गस्त का भारत की इकॉनमी पर क्या असर हुआ है?...


play
user

sneha soni

राजनीतिज्ञ,Writer(Antrdhwani)

2:00

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

PK जीएसटी का मतलब होता है गुड सर्विस टैक्स इसका मतलब यह होता है कि कोई भी व्यक्ति को भी चीज जैसे कि मान लूं कि मैं कोई ब्राइट खरीदने वाली हूं तो जो बीच में जो सर्विस लगता था सीमा शुल्क लगाई जाती थी उसे मैन्युफैक्चर उसे लेकर जो भी कस्टम ड्यूटी और बहुत सारी 21215 तरीके क्यों लगाई जाती है और उसकी अमाउंट जो लगता है 12:00 बजे वह सिर्फ आज भी आहट चीजों के हिसाब से अलग-अलग 12555 परसेंट का लक्ष्य रखा गया है इसके हिसाब से सिर्फ उतना ही अमाउंट जो है एक दुकानदारी एक्सप्रेस जो है लगा सकता है इसके अलावा कोई भी आपको आप सेट का कीमत वसूलने की कोशिश नहीं करेगा इसलिए भारत को ग्लोबलाइजेशन हुआ है भारत एक ही अमाउंट एक ही सूरत में बंधा है और यह सबसे बड़ा बदलाव है क्योंकि आप मैं अगर जयपुर में हूं और जयपुर में मैं किसी चीज की किसी वस्तु के घर सो रुपए कीमत दे रही हूं जीएसटी लगाकर तो वही चीज की कीमत मेरे को जम

PK gst ka matlab hota hai good service tax iska matlab yah hota hai ki koi bhi vyakti ko bhi cheez jaise ki maan loon ki main koi bright kharidne wali hoon toh jo beech mein jo service lagta tha seema shulk lagayi jaati thi use mainyufaikchar use lekar jo bhi custom duty aur bahut saree 21215 tarike kyon lagayi jaati hai aur uski amount jo lagta hai 12 00 baje vaah sirf aaj bhi aahat chijon ke hisab se alag alag 12555 percent ka lakshya rakha gaya hai iske hisab se sirf utana hi amount jo hai ek dukandari express jo hai laga sakta hai iske alava koi bhi aapko aap set ka kimat vasoolne ki koshish nahi karega isliye bharat ko globalization hua hai bharat ek hi amount ek hi surat mein bandha hai aur yah sabse bada badlav hai kyonki aap main agar jaipur mein hoon aur jaipur mein main kisi cheez ki kisi vastu ke ghar so rupaye kimat de rahi hoon gst lagakar toh wahi cheez ki kimat mere ko jam

PK जीएसटी का मतलब होता है गुड सर्विस टैक्स इसका मतलब यह होता है कि कोई भी व्यक्ति को भी ची

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  143
WhatsApp_icon
12 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Neha S

UPSC कोच

0:59
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दिल की बात एंजॉय इंडिपेंडेंस क्यों इंडियन टैक्सेशन सिस्टम में बहुत बड़ा सुधार है जहां पर टैक्स पर टैक्स से ज्यादा वहां से आपको सिर्फ एक टैक्स देना पड़ेगा पहले क्या था कि आप को डायरेक्ट और इनडायरेक्ट 2015 से किसे XXX का सेंटर कैसे बने अपनी इंप्लीमेंटेशन में चेंज कर कर रही है और भाभी को नहीं कोशिश करिए आप इतनी भी क्या करेंगे इतने सालों के बाद आप ट्रेन सिस्टम चेंज माय टीवी देख ली थी जुलाई में लागू हुआ है जुलाई 17 अक्टूबर महीने पूरे हुए हैं अभी तो थोड़ा जल्दी हो जाएगा में क्या-क्या पढ़े हैं लेकिन समझने और समझाने में दोनों में ही टाइम लगेगा

dil ki baat enjoy Independence kyon indian taxation system mein bahut bada sudhaar hai jaha par tax par tax se zyada wahan se aapko sirf ek tax dena padega pehle kya tha ki aap ko direct aur indirect 2015 se kise XXX ka center kaise bane apni implementation mein change kar kar rahi hai aur bhabhi ko nahi koshish kariye aap itni bhi kya karenge itne salon ke baad aap train system change my TV dekh li thi july mein laagu hua hai july 17 october mahine poore hue hain abhi toh thoda jaldi ho jaega mein kya kya padhe hain lekin samjhne aur samjhane mein dono mein hi time lagega

