो जाती है यह आसन और एतराज के बीच की कड़ी माना जाता है और इसको योगासन से पहले करते हैं ताकि हमारी बॉडी भी हो जाती है धन्यवाद प्रणाम आपका धन्यवाद

aapka prashna hai surya namaskar ka itihas kya hai iske saath kaise aaye surya namaskar jo hai vaah ek tarah ka yog bhi hai yog ka party hai yogasan hi kiye jaate hain jaise ashtanga yog mein jo aata hai yum niyam aasan pranayaam pratyahar dharana dhyan samadhi aasan kisi ko ek abhyas banaya gaya jisme kai aasanon ko ek saath milakar kiya gaya toh surya namaskar ka ke naam se jana gaya jaise aaj ka boss ko vash mein karne ke upay bana liya hai ki hamare purane jo yog hain unhone surya namaskar ka abhyas ko unhone kuch aasanon ko jodkar 117 banaya iska naam se namaskar ka hai aur hum yogasan se pehle karte hain kyonki isme aasan bhi hai aur is tarah ki excise ho jaati hai yah aasan aur ittaraj ke beech ki kadi mana jata hai aur isko yogasan se pehle karte hain taki hamari body bhi ho jaati hai dhanyavad pranam aapka dhanyavad

आपका प्रश्न है सूर्य नमस्कार का इतिहास क्या है इसके साथ कैसे आए सूर्य नमस्कार जो है वह एक

Romanized Version
Likes  150  Dislikes    views  1560
WhatsApp_icon
user

Dr. Sandeep Nandi

Yoga, Meditation and Acupressure Healer

1:30
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लिखित सूर्य नमस्कार का जो इतिहास है यह तो मैसेज पतंजलि नहीं डिवाइस किया था और इसमें 12 आसन होते हैं ठीक है और उसमें कुछ रिपीट होते हैं यह जो सूर्य नमस्कार है लोग अक्सर इस को मोटे को पतला करने से देखते हैं और बहुत जल्दी-जल्दी सूर्य नमस्कार करना शुरू कर देते हैं कि लोग कहते हैं हम 108 सूर्य नमस्कार कर लेते हैं कोई बोलते हैं तो उसे नमस्कार कर लेते हैं पर अगर आप देखें तो 8:00 से 11 सूर्यनमस्कार ही बहुत हैं क्योंकि यह ध्यान लगाने के लिए और शरीर के जो आपके अंग है उनको खोलने के लिए अंदर के अंगों को जो आदत होती है उनकी अच्छी फंक्शन के लिए किया जाता है जब भी हम कोई भी आसन या कोई भी कोई भी करते हैं तो हमारी बॉडी कैसे यूज़ होता है उससे हमारे से टूटते हैं हमने सर्च को तोड़ना नहीं उनको जोड़ना है तो सूर्य नमस्कार का इतिहास तो वहीं से आया है और उसे करने का तरीका भी आप ध्यान रखें जल्दबाजी में दिखाते आजकल सोशल मीडिया पर दिखा दे बहुत तेजी तेजी से कर रहे वैसे कभी भी नहीं करना चाहिए या नहीं है आते जाते हैं तो छोड़ देते हैं वहां पर दो-तीन सांसे लेते हैं फिर वापस आते हैं यहां पर तो इस तरीके से किया जाता है तो दिखा देते ना जाए प्रांतीय के ना जाए कृपया

likhit surya namaskar ka jo itihas hai yeh toh massage patanjali nahi device kiya tha aur ismein 12 aasan hote hai theek hai aur usme kuch repeat hote hai yeh jo surya namaskar hai log aksar is ko mote ko patla karne se dekhte hai aur bahut jaldi jaldi surya namaskar karna shuru kar dete hai ki log kehte hai hum 108 surya namaskar kar lete hai koi bolte hai toh use namaskar kar lete hai par agar aap dekhen toh 8:00 se 11 suryanamaskar hi bahut hai kyonki yeh dhyan lagane ke liye aur sharir ke jo aapke ang hai unko kholne ke liye andar ke angon ko jo aadat hoti hai unki acchi function ke liye kiya jata hai jab bhi hum koi bhi aasan ya koi bhi koi bhi karte hai toh hamari body kaise use hota hai usse hamare se tutate hai humne search ko todna nahi unko jodna hai toh surya namaskar ka itihas toh wahi se aaya hai aur use karne ka tarika bhi aap dhyan rakhen jaldbaji mein dikhate aajkal social media par dikha de bahut teji teji se kar rahe waise kabhi bhi nahi karna chahiye ya nahi hai aate jaate hai toh chod dete hai wahan par do teen saase lete hai phir wapas aate hai yahan par toh is tarike se kiya jata hai toh dikha dete na jaye prantiya ke na jaye kripya

