प्यार मैरिज अच्छी है या अरेंज मैरिज?...


user

अनिल शास्त्री

शिक्षक,संपादक, सामाजिक कार्यकर्ता

2:13
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लव मैरिज अच्छी है या अरेंज मैरिज ही आपका प्रश्न है तो देखिए दोनों में से जिस परिस्थिति में हम अपना वैवाहिक जीवन और पारिवारिक जीवन भली प्रकार सुख में बिता सके वही अच्छी है यदि होने वाले पति पत्नी के बीच सामंजस्य है प्रियम है एक दूसरे की भावनाओं का आदर करते हैं तो दोनों प्रेमी होते हुए भी यदि अपनी लव मैरिज करते हैं तो वह भी अपने जीवन को सफलतापूर्वक यापन कर सकते हैं और यदि अरेंज मैरिज करके भी दोनों के विचारों में समानता स्थापित नहीं होती है दोनों के जीवन में विचारों की विषमता बनी रहती है जिससे कन्हे उत्पन्न होता है और उसे आपका वैवाहिक जीवन प्रभावित होता है तो वह अरेंज मैरिज भी किसी रूप से अच्छी नहीं कही जा सकती तो निश्चित रूप से वह प्रेम विवाह हो अथवा अभिभावकों के द्वारा किया गया निर्णय हो उनमें निश्चित रूप से दोनों के बीच सामान्य से बनी रहना दूसरे के विचारों को समझ पाना एक दूसरे के विचारों की कद्र करना एक दूसरे के प्रति सम्मान बनाए रखना और सबसे बड़ी बात दोनों प्रीति पूर्वक प्रेम पूर्वक अपना जीवन यापन करते हैं तो उनके दांपत्य सुख को और उनके पारिवारिक जीवन के सुख को अच्छा माना जा सकता है भले ही वह प्रेम विवाह हो अथवा परिवार के द्वारा किया गया अरेंज मैरिज हो तो यह निश्चित रूप से दोनों की भावनाओं दोनों की समझ दोनों के विचारों की सकारात्मकता पर निर्भर करता है धन्यवाद

love marriage achi hai ya arrange marriage hi aapka prashna hai toh dekhiye dono me se jis paristhiti me hum apna vaivahik jeevan aur parivarik jeevan bhali prakar sukh me bita sake wahi achi hai yadi hone waale pati patni ke beech samanjasya hai priyam hai ek dusre ki bhavnao ka aadar karte hain toh dono premi hote hue bhi yadi apni love marriage karte hain toh vaah bhi apne jeevan ko safaltaapurvak yaapan kar sakte hain aur yadi arrange marriage karke bhi dono ke vicharon me samanata sthapit nahi hoti hai dono ke jeevan me vicharon ki vishamata bani rehti hai jisse qnhe utpann hota hai aur use aapka vaivahik jeevan prabhavit hota hai toh vaah arrange marriage bhi kisi roop se achi nahi kahi ja sakti toh nishchit roop se vaah prem vivah ho athva abhibhavakon ke dwara kiya gaya nirnay ho unmen nishchit roop se dono ke beech samanya se bani rehna dusre ke vicharon ko samajh paana ek dusre ke vicharon ki kadra karna ek dusre ke prati sammaan banaye rakhna aur sabse badi baat dono preeti purvak prem purvak apna jeevan yaapan karte hain toh unke danpatya sukh ko aur unke parivarik jeevan ke sukh ko accha mana ja sakta hai bhale hi vaah prem vivah ho athva parivar ke dwara kiya gaya arrange marriage ho toh yah nishchit roop se dono ki bhavnao dono ki samajh dono ke vicharon ki sakaraatmakata par nirbhar karta hai dhanyavad

लव मैरिज अच्छी है या अरेंज मैरिज ही आपका प्रश्न है तो देखिए दोनों में से जिस परिस्थिति में

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  118
WhatsApp_icon
4 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

HSM Chemistry ,kota

IIT NEET TEACHER @ 9672453796

1:01
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लव मैरिज एंड यार मर जाती है या अरेंज मैरिज में देखिए आपके दिमाग और मन पर निर्भर करता है यदि आप खुले विचारों के हैं तो चाय लव मैरिज या अरेंज मैरिज आप खुश रहेंगे और यदि हम क्या खुले विचारों के नहीं हैं तो लव मैरिज में भी उतनी ही लड़ाइयां कितने की है अरेंज मैरिज में इसमें कौन सी अच्छी है और कौन सी बुरी है शादी तो वैसे दोनों ही अच्छी है परंतु आपके विचार कैसे हैं इस पर निर्भर करेगा कि लव मैरिज अच्छी गुजरी या अरेंज मैरिज यदि आप खुले विचारों के नहीं है तो आप जिस से लव करते हैं उस पर भी शक करने लग जाएंगे और एक वक्त ऐसा आएगा जब लव मैरिज भी टूटने के कगार पर आ सकती है और अरेंज मैरिज में अभी-अभी भरोसा अच्छा तो कोई बहुत प्रॉब्लम नहीं आती अरेंज मैरिज में शक करते देखे गए हैं इसलिए थोड़ा प्रॉब्लम आती है बाकी देखो मैरिज टो मैरिज होती है साला हो या अरेंज धन्यवाद

