सरकारी स्कूल के बच्चों की ऑनलाइन पढ़ाई नहीं हो रही है क्यों?...


user

Dr Anand

Teacher Cum Announcer At All India Radio,sinceLast 28 Years

1:09
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सरकारी स्कूल में अक्सर ये होता है कि जितने भी बच्चे वहां पर है वह गरीब मां बाप के बच्चे होते हैं तो उसमें भूत आ गया कि उनके पास ऑनलाइन पढ़ाई के लिए स्मार्टफोन की जरूरत होती है स्मार्टफोन नहीं होने के कारण ऐसी स्थिति है और यदि आप चाहें तो रेडियो पर कार्यक्रम प्रसारित हो रहे हैं उत्तर प्रदेश के रहने वाले हैं तो और सुबह 11:00 से 12:00 के बीच में दिन में कार्यक्रम आता है मिशन प्रेरणा की पाठशाला और स्वयं प्रभा चैनल पर दूरदर्शन पर टेलीविजन में अध्यक्ष सकते हैं मोबाइल नहीं है तो इसलिए थोड़ी परेशानी हो रही है कि सरकारी स्कूल में पढ़ाई ऑनलाइन नहीं हो पा रही है क्योंकि मां-बाप गरीब है उनके पास सेपरेटिस्ट नहीं है इस कई तरह के उनके पास समस्याएं हैं वह डाटा पर चैट करें या आटा परचेज करें अपने पेट की आग बुझाने या ज्ञान अर्जित करें स्कूल खुलेगा दोबारा तो निश्चित रूप से वह बच्चे जो भी ऑनलाइन नहीं पढ़ाई कर पा रहे वह करेंगे

sarkari school me aksar ye hota hai ki jitne bhi bacche wahan par hai vaah garib maa baap ke bacche hote hain toh usme bhoot aa gaya ki unke paas online padhai ke liye smartphone ki zarurat hoti hai smartphone nahi hone ke karan aisi sthiti hai aur yadi aap chahain toh radio par karyakram prasarit ho rahe hain uttar pradesh ke rehne waale hain toh aur subah 11 00 se 12 00 ke beech me din me karyakram aata hai mission prerna ki pathashala aur swayam prabha channel par doordarshan par television me adhyaksh sakte hain mobile nahi hai toh isliye thodi pareshani ho rahi hai ki sarkari school me padhai online nahi ho paa rahi hai kyonki maa baap garib hai unke paas separatist nahi hai is kai tarah ke unke paas samasyaen hain vaah data par chat kare ya atta purchase kare apne pet ki aag bujhane ya gyaan arjit kare school khulega dobara toh nishchit roop se vaah bacche jo bhi online nahi padhai kar paa rahe vaah karenge

सरकारी स्कूल में अक्सर ये होता है कि जितने भी बच्चे वहां पर है वह गरीब मां बाप के बच्चे हो

Romanized Version
Likes  13  Dislikes    views  325
KooApp_icon
WhatsApp_icon
2 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!