अपने गुस्से को नियंत्रित करने का सबसे अच्छा तरीका क्या है?...


play
user

Agam Jain

IPS Officer

1:56

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपको एक कहानी सुनाता हूं एक बार एक लेडी थी जिसको बहुत गुस्सा आता था हर बात पर वह लड़की थी हर बात पर सब से गुस्सा करती थी झगड़ती थी तो उसका पति एक बार उसको एक साधु के पास ले गया और उनसे बोलता है कि इसको बहुत गुस्सा आता है कुछ काम कीजिए आप कुछ बताइए तो साधु बाबा ने एक बोतल में कुछ टॉनिक दिया और उस लेडी से बोला कि जब भी आपको गुस्सा आए तो आप इस बोतल में से थोड़ा सा टॉनिक निकाल कर के पी लीजिएगा आपका गुस्सा शांत हो जाएगा लेडी घर वापस आ गई अब जब कभी भी उसे गुस्सा आता है वह उसमे से निकाल कर के पीते थोड़ी देर बाद उसका गुस्सा शांत हो जाता धीरे-धीरे करके उसका गुस्सा शांत रहने लगा लेकिन एक बार टॉनिक जो था वो खत्म हो गया साधु बाबा के पास में वह लेडी वापस गई कि बाबा तो पानी खत्म हो गया है वापस दूसरा टॉनिक दे दो तो बाबा ने कहा कि उसमें कोई स्पेशल टॉनिक नहीं था मैंने सिर्फ पानी दिया था होता यह था कि जब भी गुस्सा आता था तो तुम उसको पी लेती और जब तक पी कर के अपने मुंह में रखती थी तो तुम कुछ बोलती नहीं थी इसलिए तुम शांत रहती थी और गुस्सा आपने अपने अंतरित हो जाता था तो कहानी का यही सार है कि गुस्सा नियंत्रित करने का सबसे बढ़िया तरीका है कि शांत रहिए अपने मन को शांत रख कर के सोचिए कि हम से झगड़ एंगे उल्टा जवाब देंगे तो क्या अब से कोई फल निकलेगा मैं अपनी पढ़ाई के टाइम मैं भी यही सोचता था यदि कोई गलत जवाब देता था या कोई गलत बातें करता था तो यही सोचते थे कि इन से बातचीत करने की वजह इन को उल्टा जवाब देने की बजाय हम वह जो गुस्से से निक पैदा हुई एनर्जी है उसको अपने पॉजिटिव काम में लगा है पढ़ने में लगाएं ताकि एक बार जब आगे जाकर के कुछ बन जाएंगे तो इनको बता पाएंगे कि हमने इनके गुस्से का सही जवाब दिया है कहते हैं ना कि सचिन ने भी अपने बल्ले से ब्रेट ली को गुस्से का जवाब दिया है हमें कुछ अच्छा करके दिखाना है वही गुस्सा को नियंत्रित करने का आसान तरीका है जय हिंद

aapko ek kahani sunata hoon ek baar ek lady thi jisko bahut gussa aata tha har baat par vaah ladki thi har baat par sab se gussa karti thi jhagdati thi toh uska pati ek baar usko ek sadhu ke paas le gaya aur unse bolta hai ki isko bahut gussa aata hai kuch kaam kijiye aap kuch bataye toh sadhu baba ne ek bottle mein kuch tonic diya aur us lady se bola ki jab bhi aapko gussa aaye toh aap is bottle mein se thoda sa tonic nikaal kar ke p lijiega aapka gussa shaant ho jaega lady ghar wapas aa gayi ab jab kabhi bhi use gussa aata hai vaah usme se nikaal kar ke peete thodi der baad uska gussa shaant ho jata dhire dhire karke uska gussa shaant rehne laga lekin ek baar tonic jo tha vo khatam ho gaya sadhu baba ke paas mein vaah lady wapas gayi ki baba toh paani khatam ho gaya hai wapas doosra tonic de do toh baba ne kaha ki usme koi special tonic nahi tha maine sirf paani diya tha hota yah tha ki jab bhi gussa aata tha toh tum usko p leti aur jab tak p kar ke apne mooh mein rakhti thi toh tum kuch bolti nahi thi isliye tum shaant rehti thi aur gussa aapne apne antarit ho jata tha toh kahani ka yahi saar hai ki gussa niyantrit karne ka sabse badhiya tarika hai ki shaant rahiye apne man ko shaant rakh kar ke sochiye ki hum se jhagad enge ulta jawab denge toh kya ab se koi fal niklega main apni padhai ke time main bhi yahi sochta tha yadi koi galat jawab deta tha ya koi galat batein karta tha toh yahi sochte the ki in se batchit karne ki wajah in ko ulta jawab dene ki bajay hum vaah jo gusse se nick paida hui energy hai usko apne positive kaam mein laga hai padhne mein lagaye taki ek baar jab aage jaakar ke kuch ban jaenge toh inko bata payenge ki humne inke gusse ka sahi jawab diya hai kehte hain na ki sachin ne bhi apne balle se brett li ko gusse ka jawab diya hai hamein kuch accha karke dikhana hai wahi gussa ko niyantrit karne ka aasaan tarika hai jai hind

