वैलेंटाइन डे क्यों मनाया जाता है?...


user

Pramod Kushwaha

famous Motivational Guru N Painter

0:25
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मैं मोटिवेशनल गुरु प्रमोद कुशवाहा को कल मैं आपका स्वागत करता हूं वह कल परिवार से अपने प्रश्न किया है कि वैलेंटाइन डे क्यों मनाया जाता है वैलेंटाइन एक शब्द से उनको बहुत प्यार पसंद था किसी कपल को देखते थे तो देख कर उनके मन में प्रसन्नता होती थी और उनका साथ देते थे तो खुश होते थे और जब दुनिया में नहीं रहे तो उनके नाम से लोग वैलेंटाइन डे मनाने

main Motivational guru pramod kushwaha ko kal main aapka swaagat karta hoon vaah kal parivar se apne prashna kiya hai ki valentine day kyon manaya jata hai valentine ek shabd se unko bahut pyar pasand tha kisi couple ko dekhte the toh dekh kar unke man me prasannata hoti thi aur unka saath dete the toh khush hote the aur jab duniya me nahi rahe toh unke naam se log valentine day manane

मैं मोटिवेशनल गुरु प्रमोद कुशवाहा को कल मैं आपका स्वागत करता हूं वह कल परिवार से अपने प्रश

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  183
WhatsApp_icon
6 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

आचार्य प्रशांत

IIT-IIM Alumnus, Ex Civil Services Officer, Mystic

8:58
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

छठी शताब्दी की बात कीजिए 18 साल पहले की सकीना की कहानी आपस में मिश्रित हो चुकी है वर्ष के कैलेंडर में वैलेंटाइन डे वीक इन होते हैं एक में एक राजा की लड़ाइयां करवानी थी हिंसा चाहिए ताकि ताकि वो लड़के लड़के बहुत पवित्र उद्देश्य है युद्ध का ताकि राजा के घर जाता है राजा की जो पड़ता है राजा फिल्म के समर्थक खेलने वाला नहीं था तुमको कहते हैं उन्होंने धीरे-धीरे चुपके चुपके जोड़ों के घर आने के लिए ट्रेन कहां पर कहते हैं कि जो जेलर था कि शायद जो मोदी आज उनका मुकदमा सुनने वाला था उसकी बेटी बेटी अंधी थी तो संसार को उसके बेटी से प्रेम हुआ की बेटी है जो है जेल में रखे हुए ट्रेन के चलते कहानी बताती है कि उन्होंने उस बेटी की आंखे ठीक कर दी उसको देखने की ताकत गुब्बारे और यह स्टडी लेकर घूम रहे हो तो मैं थोड़ा विस्तार में बता रहा हूं तभी समझ भी खाली करके व्यक्त करते हुए पत्र में नीचे तो वहां से अपने प्रेमी को अपने वेलेंटाइन करने की प्रथा शुरू प्रेमी और प्रेमिका और इसके थोड़ी देर बाद उनका किया गया मौत की सजा सुनाई जाती है कि लड़की बल्कि उसके पिता समेत उसके घर के 40 50 लोग सब की हो गए चित्र से कह दो तो पहले वह भी घर में थे जो प्राथमिकता था तो यह है हमारे वैलेंटाइन की कहानी कहानी में जो संकेत है दोनों तीनों की आंखों का धार्मिक हो जाना और सन साहब का सर कलम कर दिया जाना हम तो सर काट दिए गए तीनों ही बातें नहीं देख पा रही लड़की सब क्या है इसका मतलब यह है कि उसको दुनिया समझ में नहीं आ रही थी हम कौन हैं दुनिया को आदमी है उनको देखने की कोई पानी पर चलने लग गया था या कोई हवा में उड़ने लगे तो उसी तरह से दुनिया को देखने की नजर दे दी घर की बेटी थी रेल भी आपका ही मूवी राजा कहीं तुम छल्ला राजा किसको बोलता था लेवल को जेल में डाल दे फिर उसको अंदर मार दे वही सच्चा में जेलर कर रहा है तो उसके घर में जो लड़की पली-बढ़ी है कैसी रही होगी वह भी ऐसी पगली मूर्ख ऐसी लड़की को भी चंद्र लेन टाइम में अपनी संगति से अपने स्पर्श से दृष्टि से दूसरी बात उन्होंने उसको दृष्टि दे दी उनका प्रेम था उन्होंने क्या किया उसको दृष्टि देने के लिए और उनका अगर अपना गला कर दिया गला कितना भी ऐसा नहीं है कि तुम नहीं मानोगे वास्तव में हर घर से जुदा होगा तेरी गला कटा कर जो है वह कार का सूचक होता है सरकार का पति होता है अपने लिए अपने ही हित के लिए अपने ही स्वार्थ के लिए मुझे करना है जीना है इस भावना का कट जाना क्या होता है वह बता दे प्रेम का मतलब है कि जिसके साथ हो उसकी आंखें खोल दो जिसके साथ हो उसकी आंखें खोलने के लिए अगर अपनी जान भी देनी पड़े तो दे दो राखी खुलने का क्या मतलब है उसको धर्म की तरफ भेज दो उन्होंने स्वयं किया हो उसको तो मधु की दिशा भेज दो खुद को जानने लगे मन को समझने लगे यही प्रेम है और कर दो प्रमुख कारण क्या है कि उन्होंने वास्तविक लड़की आ जाए जिंदगी में तो यह नहीं करना है कुछ तो बोल डाला उसको अनुमति दे दी क्यों तुम को भोग डाले उसको आंखें दे दो प्रेम