लिखित सूर्य नमस्कार का जो इतिहास है यह तो मैसेज पतंजलि नहीं डिवाइस किया था और इसमें 12 आसन

Romanized Version
Likes  34  Dislikes    views  376
WhatsApp_icon
user

Aman Gupta

Co-Founder

0:40
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इंडिया में तो और यह बहुत ही होता है क्योंकि मैं बहुत सारे होते हुए भी प्यारा

india mein toh aur yeh bahut hi hota hai kyonki main bahut saare hote hue bhi pyara

इंडिया में तो और यह बहुत ही होता है क्योंकि मैं बहुत सारे होते हुए भी प्यारा

Romanized Version
Likes  17  Dislikes    views  567
WhatsApp_icon
user

Pankaj Mishra

Yoga Guru

1:49
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सूर्य नमस्कार एक बार आसनों की एक कला है खासतौर से इसमें जो यंगस्टर्स है अगर उनको एक चीज है बताई जाती है सिखाई जाती है तो उनको हो जाता है उसे करने की आवश्यकता नहीं पड़ती है वह अपना सारा जितना शारीरिक उर्जा है वह सूर्य नमस्कार से प्राचीन श्री नमस्कार को भी करने के लिए एक अच्छी सी सीखने की कई बार पास आसपास ग्राउंड में किया जाता है टीम में किया जाता है और फिर उसके बाद शाम भी होता है जरा करके मेडिटेशन करते हैं सूर्य नमस्कार भाई नमस्कार करना ठीक नहीं रहेगा निश्चित रूप से वह आपका ही योगासन का ही काम कर रहा है कितना करना है और हर एक आशंका उसमें अपना एक कम से कम दो या तीन तीन चार चार उसका लाभ है तो युवाओं के लिए बहुत जबरदस्त की प्रैक्टिस पहले से चली आ रही है तो वह किसी भी एक तक बुक कर सकता है लेकिन एक शर्ट के जाने के बाद 508 साल के बाद दूसरे नमस्कार रोकना नहीं होता है कि शुरू किया जाए अगर आप पहले से कर रहे हैं तो वह अच्छा है ऐसे योगासन किसी भी उम्र में जरूर किया जाता है कि नमस्कार करते हैं तो बहुत फायदे

surya namaskar ek baar aasanon ki ek kala hai khaasataur se isme jo youngsters hai agar unko ek cheez hai batai jaati hai sikhai jaati hai toh unko ho jata hai use karne ki avashyakta nahi padti hai vaah apna saara jitna sharirik urja hai vaah surya namaskar se prachin shri namaskar ko bhi karne ke liye ek achi si sikhne ki kai baar paas aaspass ground mein kiya jata hai team mein kiya jata hai aur phir uske baad shaam bhi hota hai zara karke meditation karte hain surya namaskar bhai namaskar karna theek nahi rahega nishchit roop se vaah aapka hi yogasan ka hi kaam kar raha hai kitna karna hai aur har ek ashanka usme apna ek kam se kam do ya teen teen char char uska labh hai toh yuvaon ke liye bahut jabardast ki practice pehle se chali aa rahi hai toh vaah kisi bhi ek tak book kar sakta hai lekin ek shirt ke jaane ke baad 508 saal ke baad dusre namaskar rokna nahi hota hai ki shuru kiya jaaye agar aap pehle se kar rahe hain toh vaah accha hai aise yogasan kisi bhi umr mein zaroor kiya jata hai ki namaskar karte hain toh bahut fayde

सूर्य नमस्कार एक बार आसनों की एक कला है खासतौर से इसमें जो यंगस्टर्स है अगर उनको एक चीज है