दिल की बात एंजॉय इंडिपेंडेंस क्यों इंडियन टैक्सेशन सिस्टम में बहुत बड़ा सुधार है जहां पर ट

Romanized Version
Likes  9  Dislikes    views  184
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

2018 में सरकार सरकार को ₹500 का नुकसान हो सकता है जो राज्यों को सद्बुद्धि जाने की वजह से होगा

2018 mein sarkar sarkar ko Rs ka nuksan ho sakta hai jo rajyo ko sadbuddhi jaane ki wajah se hoga

2018 में सरकार सरकार को ₹500 का नुकसान हो सकता है जो राज्यों को सद्बुद्धि जाने की वजह से ह

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  22
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जीएसटी अनीति गुड्स एंड सर्विस टैक्स इन हिंदी में अगर उसे कह दो वस्तु और सेवा टैक्स यह टेक्स भारत में 1 जुलाई 2017 से लागू कर दिया गया है टैक्स के लागू होते ही सभी तरह के डायरेक्ट और इनडायरेक्ट टैक्स बंद कर दिया क्या है यानी कि अब भारत में सिर्फ एक ही टैक्स होगा जोकि जीएसटी है यानी गुड्स एंड सर्विस टैक्स पहले बहुत तरीके डायरेक्ट और इनडायरेक्ट टैक्स होते थे जैसे की सर्विस टैक्स कस्टम टैक्स इनकम टैक्स वगैरा-वगैरा जो कि अब बिजनेसमैन को अलग अलग दफ्तरों में भरने पड़ते थे इस साल में सिर्फ एक बार जिससे कि वह अकाउंटेंट की मदद से बहुत सारा टैक्स चोरी करने में सफल हो जाता था और गलत अकाउंट दिखाकर टैक्स चोरी कर लेता था और काला धन भारत का काला धन जमा होता जाता था लेकिन अब क्योंकि जीएसटी सिर्फ एक ही टेक्स्ट तो हर महीने भरा जाएगा तो सरकार उसे टैक्स की चोरी को बचा सकती है इससे टेक्स्ट चोरी करना लगभग नामुमकिन हो गया है जिससे कि देश का रेवेन्यू बढ़ेगा देश का जीडीपी बढ़ेगा तो उस समय जब अलग अलग टेक्स्ट है तो टैक्स चोरी करने की वजह से देश को इतना दम न्यू जनरेटर मन नहीं मिल पाता तो जितना एक्चुअली होना चाहिए तो अब इसकी वजह से टैक्स रेट बढ़ेगा कंट्री का और एक कंट्री हमारी एक ग्लोबल लेवल पर भी सहयोगी और हमारा ब्लैक मनी का जो अमाउंट करप्शन को जो अमाउंट टेक्स्ट इससे करप्शन में खत्म हो जाएगा क्योंकि अलग अलग धर्मों में जाना होता था तो ऑफिसर्स को बिजनेसमैन पैसे देकर करप्शन करके हमने काम निकलवा लेते जो कि आप बंद हो जाएगा और रितिक आजादी के बाद टैक्सेशन में यह सबसे बड़ा सुधार है मुझे ऐसा लगता है

gst aniti goods and service tax in hindi mein agar use keh do vastu aur seva tax yah tax bharat mein 1 july 2017 se laagu kar diya gaya hai tax ke laagu hote hi sabhi tarah ke direct aur indirect tax band kar diya kya hai yani ki ab bharat mein sirf ek hi tax hoga joki gst hai yani goods and service tax pehle bahut tarike direct aur indirect tax hote the jaise ki service tax custom tax income tax vagaira vagaira jo ki ab bussinessmen ko alag alag daftaron mein bharne padte the is saal mein sirf ek baar jisse ki vaah accountant ki madad se bahut saara tax chori karne mein safal ho jata tha aur galat account dikhakar tax chori kar leta tha aur kaala dhan bharat ka kaala dhan jama hota jata tha lekin ab kyonki gst sirf ek hi text toh har mahine bhara jaega toh sarkar use tax ki chori ko bacha sakti hai isse text chori karna lagbhag namumkin ho gaya hai jisse ki desh ka revenue badhega desh ka gdp badhega toh us samay jab alag alag text hai toh tax chori karne ki wajah se desh ko itna dum new generator man nahi mil pata toh jitna actually hona chahiye toh ab iski wajah se tax rate badhega country ka aur ek country hamari ek global level par bhi sahyogi aur hamara black money ka jo amount corruption ko jo amount text isse corruption mein khatam ho jaega kyonki alag alag dharmon mein jana hota tha toh officers ko bussinessmen paise dekar corruption karke humne kaam nikalava lete jo ki aap band ho jaega aur hrithik azadi ke baad taxation mein yah sabse bada sudhaar hai mujhe aisa lagta hai