आपको एक कहानी सुनाता हूं एक बार एक लेडी थी जिसको बहुत गुस्सा आता था हर बात पर वह लड़की थी

Romanized Version
Likes  9  Dislikes    views  263
WhatsApp_icon
12 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Aliya

Career Counsellor

0:20
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए अगर गुस्सा आए तो सबसे बेस्ट तरीका है आप अपनी माइंड को थोड़ा सिलेक्शन का सिलेक्शन जी अपने अंगूठे पर तेजी से फूंक मारी है और फिर लेट जाइए कुछ मिनट लेट गई और अंगूठे पर तेजी से फूंक मारी है तो इससे गुस्सा शांत हो जाएगा

dekhiye agar gussa aaye toh sabse best tarika hai aap apni mind ko thoda selection ka selection ji apne anguthe par teji se phoonk mari hai aur phir late jaiye kuch minute late gayi aur anguthe par teji se phoonk mari hai toh isse gussa shaant ho jaega

देखिए अगर गुस्सा आए तो सबसे बेस्ट तरीका है आप अपनी माइंड को थोड़ा सिलेक्शन का सिलेक्शन जी

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  1
WhatsApp_icon
user

Bhaskar Saurabh

Politics Follower | Engineer

1:55
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

गुस्सा सभी लोगों को आता है लेकिन कुछ लोग ऐसे होते हैं जिन्हें जल्दी गुस्सा आ जाता है ऐसे लोगों को हम शॉर्ट टेंपर्ड भी कहते हैं गुस्सा मनुष्य के अनेक भाव में से एक भाग है जो कि हर मनुष्य के लिए बहुत ही घातक साबित हो सकता है गुस्सा एक ऐसी चीज है जो अच्छे खासे समझदार व्यक्ति की इमेज कुछ ही देर में खराब कर देता है क्योंकि गुस्सा जब आता है तब मनुष्य का स्वयं पर नियंत्रण नहीं रह जाता और इस समय व्यक्ति के दिमाग में जो भी कुछ आता है वह बस बोलता चला जाता है हो सकता है उसे बाद में अपने बोले हुए बोली हुई चीज़ों पर अफसोस भी आए लेकिन फिर समय बीतने पर इसका कोई औचित्य नहीं रहता इसीलिए हमें बिल्कुल यह जरूरी है कि हम अपने गुस्से पर नियंत्रण रखें और इतना गुस्सा कभी ना कर दें जिससे हमें बाद में पछतावा हो और गुस्से को कंट्रोल करने के लिए उस पर नियंत्रण पाने के लिए हम कुछ चीजें कर सकते हैं जैसे कि हमारी जी हमें ज्यादा गुस्सा आ रहा है तो हम अपने आप को किसी दूसरे कार्य में व्यस्त कर ले इससे हमारा ध्यान

gussa sabhi logo ko aata hai lekin kuch log aise hote hain jinhen jaldi gussa aa jata hai aise logo ko hum short tempered bhi kehte hain gussa manushya ke anek bhav mein se ek bhag hai jo ki har manushya ke liye bahut hi ghatak saabit ho sakta hai gussa ek aisi cheez hai jo acche khase samajhdar vyakti ki image kuch hi der mein kharab kar deta hai kyonki gussa jab aata hai tab manushya ka swayam par niyantran nahi reh jata aur is samay vyakti ke dimag mein jo bhi kuch aata hai vaah bus bolta chala jata hai ho sakta hai use baad mein apne bole hue boli hui cheezon par afasos bhi aaye lekin phir samay beetane par iska koi auchitya nahi rehta isliye hamein bilkul yah zaroori hai ki hum apne gusse par niyantran rakhen aur itna gussa kabhi na kar de jisse hamein baad mein pachtava ho aur gusse ko control karne ke liye us par niyantran paane ke liye hum kuch cheezen kar sakte hain jaise ki hamari ji hamein zyada gussa aa raha hai toh hum apne aap ko kisi dusre karya mein vyast kar le isse hamara dhyan