Romanized Version
Likes  15  Dislikes    views  73
WhatsApp_icon
user

Shiv Kumar Srivastava

Yoga Teacher, Shivayogalaya, Lucknow

1:17
Play

Likes  11  Dislikes    views  136
WhatsApp_icon
user
5:09
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सूर्य नमस्कार कंप्लीट एक ऐसा रिसीव के द्वारा बनाया गया है आसन और प्राणायाम दोनों का एक ऐसा समस्या है ऐसा एक दोनों का संयोग है जो कि कहीं और जगह पाया ही नहीं जाता है सूर्य नमस्कार में आसन और प्राणायाम दोनों अगर हम योग के उपचार पद्धति को देखते हैं तो अभी मैं कल परसों नमस्कार के उपचार पद्धति के बारे में बताता हूं उपचार पद्धति के बारे में शिव नमस्कार जिसमें हम करते हैं तो जो उपचार जो भी बीमारी आने के मूलभूत तीन कारण हैं पहला कारण है कि इमोशनल इन बैलेंस स्पर्म भावनात्मक संतुलन बोलते हैं दूसरा इंटेलेक्चुअल तांत्रिक जो कि बौद्धिक दंड के रूप में रहता है तीसरा मेंटल टेंशन जो कि आज के दिन में जो रेट लिस्ट चला हुआ है जो हर आदमी दूसरे को देख करके हाय पैसा हाय पैसा के बढ़ रहा है यह तीन मन ही मन और शरीर दोनों की बीमारी का मूल कारण है इसको नॉन कम्युनिकेबल डिजीज के अंतर्गत रखते हैं उसमें सूर्य नमस्कार का बहुत बड़ा रोल रह जाता है 11 बार सुंदर करने में 5 मिनट का समय लगता है और 5 मिनट का समय हम को अगले 24 घंटे के लिए पूरा फिट कर देता है अगर हम बीमारियों की बात करते हैं तो सभी प्रकार की बीमारियों में हम कर सकते हैं कुछ विशेष सचिव बीमारियां रहती हैं इसलिए कि विशेष जो हमारे एक्सपर्ट होते हैं उनकी देखरेख में करना चाहिए और नॉर्मल जैसे नमस्कार 10 का उनका होता है 12 अकाउंट होता 10 काउंसिल नमस्कार जो मोटापा जोनिका वेद भगवान को करना चाहिए 12 का फिल्म स्टार कोई भी कर सकता है हां कमर दर्द की जो पेशंट है किसी का ऑपरेशन हुआ है और उनको थोड़ा सा हमको देखरेख में कराना चाहिए नमस्कार और जिस तरह से कोई ड्रामा एलर्जी हो जाती है तो उसने बहुत बढ़िया हमारा सुंदरकांड पड़ता है इन न्यूज़ जो बीमारियां हो जाती हैं आजकल के जो हमारे देश का है वह गलत रास्ते पर चले जाते हैं उनको छुड़ाने के लिए सुंदर बहुत ही कम समय में क्योंकि इन डस्टर जो हमारे युवा हैं उनके पास समय नहीं किसी के पास बहुत बढ़िया के साधन उपलब्ध हो जाता है सही बात सूर्य नमस्कार के इतिहासकार क्योंकि हमारे यह जो भौतिक संसार है जिसको हम और परिवार बोलते हैं सूर्य ग्रह के अंदर यह जो गैलेक्सी है ब्रह्मांड है इसके अंदर के चुकी सूर्य भगवान से ही पूरा हमारा धरती चराचर जो है चलता है इसीलिए जिस किस ऋषि ने बनाया कि आज तक अज्ञात रह गया क्योंकि तुम्हारे पुराने जमाने में ऋषि यों की संकल्पना थी कि वह स्वयं को आगे नहीं बढ़ाते थे वैदिक धर्म को आगे बढ़ाते सनातन धर्म को आगे बढ़ाते थे उसको लेते हुए ऋषि मुनि ने बनाया उसने अपना नाम नहीं दिया और इसका नाम सूर्य नमस्कार रख दिया शिव नमस्कार में कुछ हमारे बीज मंत्र भी होते हैं और यह जो बीज मंत्र होते हैं वह बीज मंत्र के साथ करने पर सूर्य नमस्कार के द्वारा जो योग का पुराना और सबसे बढ़िया पक्ष है जिसको हम बोलते हैं आध्यात्मिक पक्ष आध्यात्मिक पक्ष का अनुभव बीज मंत्र के अनुसार बहुत ही बढ़िया और बहुत अच्छे ढंग से उसको हम ले सकते हैं इसका सबसे बढ़िया उपयोग और कोई करना चाहता है तो जिस समय सनराइज सूर्योदय होता है और नीचे जमीन मिट्टी भूमि होनी चाहिए उस भूमि में अगर कोई किनारा मिले जैसे गंगा जी के किनारे किसी भी पवित्र नदियों का किनारा समुद्र का किनारा रुष किनारे बांसुरिया भी भूख न्यूज़ सूर्य सूर्य की तरफ फेस करके अगर हम करते हैं तो उन्होंने अभी मैंने इसका रिसर्च किया था कुंभ मेला प्रयागराज में श्री नमस्कार करा कर के और इसमें पाया गया कि अगर हमेशा करते हैं तो आजकल जो जवान लोग हैं युवा लोग हैं उनको भी विटामिन बी और जो दूसरी बीमारी चली हुई है उसके ऊपर से सैया कमजोर हो जाती है कि माताओं बहनों पर भी ताज होता है जब उनकी उम्र बढ़ जाती है जब उनका पीरियड का अंतिम क्षण होता है तो उस समय उनको बड़ी प्रॉब्लम होती है राष्ट्रपति नॉर्मल जो आजकल हमारे युवा वर्ग जो नॉर्मल लाइफ स्टाइल जिसको जीवन शैली की समीक्षा बोलते हैं उसके लिए बहुत बढ़िया से नमस्कार विटामिन डी और कैल्शियम का नेचुरल रिसोर्स जो लोग 3 महीने तक भूमि में खड़े होकर चलते हैं बीज मंत्रों के साथ उनको यह भी साइंटिफिक उसके साथ ही फायदा होता है

