मैं एक मंदबुद्धि इंसान हूँ। मुझे होशियार बनने के लिए क्या करना चाहिए जिससे की लोग मेरा फ़ायदा ना उठाएँ?...


user

Dr. Suman Aggarwal

Personal Development Coach

1:09
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपको पता है आइंस्टाइन को भी लोग मंदबुद्धि कहा करते थे और आज के जमाने में अभी भी जिम क्विक बोल कर एक इंसान है जब वह छोटे थे तो उनके सर पर चोट लग गई थी और सारे स्कूल में टीचर और बच्चे सब उन्हें अ बॉय ऑफ लोकेंद्र इन बोल कर चिड़ाया करते थे एक बच्चा जिसका दिमाग की टूटा हुआ और आज वह इंसान दुनिया में सबसे अच्छी स्टडी टेक्निक्स दिखाने की कोशिश कर आते हैं और उनकी वजह से लाखों लोगों ने लाखों करोड़ों स्टूडेंट्स ने शादी की बहुत सारी टेक्निक सीखी है और अपनी स्कूल लाइफ में कॉलेज लाइफ में सक्सेस कि तुम्हें मेरी आपसे यही विनती है कि आप जो भी करेंगे आप बहुत अच्छा जरूर कर पाएंगे कि अपने आप पर भरोसा रखें और अपने आप को मंदबुद्धि कहना बंद करें आप अपने आप को उसके बदले यह कही कि मेरी बुद्धि औरों से अलग है और यह कहने से ही जैसे ही आप यह सेंटेंस अपने आप से कहेंगे आपको कितना डिलीट फ्री होता और आपको अपने ऊपर प्राउड फील करना आप जैसे भी हैं भगवान ने आपको जैसा भी बनाया है आप अपनी आपकी अपनी एक अपनी अलग पहचान है

aapko pata hai einstein ko bhi log mandbuddhi kaha karte the aur aaj ke jamane mein abhi bhi gym quick bol kar ek insaan hai jab vaah chote the toh unke sir par chot lag gayi thi aur saare school mein teacher aur bacche sab unhe a boy of lokendra in bol kar chidaya karte the ek baccha jiska dimag ki tuta hua aur aaj vaah insaan duniya mein sabse achi study techniques dikhane ki koshish kar aate hain aur unki wajah se laakhon logo ne laakhon karodo students ne shadi ki bahut saree technique sikhi hai aur apni school life mein college life mein success ki tumhe meri aapse yahi vinati hai ki aap jo bhi karenge aap bahut accha zaroor kar payenge ki apne aap par bharosa rakhen aur apne aap ko mandbuddhi kehna band kare aap apne aap ko uske badle yah kahi ki meri buddhi auron se alag hai aur yah kehne se hi jaise hi aap yah sentence apne aap se kahenge aapko kitna delete free hota aur aapko apne upar proud feel karna aap jaise bhi hain bhagwan ne aapko jaisa bhi banaya hai aap apni aapki apni ek apni alag pehchaan hai

आपको पता है आइंस्टाइन को भी लोग मंदबुद्धि कहा करते थे और आज के जमाने में अभी भी जिम क्विक

Romanized Version
Likes  12  Dislikes    views  449
KooApp_icon
WhatsApp_icon
21 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!