गुस्सा सभी लोगों को आता है लेकिन कुछ लोग ऐसे होते हैं जिन्हें जल्दी गुस्सा आ जाता है ऐसे ल

Romanized Version
Likes  34  Dislikes    views  978
WhatsApp_icon
user

vishal kumar

self employed

1:22
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

गुस्सा इतनी बेकार चीज़ है कि अगर तुम गलती भी नहीं करोगे और ना गलती करने वाले किसी बहन सो जाओ उस टाइम पर अगर तुमने गुस्सा कर दिया सबसे पहली बात कि तुम गुस्सा करने के बाद गलतियां भूल जाओगे कि किसकी गलती थी किसका क्या था किसका क्या था तो तुम बाद में किसी को गुस्सा करने के बाद तुम किसी को बाद में यह भी नहीं बता सकते यहां इसमें यह किसी के सफाई नहीं दे सकते और सबसे बड़ी गलती सिर्फ तुम्हारी ही होगी तुमने गुस्सा किया मैंने जो गलती होगी उसको सबको माफ करके तुमने गुस्सा किया था कि सारी गलती है तुम्हारे पति आएंगे तो तुम गुस्सा करने से पहले यही बात सोच लो कि गुस्सा करने के बाद इसे गलत होता मैं खुद गुस्सा में को मुझे खुद गुस्सा नहीं आता था लेकिन गुस्सा इंसान को एक तब आता है जब इंसान चिड़चिड़ा हो जाता है टेंशन होती हैं वगैरा-वगैरा तस्वीर तुम्हारी टेंशन को खत्म करो और अपने आप में खुश रहना सीखो तो ज्यादा मैं खुद कंट्रोल कर रहा हूं आजकल गुस्सा कि मुझे बहुत जल्दी गुस्सा आता है बात बात बात पर कि बस में चढ़ जाता हूं कोई मुझे परेशान कर रहा है कोई मेरे को पैसा डाल रहा है तो इन चीजों को देखते हुए गुस्सा हो जाते जाते हैं इसीलिए तो अपने आप की टेंशन खत्म कर दो गुस्सा ऑटोमेटिक खत्म हो जाए तो खुश रहना सीखो बस अपने आप में

gussa itni bekar cheez hai ki agar tum galti bhi nahi karoge aur na galti karne waale kisi behen so jao us time par agar tumne gussa kar diya sabse pehli baat ki tum gussa karne ke baad galtiya bhool jaoge ki kiski galti thi kiska kya tha kiska kya tha toh tum baad mein kisi ko gussa karne ke baad tum kisi ko baad mein yah bhi nahi bata sakte yahan isme yah kisi ke safaai nahi de sakte aur sabse badi galti sirf tumhari hi hogi tumne gussa kiya maine jo galti hogi usko sabko maaf karke tumne gussa kiya tha ki saree galti hai tumhare pati aayenge toh tum gussa karne se pehle yahi baat soch lo ki gussa karne ke baad ise galat hota main khud gussa mein ko mujhe khud gussa nahi aata tha lekin gussa insaan ko ek tab aata hai jab insaan chidchida ho jata hai tension hoti hain vagaira vagaira tasveer tumhari tension ko khatam karo aur apne aap mein khush rehna sikho toh zyada main khud control kar raha hoon aajkal gussa ki mujhe bahut jaldi gussa aata hai baat baat baat par ki bus mein chad jata hoon koi mujhe pareshan kar raha hai koi mere ko paisa daal raha hai toh in chijon ko dekhte hue gussa ho jaate jaate hain isliye toh apne aap ki tension khatam kar do gussa Automatic khatam ho jaaye toh khush rehna sikho bus apne aap mein

गुस्सा इतनी बेकार चीज़ है कि अगर तुम गलती भी नहीं करोगे और ना गलती करने वाले किसी बहन सो ज

