क्या भारतीय इतिहास से छेड़छाड़ हुई है?...


user

Rajveer

Career Counselor

0:34
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बताना चाहूंगा हमारी भारतीय इतिहास से छेड़छाड़ हुई है मध्यकालीन भारत का इतिहास हमारा प्रॉपर नहीं है प्राचीन भारत का इतिहास भी नहीं मिलता है आधुनिक प्रकृति ढंग से लिखना चाहिए था उसी ढंग से नहीं लिखा गया क्योंकि 1947 तक हमारे देश पर अंग्रेजों का शासन था जो भी अच्छी बातें लिखी गई थी उनको अंग्रेजों ने जला दिया गया उसके बाद इतिहास का लेखन कार्य आरसी मजूमदार को दिया गया जिन्होंने काफी हद तक सही लिखा है लेकिन उतना प्रभावी ढंग से नील का जितना हमारे इतिहास होना चाहिए था

bataana chahunga hamari bharatiya itihas se chedchad hui hai madhyakalin bharat ka itihas hamara proper nahi hai prachin bharat ka itihas bhi nahi milta hai aadhunik prakriti dhang se likhna chahiye tha usi dhang se nahi likha gaya kyonki 1947 tak hamare desh par angrejo ka shasan tha jo bhi achi batein likhi gayi thi unko angrejo ne jala diya gaya uske baad itihas ka lekhan karya RC majumadar ko diya gaya jinhone kaafi had tak sahi likha hai lekin utana prabhavi dhang se neel ka jitna hamare itihas hona chahiye tha

बताना चाहूंगा हमारी भारतीय इतिहास से छेड़छाड़ हुई है मध्यकालीन भारत का इतिहास हमारा प्रॉपर

Romanized Version
Likes  85  Dislikes    views  1455
WhatsApp_icon
6 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Suraj Shaw

Entrepreneur, Career Counsellor

0:56
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो फ्रेंड्स देखे भारतीय दया से कोई छेड़छाड़ नहीं हुई है बस कोई पढ़ने नहीं चाहता लोग सिर्फ एक दूसरे की बातें सुनकर के व्हाट्सएप के मैसेजेस पढ़कर के उस पार बातों को सच मान लेते हैं और जो हमारे इतिहास है वह कुछ और ही दिखा दिया जाता है कुछ लोगों के द्वारा ऐसा नहीं है इतिहास तो वही है अगर कोई पढ़ना चाहे तो बिल्कुल उसे सब कुछ समझ में आ जाएगा इसलिए ना तो इतिहास लिखी हुई है काफी जगह लिखी हुई है बहुत सारी ऐसी किताब है जहां पर भारत का इतिहास लिखा गया है और इसमें कोई छेड़छाड़ नहीं हुई जो एक्चुअल था वही लिखा गया है और जो आने वाले समय में लोग पढ़ेंगे वह भी सही बने कुछ लोगों को नॉलेज नहीं होती इस बात की तो उन्हें लगता है कि इतिहास कुछ और तारा नाम है कुछ और बताया जाए

hello friends dekhe bharatiya daya se koi chedchad nahi hui hai bus koi padhne nahi chahta log sirf ek dusre ki batein sunkar ke whatsapp ke messages padhakar ke us par baaton ko sach maan lete hain aur jo hamare itihas hai vaah kuch aur hi dikha diya jata hai kuch logo ke dwara aisa nahi hai itihas toh wahi hai agar koi padhna chahen toh bilkul use sab kuch samajh mein aa jaega isliye na toh itihas likhi hui hai kaafi jagah likhi hui hai bahut saree aisi kitab hai jaha par bharat ka itihas likha gaya hai aur isme koi chedchad nahi hui jo actual tha wahi likha gaya hai aur jo aane waale samay mein log padhenge vaah bhi sahi bane kuch logo ko knowledge nahi hoti is baat ki toh unhe lagta hai ki itihas kuch aur tara naam hai kuch aur bataya jaaye

हेलो फ्रेंड्स देखे भारतीय दया से कोई छेड़छाड़ नहीं हुई है बस कोई पढ़ने नहीं चाहता लोग सिर्

Romanized Version
Likes  68  Dislikes    views  915
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

क्या भारतीय इतिहास से छेड़छाड़ हुई है देखिए इतिहास से हर जगह के इतिहास से छेड़छाड़ होती क्योंकि होता क्या है इतिहास ताकतवर लोगों द्वारा लिखा जाता है तो जो हार गए होते हैं उनकी कहानी कोई नहीं लगता और जो ताकतवर होता है वह जैसे लिखना चाहता है वह वैसे लिखा था और अगर वह क्रूर होता है तो बहुत बार वह अपनी चीजें छुपा ले जाता है या फिर वह उसकी क्रूरता अल्ताफ दिखती है जब वह दिखाना चाहता है कि हां हमने कुचला है क्योंकि इतने ताकतवर थे अगर वह यह दिखाना चाहता है तब उसकी क्रूरता इतिहास में आती है वरना अपनी जाकर क्रूरता है छुपा ले जाता है और इसलिए भारतीय इतिहास के हार इतिहास से छेड़छाड़ होती ही होती है क्योंकि वह मजबूत लोगों तरह लिखा जाता है और जो दबाए जाते हैं उनका इतिहास दवाई रह जाता है और हम उनके बारे में कभी पता नहीं चलता थैंक यू

