मुझे पढ़ने में मन नहीं लगता तो मैं क्या करूँ?...


user

Tanu Pandit

Business Owner

0:52
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मुझे पढ़ने में मन नहीं लगता भाई किसी का भी नहीं लगता मेरा भी नहीं लगता पढ़ाई उसी समय करो जैसे ही तुम्हारा मन कभी-कभी करता है कि बारिश हो रही है मैं अपने कमरे में अकेला बैठकर या अकेली बैठकर स्टडी करना चाहती हूं उसी समय पढ़ो ठंड पड़ रही है रजाई ओढ़ के मैं अपने रूम में पढ़ाई करो उस समय पढ़ो कभी-कभी अपनी किताबों को देखकर पढ़ने का मन करता है उस समय पढ़ो कोई फोन करे तो पढ़ना आवश्यक नहीं है तो उससे हवस माइंड डिस्टर्ब रहता है

mujhe padhne mein man nahi lagta bhai kisi ka bhi nahi lagta mera bhi nahi lagta padhai usi samay karo jaise hi tumhara man kabhi kabhi karta hai ki barish ho rahi hai apne kamre mein akela baithkar ya akeli baithkar study karna chahti hoon usi samay padho thand pad rahi hai rajaai odh ke main apne room mein padhai karo us samay padho kabhi kabhi apni kitabon ko dekhkar padhne ka man karta hai us samay padho koi phone kare toh padhna aavashyak nahi hai toh usse hawas mind disturb rehta hai

मुझे पढ़ने में मन नहीं लगता भाई किसी का भी नहीं लगता मेरा भी नहीं लगता पढ़ाई उसी समय करो ज

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  150
KooApp_icon
WhatsApp_icon
11 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!