तक्षशिला विश्वविद्यालय की स्थापना किसने की?...


user

rukmani

टीचर एंड गाइड UPSC

0:28
Play

ईशापुर में की गई थी इसमें पूरे विश्व के 10500 से अधिक छात्र अध्ययन करते...

Likes  4  Dislikes    views  1054
WhatsApp_icon
11 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Ragni

Teacher,

0:47
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखे आप का क्वेश्चन है कि तक्षशिला विश्वविद्यालय की स्थापना किसने की तो ऐसा माना जाता है कि जिस श्री राम के भाई हैं भाई भरत के पुत्र ने उस नगर की स्थापना की थी जो कि विश्वविद्यालय में और यह लगभग 700 वर्ष ईसा पूर्व की स्थापना है और आज के डेट में आपका है पश्चिमी पाकिस्तान की राजधानी रावलपिंडी से 18 मील उत्तर की ओर स्थित था जिस नगर में यह विश्वविद्यालय था उसके बारे में कहा जाता है कि

dekhe aap ka question hai ki takshashila vishwavidyalaya ki sthapna kisne ki toh aisa mana jata hai ki jis shri ram ke bhai hai bhai Bharat ke putra ne us nagar ki sthapna ki thi jo ki vishwavidyalaya mein aur yah lagbhag 700 varsh isa purv ki sthapna hai aur aaj ke date mein aapka hai pashchimi pakistan ki rajdhani rawalpindi se 18 meal uttar ki aur sthit tha jis nagar mein yah vishwavidyalaya tha uske BA re mein kaha jata hai ki

देखे आप का क्वेश्चन है कि तक्षशिला विश्वविद्यालय की स्थापना किसने की तो ऐसा माना जाता है क

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  222
WhatsApp_icon
user
0:17
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका सवाल है तक्षशिला विद्या के संस्थापक कौन थे तो देखिए इसका जो संस्थापक एस एस आर के मेड इन एंपायर एंपायर मतलब ऐसे ही बहुत सारे ऐसे जो एग्जाम संस्थापक थे थैंक यू

aapka sawaal hai takshashila vidya ke sansthapak kaun the toh dekhiye iska jo sansthapak s s R ke made in Empire Empire matlab aise hi BA hut saare aise jo exam sansthapak the thank you

आपका सवाल है तक्षशिला विद्या के संस्थापक कौन थे तो देखिए इसका जो संस्थापक एस एस आर के मेड

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  330
WhatsApp_icon
user

विकास सिंह

दिल से भारतीय

0:32
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिये तक्षशिला शहर का स्थापना अयोध्या के प्रभु रामचंद्र के भाई भरत ने अपने पुत्र तक्ष के लिए किया था इस बारे में कोई भी स्पष्ट संदर्भ नहीं है कि महान विश्वविद्यालय के संस्थापक कौन थे यह एक विश्वविद्यालय एक योजनाबद्ध विकास के परिणाम के रूप में नहीं आया है यहाँ पर कुछ इमारतों का एक समूह हुआ करता था जहां पर कुछ शिक्षण देने का काम जो है चला फिर धीरे-धीरे इसकी संरचना सच्चिम जमा हुआ| हालांकि हम जानते कि विश्वविद्यालय जो 8 वी इसवी पूर्व में आविदी हुई और 500 इसवी तक एक बल बना रहा

dekhiye takshashila shehar ka sthapna ayodhya ke prabhu ramachandra ke bhai Bharat ne apne putra taksh ke liye kiya tha is BA re mein koi bhi spasht sandarbh nahi hai ki mahaan vishwavidyalaya ke sansthapak kaun the yah ek vishwavidyalaya ek yojnabadh vikas ke parinam ke roop mein nahi aaya hai yahaan par kuch imarton ka ek samuh hua karta tha jaha par kuch shikshan dene ka kaam jo hai chala phir dhire dhire iski sanrachna sachchim jama hua halaki hum jante ki vishwavidyalaya jo 8 va iswi purv mein avidi hui aur 500 iswi tak ek BA l BA na raha

देखिये तक्षशिला शहर का स्थापना अयोध्या के प्रभु रामचंद्र के भाई भरत ने अपने पुत्र तक्ष के

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  412
WhatsApp_icon
user
Play

पुराने विश्वविद्यालय 34 नाम सामने आए हैं राम भगत जी के भगत जी नाम आए...