surya namaskar complete ek aisa receive ke dwara banaya gaya hai aasan aur pranayaam dono ka ek aisa samasya hai aisa ek dono ka sanyog hai jo ki kahin aur jagah paya hi nahi jata hai surya namaskar mein aasan aur pranayaam dono agar hum yog ke upchaar paddhatee ko dekhte hain toh abhi main kal parso namaskar ke upchaar paddhatee ke bare mein batata hoon upchaar paddhatee ke bare mein shiv namaskar jisme hum karte hain toh jo upchaar jo bhi bimari aane ke mulbhut teen karan hain pehla karan hai ki emotional in balance sperm bhavnatmak santulan bolte hain doosra intellectual tantrika jo ki baudhik dand ke roop mein rehta hai teesra mental tension jo ki aaj ke din mein jo rate list chala hua hai jo har aadmi dusre ko dekh karke hi paisa hi paisa ke badh raha hai yah teen man hi man aur sharir dono ki bimari ka mul karan hai isko non communicable disease ke antargat rakhte hain usme surya namaskar ka bahut bada roll reh jata hai 11 baar sundar karne mein 5 minute ka samay lagta hai aur 5 minute ka samay hum ko agle 24 ghante ke liye pura fit kar deta hai agar hum bimariyon ki baat karte hain toh sabhi prakar ki bimariyon mein hum kar sakte hain kuch vishesh sachiv bimariyan rehti hain isliye ki vishesh jo hamare expert hote hain unki dekhrekh mein karna chahiye aur normal jaise namaskar 10 ka unka hota hai 12 account hota 10 council namaskar jo motapa jonika ved bhagwan ko karna chahiye 12 ka film star koi bhi kar sakta hai haan kamar dard ki jo patient hai kisi ka operation hua hai aur unko thoda sa hamko dekhrekh mein krana chahiye namaskar aur jis tarah se koi drama allergy ho jaati hai toh usne bahut badhiya hamara sundarakand padta hai in news jo bimariyan ho jaati hain aajkal ke jo hamare desh ka hai vaah galat raste par chale jaate hain unko chudane ke liye sundar bahut hi kam samay mein kyonki in distr jo hamare yuva hain unke paas samay nahi kisi ke paas bahut badhiya ke sadhan uplabdh ho jata hai sahi baat surya namaskar ke itihaaskar kyonki hamare yah jo bhautik sansar hai jisko hum aur parivar bolte hain surya grah ke andar yah jo galaxy hai brahmaand hai iske andar ke chuki surya bhagwan se hi pura hamara dharti charachar jo hai chalta hai isliye jis kis rishi ne banaya ki aaj tak agyaat reh gaya kyonki tumhare purane jamane mein rishi yo ki sankalpana thi ki vaah swayam ko aage nahi badhate the vaidik dharm ko aage badhate sanatan dharm ko aage badhate the usko lete hue rishi muni ne banaya usne apna naam nahi diya aur iska naam surya namaskar rakh diya shiv namaskar mein kuch hamare beej mantra bhi hote hain aur yah jo beej mantra hote hain vaah beej mantra ke saath karne par surya namaskar ke dwara jo yog ka purana aur sabse badhiya paksh hai jisko hum bolte hain aadhyatmik paksh aadhyatmik paksh ka anubhav beej mantra ke anusaar bahut hi badhiya aur bahut acche dhang se usko hum le sakte hain iska sabse badhiya upyog aur koi karna chahta hai toh jis samay Sunrise suryoday hota hai aur niche jameen mitti bhoomi honi chahiye us bhoomi mein agar koi kinara mile jaise ganga ji ke kinare kisi bhi pavitra nadiyon ka kinara samudra ka kinara rush kinare bansuriya bhi bhukh news surya surya ki taraf face karke agar hum karte hain toh unhone abhi maine iska research kiya tha kumbh mela prayagraj mein shri namaskar kara kar ke aur isme paya gaya ki agar hamesha karte hain toh aajkal jo jawaan log hain yuva log hain unko bhi vitamin be aur jo dusri bimari chali hui hai uske upar se saiya kamjor ho jaati hai ki mataon bahnon par bhi taj hota hai jab unki umr badh jaati hai jab unka period ka antim kshan hota hai toh us samay unko badi problem hoti hai rashtrapati normal jo aajkal hamare yuva varg jo normal life style jisko jeevan shaili ki samiksha bolte hain uske liye bahut badhiya se namaskar vitamin d aur calcium ka natural resource jo log 3 mahine tak bhoomi mein khade hokar chalte hain beej mantron ke saath unko yah bhi scientific uske saath hi fayda hota hai