chathi shatabdi ki baat kijiye 18 saal pehle ki sakina ki kahani aapas mein mishrit ho chuki hai varsh ke calendar mein valentine day weak in hote hai ek mein ek raja ki ladaiyan karvani thi hinsa chahiye taki taki vo ladke ladke bahut pavitra uddeshya hai yudh ka taki raja ke ghar jata hai raja ki jo padta hai raja film ke samarthak khelne vala nahi tha tumko kehte hai unhone dhire dhire chupake chupake jodo ke ghar aane ke liye train kahaan par kehte hai ki jo jailor tha ki shayad jo modi aaj unka mukadma sunne vala tha uski beti beti aandhi thi toh sansar ko uske beti se prem hua ki beti hai jo hai jail mein rakhe hue train ke chalte kahani batati hai ki unhone us beti ki aankhen theek kar di usko dekhne ki takat gubbare aur yah study lekar ghum rahe ho toh main thoda vistaar mein bata raha hoon tabhi samajh bhi khaali karke vyakt karte hue patra mein niche toh wahan se apne premi ko apne valentine karne ki pratha shuru premi aur premika aur iske thodi der baad unka kiya gaya maut ki saza sunayi jaati hai ki ladki balki uske pita samet uske ghar ke 40 50 log sab ki ho gaye chitra se keh do toh pehle vaah bhi ghar mein the jo prathamikta tha toh yah hai hamare valentine ki kahani kahani mein jo sanket hai dono tatvo ki aankho ka dharmik ho jana aur san saheb ka sir kalam kar diya jana hum toh sir kaat diye gaye tatvo hi batein nahi dekh paa rahi ladki sab kya hai iska matlab yah hai ki usko duniya samajh mein nahi aa rahi thi hum kaun hai duniya ko aadmi hai unko dekhne ki koi paani par chalne lag gaya tha ya koi hawa mein udane lage toh usi tarah se duniya ko dekhne ki nazar de di ghar ki beti thi rail bhi aapka hi movie raja kahin tum chhalla raja kisko bolta tha level ko jail mein daal de phir usko andar maar de wahi saccha mein jailor kar raha hai toh uske ghar mein jo ladki pali badhi hai kaisi rahi hogi vaah bhi aisi pagli murkh aisi ladki ko bhi chandra len time mein apni sangati se apne sparsh se drishti se dusri baat unhone usko drishti de di unka prem tha unhone kya kiya usko drishti dene ke liye aur unka agar apna gala kar diya gala kitna bhi aisa nahi hai ki tum nahi manoge vaastav mein har ghar se jinko hoga teri gala kata kar jo hai vaah car ka suchak hota hai sarkar ka pati hota hai apne liye apne hi hit ke liye apne hi swarth ke liye mujhe karna hai jeena hai is bhavna ka cut jana kya hota hai vaah bata de prem ka matlab hai ki jiske saath ho uski aankhen khol do jiske saath ho uski aankhen kholne ke liye agar apni jaan bhi deni pade toh de do rakhi khulne ka kya matlab hai usko dharm ki taraf bhej do unhone swayam kiya ho usko toh madhu ki disha bhej do khud ko jaanne lage man ko samjhne lage yahi prem hai aur kar do pramukh karan kya hai ki unhone vastavik ladki aa jaaye zindagi mein toh yah nahi karna hai kuch toh bol dala usko anumati de di kyon tum ko bhog dale usko aankhen de do prem

छठी शताब्दी की बात कीजिए 18 साल पहले की सकीना की कहानी आपस में मिश्रित हो चुकी है वर्ष के

Romanized Version
Likes  546  Dislikes    views  3460
WhatsApp_icon
user

NotInterested

NotInterested

0:20
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

वैलेंटाइन डे को एक प्रेम दिवस के रुप में मनाया जाता है और यह रिश्ते के लिए मनाया जाता है कि लाइक हम किससे प्यार करते हैं इसमें प्रेमी प्रेमिका भाई बहन दोस्त मां-बाप जिसे हम प्यार करते हैं उन सबके लिए मनाया जाता है

valentine day ko ek prem divas ke roop mein manaya jata hai aur yah rishte ke liye manaya jata hai ki like hum kisse pyar karte hain isme premi premika bhai behen dost maa baap jise hum pyar karte hain un sabke liye manaya jata hai