जीएसटी अनीति गुड्स एंड सर्विस टैक्स इन हिंदी में अगर उसे कह दो वस्तु और सेवा टैक्स यह टेक्

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  14
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जीएसटी आजादी के बाद ट्रैकिंग सिस्टम में सबसे बड़ा सुधार है जैसे कि सबसे पहले लोगों को बहुत सारे टैक्स देने पड़ते थे सेल्स टैक्स रिटर्न टैक्स रेवेन्यू टैक्स एक्साइज टैक्स सारे मिलाकर अब सिर्फ एक ही टेक देना पड़ता है जिसका नाम गुड सर्विस टैक्स पहले करता था कि जो भी सेल्समेन अतिथि उनको काफी सारे टैक्स देने पड़ते थे इसके कारण क्या होता था कि गवर्मेंट को काफी सारे टैक्स ज्ञात करने पड़ते थे और इसीलिए इसमें बहुत सारी करेक्शन हो पाती थी वह अपने इल्लीगल अकाउंट प्यार करके इसीलिए मतलब बस जाते थे टैक्स देने से अब गुड्स एंड सर्विस टैक्स होने के कारण यह इसकी चोरी कम होगी और कनेक्शन होने की चर्बी कम है इकनोमिक पर इसका इतनी जल्दी प्रभाव नहीं आएगा जैसी यह सिर्फ जुलाई में ही अभी आई है तो अभी इसका बहुत बुरा मतलब अभी असर पड़ा लोगों पर लोगों को अभी इसकी नॉलेज नहीं है और धीरे-धीरे यह मतलब उसकी नॉलेज आएगी लोगों को पता लगेगा तो फिर यह स्टडी और जीडीपी इनक्रीस करने में यह बहुत बेनिफिट रहेगी यह जीएसटी

gst azadi ke baad tracking system mein sabse bada sudhaar hai jaise ki sabse pehle logo ko bahut saare tax dene padte the sales tax return tax revenue tax excise tax saare milakar ab sirf ek hi take dena padta hai jiska naam good service tax pehle karta tha ki jo bhi salesman atithi unko kaafi saare tax dene padte the iske karan kya hota tha ki government ko kaafi saare tax gyaat karne padte the aur isliye isme bahut saree correction ho pati thi vaah apne illegal account pyar karke isliye matlab bus jaate the tax dene se ab goods and service tax hone ke karan yah iski chori kam hogi aur connection hone ki charbi kam hai economic par iska itni jaldi prabhav nahi aayega jaisi yah sirf july mein hi abhi I hai toh abhi iska bahut bura matlab abhi asar pada logo par logo ko abhi iski knowledge nahi hai aur dhire dhire yah matlab uski knowledge aayegi logo ko pata lagega toh phir yah study aur gdp increase karne mein yah bahut benefit rahegi yah gst

जीएसटी आजादी के बाद ट्रैकिंग सिस्टम में सबसे बड़ा सुधार है जैसे कि सबसे पहले लोगों को बहुत

