user

Vikas Singh

Political Analyst

7:42
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका सवाल है आर एस एस की तैयारी कैसे करें देखें मैं आपको बता देना चाहता हूं आर एस एस की कोई तैयारी नहीं की जाती है आर एस एस से जुड़ने के लिए कोई फॉर्म नहीं भरा जाता है कोई शुल्क नहीं लगता है आपको आर्थिक से जुड़ने के लिए शाखा जाना होगा आपके गांव के आसपास कहीं शाखा लगती होगी तो वहां पर आप जिस दिन शाखा जाओगे उसी दिन आप आर एस एस के पेंट पर वर्क बन जाओगे मैं अपने बारे में आपको बताना चाहता हूं मैं संघ से बहुत पहले जुड़ना चाहता था लेकिन मुझे बड़ा कंफ्यूजन था मैं पूछता था तब से किस अंग से जुड़ने के लिए क्या फॉर्म भरना पड़ता है कोई कहता था हा फॉर्म भरना पड़ता है तो एक बार मैंने फॉर्म भी भरा तो फिर मैं पूछता था संघ से जुड़ने के लिए एक कैसे जुड़ा जाए क्या किया जाए तो लोग उल्टा सीधा बताते थे मुझे तो मैं बहुत कंफ्यूज था तो एक बात दिल्ली में था जॉब उस समय तो जब भी मैं परेशान होता था ना तो मैं संघ से जुड़ना चाहता था तो मैं एक बार फोन किया एक बंदे को उसका नाम अभिषेक था तो दिल्ली में हमने बोला सर द्वारिका सेक्टर 11 में कहीं शाखा लगती है मैं संघ से जुड़ना चाहता हूं तो वह व्यक्ति बोला कि यार यह सेक्टर 11 में तो नहीं लगती है वहां से 20 25 किलोमीटर दूसरे सेक्टर में लगती है तो हम बोले बीच 25 किलोमीटर मैं कैसे जाऊंगा सुबह सुबह तो फिर मैं संग से नहीं जुड़ पाया फिर मैं एक बार छत्तीसगढ़ आया था वहां पर मैं जॉब सर्च कर रहा था तो मैं 1 दिन अचानक सुबह निकला और मैंने संकल्प किया कि आज मैं पता करके आऊंगा वहां पर भी मैंने एक बार कॉल किया था तो पता चला कि रायपुर में शाखा लगती है एक बंदे ने बताया हमने बोला कि हम तो भिलाई में रहते हैं रायपुर जाना दिल्ली तो संभव नहीं है तो 1 दिन में सुबह निकला और मैं ढूंढा पीरियड दुकान वाले से पूछा कि भैया इधर कहीं शाखा लगती है तो वह दुकान वाला दूसरे दुकान वाले को बताया कि देखिए वह वहां एक लोग हैं वह शाखा जाते हैं आप उनसे मिलिए तो मैं उनसे मिलने गया तो उस व्यक्ति ने बोला कि आप आना सुबह मेरा नंबर लिख लो और हम दोनों लोग साथ में चलेंगे साथ आ जा लगती है मैं आपको वहां पर ले जाऊंगा आप संघ सेवक बन जाओगे तो फिर हमने पूछ लिया कि भैया कहां रखा लगती है बता दीजिए मैं एक बार चला भी जाऊंगा तो उन्होंने बताया कि सरस्वती शिशु मंदिर है वहां पर शाखा लगती है अब सुबह 5:30 बजे आ जाना 5:00 बजे तो मैं गया सरस्वती शिशु मंदिर पता लगाया गांव से पूछा कि भैया यहां रितेश की शाखा लगती है तो गार्ड बोले कि हां सुबह शाखा लगती आप सुबह आई तो मैं 4:00 बजे ही पहुंच गया तो मैं घंटा वेट किया वहां पर एक शर्त है प्रकाश जी प्रकाश सर थे वही शाखा लगाते जेपी सीमेंट में शायद से रिटायर हुए थे वह आए तो फिर जय श्री राम बोले हम भी जय श्री राम बोले हो उन्हें तो फिर वह आए तो शाखाओं का लगाए तो हमारा पहला क्वेश्चन था उनसे पर संघ से जुड़ने के लिए क्या फॉर्म भी भरना पड़ता है तो उन्होंने सब कुछ बताया है कि आज आप शाखा A8 सैमसंग सेवक बन गया हूं कोई फॉर्म नहीं भरा जाता कोई शुल्क नहीं लिया जाता है आप प्रतिदिन शाखा यह में प्रतिदिन शाखा जाने लगा और शाखा में मैंने इतना कुछ सीखा कि मैं आपको क्या बताऊं वह दुनिया के किसी स्कूल में नहीं सिखाया जाता है प्रकाश पर ने हमको पूरा एल्बम ट्रेंड किया और मैं सवाल जवाब भी खूब करता था गलत चीजों का विरोध भी खूब करता था तो मैं वहां से शाखा लगाना होगा ना सब कुछ सीख लिया मुझे प्रार्थना भी पूरा याद नहीं था तो मेरा संकल्प था कि मैं अपने गांव में शाखा लगाऊंगा