वैलेंटाइन डे को एक प्रेम दिवस के रुप में मनाया जाता है और यह रिश्ते के लिए मनाया जाता है क

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  225
WhatsApp_icon
play
user

gurpreet singh

Computer graduate

0:25

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सेंट वेलेंटाइन की कथा वेलेंटाइन डे का इतिहास और उसके शिक्षक संघ की कहानी रहस्य में छिपी हुई हम मानते हैं कि जात जनवरी-फरवरी को रोमांस के 1 महीने के रूप में लंबे समय से मनाया जाता है और यह कि सेंट वैलेंटाइन डे आज भी हम ना जानते हैं जिसमें इसाई और प्राचीन रोमन परंपरा दोनों के अवशेष शामिल है

sent valentine ki katha valentine day ka itihas aur uske shikshak sangh ki kahani rahasya mein chipi hui hum maante hain ki jaat january february ko romance ke 1 mahine ke roop mein lambe samay se manaya jata hai aur yah ki sent valentine day aaj bhi hum na jante hain jisme isai aur prachin roman parampara dono ke avshesh shaamil hai

सेंट वेलेंटाइन की कथा वेलेंटाइन डे का इतिहास और उसके शिक्षक संघ की कहानी रहस्य में छिपी हु

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  205
WhatsApp_icon
user

Ridhima

Mass Communications Student

0:51
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कहा जाता है कि वैलेंटाइन डे का नाम से ट्रेन टाइम के नाम पर रखा गया है दरअसल रूम में तीसरी सदी में क्लॉडियस नाम के राजा का राज हुआ करता था कॉलेज का मानना था कि विवाह करने से पुरुषों की शक्ति और बुद्धि खत्म हो जाती है इसी के चलते उसने पूरे राज्य में यह आदेश जारी कर दिया कि उसका कोई भी सैनी के अधिकारी शादी नहीं करेगा लेकिन सेंटा क्लॉस के इस आदेश पर कड़ा विरोध जताया और पूरे राज्य में लोगों को विवाह करने के लिए प्रेरित किया 3 घंटे में अनेक सैनिक और अधिकारियों का विवाह करवाया चुपके से अपने आदेश का विरोध दे आखिर क्यों इस निकोटीन 7269 को सेंट वैलेंटाइंस को फांसी पर चढ़ा दिया सबसे उनकी याद में यह दिन मनाया जाता है

kaha jata hai ki valentine day ka naam se train time ke naam par rakha gaya hai darasal room mein teesri sadi mein kladiyas naam ke raja ka raj hua karta tha college ka manana tha ki vivah karne se purushon ki shakti aur buddhi khatam ho jaati hai isi ke chalte usne poore rajya mein yah aadesh jaari kar diya ki uska koi bhi saini ke adhikari shadi nahi karega lekin centa claus ke is aadesh par kada virodh jataya aur poore rajya mein logo ko vivah karne ke liye prerit kiya 3 ghante mein anek sainik aur adhikaariyo ka vivah karvaya chupake se apne aadesh ka virodh de aakhir kyon is nicotine 7269 ko sent valentines ko fansi par chadha diya sabse unki yaad mein yah din manaya jata hai

कहा जाता है कि वैलेंटाइन डे का नाम से ट्रेन टाइम के नाम पर रखा गया है दरअसल रूम में तीसरी

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  159
WhatsApp_icon
user

Rahul kumar

Junior Volunteer

0:21
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इनटेजेसिक प्रेमी प्रेमिका के बीच की जो रिश्ते को बेहतर करने के लिए सेलिब्रेट करने के लिए मनाया जाता है हर साल जो है वेलेंटाइन वीक होता है फरवरी मंथ में आता है 7 तारीख में पहले वीक से स्टार्ट हो जाता है कि अलग-अलग दिन जो है प्यार की रिश्ते को मजबूत करने के लिए ट्रेन वैलेंटाइन डे मनाया जा

inatejesik premi premika ke beech ki jo rishte ko behtar karne ke liye celebrate karne ke liye manaya jata hai har saal jo hai valentine weak hota hai february month mein aata hai 7 tarikh mein pehle weak se start ho jata hai ki alag alag din jo hai pyar ki rishte ko majboot karne ke liye train valentine day manaya ja

इनटेजेसिक प्रेमी प्रेमिका के बीच की जो रिश्ते को बेहतर करने के लिए सेलिब्रेट करने के लिए म

Romanized Version
Likes  15  Dislikes    views  393
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
वैलेंटाइन डे किसे कहते हैं ; वैलेंटाइन्स दिवस ; valentine de kyon manaya jata hai ; क्यों वेलेंटाइन दिवस मनाया ; प्रेम दिवस कब मनाया जाता है ; वैलेंटाइंस डे कब मनाया जाता है ;

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!