Likes  2  Dislikes    views  239
WhatsApp_icon
user

Manish Singh

VOLUNTEER

0:55
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिये जो तक्षशिला है यह माना जाता है कि प्राचीन काल में ऐसा लिखा हुआ है कि भगवान राम जो थे उनके भाई भरत के बेटे तक्ष के नाम पर हुआ है| उन्होंने किया है या उनके नाम पर हुआ है ऐसा माना जाता है| और तक्षशिला जो है वह पुरानी देश में गांधार की राजधानी भी हुआ करता था| तक्षशिला के बारे में यह भी माना जाता है कि यह विश्व का सबसे पुराना यूनिवर्सिटी जिसे हम आज के रूप में कहते हैं विश्वविद्यालय सबसे पुराना विश्वविद्यालय तक्षशिला है और यहां पर बौद्ध धर्म के लिए भी बहुत महत्वपूर्ण जगह है और हिंदू धर्म के लिए भी यह बहुत ज्यादा महत्वपूर्ण जगह है| इसके जो सबसे पहले सबसे पुराने टीचर हुआ करते थे जो यहां पर गुरु हुआ करते थे वह स्वयं आचार्य चाणक्य हुआ करते थे जिन्हें कौटिल्य भी कहा जाता है और यह जो युद्ध नीति और राजनीति का सबसे बड़ा ज्ञाता कहा जाता है भारत के अंदर तो यहां पर आचार्य भी वो रह चुके हैं|

dekhiye jo takshashila hai yah mana jata hai ki prachin kaal mein aisa likha hua hai ki bhagwan ram jo the unke bhai Bharat ke bete taksh ke naam par hua hai unhone kiya hai ya unke naam par hua hai aisa mana jata hai aur takshashila jo hai vaah purani desh mein gaandhaar ki rajdhani bhi hua karta tha takshashila ke BA re mein yah bhi mana jata hai ki yah vishwa ka sabse purana university jise hum aaj ke roop mein kehte hai vishwavidyalaya sabse purana vishwavidyalaya takshashila hai aur yahan par Baudh dharm ke liye bhi BA hut mahatvapurna jagah hai aur hindu dharm ke liye bhi yah BA hut zyada mahatvapurna jagah hai iske jo sabse pehle sabse purane teacher hua karte the jo yahan par guru hua karte the vaah swayam aacharya chanakya hua karte the jinhen kautilya bhi kaha jata hai aur yah jo yudh niti aur raajneeti ka sabse BA da gyaata kaha jata hai bharat ke andar toh yahan par aacharya bhi vo reh chuke hain

देखिये जो तक्षशिला है यह माना जाता है कि प्राचीन काल में ऐसा लिखा हुआ है कि भगवान राम जो थ

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  137
WhatsApp_icon
play
user

Kriti

Volunteer

0:13

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

तक्षशिला की स्थापना 1000 बीसी में हुई थी और तक्षशिला विश्वविद्यालय की स्थापना चंद्रगुप्त मौर्य और कौटिल्य चाणक्य के मार्गदर्शन में मौर्य साम्राज्य में हुई थी

takshashila ki sthapna 1000 BC mein hui thi aur takshashila vishwavidyalaya ki sthapna chandragupta maurya aur kautilya chanakya ke margdarshan mein maurya samrajya mein hui thi

तक्षशिला की स्थापना 1000 बीसी में हुई थी और तक्षशिला विश्वविद्यालय की स्थापना चंद्रगुप्त म

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  15
WhatsApp_icon
user

Kriti

Classical Dancer

0:18
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

तक्षशिला की स्थापना कब और किसने की थी तो तक्षशिला की जो स्थापना है वह हजार बीसी में हुई थी और इसकी स्थापना चाणक्य कौटिल्य भी कहा जाता है उन्होंने की थी और यह चंद्रगुप्त मौर्य के साम्राज्य में हुआ था

takshashila ki sthapna kab aur kisne ki thi toh takshashila ki jo sthapna hai vaah hazaar BC mein hui thi aur iski sthapna chanakya kautilya bhi kaha jata hai unhone ki thi aur yah chandragupta maurya ke samrajya mein hua tha

तक्षशिला की स्थापना कब और किसने की थी तो तक्षशिला की जो स्थापना है वह हजार बीसी में हुई थी

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  22
WhatsApp_icon
user

Rahul kumar

Junior Volunteer

0:20
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

तक्षशिला विश्वविद्यालय के था बहुत बड़ा विश्वविद्यालय से खासकर हिंदू के लिए हिंदू कल्चर के लिए और संस्कृत लैंग्वेज के लिए काफी ज्यादा प्रॉब्लम था इसकी स्थापना किया चाणक्य ने किया था कौटिल्य के नाम से भी जाना जाता है गाइड किया था

takshashila vishwavidyalaya ke tha BA hut BA da vishwavidyalaya se khaskar hindu ke liye hindu culture ke liye aur sanskrit language ke liye kaafi zyada problem tha iski sthapna kiya chanakya ne kiya tha kautilya ke naam se bhi jana jata hai guide kiya tha