और मुझे बहुत आलोचनाओं का शिकार होना पड़ेगा मुझे बहुत दिक्कत होगी बहुत परेशानी होगी लेकिन मैं दिक्कत परेशानी का सामना करूंगा मैं दो डेढ़ 2 महीने साथ आ गया था वहां डेढ़ महीने से थोड़ा अधिक था फिर मैं घर आया आपने यूपी तो मैं गांव में शाखा लगाता था दिल्ली अकेले मेरे पास बहुत कुछ नहीं था मैं डायरेक्ट शाखा लगाने लगा तो लोग थोड़ा सा मजाक उड़ाते थे तो फिर मैं 12 बंधुओं को पकड़ा की शाखा लगती है तो सब आते थे और फिर अगले दिन नहीं आते थे मैं 3:00 बजे उठता था डेली डेली फोन करता था कभी 1 लोग आते थे कभी दो लोग आते थे तो हमारे गांव के विजय कुमार सिंह भारतीय जनता पार्टी के छोटे पदाधिकारी हैं तो हमने उनको पकड़ा उसी समय उनकी मां भी कभी डेट हुआ था तो हमने बोला कि शाखा लगती है आप आइए शाखा डोसा खाने लगे लेकिन वह भी कभी बाद में घबरा जाते थे यार बड़ा रूल रेगुलेशन है यह वह लेकिन हम बोले घबराइए मत तो हम तीन चार पांच लोग अब वह शाखा 2032 लोगों की हो गई तो फिर आलोचना होती थी कि एक व्यक्ति ने हमसे बोला कि तुम चले जाओगे जब जॉब करने तो यह शाखा कौन लगाएगा अगले आप टेंशन मत लीजिए मैं रूपरेखा तय करके जाऊंगा तो विजय कुमार सिंह जी गए चंदौली से r.s.s. एक व्यक्ति को लेकर आए तो हमसे मिले तो फिर एक बार मीटिंग हुई संघ के जिला स्तर के लोग आए तो उस नजारे को पूरा गांव हमारा देखा कि अरे यार संघ के लोग आए थे बड़े-बड़े लोग आए थे तो फिर धीरे-धीरे अच्छा विचार फैला फिर शाखा लगने लगी फिर 1 दिन कार्यक्रम हुआ ध्वज मिला के ध्वज लगाकर शाखा लगने लगी और मैं 7 महीना नौकरी ओकरी छोड़कर शाखा लगाया और उसके बाद सात आठ महीना लगाने के बाद मैं जॉब मेरी लग गई मैं चला आया आज भी वह शाखा लगती है और चंदौली जिला की सबसे अच्छी शाखा वही है जो रेगुलर लगती है जिसको मैंने लगाया था और मेरे मोटिवेशन के कारण लोग लोगों ने प्रशिक्षण भी हासिल किया हमारे गांव के चार पांच लोग प्राथमिक किए जबकि मैं अभी तक प्राथमिक नहीं किया हूं मेरे पास समय ही नहीं मिला लेकिन लोग कहते हैं कि आपके पास अच्छा मोटिवेशन है विस्तार करने की क्षमता आपके अंदर है जो प्रशिक्षित है उससे भी अधिक आपको नॉलेज है तो मैं उनका शुक्रिया अदा करता हूं कि चलिए ठीक है क्योंकि मैंने शाखा में सब कुछ सीखा है व्यायाम करना बोलना उठ बोलना यह सब कुछ मैं सिखाऊं तो साथ अगर आप जाओगे तो आपको बहुत कुछ सीखने को मिलेगा आर एस एस से आप जुड़िए आर एस एस से जुड़ने के बाद जीवन में आदमी डिसिप्लिन सीट बड़ों का सम्मान कैसे किया जाता है वह समस्त जानता है छोटू के साथ कैसे पेश हुआ जाता है वह जानता है देशभक्ति उसके अंदर कैसे आती है कैसे गरीबों का मदद किया जाता है कैसे भूखे का मदद किया जाता है ट्रेनिंग r.s.s. में दी जाती है आर एस एस में किसी भी धर्म के लोग जुड़ सकते हैं आज के डेट में मुसलमान लोगों के लिए बंद किए तथा बने जिससे लोग जुड़ रहे हैं तुझ संग बहुत ही अच्छा विचार वाला संगठन है इससे आप जोड़ दोगे तो जीवन में बहुत आगे बढ़ो गे और बनोगे और आप समय का हमेशा सदुपयोग करने लगोगे धन्यवाद

aapka sawaal hai R S S ki taiyari kaise kare dekhen main aapko bata dena chahta hoon R S S ki koi taiyari nahi ki jaati hai R S S se judne ke liye koi form nahi bhara jata hai koi shulk nahi lagta hai aapko aarthik se judne ke liye shakha jana hoga aapke gaon ke aaspass kahin shakha lagti hogi toh wahan par aap jis din shakha jaoge usi din aap R S S ke paint par work ban jaoge main apne bare me aapko batana chahta hoon main sangh se bahut pehle judna chahta tha lekin mujhe bada confusion