सफ़ेद और लाल क्रिकेट बॉल में क्या अंतर है?...


play
user

Prateek Jain

Cricketer |Fitness Enthu

0:36

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

वाइट बॉल क्रिकेट और रेड बॉल क्रिकेट में बहुत डिफरेंट है क्योंकि अभी अगर आप देखो तो 50 ओवर के मैच में दोनों साइड से न्यू बॉलीवुड होती है तो वाइट बॉल तब तक नया रहता है ताकि मन करता है उसके बाद आपके पास कितने वे रिटर्न है वह आप को यूज करने पर जोर भाई अगर आप लेट बोल ले लो तो अगर रेड बॉल में आपके पास प्रिंट कराने का है आप बोल मुंह करा सकते हो तो वह पूरे दिन मूव करेगा और वाइट बॉल में आपके पास बे रिटन होना बहुत जरूरी है और नेट बॉल में आपके पास कंट्री चेंज होना बहुत जरूरी है

white ball cricket aur red ball cricket mein bahut different hai kyonki abhi agar aap dekho toh 50 over ke match mein dono side se new bollywood hoti hai toh white ball tab tak naya rehta hai taki man karta hai uske baad aapke paas kitne ve return hai vaah aap ko use karne par jor bhai agar aap late bol le lo toh agar red ball mein aapke paas print karane ka hai aap bol mooh kara sakte ho toh vaah poore din move karega aur white ball mein aapke paas be written hona bahut zaroori hai aur net ball mein aapke paas country change hona bahut zaroori hai

वाइट बॉल क्रिकेट और रेड बॉल क्रिकेट में बहुत डिफरेंट है क्योंकि अभी अगर आप देखो तो 50 ओवर

Romanized Version
Likes  18  Dislikes    views  660
WhatsApp_icon
5 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Pradeep Sehgal

Sports Anchor & Journalist

4:06
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार दोस्तों मेरा नाम प्रदीप सेहगल है और माइक स्पोर्ट्स जंग लिस्ट हूं आपने एक बहुत अच्छा सवाल पूछा है कि सफेद और लाल गेंद में क्या अंतर होता है लेकिन सबसे पहले तो आपको यह समझना होगा जो लाल गेंद होती है वह टेस्ट क्रिकेट में इस्तेमाल होती है जो 5 दिन का खेल होता है 5 दिन का क्रिकेट जो होता है उसे टेस्ट क्रिकेट कहते हैं और उसमें लाल गेंदले इस्तेमाल होती है और जो सफेद गेंद होती है यानी कि जो बाइटबॉल होती है वह वनडे क्रिकेट और टी-20 में इस्तेमाल की जाती है पर क्या फर्क होता है लाल और सफेद रंग का तो फर्क होता है लेकिन इस दिन दोनों केंद्रों की क्वालिटी में भी फर्क होता है आपको बताते हैं कि क्या डिफरेंस होता है दरअसल जो लाल गेंद होती है वह क्रिकेट में क्यों इस्तेमाल की जाती आपको यह भी समझाते हैं जो लाल के इस्तेमाल की जाती है क्योंकि लाल की जो होती होती है यानी कि आपको पता ही होगा एस्पिरिट में 1 दिन में आपको 50 जो टेस्ट क्रिकेट में 1 दिन है आपको 90 ओवर फेंकने होते हैं तो 8085 व्रत की जो गेम है वह चल जाती है लेकिन वाइड बॉल जो होती है वह 500 से ज्यादा लास्ट नहीं कर पाती है 50 और आप ही कह सकते हैं कि उसकी लाइफ होती है और शायद इसीलिए जो वनडे क्रिकेट था पहले वह 5050 ओवर का ही था और उसके हिसाब से हीन ज्योति को तैयार की गई थी हालांकि अब तो क्रिकेट में पिंक बॉल भी आ गई है गुलाबी गेम भी आ गई है उसमें भी डिफरेंस होता है हां तो हम लालगंज और गुलाबी गैंग की बात पर लाल अगेन और सफेद गेंद की बात करे थे मैंने आपको लालगंज के बारे में बताया कि उसकी ब्यूरो बिलिटी ज्यादा होती है वह 9080 85 ओवर के आसपास जो है वह गेम सरवाइव करते है लेकिन डिफरेंस होता है दोनों में होता है लालगंज होती है वह क्या होती है एक तो वह लंबा चल सकती है यानी कि वह 8085 और तक चल जाती है सफेद जिनकी ब्यूरो मिलिट्री नहीं होती है वह 50 ओवर के आसपास उसकी लाइफ होती है होती है तो सफेद होती है 10 15 और के बाद स्विमिंग करना जो है वह बंद कर देती है वही जो लाल के धोती है 25 30 तक पिंक करती है और b556 करती है और फिर जब क्या होता है जब गेंद पुरानी हो जाती है तो आप उससे रिवर्स चेंज करा सकते हैं लाल गेंद रिवर्स में ज्यादा होती है अगर बनी हुई खेलो बनी हुई मतलब अगर उसको ठीक तरह से क्लियर करके बनाया गया हो गेम को एक तरफ से साईं नहीं हो उसे बनी हुई जैन क्या-क्या करना शुरू कर देती है और रिवर्स स्विंग होती है तो सफेद होती है बहुत कम होती है क्या है जो सफेद क्यों होती है और नई सफेद के अंदर होती है इससे पहले क्या होता था क्रिकेट में एक ही गेंद दोनों इस्तेमाल होती थी अब शुरू होती है और जब छोड़ चेंज हो जाता है यानी कि बदल जाते हैं तो फिर दूसरे छोर से भी नई गेंद इस्तेमाल होती है तो ऐसे में 25 25 और जो है एक गेम्स डाले जाते हैं तो यह जो डिफरेंस है यह आपको समझ में आ गया होगा कि क्या डिफरेंस है लाल गेम में और सफेद गेंद में इसीलिए वनडे क्रिकेट में क्योंकि दोनों छोर से नई गेंद यूज होती है तो आपको रिवर्स नहीं देखने को नहीं मिलती है और रबड़ सिंह का नजारा देखने को मिलता है जो आप ने सवाल पूछा था कि आपको समझ में आ गया होगा अगर आपको मेरा जवाब पसंद आए तो मेरा फेसबुक पर एक पेज है प्रदीप सेहगल के नाम से मैं वहां पर और भी क्रिकेट की अपडेट जो है वो लगातार देता रहता हूं अगर आपको मेरा ही जवाब पसंद आया तो फेसबुक पेज को जो कि प्रदीप चैनल के नाम से है उसे लाइक कीजिए धन्यवाद दोस्तों