सूर्य नमस्कार कंप्लीट एक ऐसा रिसीव के द्वारा बनाया गया है आसन और प्राणायाम दोनों का एक ऐसा

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  120
WhatsApp_icon
user

Acharya Krishna Deo

Wellness Guru, Corporate Trng

1:10
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

संस्कार के तो हमेशा ऐसा ही होगा कि वीडियो शारीरिक और मानसिक पुरुषोत्तम कुकर करने के लिए और उस पर मंत्रों के खेत में भोजपुरी दे सकती जाता है और बात करना जरूरी है बहुत ज्यादा से कम कितना करती कविता की प्रॉब्लम रही है तू चली चली हुई है

sanskar ke toh hamesha aisa hi hoga ki video sharirik aur mansik purushottam cooker karne ke liye aur us par mantron ke khet mein bhojpuri de sakti jata hai aur baat karna zaroori hai bahut zyada se kam kitna karti kavita ki problem rahi hai tu chali chali hui hai

संस्कार के तो हमेशा ऐसा ही होगा कि वीडियो शारीरिक और मानसिक पुरुषोत्तम कुकर करने के लिए और

Romanized Version
Likes  21  Dislikes    views  233
WhatsApp_icon
user

Chitranjan kumar Singh

Yog Guru (God Gift Yoga &Nature Cure Centre)

0:30
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सूर्य नमस्कार जय भगवान सूर्य के प्रकाश की प्रकाश का सूचक है 50 प्रदान करते हैं तो उसी तरफ से नमस्कार करने से हमारे अंदर भी ज्ञान ऊर्जा शक्ति का विकास होता है और हम सच्चे मन से स्वस्थ शरीर स्वस्थ शिशु स्वस्थ और हैप्पी रहती और सूर्य नमस्कार भी हमारी पतंजलि मुनियों का दिया हुआ हमारे ऋषि का दिया हुआ है

surya namaskar jai bhagwan surya ke prakash ki prakash ka suchak hai 50 pradan karte hain toh usi taraf se namaskar karne se hamare andar bhi gyaan urja shakti ka vikas hota hai aur hum sacche man se swasth sharir swasth shishu swasth aur happy rehti aur surya namaskar bhi hamari patanjali muniyon ka diya hua hamare rishi ka diya hua hai