love marriage and yaar mar jaati hai ya arrange marriage me dekhiye aapke dimag aur man par nirbhar karta hai yadi aap khule vicharon ke hain toh chai love marriage ya arrange marriage aap khush rahenge aur yadi hum kya khule vicharon ke nahi hain toh love marriage me bhi utani hi ladaiyan kitne ki hai arrange marriage me isme kaun si achi hai aur kaun si buri hai shaadi toh waise dono hi achi hai parantu aapke vichar kaise hain is par nirbhar karega ki love marriage achi gujari ya arrange marriage yadi aap khule vicharon ke nahi hai toh aap jis se love karte hain us par bhi shak karne lag jaenge aur ek waqt aisa aayega jab love marriage bhi tutne ke kagar par aa sakti hai aur arrange marriage me abhi abhi bharosa accha toh koi bahut problem nahi aati arrange marriage me shak karte dekhe gaye hain isliye thoda problem aati hai baki dekho marriage toe marriage hoti hai sala ho ya arrange dhanyavad

लव मैरिज एंड यार मर जाती है या अरेंज मैरिज में देखिए आपके दिमाग और मन पर निर्भर करता है यद

Romanized Version
Likes  13  Dislikes    views  196
WhatsApp_icon
user

vedprakash singh

Psychologist

2:06
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

प्यार मर जाता ही अरेंज मैरेज प्यार मैरिज में जो होता है कि हम दोनों एक दूसरे के मालिक होते हमारा उसका हम लेकिन अरेंज मैरिज में यह होता है कि माता-पिता या फिर जो सगे संबंधी है जो अरेंज करते हैं शादी का शादी के बारे में सोच विचार या पूरे व्यवस्था भी खाती है और सारे लोग हमारे मालिक होते हैं और इसके बाद भी उन सारे लोगों से मिलकर रहना होता है जिंदगी भर निभाने होते लेकिन प्यार मैरिज में क्या होता है हम दोनों की भी ज्यादा ही प्यार बना रहता है लेकिन यदि देखा जाए तो अरेंज मैरेज अच्छी है प्यार मर जितनी अच्छी नहीं है जितनी अरेंज मैरेज है क्योंकि यदि हम किससे और कामना रखते हैं उसका हमको उल्टा विपरीत परिणाम होता है प्यार में होता है हम पहले से एक-दूसरे को जानते गाते हैं तो जिन चीजों को ज्यादा जानते हैं उसका भैलू हमारे लिए खत्म हो जाता है इसलिए प्यार मैरिज को उतना बेहतर नहीं माना गया प्यार में मतलब अच्छा मत इनसे यह मिलेगा इसलिए मिलेगा जब किसी से कुछ मिलेगा ऐसी उम्मीद आ जाती है फिर कुछ नहीं मिलता फिर वहां दुख देखने को मिलता है ना तो कोई दुखी कर सकता किसी को नौकरी सुखी कर सकता है जब हमें कोई ना दुखी न सुखी कर सकता है फिर कौन सुखी दुखी करता आदमी अपने आप से सुखी दुखी होता है तो प्रेम मरे जो है जो कि प्यार में राज भी बोलते हैं उनमें एक दूसरा सुखी दुखी करता है लेकिन अरेंज मैरिज में दूसरा मतलब जो इसे प्यार करते हो निकाले निमाज में हमने सारे एक दूसरे को दुखी सुखी करते हैं हमें कोई दूसरे दोस्त बनाने की जरूरत होती है तो हर किसी का अपना एक अलग अलग सोचा किसी को प्यार मैरिज अच्छा लगता है किसी को अरेंज मैरेज अच्छा लगता है वैसे देखा जाए तो दोनों एक जगह पर ठीक है यदि ऐसा हो कि पहले प्यार में राज हो फिर अरेंज मैरेज हो जाए और भी बढ़िया होगा ऐसा कहीं कहीं देखने को मिला