namaskar doston mera naam pradeep sehagal hai aur mike sports jung list hoon aapne ek bahut accha sawaal poocha hai ki safed aur laal gend mein kya antar hota hai lekin sabse pehle toh aapko yah samajhna hoga jo laal gend hoti hai vaah test cricket mein istemal hoti hai jo 5 din ka khel hota hai 5 din ka cricket jo hota hai use test cricket kehte hain aur usme laal gendale istemal hoti hai aur jo safed gend hoti hai yani ki jo baitabal hoti hai vaah oneday cricket aur T 20 mein istemal ki jaati hai par kya fark hota hai laal aur safed rang ka toh fark hota hai lekin is din dono kendron ki quality mein bhi fark hota hai aapko batatey hain ki kya difference hota hai darasal jo laal gend hoti hai vaah cricket mein kyon istemal ki jaati aapko yah bhi smajhate hain jo laal ke istemal ki jaati hai kyonki laal ki jo hoti hoti hai yani ki aapko pata hi hoga espirit mein 1 din mein aapko 50 jo test cricket mein 1 din hai aapko 90 over fenkne hote hain toh 8085 vrat ki jo game hai vaah chal jaati hai lekin wide ball jo hoti hai vaah 500 se zyada last nahi kar pati hai 50 aur aap hi keh sakte hain ki uski life hoti hai aur shayad isliye jo oneday cricket tha pehle vaah 5050 over ka hi tha aur uske hisab se heen jyoti ko taiyar ki gayi thi halaki ab toh cricket mein pink ball bhi aa gayi hai gulabi game bhi aa gayi hai usme bhi difference hota hai haan toh hum lalganj aur gulabi gang ki baat par laal again aur safed gend ki baat kare the maine aapko lalganj ke bare mein bataya ki uski bureau biliti zyada hoti hai vaah 9080 85 over ke aaspass jo hai vaah game survive karte hai lekin difference hota hai dono mein hota hai lalganj hoti hai vaah kya hoti hai ek toh vaah lamba chal sakti hai yani ki vaah 8085 aur tak chal jaati hai safed jinki bureau miltary nahi hoti hai vaah 50 over ke aaspass uski life hoti hai hoti hai toh safed hoti hai 10 15 aur ke baad Swimming karna jo hai vaah band kar deti hai wahi jo laal ke dhoti hai 25 30 tak pink karti hai aur b556 karti hai aur phir jab kya hota hai jab gend purani ho jaati hai toh aap usse reverse change kara sakte hain laal gend reverse mein zyada hoti hai agar bani hui khelo bani hui matlab agar usko theek tarah se clear karke banaya gaya ho game ko ek taraf se sai nahi ho use bani hui jain kya kya karna shuru kar deti hai aur reverse swing hoti hai toh safed hoti hai bahut kam hoti hai kya hai jo safed kyon hoti hai aur nayi safed ke andar hoti hai isse pehle kya hota tha cricket mein ek hi gend dono istemal hoti thi ab shuru hoti hai aur jab chod change ho jata hai yani ki badal jaate hain toh phir dusre chhor se bhi nayi gend istemal hoti hai toh aise mein 25 25 aur jo hai ek games dale jaate hain toh yah jo difference hai yah aapko samajh mein aa gaya hoga ki kya difference hai laal game mein aur safed gend mein isliye oneday cricket mein kyonki dono chhor se nayi gend use hoti hai toh aapko reverse nahi dekhne ko nahi milti hai aur rubber Singh ka najara dekhne ko milta hai jo aap ne sawaal poocha tha ki aapko samajh mein aa gaya hoga agar aapko mera jawab pasand aaye toh mera facebook par ek page hai pradeep sehagal ke naam se main wahan par aur bhi cricket ki update jo hai vo lagatar deta rehta hoon agar aapko mera hi jawab pasand aaya toh facebook page ko jo ki pradeep channel ke naam se hai use like kijiye dhanyavad doston

