आज कल पढ़ाई करने वाले छात्रों में राजनीति का बड़ा शौक है। खुद को युवा राजनेता कहलाना पसंद करते हैं। आपके विचार क्या हैं इनके बारे में?...


play
user

Govind Saraf

Entrepreneur

1:24

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यह तो बहुत अच्छी बात हुई कि आजकल पढ़ाई करने वाले छात्रों को राजनीति का बड़ा शौक है और खुद को युवा नेता राजनेता कल आना पसंद करते हैं क्योंकि अब तो 2014 के चुनाव के पहले देखे तो पहले बच्चे इंटरेस्ट नहीं लेते थे लेकिन जब से मोदी जी का चुनाव प्रचार चालू हो अच्छे दिन आएंगे हर बच्चे के मुंह पर बाद आने लग गए अच्छे दिन आएंगे और इस तरह के सुनने 2014 में बहुत ही बड़ी विजय हासिल की थी कि राजनीति में सबसे बड़ा तो पहले नरेंद्र मोदी जी का ही है उन्होंने इस तरीके से टिप्स लिखे तो बहुत अच्छी बात है कि आप अपने देश के बच्चों को जागरूक कर चुन राजनीति के तरफ और राजनीति एक बहुत ही इंपॉर्टेंट टॉपिक है कॉटन विषय है एक ओर जहां देश की बातें होती है देश का भविष्य जुड़ी बातें होती है देश के लोगों से जुड़े बातचीत होते हैं बातें होती है तो यार एक बच्चे को मैं मानता हूं एंटरटेनर जरूर ही एंड सजेशंस ओं ने फॉरवर्ड कर करौली में समझ रहा है जरूरी है देश में क्या जरूरी है और क्या सरकारी कर रही है इसी तरीके से हम देश को आगे ले जा पाएंगे और हर इंसान अगर जागरूक होता है तो सरकारें भी जो बड़े-बड़े घोटाले कर दी सब करने से डरेंगे सचेत रहेंगे क्योंकि अगर जनता बेवकूफ कर बेवकूफ रहती है तो सरकार को ठगने में आसानी होती की जनता का होशियार हो सर काटने के पहले 10000 बार सोचेंगे

yah toh bahut achi baat hui ki aajkal padhai karne waale chhatro ko raajneeti ka bada shauk hai aur khud ko yuva neta raajneta kal aana pasand karte hain kyonki ab toh 2014 ke chunav ke pehle dekhe toh pehle bacche interest nahi lete the lekin jab se modi ji ka chunav prachar chaalu ho acche din aayenge har bacche ke mooh par baad aane lag gaye acche din aayenge aur is tarah ke sunne 2014 mein bahut hi badi vijay hasil ki thi ki raajneeti mein sabse bada toh pehle narendra modi ji ka hi hai unhone is tarike se tips likhe toh bahut achi baat hai ki aap apne desh ke baccho ko jagruk kar chun raajneeti ke taraf aur raajneeti ek bahut hi important topic hai cotton vishay hai ek aur jaha desh ki batein hoti hai desh ka bhavishya judi batein hoti hai desh ke logo se jude batchit hote hain batein hoti hai toh yaar ek bacche ko main manata hoon entertainer zaroor hi and sajeshans on ne forward kar karauli mein samajh raha hai zaroori hai desh mein kya zaroori hai aur kya sarkari kar rahi hai isi tarike se hum desh ko aage le ja payenge aur har insaan agar jagruk hota hai toh sarkaren bhi jo bade bade ghotale kar di sab karne se darenge sachet rahenge kyonki agar janta bewakoof kar bewakoof rehti hai toh sarkar ko thagane mein aasani hoti ki janta ka hoshiyar ho sir katne ke pehle 10000 baar sochenge

यह तो बहुत अच्छी बात हुई कि आजकल पढ़ाई करने वाले छात्रों को राजनीति का बड़ा शौक है और खुद

Romanized Version
Likes  76  Dislikes    views  1302
WhatsApp_icon
2 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

shard yadav

Upsc aspirant

0:60
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इसमें कोई बुराई नहीं है कोई युवा पढ़ाई के साथ-साथ या पढ़ाई के बाद राजनीति में आना चाहता है तो इसमें कोई बुराई नहीं है बल्कि एक स्वस्थ राजनीति का प्रतीक है जिसमें पढ़े-लिखे और युवा लोग आएंगे उतने ही कार्यशील पर जो सिली राजनीति होगी और इससे लोगों का कनेक्शन भी अच्छा होगा और धरातल से लोग जुड़े हुए ऊपर जाएंगे को धरातल की चमक में पकड़ रखते हैं और धरातल की समस्याओं को समझते हैं तो इसमें कोई बुराई नहीं है और ज्यादा से ज्यादा स्टूडेंट लीडर आने की आगे पुष्कर नीति राजनीति का एक नया मोड़ आना चाहिए कि नहीं शर्म आनी चाहिए तो बहुत अच्छी बात है पढ़ाई लिखाई यह थोड़ा राजनेता कहलाने का शोक इसलिए आ गया क्योंकि जो राजनीति है गाड़ी सुरक्षा का घेरा तो यह सब राजनेता का नाम इसका दुरुपयोग के लिए थोड़ा आगे होता है बाक़ी बहुत अच्छी बात है कि भारत का युद्ध धीरे-धीरे राजू की मौत राजनीति का प्रतीक

isme koi burayi nahi hai koi yuva padhai ke saath saath ya padhai ke baad raajneeti mein aana chahta hai toh isme koi burayi nahi hai balki ek swasthya raajneeti ka prateek hai jisme padhe likhe aur yuva log aayenge utne hi karyasheel par jo silly raajneeti hogi aur isse logo ka connection bhi accha hoga aur dharatal se log jude hue upar jaenge ko dharatal ki chamak mein pakad rakhte hain aur dharatal ki samasyaon ko samajhte hain toh isme koi burayi nahi hai aur zyada se zyada student leader aane ki aage pushkar niti raajneeti ka ek naya mod aana chahiye ki nahi sharm aani chahiye toh bahut achi baat hai padhai likhai yah thoda raajneta kahlane ka shok isliye aa gaya kyonki jo raajneeti hai gaadi suraksha ka ghera toh yah sab raajneta ka naam iska durupyog ke liye thoda aage hota hai baki bahut achi baat hai ki bharat ka yudh dhire dhire raju ki maut raajneeti ka prateek

इसमें कोई बुराई नहीं है कोई युवा पढ़ाई के साथ-साथ या पढ़ाई के बाद राजनीति में आना चाहता है

Romanized Version
Likes  15  Dislikes    views  410
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!