pyar mar jata hi arrange marriage pyar marriage mein jo hota hai ki hum dono ek dusre ke malik hote hamara uska hum lekin arrange marriage mein yah hota hai ki mata pita ya phir jo sage sambandhi hai jo arrange karte hain shadi ka shadi ke bare mein soch vichar ya poore vyavastha bhi khati hai aur saare log hamare malik hote hain aur iske baad bhi un saare logo se milkar rehna hota hai zindagi bhar nibhane hote lekin pyar marriage mein kya hota hai hum dono ki bhi zyada hi pyar bana rehta hai lekin yadi dekha jaaye toh arrange marriage achi hai pyar mar jitni achi nahi hai jitni arrange marriage hai kyonki yadi hum kisse aur kamna rakhte hain uska hamko ulta viprit parinam hota hai pyar mein hota hai hum pehle se ek dusre ko jante gaate hain toh jin chijon ko zyada jante hain uska bhailu hamare liye khatam ho jata hai isliye pyar marriage ko utana behtar nahi mana gaya pyar mein matlab accha mat inse yah milega isliye milega jab kisi se kuch milega aisi ummid aa jaati hai phir kuch nahi milta phir wahan dukh dekhne ko milta hai na toh koi dukhi kar sakta kisi ko naukri sukhi kar sakta hai jab hamein koi na dukhi na sukhi kar sakta hai phir kaun sukhi dukhi karta aadmi apne aap se sukhi dukhi hota hai toh prem mare jo hai jo ki pyar mein raj bhi bolte hain unmen ek doosra sukhi dukhi karta hai lekin arrange marriage mein doosra matlab jo ise pyar karte ho nikale nimaj mein humne saare ek dusre ko dukhi sukhi karte hain hamein koi dusre dost banane ki zarurat hoti hai toh har kisi ka apna ek alag alag socha kisi ko pyar marriage accha lagta hai kisi ko arrange marriage accha lagta hai waise dekha jaaye toh dono ek jagah par theek hai yadi aisa ho ki pehle pyar mein raj ho phir arrange marriage ho jaaye aur bhi badhiya hoga aisa kahin kahin dekhne ko mila

प्यार मर जाता ही अरेंज मैरेज प्यार मैरिज में जो होता है कि हम दोनों एक दूसरे के मालिक होते

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  182
WhatsApp_icon
play
user
0:39

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कि दोनों ही मैरिजस बहुत अच्छे हैं आपको जो सूटेबल लगता है अब वह कीजिए अगर अरेंज मैरेज आपको सूटेबल लग रही है देखिए अगर आप अरेंज मैरिज कर रहे हैं तो आपके जो सामने सबके लिए जो रिश्ता रहा है आप रिश्ता लेकर जा रहे हैं वह भी अरेंज मैरिज ही कर रहा है तो आपके दोनों के जो पर्सपेक्टिव्स होते हैं जो सोचने का तरीका होता है उससे हम होता है तो इससे अरेंज मैरिज में अंडरस्टैंडिंग बनी रहती है और यह बहुत अच्छी चीज है और लव मैरिज के अंदर पहले से ही अंडरस्टैंडिंग होती है और रोज है लव मैरिज वही लोग करते हैं जिनके रिलेशनशिप्स अच्छे सक्सेसफुल चल रहे होते तो इसी तरीके से जो है दोनों मैरिजस अच्छी हो सकते हैं अगर बनाई जाए तो तो यह इंसान इंसान पर डिपेंड करता है कि वह कैसा है उसका भी घर कैसा है

ki dono hi mairijas bahut acche hain aapko jo suitable lagta hai ab vaah kijiye agar arrange marriage aapko suitable lag rahi hai dekhiye agar aap arrange marriage kar rahe hain toh aapke jo saamne sabke liye jo rishta raha hai aap rishta lekar ja rahe hain vaah bhi arrange marriage hi kar raha hai toh aapke dono ke jo parsapektivs hote hain jo sochne ka tarika hota hai usse hum hota hai toh isse arrange marriage mein understanding bani rehti hai aur yah bahut achi cheez hai aur love marriage ke andar pehle se hi understanding hoti hai aur roj hai love marriage wahi log karte hain jinke relationships acche successful chal rahe hote toh isi tarike se jo hai dono mairijas achi ho sakte hain agar banai jaaye toh toh yah insaan insaan par depend karta hai ki vaah kaisa hai uska bhi ghar kaisa hai

कि दोनों ही मैरिजस बहुत अच्छे हैं आपको जो सूटेबल लगता है अब वह कीजिए अगर अरेंज मैरेज आपको

Romanized Version
Likes  19  Dislikes    views  441
WhatsApp_icon
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!