बलात्कार और गैंगरेप में क्या केस लगते है?...


user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बलात्कार के लिए आईपीसी में धारा 376 में सजा का प्रावधान किया गया जहां इसके लिए एक शब्द बल्ला संघ का और इंग्लिश में रेप का इस्तेमाल किया गया है तो इसके लिए धारा 376 में जो सजा का प्रावधान है वह है कठोर कारावास से जिसकी अवधि 10 वर्ष से कम नहीं होगी किंतु जो आजीवन कारावास तक हो सकेगी जिससे उस व्यक्ति के शेष प्राकृतिक जीवन काल के लिए कारावास वितरित होगा दंडित किया जाएगा और जुर्माने से भी सेंड नहीं होगा तो यह एक क्लियर कट आ गई बात की जहां आजीवन कारावास की सजा यहां दी जाएगी उसे यह समझा जायेगा कि यह रिमाइंडर ऑफ द पर्सन नेशनल लाइव ज्ञानी व्यक्ति का जो जीवन जैविक जीवन जो है जो शेष जीवन बचा है उस पूरे शेष जीवन के लिए यह सजा होगी इसमें किसी तरह की कोई रियायत नहीं होगी और गैंगरेप में धारा 376d लगाई जाती है उसमें अभी का रूप होता है और साक्षी पाने को दोस्त होगा तो गैंगरेप के लिए जो सजा का प्रावधान है पहली बार में 20 वर्ष से कम का नहीं होगा 20 वर्ष का कारावास या आजीवन कारावास और वह भी व्यक्ति के पूरे जैविक जो प्राकृतिक रूप से जो जैविक पूरा जीवन उसका है पूरे जीवन के लिए उसे आजीवन कारावास की सजा और जुर्माने से भी सजा दंडित किया जाएगा और एक किस में और अच्छी बात आई है कि ऐसा जुर्माना पीड़िता के चिकित्सक की चिकित्सीय खर्चों को पूरा करने और पुनर्वास के लिए न्याय उचित और युक्तियुक्त होगा और यह भी किस धारा के अधीन अधिकृत कोई जुर्माना पीड़िता को दिया जाएगा सदस्य किया जाएगा में दिया जाएगा तो गीत गैंग रेप के बारे में है और फिर 376e है जो कि बहुत ही महत्वपूर्ण है कि यदि कोई धारा 376 या धारा 376 को या धारा 376 के अंतर्गत अपराध बालासंका अपराध करता है और वह दंडित कर दिया गया है पूर्व में और फिर से अपराध करता है तो इस धारा के अधीन वह अगर सिद्ध दोष ठहराया गया कनेक्ट हुआ तो कम से कम आजीवन कारावास जो कि उस व्यक्ति के शेष प्राकृत जीवन काल के लिए कारावास होगा या मृत्युदंड से भी सजा दी जाएगी तो यह बहुत सबसे कठोर सजा का प्रावधान है इसी में और कहीं भी इस से कठोर सजा का प्रावधान नहीं हो सकता तो यह बलात्कार और गैंगरेप में धाराएं हैं और इनकी सजाएं

balatkar ke liye ipc me dhara 376 me saza ka pravadhan kiya gaya jaha iske liye ek shabd balla sangh ka aur english me rape ka istemal kiya gaya hai toh iske liye dhara 376 me jo saza ka pravadhan hai vaah hai kathor karavas se jiski awadhi 10 varsh se kam nahi hogi kintu jo aajivan karavas tak ho sakegi jisse us vyakti ke shesh prakirtik jeevan kaal ke liye karavas vitrit hoga dandit kiya jaega aur jurmane se bhi send nahi hoga toh yah ek clear cut aa gayi baat ki jaha aajivan karavas ki saza yahan di jayegi use yah samjha jayega ki yah reminder of the person national live gyani vyakti ka jo jeevan Jaivik jeevan jo hai jo shesh jeevan bacha hai us poore shesh jeevan ke liye yah saza hogi isme kisi tarah ki koi riyayat nahi hogi aur gangrape me dhara 376d lagayi jaati hai usme abhi ka roop hota hai aur sakshi paane ko dost hoga toh gangrape ke liye jo saza ka pravadhan hai pehli baar me 20 varsh se kam ka nahi hoga 20 varsh ka karavas ya aajivan karavas aur vaah bhi vyakti ke poore Jaivik jo prakirtik roop se jo Jaivik pura jeevan uska hai poore jeevan ke liye use aajivan karavas ki saza aur jurmane se bhi saza dandit kiya jaega aur ek kis me aur achi baat I hai ki aisa jurmana pidita ke chikitsak ki chikitsiya kharchon ko pura karne aur punarvaas ke liye nyay uchit aur yuktiyukt hoga aur yah bhi kis dhara ke adheen adhikrit koi jurmana pidita ko diya jaega sadasya kiya jaega me diya jaega toh geet gang rape ke bare me hai aur phir 376e hai jo ki bahut hi mahatvapurna hai ki yadi koi dhara 376 ya dhara 376 ko ya dhara 376 ke antargat apradh balasanka apradh karta hai aur vaah dandit kar diya gaya hai purv me aur phir se apradh karta hai toh is dhara ke adheen vaah agar siddh dosh thehraya gaya connect hua toh kam se kam aajivan karavas jo ki us vyakti ke shesh prakrit jeevan kaal ke liye karavas hoga ya mrityudand se bhi saza di jayegi toh yah bahut sabse kathor saza ka pravadhan hai isi me aur kahin bhi is se kathor saza ka pravadhan nahi ho sakta toh yah balatkar aur gangrape me dharayen hain aur inki sajayen

बलात्कार के लिए आईपीसी में धारा 376 में सजा का प्रावधान किया गया जहां इसके लिए एक शब्द बल्

Romanized Version
Likes  50  Dislikes    views  1673
KooApp_icon
WhatsApp_icon
1 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!