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  13
WhatsApp_icon
user
2:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जीएसटी का भारत की इकॉनमी पर दो टाइप का असर हुआ है एक शॉर्ट टर्म और एक लॉन्ग टर्म शॉर्ट टर्म के ऐसे में देखा जाए तो कंजूमर जो होता है कंस्यूमर को अगर टाइम देना पड़ रहा है पहले अलग-अलग टैक्स बर्थडे होते थे बट अगर अब भी वही हम सही गणित का उपयोग करें तो जादा टाइट देना पड़ रहा है अभी हमें गुटर सर्विसेस पर मेजोरिटी के जो सामान यूज़ करते हैं आजकल मुसलमान अब हमारा और रेट बढ़ जाए तो किस पर टैक्स अब तो लग रहा है कुछ ज्यादा है अपने साथ काम होने के लोन तुम ऐसे क्यों बोल रहे हैं कि जैसे सिंह प्लेस इन जैसे जैसे आने वाला टाइम बड़े हैंडसम आगे बढ़ेंगे इन्फ्लेशन कम हो जाएगी आने की जो हमारे सम्मान पर रेट बढ़ता है बी टाइम बुक कम होगा क्योंकि टैक्स Intex कट रहा है जैसे व्हॉट और सर्विस टैक्स से शब्द जो समान पर लगता था बट उसके ऊपर सर्विस चार्ज पूजा भट्ट की एक टैक्स हो गया है ऐसा उनका कहना है तू इन्फ्लेशन जो होती हमारी वह कम हो रही है जो टैक्स से पैसा घमंड जमा कर दी थी वह बढ़ रहा है और उसी के साथ सेट टैक्स बैरियर यानी कि जो चेक पोस्ट टोल प्लाजा और जो मारे कस्टम ड्यूटी पर पैसे लगते लगते थे वह कह रहे हैं वह सारी हट जाएंगे और ट्रांसपेरेंसी कह रहे हैं ट्रांसपेरेंसी आ जाएगी उसी के साथ साथ गोवेर्मेंट रिवेन्यू जो टैक्स के बीच पर जो आप टैक्स देते हैं पानी से बिजली के बिल के साथ यहां कहीं भी वह गवर्नमेंट की रेवेन्यू में ऐड होता है तो वह ऐड हो जाएगा उसमे तो कहा तो जा रहा है कि जीएसटी से कानूनी पर अच्छा असर पड़ेगा बेटा ऐसा अभी आज तक हुआ तो है नहीं तो देख ही रहेगी अब

gst ka bharat ki economy par do type ka asar hua hai ek short term aur ek long term short term ke aise mein dekha jaaye toh consumer jo hota hai consumer ko agar time dena pad raha hai pehle alag alag tax birthday hote the but agar ab bhi wahi hum sahi ganit ka upyog kare toh zyada tight dena pad raha hai abhi hamein gutar services par majority ke jo saamaan use karte hain aajkal muslim ab hamara aur rate badh jaaye toh kis par tax ab toh lag raha hai kuch zyada hai apne saath kaam hone ke loan tum aise kyon bol rahe hain ki jaise Singh place in jaise jaise aane vala time bade handsome aage badhenge inflation kam ho jayegi aane ki jo hamare sammaan par rate badhta hai be time book kam hoga kyonki tax Intex cut raha hai jaise watt aur service tax se shabd jo saman par lagta tha but uske upar service charge puja bhatt ki ek tax ho gaya hai aisa unka kehna hai tu inflation jo hoti hamari vaah kam ho rahi hai jo tax se paisa ghamand jama kar di thi vaah badh raha hai aur usi ke saath set tax Barrier yani ki jo check post toll plaza aur jo maare custom duty par paise lagte lagte the vaah keh rahe hain vaah saree hut jaenge aur transparency keh rahe hain transparency aa jayegi usi ke saath saath government revenue jo tax ke beech par jo aap tax dete hain paani se bijli ke bill ke saath yahan kahin bhi vaah government ki revenue mein aid hota hai toh vaah aid ho jaega usme toh kaha toh ja raha hai ki gst se kanooni par accha asar padega beta aisa abhi aaj tak hua toh hai nahi toh dekh hi rahegi ab

जीएसटी का भारत की इकॉनमी पर दो टाइप का असर हुआ है एक शॉर्ट टर्म और एक लॉन्ग टर्म शॉर्ट टर्

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  7
WhatsApp_icon
user

Manish Singh

VOLUNTEER

0:30
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जीएसटी का मार्केट पर क्या प्रभाव पड़ता है तो जीएसटी का मार्केट पर प्रभाव पड़ता है कि यह चीज है वह गुड एंड सर्विस टैक्स टैक्स टैक्स के अनुसार इंसानों को पैसा देना पड़ता है कि जितना भी टैक्स लगता है इसकी सबसे पहले बैच था उसमें अनियमितता ही कितने पैसे जो है वह स्टेट गवर्नमेंट को जाएंगे कितने पैसे जो हैं वह सेंट्रल को जाएंगे लेकिन पूरा डिफाइन है कि आप ऐसे झूठ X के पोस्टर को जाएंगे और आधे जो है टैक्स के पैसे हुए सेंट्रल को जाएंगे तो मार्केट को पर इसका जो है यही प्रभाव पड़ता है