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  129
WhatsApp_icon
user

Suraj kandpal

Mechatronics engineer fresher

0:53
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अक्षय की प्रॉब्लम एक आजकल के युवा पीढ़ी में बहुत देखी जाती है और अगर आप चाहते हैं कि अपने गुस्से को नियंत्रण में करें तो मेडिटेशन एक बहुत अच्छा तरीका है और दूसरा तरीका है जैसे अगर आपको फिलहाल गुस्सा आया तो बस अपनी आंखें आंखें बंद करिए 34 लंबी सांसे लीजिए अंदर और अपने आप को काबू में लाइए और दूसरा तरीका है गुस्सा आता है तो सोचे कि आपको गुस्सा क्यों आ रहा है और आप उसका रीज़न क्या है और उसके बाद आप सोचेंगे यही गुस्सा आप किसी और को किसी और को परेशान नहीं करेगा सिर्फ आपको ही परेशान करेगा तो वह खुद आप को नियंत्रण में ले आएगा तो मेरे हिसाब से मेडिटेशन लंबी सांसे लेना और गुस्से का रीजन सोचना है बहुत यह तीन चीजें बहुत अच्छी होंगी किया जिससे आपको आज से आप अपने गुस्से को नियंत्रण में रह पाएंगे

akshay ki problem ek aajkal ke yuva peedhi mein bahut dekhi jaati hai aur agar aap chahte hain ki apne gusse ko niyantran mein kare toh meditation ek bahut accha tarika hai aur doosra tarika hai jaise agar aapko filhal gussa aaya toh bus apni aankhen aankhen band kariye 34 lambi sanse lijiye andar aur apne aap ko kabu mein laiye aur doosra tarika hai gussa aata hai toh soche ki aapko gussa kyon aa raha hai aur aap uska region kya hai aur uske baad aap sochenge yahi gussa aap kisi aur ko kisi aur ko pareshan nahi karega sirf aapko hi pareshan karega toh vaah khud aap ko niyantran mein le aayega toh mere hisab se meditation lambi sanse lena aur gusse ka reason sochna hai bahut yah teen cheezen bahut achi hongi kiya jisse aapko aaj se aap apne gusse ko niyantran mein reh payenge

अक्षय की प्रॉब्लम एक आजकल के युवा पीढ़ी में बहुत देखी जाती है और अगर आप चाहते हैं कि अपने

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  188
WhatsApp_icon
user

Sefali

Media-Ad Sales

1:18
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अग्रेशन अच्छा होता है पर अगर शाम को जब ठीक समय पर यूज़ किया जाए और प्रॉपर चीज में डाइवर्ट किया जाए उस एनर्जी को तब वह फूट फल होता है ना कि गुस्सा होकर वह सब को दिखाना कि अब मैं गुस्से में हूं और जो है चीजें ठीक नहीं जा रही है तो आपको जब भी ऐसा कभी गुस्सा आता है और आप शॉर्ट टाइम पर है तो सबसे पहले तो आप कोशिश कीजिए कि खुद को बहुत काम रखें और जो है अन्य स्त्री अगर कोई डिस्कशन चल रहा है जो कि ठीक नहीं जा रहा है तो खुद को इन्वॉल्व ना करें और यहां तक कि ध्यान भी ना करे ऐसा कुछ नहीं करते डिस्कशन हो रहा है आपको गुस्सा आ रहा है और सबसे बेस्ट सबसे अच्छा तरीका मेरे हिसाब से एक गुस्से को कंट्रोल करना हो तो आपको जब भी गुस्सा आ रहा है आप एक से 10 तक को उल्टी दस्त स्टार्ट कीजिए दस्त 987654321 और रोली बोलिए यह एक तरीका है और आप एक दम शांत होकर एक दीप ब्रिज दीजिए और उसे आराम से हल्के से जोड़िए तो वह एक बहुत प्यार करता है उसको 506 बार कीजिए वह आपके आपको बहुत शांत करने पर आपको गुस्सा भी उससे शांत हो जाएगा

aggression accha hota hai par agar shaam ko jab theek samay par use kiya jaaye aur proper cheez mein Divert kiya jaaye us energy ko tab vaah foot fal hota hai na ki gussa hokar vaah sab ko dikhana ki ab main gusse mein hoon aur jo hai cheezen theek nahi ja rahi hai toh aapko jab bhi aisa kabhi gussa aata hai aur aap short time par hai toh sabse pehle toh aap koshish kijiye ki khud ko bahut kaam rakhen aur jo hai anya stree agar koi discussion chal raha hai jo ki theek nahi ja raha hai toh khud ko involve na kare aur yahan tak ki dhyan bhi na kare aisa kuch nahi karte discussion ho raha hai aapko gussa aa raha hai aur sabse best sabse accha tarika mere hisab se ek gusse ko control karna ho toh aapko jab bhi gussa aa raha hai aap ek se 10 tak ko ulti dast start kijiye dast 987654321 aur roli bolie yah ek tarika hai aur aap ek dum shaant hokar ek deep bridge dijiye aur use aaram se halke se joodiye toh vaah ek bahut pyar karta hai usko 506 baar kijiye vaah aapke aapko bahut shaant karne par aapko gussa bhi usse shaant ho jaega