सूर्य नमस्कार जय भगवान सूर्य के प्रकाश की प्रकाश का सूचक है 50 प्रदान करते हैं तो उसी तरफ

Romanized Version
Likes  9  Dislikes    views  116
WhatsApp_icon
user

Anuj Pareek

Yoga Instructor

3:07
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सूर्य सूर्य नमस्कार है इस दर्शन सेलिब्रेशन यहां पर हम सूर्य को नमन करते हैं तो यहां पर से सूर्य नमस्कार जो आजकल जो सूर्य नमस्कार कर रहे हैं वजन घटाने के रूप में सही नहीं है बल्कि सूर्य नमस्कार कब हुआ था तब भगवान हनुमान जी गॉड हनुमान जब शिक्षा लेने जा रहे थे जब उन्होंने देखा कि जो सूर्य भगवान है वह एक आम चित्र प्रतीत होने और उठाने के लिए चले गए और उन्होंने देखा कि भगवान है वह काफी बहुत ही महान है और मैं उन्हें काफी होती है काफी होने जरूरी को अपना गुरु माना और उन्होंने कहा कि सूर्य देवता गुरु जी मैं आपसे आज तक शिक्षा ग्रहण करना चाहता हूं तो सूर्य भगवान ने उन्हें शिक्षा और फिर उन्होंने रूप में सूर्य देवता को नमन किया उन्होंने सारे मंत्रा चेंज करें और हर तरफ से नमन किया उन्होंने बार अलग-अलग नाम दिए उन्होंने कहा कि हर रूप में उन्होंने उन्हें कहां की आंख में आंख ही रहे हैं आप ही हमारे ओम सूर्याय नमः मैं 98 नमः शिवाय नमः पूछ ले नमः शिवाय नमः मरीचे नमन आदित्य नमः सभी ट्रेनर महाकाय नमो रुद्राय नमः ॐ सूर्य नमस्कार को अलग-अलग को नमन किया सूर्य भगवान कब से आ रहा है कि लॉर्ड हनुमान नमस्कार को अलग नया दर्जा दिया इन्होंने सूर्यनमस्कार को अष्टांगा में दिलाया इंग्लिश में नमस्कार को विद्यालय सूर्य नमस्कार में फिटिंग पैटर्न डाली 108 सूर्य नमस्कार भी एक हद तक सही है जहां पर लैंग्वेज के डायमीटर प्रोग्राम दीजिए तो वह को डीएसपी ऑफिस नंबर बॉडी वेरी मच बीमारी होती है यहां से चला रहा है शिक्षक ने कोर्ट में अर्जी का पूरे ब्रह्मांड में इकलौता सर जी का कहना है तब से सूर्य नमस्कार चला रहा है जहां हमारी शिक्षा जहां तक हमें प्राप्ति है सूर्य नमस्कार के बारे में धन्यवाद

surya surya namaskar hai is darshan celebration yahan par hum surya ko naman karte hain toh yahan par se surya namaskar jo aajkal jo surya namaskar kar rahe hain wajan ghatane ke roop mein sahi nahi hai balki surya namaskar kab hua tha tab bhagwan hanuman ji god hanuman jab shiksha lene ja rahe the jab unhone dekha ki jo surya bhagwan hai vaah ek aam chitra pratit hone aur uthane ke liye chale gaye aur unhone dekha ki bhagwan hai vaah kaafi bahut hi mahaan hai aur main unhe kaafi hoti hai kaafi hone zaroori ko apna guru mana aur unhone kaha ki surya devta guru ji main aapse aaj tak shiksha grahan karna chahta hoon toh surya bhagwan ne unhe shiksha aur phir unhone roop mein surya devta ko naman kiya unhone saare Mantra change kare aur har taraf se naman kiya unhone baar alag alag naam diye unhone kaha ki har roop mein unhone unhe kahaan ki aankh mein aankh hi rahe hain aap hi hamare om suryay namah main 98 namah shivay namah puch le namah shivay namah mariche naman aditya namah sabhi trainer mahakaye namo rudray namah om surya namaskar ko alag alag ko naman kiya surya bhagwan kab se aa raha hai ki lord hanuman namaskar ko alag naya darja diya inhone suryanamaskar ko ashtanga mein dilaya english mein namaskar ko vidyalaya surya namaskar mein fitting pattern dali 108 surya namaskar bhi ek had tak sahi hai jaha par language ke Diameter program dijiye toh vaah ko DSP office number body very match bimari hoti hai yahan se chala raha hai shikshak ne court mein arji ka poore brahmaand mein iklauta sir ji ka kehna hai tab se surya namaskar chala raha hai jaha hamari shiksha jaha tak hamein prapti hai surya namaskar ke bare mein dhanyavad