gst ka market par kya prabhav padta hai toh gst ka market par prabhav padta hai ki yah cheez hai vaah good and service tax tax tax ke anusaar insano ko paisa dena padta hai ki jitna bhi tax lagta hai iski sabse pehle batch tha usme aniyamitta hi kitne paise jo hai vaah state government ko jaenge kitne paise jo hain vaah central ko jaenge lekin pura define hai ki aap aise jhuth X ke poster ko jaenge aur aadhe jo hai tax ke paise hue central ko jaenge toh market ko par iska jo hai yahi prabhav padta hai

जीएसटी का मार्केट पर क्या प्रभाव पड़ता है तो जीएसटी का मार्केट पर प्रभाव पड़ता है कि यह ची

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  76
WhatsApp_icon
user

Vatsal

Engineering Student

0:23
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जीएसटी के आने के बाद से भारत की इकोनॉमी में बहुत बड़ा असर पड़ा है अच्छे परिणाम नहीं है लेकिन आने वाले समय में बहुत ही अच्छे परिणाम की उम्मीद है क्योंकि यह लॉन्ग टर्म प्लान है इसके रिजल्ट इतनी जल्दी आने नहीं दिखेंगे आपको इसलिए पेशंस रखना होगा और अच्छे भविष्य के लिए अग्रसर होना पड़ेगा

gst ke aane ke baad se bharat ki economy mein bahut bada asar pada hai acche parinam nahi hai lekin aane waale samay mein bahut hi acche parinam ki ummid hai kyonki yah long term plan hai iske result itni jaldi aane nahi dikhenge aapko isliye Patience rakhna hoga aur acche bhavishya ke liye agrasar hona padega

जीएसटी के आने के बाद से भारत की इकोनॉमी में बहुत बड़ा असर पड़ा है अच्छे परिणाम नहीं है लेक

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  11
WhatsApp_icon
user

Sanyam

विद्यार्थी | इंजीनियर

0:30
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जीएसटी की वजह से एक तो अपना जो इधर-उधर ट्रेडिंग का था इधर इंपोर्ट एक्सपोर्ट का उसका क्या कहां का नेता बढ़िया है जी की जो एक्स्ट्रा कस्टम ड्यूटी जाती थी अब स्टेटस होते वह नहीं लगेंगे अभी और एक ही टाइप हो रहा है तो इसके हिसाब से वेट है वह सब भी कम हो गया तुझसे बिजनेस ज्यादा बढ़ रहा है और उसकी वजह से अगर बिजनेस पड़ता है तो फिर भी बढ़ती है तो विश्वास का फायदा हुआ है पिछला अपना बेसिकली कर्मी का फायदा हुआ है सुबह से

gst ki wajah se ek toh apna jo idhar udhar trading ka tha idhar import export ka uska kya kahaan ka neta badhiya hai ji ki jo extra custom duty jaati thi ab status hote vaah nahi lagenge abhi aur ek hi type ho raha hai toh iske hisab se wait hai vaah sab bhi kam ho gaya tujhse business zyada badh raha hai aur uski wajah se agar business padta hai toh phir bhi badhti hai toh vishwas ka fayda hua hai pichla apna basically karmi ka fayda hua hai subah se

जीएसटी की वजह से एक तो अपना जो इधर-उधर ट्रेडिंग का था इधर इंपोर्ट एक्सपोर्ट का उसका क्या क