अग्रेशन अच्छा होता है पर अगर शाम को जब ठीक समय पर यूज़ किया जाए और प्रॉपर चीज में डाइवर्ट

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  171
WhatsApp_icon
user

Pragati

Aspiring Lawyer

1:12
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लिखे गुस्से को नियंत्रित करने के लिए सबसे अच्छा तरीका है क्या आपके अंदर सबर होना चाहिए और जो आपकी सहनशीलता है सहन शक्ति है वह ज्यादा होनी चाहिए क्योंकि हम जब अपनी तो लाइफ में कहा कई सारी ऐसी चीजें आती है हमारी लाइफ में जो कि हम को गुस्सा दिलाती हैं और कई सारी ऐसी चीज है और लोगों की करते हैं जिससे हमें काफी हद तक गुस्सा आ जाता है तो अगर हम थोड़ा सा सहनशील बनेंगे और सब रखेंगे तो हो सकता है कि उन चीजों को बदल पाए उनका सलूशन निकाल पाए ना कि उनसे गुस्सा होकर या फिर उनसे एकदम से झू झू ला कर हम लोग उस चीज के अलग हो जाए उससे क्योंकि अगर हम गुस्सा हो जाएंगे तो वह सकता है हमारी जो सोचने की शक्ति है वह कम हो जाए और उसे हम उस चीज का सलूशन निकालने की वजह सिर्फ अपने आप को टेंशन देने लग जाए तो इस से अच्छा है कि आप अपने गुस्से को काबू में रखें और जितना हो सके सब्र करने की कोशिश करें और अगर आप सही स्टील होते हैं तो काफी हद तक कोई चीज आपको इतना पिक नहीं कर पाती है तो गुस्सा बहुत कम आता है आपको तो मेरे हिसाब से पेशंस और टॉलरेंस पावर जो इंसान की होती है वह गुस्से को नियंत्रित रखने में बहुत ज्यादा मददगार होती है

likhe gusse ko niyantrit karne ke liye sabse accha tarika hai kya aapke andar sabar hona chahiye aur jo aapki sahansheelta hai sahan shakti hai vaah zyada honi chahiye kyonki hum jab apni toh life mein kaha kai saree aisi cheezen aati hai hamari life mein jo ki hum ko gussa dilati hain aur kai saree aisi cheez hai aur logo ki karte hain jisse hamein kaafi had tak gussa aa jata hai toh agar hum thoda sa sahanashil banenge aur sab rakhenge toh ho sakta hai ki un chijon ko badal paye unka salution nikaal paye na ki unse gussa hokar ya phir unse ekdam se zoo zoo la kar hum log us cheez ke alag ho jaaye usse kyonki agar hum gussa ho jaenge toh vaah sakta hai hamari jo sochne ki shakti hai vaah kam ho jaaye aur use hum us cheez ka salution nikalne ki wajah sirf apne aap ko tension dene lag jaaye toh is se accha hai ki aap apne gusse ko kabu mein rakhen aur jitna ho sake sabra karne ki koshish kare aur agar aap sahi steel hote hain toh kaafi had tak koi cheez aapko itna pic nahi kar pati hai toh gussa bahut kam aata hai aapko toh mere hisab se Patience aur tolerance power jo insaan ki hoti hai vaah gusse ko niyantrit rakhne mein bahut zyada madadgaar hoti hai

लिखे गुस्से को नियंत्रित करने के लिए सबसे अच्छा तरीका है क्या आपके अंदर सबर होना चाहिए और