नमस्कार दोस्तों मेरा नाम प्रदीप सेहगल है और माइक स्पोर्ट्स जंग लिस्ट हूं आपने एक बहुत अच्छ

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  140
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सफेद बोल वनडे क्रिकेट में चलती है और लाल बोल टेस्ट क्रिकेट के लिए बेस्ट है

safed bol oneday cricket mein chalti hai aur laal bol test cricket ke liye best hai

सफेद बोल वनडे क्रिकेट में चलती है और लाल बोल टेस्ट क्रिकेट के लिए बेस्ट है

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  7
WhatsApp_icon
user
0:19
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जबकि सफेद गोल वनडे मैच में इस्तेमाल करने जाता है और लाल गोल्ड टेस्ट मैच में इस्तेमाल करा जाता है जब हम बात करें इन दोनों बॉल में क्या अंतर होता है तो सफेद बोल गंदी ना हो इसलिए इसलिए थोड़ी ज्यादा पॉलिश कर दिया जाता है

jabki safed gol oneday match mein istemal karne jata hai aur laal gold test match mein istemal kara jata hai jab hum baat kare in dono ball mein kya antar hota hai toh safed bol gandi na ho isliye isliye thodi zyada polish kar diya jata hai

जबकि सफेद गोल वनडे मैच में इस्तेमाल करने जाता है और लाल गोल्ड टेस्ट मैच में इस्तेमाल करा ज

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  94
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सफेद गेंद थोड़ी हल्की होती है फुल लालगंज थोड़ी भारी होती है लालगंज दिन में यूज की जाती है और सफेद गेंद वनडे क्रिकेट T20 वनडे शार्ट फॉर्म एडमिन जी जाती है लालगंज रात में दिखती नहीं है इसलिए लालगंज को रात में उपयोग नहीं किया जाता और लालगंज का कलर जर्सी कलर में दिख जाता है इसलिए उसे वनडे क्रिकेट में न्यूज़ नहीं दिया जाता सफेद गेंद सफेद कलर किसी भी सफेद गेंद का उपयोग उसने किया जाता है क्योंकि सफेद रंग किसी भी टीम का ओडीआई या T20 फॉर्मेट में जर्सी नहीं है इसलिए सफेद दिन तक होता है यही अंतर है लाल और सफेद पसंद आए तो फॉलो करें लाइक करें

safed gend thodi halki hoti hai full lalganj thodi bhari hoti hai lalganj din mein use ki jaati hai aur safed gend oneday cricket T20 oneday shaart form admin ji jaati hai lalganj raat mein dikhti nahi hai isliye lalganj ko raat mein upyog nahi kiya jata aur lalganj ka color jersey color mein dikh jata hai isliye use oneday cricket mein news nahi diya jata safed gend safed color kisi bhi safed gend ka upyog usne kiya jata hai kyonki safed rang kisi bhi team ka odi ya T20 format mein jersey nahi hai isliye safed din tak hota hai yahi antar hai laal aur safed pasand aaye toh follow kare like karen

सफेद गेंद थोड़ी हल्की होती है फुल लालगंज थोड़ी भारी होती है लालगंज दिन में यूज की जाती है

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  62
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!