सूर्य सूर्य नमस्कार है इस दर्शन सेलिब्रेशन यहां पर हम सूर्य को नमन करते हैं तो यहां पर से

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  124
WhatsApp_icon
user

Sudhir Kumar Pandey

Yoga Instructor

0:47
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सूर्य नमस्कार का अपना एक अलग बात है सूर्य नमस्कार करने वाले की जो है बॉडी में पूरी फैक्ट्री की आती है जो सूर्य नमस्कार करते हैं उनके लिए पूरा युवा हो जाता है सूर्य नमस्कार करने से जो है मेमोरी पावर बढ़ता है साथ ही सूर्य नमस्कार करने वाले को कभी ओल्ड एज में भी कोई प्रॉब्लम नहीं होती है साथियों नमस्कार करने वाला हमेशा कहता है सूर्य नमस्कार से लगने वाले सूर्य नमस्कार में सारे योगासन प्राणायाम मेडिटेशन सब समझ जाता है अगर आप यह नहीं कर पाते हैं और सूर्य नमस्कार ही करते हैं तो सूर्य नमस्कार के फायदे योग के द्वारा संस्कार के द्वारा योग योग के सारे फायदे आपको मिल जाते

surya namaskar ka apna ek alag baat hai surya namaskar karne wale ki jo hai body mein puri factory ki aati hai jo surya namaskar karte hain unke liye pura yuva ho jata hai surya namaskar karne se jo hai memory power badhta hai saath hi surya namaskar karne wale ko kabhi old age mein bhi koi problem nahi hoti hai sathiyo namaskar karne vala hamesha kahata hai surya namaskar se lagne wale surya namaskar mein saare yogasan pranayaam meditation sab samajh jata hai agar aap yeh nahi kar paate hain aur surya namaskar hi karte hain toh surya namaskar ke fayde yog ke dwara sanskar ke dwara yog yog ke saare fayde aapko mil jaate

सूर्य नमस्कार का अपना एक अलग बात है सूर्य नमस्कार करने वाले की जो है बॉडी में पूरी फैक्ट्र

Romanized Version
Likes  35  Dislikes    views  429
WhatsApp_icon
user

Milindra Tripathi Yog

Yoga Instructor

2:12
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

स्कार्ज होता है उसके पहले हम कोशिश में रन करना होते एकदम कम सुन नमस्कार नमस्कार में 12 आसनों का सेट बनाया हुआ है जिसके अंदर हम भारत की जलवायु है वह इस तरह की है कि यहां के अन्य देशों में मालिश का प्रचलन है लेकिन हमारे देश में सूर्य नमस्कार से ही सारे फायदे मिलते हैं वह सारे फायदे भोज ज्यादा सोचने से मिलते हैं वह हमारे देश में कि जलवायु के हिसाब से जो हमारे ऋषि-मुनियों ने कहा है वह सूर्य नमस्कार को बहुत बढ़िया बताया है अगर कोई व्यक्ति दिल्ली नमस्कार पीता है लेकिन यहां पर एक बात जरूर क्लियर करना होगी गलत सूर्य नमस्कार करने के डिसएडवांटेज बहुत ज्यादा है और वह बहुत सारी बीमारियों की जड़ है अगर हम गलत सूर्य नमस्कार के 12 उसको नाम है यूट्यूब पर डालकर आप को सिखा सकता हूं ना मैं कोई वीडियो बनाकर को सिखा सकता हूं उसके लिए आपको प्रशिक्षित योग जो योगाचार्य होते हैं उनकी देखरेख में करना चाहिए क्योंकि हम गलत करते हैं तो योगा बहुत ज्यादा दोबारा उसके पूरे सेट बना हुआ है बारात नमस्कार होता है और अगर हम नमस्कार को किया हमारे लिए पर्याप्त होते हैं अगर हम उनको करेंगे दिल्ली 1010 नमस्कार दिल्ली करेंगे तो जो हमारे शरीर का लचीलापन आता है वह बढ़ता है शरीर की मांसपेशियां मजबूत होती है शरीर के अंदर किसी तरह की बीमारियां हो जाती है वह सब दूर होने लग जाती है पेट का मोटापा कम है और जो हमारे हाथ मजबूत हो जाते हैं जो पैरों में कपकपी आना है फिर देखना हमारा जो इस तरह की जो छोटी-छोटी जो आजकल बहुत ज्यादा पतली कमर का दर्द होने लग जाता है उनको या जो भी जिनको शरीक बीमारियां हैं वह 8:00 के मरीज वगैरह हैं उनको इस तरह होना चाहिए शरीर का स्वस्थ होना भी जरूरी है