tha main poochta tha tab se kis ang se judne ke liye kya form bharna padta hai koi kahata tha ha form bharna padta hai toh ek baar maine form bhi bhara toh phir main poochta tha sangh se judne ke liye ek kaise juda jaaye kya kiya jaaye toh log ulta seedha batatey the mujhe toh main bahut confuse tha toh ek baat delhi me tha job us samay toh jab bhi main pareshan hota tha na toh main sangh se judna chahta tha toh main ek baar phone kiya ek bande ko uska naam abhishek tha toh delhi me humne bola sir dwarika sector 11 me kahin shakha lagti hai main sangh se judna chahta hoon toh vaah vyakti bola ki yaar yah sector 11 me toh nahi lagti hai wahan se 20 25 kilometre dusre sector me lagti hai toh hum bole beech 25 kilometre main kaise jaunga subah subah toh phir main sang se nahi jud paya phir main ek baar chattisgarh aaya tha wahan par main job search kar raha tha toh main 1 din achanak subah nikala aur maine sankalp kiya ki aaj main pata karke aaunga wahan par bhi maine ek baar call kiya tha toh pata chala ki raipur me shakha lagti hai ek bande ne bataya humne bola ki hum toh bhilai me rehte hain raipur jana delhi toh sambhav nahi hai toh 1 din me subah nikala aur main dhundha period dukaan waale se poocha ki bhaiya idhar kahin shakha lagti hai toh vaah dukaan vala dusre dukaan waale ko bataya ki dekhiye vaah wahan ek log hain vaah shakha jaate hain aap unse miliye toh main unse milne gaya toh us vyakti ne bola ki aap aana subah mera number likh lo aur hum dono log saath me chalenge saath aa ja lagti hai main aapko wahan par le jaunga aap sangh sevak ban jaoge toh phir humne puch liya ki bhaiya kaha rakha lagti hai bata dijiye main ek baar chala bhi jaunga toh unhone bataya ki saraswati shishu mandir hai wahan par shakha lagti hai ab subah 5 30 baje aa jana 5 00 baje toh main gaya saraswati shishu mandir pata lagaya gaon se poocha ki bhaiya yahan ritesh ki shakha lagti hai toh guard bole ki haan subah shakha lagti aap subah I toh main 4 00 baje hi pohch gaya toh main ghanta wait kiya wahan par ek sart hai prakash ji prakash sir the wahi shakha lagate jp cement me shayad se retire hue the vaah aaye toh phir jai shri ram bole hum bhi jai shri ram bole ho unhe toh phir vaah aaye toh shakhaon ka lagaye toh hamara pehla question tha unse par sangh se judne ke liye kya form bhi bharna padta hai toh unhone sab kuch bataya hai ki aaj aap shakha A8 samsung sevak ban gaya hoon koi form nahi bhara jata koi shulk nahi liya jata hai aap pratidin shakha yah me pratidin shakha jaane laga aur shakha me maine itna kuch seekha ki main aapko kya bataun vaah duniya ke kisi school me nahi sikhaya jata hai prakash par ne hamko pura album trend kiya aur main sawaal jawab bhi khoob karta tha galat chijon ka virodh bhi khoob karta tha toh main wahan se shakha lagana hoga na sab kuch seekh liya mujhe prarthna bhi pura yaad nahi tha toh mera sankalp tha ki main apne gaon me shakha lagaunga aur mujhe bahut aalochanaon ka shikaar hona padega mujhe bahut dikkat hogi bahut pareshani hogi lekin main dikkat pareshani ka samana karunga main do dedh 2 