kya bharatiya itihas se chedchad hui hai dekhiye itihas se har jagah ke itihas se chedchad hoti kyonki hota kya hai itihas takatwar logo dwara likha jata hai toh jo haar gaye hote hai unki kahani koi nahi lagta aur jo takatwar hota hai vaah jaise likhna chahta hai vaah waise likha tha aur agar vaah krur hota hai toh bahut baar vaah apni cheezen chupa le jata hai ya phir vaah uski krurta altaf dikhti hai jab vaah dikhana chahta hai ki haan humne kuchala hai kyonki itne takatwar the agar vaah yah dikhana chahta hai tab uski krurta itihas mein aati hai varna apni jaakar krurta hai chupa le jata hai aur isliye bharatiya itihas ke haar itihas se chedchad hoti hi hoti hai kyonki vaah majboot logo tarah likha jata hai aur jo dabaye jaate hai unka itihas dawai reh jata hai aur hum unke bare mein kabhi pata nahi chalta thank you

क्या भारतीय इतिहास से छेड़छाड़ हुई है देखिए इतिहास से हर जगह के इतिहास से छेड़छाड़ होती क्

Romanized Version
Likes  20  Dislikes    views  2136
WhatsApp_icon
user

MonuTiwari

Little Businessman And Motivational Teacher

1:44
Play

Likes  34  Dislikes    views  675
WhatsApp_icon
user

Race academy maneesh

Competitive Exam Expert (Youtube- Race Academy Maneesh)https://www.youtube.com/channel/UCEwGqvTOdzZnbc70zgFiJYQ

0:49
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपने पूछा क्या भारतीय इतिहास से छेड़छाड़ बिल्कुल छेड़छाड़ हुई है लेकिन किसी को कुछ पता नहीं जिनको लिखना था जिन्होंने बहुत सारी मेहनत की क्रांतिकारी बनके उनका नामोनिशान नहीं है लेकिन जो जिन्होंने बहुत कुछ कम किया है लटका देंगे वह अपने आप से ही तो लिखा जा किताबों में लिखा जाता है और बहुत सारे ऐसे हैं जो उन को छुआ तक नहीं जाता है कि इनको हटा दिया जाता है उधर से बिलॉन्ग करते थे उनको देखते थे तो यहां पर जानते हो कि आज किसका है तो सवर्णों का राज था पहले तो यह लोगों को छोटे लोगों को तो बहुत सारे देहात में दबा देगी बहुत बढ़िया

aapne poocha kya bharatiya itihas se chedchad bilkul chedchad hui hai lekin kisi ko kuch pata nahi jinako likhna tha jinhone bahut saari mehnat ki krantikari banke unka namonishan nahi hai lekin jo jinhone bahut kuch kam kiya hai Latka denge vaah apne aap se hi toh likha ja kitabon me likha jata hai aur bahut saare aise hain jo un ko chhua tak nahi jata hai ki inko hata diya jata hai udhar se Belong karte the unko dekhte the toh yahan par jante ho ki aaj kiska hai toh swarno ka raj tha pehle toh yah logo ko chote logo ko toh bahut saare dehaant me daba degi bahut badhiya

आपने पूछा क्या भारतीय इतिहास से छेड़छाड़ बिल्कुल छेड़छाड़ हुई है लेकिन किसी को कुछ पता नही

Romanized Version
Likes  28  Dislikes    views  725
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारत के इतिहास से क्या छेड़छाड़ हुई है जी हम भारत के इतिहास ही नहीं अपितु अमेरिका चाइना ब्रह्मा हर देश के इतिहास से छेड़छाड़ हुई है पर भारत का इतिहास अगर आप उठा कर के देखेंगे तो भारत का इतिहास दुनिया का सबसे इतिहास में सबसे अच्छा इतिहास आज तक का भारत का इतिहास रहा है भारत के इतिहास को दुनिया का स्वर्णिम इतिहास कहा जाता है पर अंग्रेजों को यह राज नहीं आया और अंग्रेजों की तो यही राजनीति की थी कि फूट डालो और राज करो और भारत का इतिहास इतना अच्छा था कि उसके बल्ब उसके बलबूते पर भारत के राजाओं ने बड़े से बड़े युद्ध लड़े और एक भी युद्ध नहीं आ रहा तो अंग्रेजों का इसका डर सताता था तो अंग्रेजों ने हमारी तो प्राचीन वेद थे पुराण थे उपनिषद थे सबके अंदर फेरबदल किया और उन्होंने अपनी ही बाइबल को सबसे ऊपर रखा इसके अलावा

bharat ke itihas se kya chedchad hui hai ji hum bharat ke itihas hi nahi apitu america china brahma har desh ke itihas se chedchad hui hai par bharat ka itihas agar aap utha kar ke dekhenge toh bharat ka itihas duniya ka sabse itihas mein sabse accha itihas aaj tak ka bharat ka itihas raha hai bharat ke itihas ko duniya ka swarnim itihas kaha jata hai par angrejo ko yah raj nahi aaya aur angrejo ki toh yahi raajneeti ki thi ki foot dalo aur raj karo aur bharat ka itihas itna accha tha ki uske bulb uske balbute par bharat ke rajaon ne bade se bade yudh lade aur ek bhi yudh nahi aa raha toh angrejo ka iska dar sataata tha toh angrejo ne hamari toh prachin ved the puran the upanishad the sabke andar ferabadal kiya aur unhone apni hi bible ko sabse upar rakha iske alava

भारत के इतिहास से क्या छेड़छाड़ हुई है जी हम भारत के इतिहास ही नहीं अपितु अमेरिका चाइना ब्

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  97
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!