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  25
WhatsApp_icon
user

amitkul

CA student,pursuing bcom too

2:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जीएसटी जो है बहुत ऐतिहासिक फैसला लिया गया भारत सरकार के द्वारा इससे हमारी अर्थव्यवस्था को कुछ फायदे भी हुए कुछ नुकसान भी फायदा यह हुआ है कि पहले जो भारत में इतनी सारी इनडायरेक्ट टैक्स इस थी जैसे की एक्साइज ड्यूटी सर्विस टैक्स इन सब के चक्कर में बहुत सारा जोर सरकार का जो स्टाफ है वह लगा हुआ था हर एक टैक्स के अलग-अलग डिपार्टमेंट थी रिटर्न फाइलिंग के लिए बहुत अलग सबकी अलग-अलग बैटरी पर जीएसटी के आज के सारे डेट्स एक साथ हो चुके हैं तो जिससे रिटर्न फाइलिंग का काम बहुत इजी नुकसान है कि सब सारे टेक्स्ट अक्सर सब को लागू नहीं थी जो सर्विस भेजें उनको सर्विस टेक्स लागु थी जो सामान मैंने फैक्चर करते हैं उनको एक्साइज ड्यूटी लागू अब मसला यह था कि जो सर्विस देते हैं वह सर्विस टैक्स भर देते सर्विस टैक्स डिपार्टमेंट में पर अभी जब जीएसटी के लिए जीएसटी के वजह से सारी डिपार्टमेंट एक ही अंदर एक ही छत के अंदर आ गई है तो रिटर्न फाइलिंग में अक्सर दे रही हो जाती है नेटवर्क रात हो जाते तो इस चक्कर में अक्सर देसी फाइलिंग लेट हो जाती है तो पैनल्टी लगती है कई सारे लोगों को अब जो लोग बड़ी कम पैसों में बिजनेस करते जीएसटी उनके लिए बहुत फायदेमंद रहा है उसमें जीएसटी में एक कांसेप्ट है इसे कहते हे क्रेडिट इंटरेस्ट रेट 25 पर क्रेडिट जो पहले जो वाइट थी उस पर नहीं मिलती थी पर जीएसटी में वह क्रेडिट मिलती है जिससे बड़ी-बड़ी कंपनियों को बहुत ज्यादा कमाई होती है जो इन 11 सेट दूसरे स्टेट में सामान बेचते तो जीएसटी के बहुत सारे नुकसान और फायदे दो

gst jo hai bahut etihasik faisla liya gaya bharat sarkar ke dwara isse hamari arthavyavastha ko kuch fayde bhi hue kuch nuksan bhi fayda yah hua hai ki pehle jo bharat mein itni saree indirect tax is thi jaise ki excise duty service tax in sab ke chakkar mein bahut saara jor sarkar ka jo staff hai vaah laga hua tha har ek tax ke alag alag department thi return Filing ke liye bahut alag sabki alag alag battery par gst ke aaj ke saare dates ek saath ho chuke hain toh jisse return Filing ka kaam bahut easy nuksan hai ki sab saare text aksar sab ko laagu nahi thi jo service bheje unko service tax lagu thi jo saamaan maine facture karte hain unko excise duty laagu ab masala yah tha ki jo service dete hain vaah service tax bhar dete service tax department mein par abhi jab gst ke liye gst ke wajah se saree department ek hi andar ek hi chhat ke andar aa gayi hai toh return Filing mein aksar de rahi ho jaati hai network raat ho jaate toh is chakkar mein aksar desi Filing late ho jaati hai toh penalty lagti hai kai saare logo ko ab jo log badi kam paison mein business karte gst unke liye bahut faydemand raha hai usme gst mein ek concept hai ise kehte hai credit interest rate 25 par credit jo pehle jo white thi us par nahi milti thi par gst mein vaah credit milti hai jisse badi badi companion ko bahut zyada kamai hoti hai jo in 11 set dusre state mein saamaan bechte toh gst ke bahut saare nuksan aur fayde do

जीएसटी जो है बहुत ऐतिहासिक फैसला लिया गया भारत सरकार के द्वारा इससे हमारी अर्थव्यवस्था को

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  8
WhatsApp_icon
user

Bari khan

Practicing journalist

1:20
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जीएसटी की भर्ती जो है उसका भारत की क्रमिक पर क्या असर हुआ है यह समझने के लिए हमें थोड़ा सा पीछे जाना होगा और कितना हुआ कि आज से पहले जो था इंडिया में जो टैक्सेशन सिस्टम बहुत ही ज्यादा जटिल हुआ करती तो बहुत ही कठिन होता है क्योंकि आपको हर दूसरी जगह पर जाकर तीसरे तरीके का एक टेक्स्ट करना होता था वह चाहे इंदौर एक दवा प्रत्यक्ष-अप्रत्यक्ष करों उन सभी चीजों से निजात पाने के लिए एक नया टैक्सेशन सिस्टम जो जीएसटी लागू किया गया है देखने को नहीं मिल रहा है लेकिन आने वाले वक्त में जरूरत के फायदे आपको देखने को मिलेंगे क्योंकि अब तो है करप्शन से कम हो जाएगा क्योंकि अभी तक जो टेक्स्ट फाइल किया था उस में चोरी की संभावना होती थी टेक्स्ट लेकिन अब क्योंकि सारी चीजें ऑनलाइन होती जा रही है डिजिटल और जीएसटी में आपको सिर्फ एक ही तरीके से टैक्स भरना है तो उसे अपनी नजरिया अपनी जन्नत बनाए रखने में आसानी रहेगी और मेरा मानना यह है कि जीएसटी से जो है और पॉजिटिव इंपैक्ट आने वाला है पॉजिटिव चेंज करने वाले लेकिन क्योंकि अभी इतना ज्यादा वक्त गुजारा नहीं है तकरीबन तीन चार महीने हुए हैं जीएसटी को लागू हुए तो इतनी जल्दी कुछ कहना कि क्या असर होने वाला है आगे जाने पर तो अभी तो इतनी जल्दी कुछ कहना बहुत जल्दी हो जाएगी