mahine saath aa gaya tha wahan dedh mahine se thoda adhik tha phir main ghar aaya aapne up toh main gaon me shakha lagaata tha delhi akele mere paas bahut kuch nahi tha main direct shakha lagane laga toh log thoda sa mazak udate the toh phir main 12 bandhuon ko pakada ki shakha lagti hai toh sab aate the aur phir agle din nahi aate the main 3 00 baje uthata tha daily daily phone karta tha kabhi 1 log aate the kabhi do log aate the toh hamare gaon ke vijay kumar Singh bharatiya janta party ke chote padadhikaari hain toh humne unko pakada usi samay unki maa bhi kabhi date hua tha toh humne bola ki shakha lagti hai aap aaiye shakha dosha khane lage lekin vaah bhi kabhi baad me ghabara jaate the yaar bada rule regulation hai yah vaah lekin hum bole ghabaraiye mat toh hum teen char paanch log ab vaah shakha 2032 logo ki ho gayi toh phir aalochana hoti thi ki ek vyakti ne humse bola ki tum chale jaoge jab job karne toh yah shakha kaun lagaega agle aap tension mat lijiye main rooprekha tay karke jaunga toh vijay kumar Singh ji gaye chandauli se r s s ek vyakti ko lekar aaye toh humse mile toh phir ek baar meeting hui sangh ke jila sthar ke log aaye toh us najare ko pura gaon hamara dekha ki are yaar sangh ke log aaye the bade bade log aaye the toh phir dhire dhire accha vichar faila phir shakha lagne lagi phir 1 din karyakram hua dhwaj mila ke dhwaj lagakar shakha lagne lagi aur main 7 mahina naukri okari chhodkar shakha lagaya aur uske baad saat aath mahina lagane ke baad main job meri lag gayi main chala aaya aaj bhi vaah shakha lagti hai aur chandauli jila ki sabse achi shakha wahi hai jo regular lagti hai jisko maine lagaya tha aur mere motivation ke karan log logo ne prashikshan bhi hasil kiya hamare gaon ke char paanch log prathmik kiye jabki main abhi tak prathmik nahi kiya hoon mere paas samay hi nahi mila lekin log kehte hain ki aapke paas accha motivation hai vistaar karne ki kshamta aapke andar hai jo prashikshit hai usse bhi adhik aapko knowledge hai toh main unka shukriya ada karta hoon ki chaliye theek hai kyonki maine shakha me sab kuch seekha hai vyayam karna bolna uth bolna yah sab kuch main sikhaun toh saath agar aap jaoge toh aapko bahut kuch sikhne ko milega R S S se aap judiye R S S se judne ke baad jeevan me aadmi discipline seat badon ka sammaan kaise kiya jata hai vaah samast jaanta hai chotu ke saath kaise pesh hua jata hai vaah jaanta hai deshbhakti uske andar kaise aati hai kaise garibon ka madad kiya jata hai kaise bhukhe ka madad kiya jata hai training r s s me di jaati hai R S S me kisi bhi dharm ke log jud sakte hain aaj ke date me musalman logo ke liye band kiye tatha bane jisse log jud rahe hain tujhe sang bahut hi accha vichar vala sangathan hai isse aap jod doge toh jeevan me bahut aage badho gay aur banogey aur aap samay ka hamesha sadupyog karne lagoge dhanyavad

आपका सवाल है आर एस एस की तैयारी कैसे करें देखें मैं आपको बता देना चाहता हूं आर एस एस की को

Romanized Version
Likes  365  Dislikes    views  6714
KooApp_icon
WhatsApp_icon
2 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!