स्वतंत्रता के समय भारत के पास कौन-कौन सी चुनौतियां थी?...


user

Ashok Bajpai

Rtd. Additional Collector P.C.S. Adhikari

2:49
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

राम राम जी के कब्रिस्तान के पास कौन कौन सी तारीख को सबसे बड़ी चुनौती थी कि देश को एकता के सूत्र में बांधने क्योंकि अंग्रेज भारत को स्वतंत्र करके बताएं 550 देसी रियासतों को भी स्वतंत्र कर रहे थे और युवतियों पर था कि वह भारत संघ में विलय करती हैं या पाकिस्तान से हमें भी ले चलते हैं या अपना स्वतंत्र अस्तित्व बनाए रखें भारत के सामने पहली चुनौती भारत का एकीकरण करना दूसरों की थी जिसकी और अंग्रेजों ने कोई ध्यान नहीं दिया था कृषि व्यवस्था को सुदृढ़ करना 80% आबादी गांव में रहती थी खेती करती थी और किसी की और अंग्रेजों ने बिल्कुल ध्यान नहीं दिया तो भारत के किसान तरीके और भारत क्षेत्र स्वतंत्रता के समय भारत के समय चीज की बड़ी चुनौती थी औद्योगिकरण की अंग्रेजों ने भारत में विकास किया था कि भारत को आजाद भारत की जनता को रोजगार मिले भारत की जनता विकास करें यह उनका दृष्टिकोण से भारत में न कोई विशाल उद्योग धंधा था न कोई विशेष विशाल संरचना की न कोई मांग थी न सिंचाई के साधन थे कुछ भी नहीं था भारत के पास तो दोस्ती की समस्या थी भारत के पास औद्योगिकरण की और चौकी समस्या थी भारत के पास भारत की सांप्रदायिक सौहार्द को प्रसन्न करने की स्वतंत्रता के समय भारत के पास यही बड़ी बड़ी चुनौतियां थी जिसे सरदार पटेल की मुख्यमंत्री के रूप में सरदार पटेल की युग में इन चुनौतियों का सामना किया गया और उन्हें भारत के रूप में प्रयुक्त

ram ram ji ke kabristan ke paas kaun kaun si tarikh ko sabse badi chunauti thi ki desh ko ekta ke sutra me bandhne kyonki angrej bharat ko swatantra karke bataye 550 desi riyasato ko bhi swatantra kar rahe the aur yuvatiyon par tha ki vaah bharat sangh me vilay karti hain ya pakistan se hamein bhi le chalte hain ya apna swatantra astitva banaye rakhen bharat ke saamne pehli chunauti bharat ka ekikaran karna dusro ki thi jiski aur angrejo ne koi dhyan nahi diya tha krishi vyavastha ko sudridh karna 80 aabadi gaon me rehti thi kheti karti thi aur kisi ki aur angrejo ne bilkul dhyan nahi diya toh bharat ke kisan tarike aur bharat kshetra swatantrata ke samay bharat ke samay cheez ki badi chunauti thi audyogikaran ki angrejo ne bharat me vikas kiya tha ki bharat ko azad bharat ki janta ko rojgar mile bharat ki janta vikas kare yah unka drishtikon se bharat me na koi vishal udyog dhandha tha na koi vishesh vishal sanrachna ki na koi maang thi na sinchai ke sadhan the kuch bhi nahi tha bharat ke paas toh dosti ki samasya thi bharat ke paas audyogikaran ki aur chowki samasya thi bharat ke paas bharat ki sampradayik sauhaard ko prasann karne ki swatantrata ke samay bharat ke paas yahi badi badi chunautiyaan thi jise sardar patel ki mukhyamantri ke roop me sardar patel ki yug me in chunautiyon ka samana kiya gaya aur unhe bharat ke roop me prayukt

राम राम जी के कब्रिस्तान के पास कौन कौन सी तारीख को सबसे बड़ी चुनौती थी कि देश को एकता के

Romanized Version
Likes  172  Dislikes    views  3493
KooApp_icon
WhatsApp_icon
1 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!