समाज सौंदर्य को ज़्यादा महत्व क्यों देता है जबकि सौंदर्य की कोई कार्यात्मक भूमिका नहीं है?...


user

Yogender Dhillon

Law Educator , Advocate,RTI Activist , Motivational Coach

0:33
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हुमन नेचर होता है जो चीज सुंदर दिखती है वह उसको अट्रैक्ट करती है ठीक है इसीलिए लोग सुंदरता को अधिक महत्व देते हैं लेकिन अगर सच में देखा जाए तो अगर सुंदर है ना तो सूरत सुंदर का कोई मायने नहीं है बहुत ऐसे एग्जांपल है जो अपनी मेहनत से आदमी काम करता है और सुंदरता को पीछे छोड़ जाता है तो इसलिए प्लीज आप भी आसपास के लोग भी उनको सबको कॉर्पोरेट करो कि काम पर फोकस करें जिनका काम सुंदर है वह इंसान सुंदर है

human nature hota hai jo cheez sundar dikhti hai vaah usko attract karti hai theek hai isliye log sundarta ko adhik mahatva dete hain lekin agar sach me dekha jaaye toh agar sundar hai na toh surat sundar ka koi maayne nahi hai bahut aise example hai jo apni mehnat se aadmi kaam karta hai aur sundarta ko peeche chhod jata hai toh isliye please aap bhi aaspass ke log bhi unko sabko corporate karo ki kaam par focus kare jinka kaam sundar hai vaah insaan sundar hai

हुमन नेचर होता है जो चीज सुंदर दिखती है वह उसको अट्रैक्ट करती है ठीक है इसीलिए लोग सुंदरता

Romanized Version
Likes  18  Dislikes    views  344
WhatsApp_icon
3 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user

Brijesh Singh

Faculty at Supreme IAS Allahabad

0:59

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लेकिन समाज सोमवार को इसलिए महत्व देता है जो कि सुंदर आप की कार्य क्षमता को बढ़ाता है यही इसकी सबसे बड़ी कार्यात्मक भूमि का एक उदाहरण से समझ लीजिए कि आप कहीं जाते हैं जहां पर बहुत सारी गंदगी है और वह गंदगी आपके अंदर हमेशा नेगेटिव एनर्जी लाएगी काम करने का मन नहीं करेगा लेकिन आप किसी ऐसे स्थान पर जाते हैं जहां पर एक खुशनुमा एहसास आपको महसूस होता है प्राकृतिक छटा या को आकर्षित करते हैं तो उसके कारण क्या होगा आपके अंदर एक पहुंचती बनर्जी आएगी और वह पोस्ट इनर्जी आपको काम करने के लिए प्रेरित करेगी आपको तरह-तरह ताजा रखेगी इसलिए कहा जाता है कि सुंदर जो है व्यक्ति की कार्य क्षमता को बढ़ाता है इसलिए समाज में हमेशा ही सुंदर का ज्यादा महत्व है

lekin samaaj somwar ko isliye mahatva deta hai jo ki sundar aap ki karya kshamta ko badhata hai yahi iski sabse badi karyatmak bhoomi ka ek udaharan se samajh lijiye ki aap kahin jaate hain jahan par bahut saree gandagi hai aur vaah gandagi aapke andar hamesha Negative energy laayegi kaam karne ka man nahi karega lekin aap kisi aise sthan par jaate hain jahan par ek khushnuma ehsaas aapko mahsus hota hai prakirtik chata ya ko aakarshit karte hain toh uske karan kya hoga aapke andar ek pahunchati banerjee aaegi aur vaah post inarji aapko kaam karne ke liye prerit karegi aapko tarah tarah taaza rakhegi isliye kaha jata hai ki sundar jo hai vyakti ki karya kshamta ko badhata hai isliye samaaj mein hamesha hi sundar ka zyada mahatva hai

लेकिन समाज सोमवार को इसलिए महत्व देता है जो कि सुंदर आप की कार्य क्षमता को बढ़ाता है यही इ

Romanized Version
Likes  60  Dislikes    views  1089
WhatsApp_icon
user

Nidi Sharma

Beauty Blogger|Reviewer|GK

0:58
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

धन्यवाद बस पूछना क्यों पूछ रहे आपका व्यक्तित्व आपकी बातों गरम सुननी है हम कभी आगे नहीं बढ़ पाएंगे क्योंकि चेहरे का रंग और चेहरे के सुंदरता हमारे अंदर का नहीं दिखा था कि हम कितने उत्तरण है हर चीज के लिए कितना अच्छा है क्योंकि आजकल जॉब में भी उतना मैटर नहीं करता कि हम ऊपर से सुंदर नहीं चाहिए आपका टैलेंट नाटक करते हैं आप कितने अच्छे हैं और इसको आपके अपने काम को लेकर बहुत सीरियस है तभी आजकल की कंपनी चाहती है वह जमाना गया जब आप का कैसे ऑपरेशन रिप्रेजेंटेशन इस इंपॉर्टेंट लेकिन इसका मतलब यह नहीं कि आपके चेहरे पर पूरा मेकअप बहुत सुंदर आजकल बहुत सारी चीजें मेकअप लेकिन सिंपलीसिटी ऑफ बेस्ट सारी कंपनी आजकल तो समाज की बातें छोड़ो और आगे बढ़ते रहें

dhanyavad bus poochna kyon poochh rahe aapka vyaktitva aapki baaton garam sunnani hai hum kabhi aage nahi badh payenge kyonki chehre ka rang aur chehre ke sundarta hamare andar ka nahi dikha tha ki hum kitne uttaran hai har cheez ke liye kitna accha hai kyonki aajkal job mein bhi utana matter nahi karta ki hum upar se sundar nahi chahiye aapka talent natak karte hain aap kitne acche hain aur isko aapke apne kaam ko lekar bahut serious hai tabhi aajkal ki company chahti hai vaah jamana gaya jab aap ka kaise operation riprejenteshan is important lekin iska matlab yah nahi ki aapke chehre par pura makeup bahut sundar aajkal bahut saree cheezen makeup lekin simpalisiti of best saree company aajkal toh samaaj ki batein chhodo aur aage badhte rahein

धन्यवाद बस पूछना क्यों पूछ रहे आपका व्यक्तित्व आपकी बातों गरम सुननी है हम कभी आगे नहीं बढ़

Romanized Version
Likes  62  Dislikes    views  1121
WhatsApp_icon
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!