skarj hota hai uske pehle hum koshish mein run karna hote ekdam kam sun namaskar namaskar mein 12 aasanon ka set banaya hua hai jiske andar hum bharat ki jalvayu hai vaah is tarah ki hai ki yahan ke anya deshon mein maalish ka prachalan hai lekin hamare desh mein surya namaskar se hi saare fayde milte hai vaah saare fayde bhoj zyada sochne se milte hai vaah hamare desh mein ki jalvayu ke hisab se jo hamare rishi muniyon ne kaha hai vaah surya namaskar ko bahut badhiya bataya hai agar koi vyakti delhi namaskar pita hai lekin yahan par ek baat zaroor clear karna hogi galat surya namaskar karne ke disadvantage bahut zyada hai aur vaah bahut saree bimariyon ki jad hai agar hum galat surya namaskar ke 12 usko naam hai youtube par dalkar aap ko sikha sakta hoon na main koi video banakar ko sikha sakta hoon uske liye aapko prashikshit yog jo yogacharya hote hai unki dekhrekh mein karna chahiye kyonki hum galat karte hai toh yoga bahut zyada dobara uske poore set bana hua hai baraat namaskar hota hai aur agar hum namaskar ko kiya hamare liye paryapt hote hai agar hum unko karenge delhi 1010 namaskar delhi karenge toh jo hamare sharir ka lachilapan aata hai vaah badhta hai sharir ki manspeshiya majboot hoti hai sharir ke andar kisi tarah ki bimariyan ho jaati hai vaah sab dur hone lag jaati hai pet ka motapa kam hai aur jo hamare hath majboot ho jaate hai jo pairon mein kapkapi aana hai phir dekhna hamara jo is tarah ki jo choti choti jo aajkal bahut zyada patli kamar ka dard hone lag jata hai unko ya jo bhi jinako sharique bimariyan hai vaah 8 00 ke marij vagera hai unko is tarah hona chahiye sharir ka swasthya hona bhi zaroori hai

स्कार्ज होता है उसके पहले हम कोशिश में रन करना होते एकदम कम सुन नमस्कार नमस्कार में 12 आसन

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  265
WhatsApp_icon
user

Manav Choudhary

Teaching Yoga since 5 years | Teaches to all age categories | Yoga Therapy | Adults & Kids both are treated | Special Children are also trained | Pre Pregnant & Post Pregnant Ladies are also Trained Regarding Pregnancy | Women |

0:32
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सूर्य नमस्कार एक बहुत अच्छी चीजें इसका पतंजलि में कोई दिक्कत नहीं है उसका डिजाइन किया हुआ एक प्रोग्राम है लेकिन लोग मुझे पता है कि तुम लोगों ने डिजाइन जो जो भी लोग से पुराने लोगों ने तो पूरा डिजाइन किया पतंजलि में इसके बारे में कुछ नहीं लगती

surya namaskar ek bahut achi cheezen iska patanjali mein koi dikkat nahi hai uska design kiya hua ek program hai lekin log mujhe pata hai ki tum logo ne design jo jo bhi log se purane logo ne toh pura design kiya patanjali mein iske bare mein kuch nahi lagti

सूर्य नमस्कार एक बहुत अच्छी चीजें इसका पतंजलि में कोई दिक्कत नहीं है उसका डिजाइन किया हुआ

Romanized Version
Likes  22  Dislikes    views  299
WhatsApp_icon
user

Pankaj Sharma

Yoga Instructor

0:54
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मिनी कंप्यूटर

mini computer

मिनी कंप्यूटर

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  14
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!