gst ki bharti jo hai uska bharat ki kramik par kya asar hua hai yah samjhne ke liye hamein thoda sa peeche jana hoga aur kitna hua ki aaj se pehle jo tha india mein jo taxation system bahut hi zyada jatil hua karti toh bahut hi kathin hota hai kyonki aapko har dusri jagah par jaakar teesre tarike ka ek text karna hota tha vaah chahen indore ek dawa pratyaksh apratyaksh karon un sabhi chijon se nijat paane ke liye ek naya taxation system jo gst laagu kiya gaya hai dekhne ko nahi mil raha hai lekin aane waale waqt mein zarurat ke fayde aapko dekhne ko milenge kyonki ab toh hai corruption se kam ho jaega kyonki abhi tak jo text file kiya tha us mein chori ki sambhavna hoti thi text lekin ab kyonki saree cheezen online hoti ja rahi hai digital aur gst mein aapko sirf ek hi tarike se tax bharna hai toh use apni najariya apni jannat banaye rakhne mein aasani rahegi aur mera manana yah hai ki gst se jo hai aur positive impact aane vala hai positive change karne waale lekin kyonki abhi itna zyada waqt gujara nahi hai takareeban teen char mahine hue hain gst ko laagu hue toh itni jaldi kuch kehna ki kya asar hone vala hai aage jaane par toh abhi toh itni jaldi kuch kehna bahut jaldi ho jayegi

जीएसटी की भर्ती जो है उसका भारत की क्रमिक पर क्या असर हुआ है यह समझने के लिए हमें थोड़ा सा

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  10
WhatsApp_icon
user

Sefali

Media-Ad Sales

0:49
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जीएसटी आजादी के बाद इंडियन टैक्स सिस्टम में सबसे बड़ा शहर है जहां टैक्स पर टैक्स देना पड़ता था यह से लागू होने के बाद काफी सारे डायरेक्टर डायरेक्टर कट गया है जैसे किताबी स्ट्राइक कस्टम टैक्स एस्टेट एक्ट एंड Intex होने की वजह से सभी साथ में यह भी था कि यह सारे टेक साल में एक ही बार जमा करने पड़ते थे जिससे कि बहुत सारे व्यापारी अपने टैक्स चोरी करने में सफल हो जाते अपनी टाइप सही समय पर जमा नहीं करते थे जो कि हमारे देश की रहने सच में बहुत ज्यादा करता था जिसमें क्या अभी काफी सुधार देखा गया है हमारा देश बदल रहा है और तरक्की की राह में बढ़ रहा है तो

gst azadi ke baad indian tax system mein sabse bada shehar hai jaha tax par tax dena padta tha yah se laagu hone ke baad kaafi saare director director cut gaya hai jaise kitabi strike custom tax estate act and Intex hone ki wajah se sabhi saath mein yah bhi tha ki yah saare take saal mein ek hi baar jama karne padte the jisse ki bahut saare vyapaari apne tax chori karne mein safal ho jaate apni type sahi samay par jama nahi karte the jo ki hamare desh ki rehne sach mein bahut zyada karta tha jisme kya abhi kaafi sudhaar dekha gaya hai hamara desh badal raha hai aur tarakki ki raah mein badh raha hai toh

जीएसटी आजादी के बाद इंडियन टैक्स सिस्टम में सबसे बड़ा शहर है जहां टैक्स पर टैक्स देना पड़त

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  41
WhatsApp_icon
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!