तक्षशिला विश्वविद्यालय के था बहुत बड़ा विश्वविद्यालय से खासकर हिंदू के लिए हिंदू कल्चर के

Romanized Version
Likes  13  Dislikes    views  303
WhatsApp_icon
user

Gulnaz

लेवल 1 (बिगिनर)

1:31
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

तक्षशिला की स्थापना ऐसा बोला जाता है कि तक्षशिला की जो स्थापना है वह भगवान राम के भाई भारत के बेटे तक्ष ने किया था और तक्षशिला है वह बेसिकली प्राचीन भारत के गंधार देश की राजधानी हुआ करती थी और शिक्षा का एक मुख्य केंद्र था यहां का जो विश्वविद्यालय है वह विश्व के सबसे प्राचीनतम विश्वविद्यालय में से एक है जो हिंदू बुद्ध दोनों के लिए महत्व का केंद्र था अचानक यहां पर आश्चर्य की बात थी कि यहाँ सबसे पहले 405 दिनों में यहां पर फोन आए थे ऐतिहासिक रूप से यह जो है 16 महान वर्गों का संगम यहां पर स्थित है तथा इसे क्यों इतरा पद की वर्तमान आयु की ग्रैंड ट्रंक रोड जो की गांधार के को मदद से जोड़ता था और उत्तर उत्तर प्रश्न मांग क्योंकि अकाशी की पुष्प लता यदि होकर जाता था सिंधु नदी मारवाड़ी फर्स्ट शादी नगर महानगरों में से एक है जो घाटी से हो जाती हुए उत्तर से ऋषि मार्ग और दक्षिण के हिंद महासागर तक जाता था तो यह वर्तमान में बरसात समय कि ऐसा क्षेत्र है कि पाकिस्तान के पंजाब प्रांत का रावल प्रीत जिले में से इसी में जो है देखी प्रशिक्षण है

takshashila ki sthapna aisa bola jata hai ki takshashila ki jo sthapna hai vaah bhagwan ram ke bhai bharat ke bete taksh ne kiya tha aur takshashila hai vaah BA sically prachin bharat ke gandhar desh ki rajdhani hua karti thi aur shiksha ka ek mukhya kendra tha yahan ka jo vishwavidyalaya hai vaah vishwa ke sabse prachintam vishwavidyalaya mein se ek hai jo hindu buddha dono ke liye mahatva ka kendra tha achanak yahan par aashcharya ki BA at thi ki yahaan sabse pehle 405 dino mein yahan par phone aaye the etihasik roop se yah jo hai 16 mahaan vargon ka sangam yahan par sthit hai tatha ise kyon itra pad ki vartaman aayu ki grand trunk road jo ki gaandhaar ke ko madad se Jodta tha aur uttar uttar prashna maang kyonki akashi ki pushp lata yadi hokar jata tha sindhu nadi marwadi first shadi nagar mahanagaron mein se ek hai jo ghati se ho jaati hue uttar se rishi marg aur dakshin ke hind mahasagar tak jata tha toh yah vartaman mein BA rsat samay ki aisa kshetra hai ki pakistan ke punjab prant ka raval prateet jile mein se isi mein jo hai dekhi prashikshan hai

तक्षशिला की स्थापना ऐसा बोला जाता है कि तक्षशिला की जो स्थापना है वह भगवान राम के भाई भारत

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  220
WhatsApp_icon
user

PiNkI SiNgH

Ise graduate(BE)

0:11
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

तक्षशिला की स्थापना है राम जी के जुदाई भरत भरत के पुत्र जो तक के नाम पर किया जाता है 700 वर्ष पहले यह तक्षशिला की स्थापना की गई थी

takshashila ki sthapna hai ram ji ke judai Bharat Bharat ke putra jo tak ke naam par kiya jata hai 700 varsh pehle yah takshashila ki sthapna ki gayi thi

तक्षशिला की स्थापना है राम जी के जुदाई भरत भरत के पुत्र जो तक के नाम पर किया जाता है 700 व

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  172
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
takshila vishwavidyalaya ki sthapna kisne ki thi ; takshashila vishwavidyalaya ki sthapna kisne ki ; takshila vishwavidyalaya ki sthapna kisne ki ; तक्षशिला विश्वविद्यालय ; takshashila vishwavidyalaya kisne banaya ; takshashila vishwavidyalaya ki sthapna ; तक्षशिला विश्वविद्यालय की स्थापना किसने की ; takshashila vishwavidyalaya kisne banwaya tha ; takshashila vishwavidyalaya kisne banwaya ; takshila vishwavidyalaya kisne banwaya ;

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!