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  262
WhatsApp_icon
user

Ritika

Beauty & Relationship queries

1:58
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

व्हाट टाइप का होता है जैसे शॉर्ट टेंपर्ड होता है मेरा हाईट एंड पर होता है फिर कुछ लोगों को अंदर ही अंदर रहता है कि लोगों को और कुछ तो को बहुत जल्दी गुस्सा आ जाता और इतनी जल्दी उनका गुस्सा चला भी जाता हाइट अनपढ़ लोग कुछ लोगों को बहुत ही ज्यादा तेज गुस्सा आता है और फिर उस गुस्से में वह कुछ भी कर देते हो और जिन लोगों ने अपने अंदर ही को गुस्सा रखते वह तो मैं बोलूंगी खुद ही के साथ बहुत गलत कर रहा है ऐसा इसलिए क्योंकि वह उस कुत्ते को अपने अंदर ही रखकर किसी चीज पर अगर ना निकाले तो वह गुस्सा उनको अंदर ही अंदर खाता जाएगा क्यों उन्हें जो उनके लिए ना आया तो डिप्रेशन का कारण बन सकता है तो माइग्रेन हो सकता है इस चीज से उनको तो बहुत ही तकलीफ है जिन लोगों का हाइट अनपढ़ होता है बहुत ही ज्यादा गुस्सा आता है वह क्या करते हैं और नहीं तुरंत एक्शन कर देते हैं उनको नहीं समझ आता कि किसी को इससे क्या नुकसान होगा उसको यह सब कुछ नहीं दिखता वह अपना काम कर देता मतलब उनका गुस्सा को निकाल दे तो उस चीज को गलत तरीके से ना निकाल कर हम सही तरीके से निकाल सकते आप कोई काम कर रहे हैं उस काम में अगर आप गुस्से को एक पॉजिटिव तरीके से डालकर रखेंगे तो मुझे सही जगह यूटिलाइज होगा और आपका काम भी सही होगा फिर तुमको शॉर्ट टेंपर्ड होता है उनको जल्दी गुस्सा आता है उसका गुस्सा जल्दी चला भी जाता है उनको क्या है कि अपने गुस्से को बस ऊपर चिल्ला कर किसी पर गुस्सा अपना निकाल देते उनका गुस्सा कैसे चला जाता है बाकी है तो आइटम पढ़े हो तो गुस्सा के अंदर रखते हैं उन दोनों का और दो व्यक्तियों का बहुत ही कुल या तो पूरा इंटेक्स पड़ सकता है लोगों पर या तो खुद पर सबसे अच्छा है बात कर सकता है पता कैसे कर सकते कि आप उस गुस्से को सही जगह यूटिलाइज करें और दोनों अपने अंदर ही अपना गुस्सा रखते हैं वह भी उस गुस्से को कहीं ना कहीं हूं तेरा इश्क अरे खुशी काम नहीं हूं पिलाई करें तो वह गुस्सा क्यों है उनको कभी नुकसान नहीं पहुंचाएगा पर ऐसे आपको गुस्सा अपने कंट्रोल में भी रहेगा

what type ka hota hai jaise short tempered hota hai mera height and par hota hai phir kuch logo ko andar hi andar rehta hai ki logo ko aur kuch toh ko bahut jaldi gussa aa jata aur itni jaldi unka gussa chala bhi jata height anpad log kuch logo ko bahut hi zyada tez gussa aata hai aur phir us gusse mein vaah kuch bhi kar dete ho aur jin logo ne apne andar hi ko gussa rakhte vaah toh main bolungi khud hi ke saath bahut galat kar raha hai aisa isliye kyonki vaah us kutte ko apne andar hi rakhakar kisi cheez par agar na nikale toh vaah gussa unko andar hi andar khaata jaega kyon unhe jo unke liye na aaya toh depression ka karan ban sakta hai toh Migraine ho sakta hai is cheez se unko toh bahut hi takleef hai jin logo ka height anpad hota hai bahut hi zyada gussa aata hai vaah kya karte hain aur nahi turant action kar dete hain unko nahi samajh aata ki kisi ko isse kya nuksan hoga usko yah sab kuch nahi dikhta vaah apna kaam kar deta matlab unka gussa ko nikaal de toh us cheez ko galat tarike se na nikaal kar hum sahi tarike se nikaal sakte aap koi kaam kar rahe hain us kaam mein agar aap gusse ko ek positive tarike se dalkar rakhenge toh mujhe sahi jagah utilize hoga aur aapka kaam bhi sahi hoga phir tumko short tempered hota hai unko jaldi gussa aata hai uska gussa jaldi chala bhi jata hai unko kya hai ki apne gusse ko bus upar chilla kar kisi par gussa apna nikaal dete unka gussa kaise chala jata hai baki hai toh item padhe ho toh gussa ke andar rakhte hain un dono ka aur do vyaktiyon ka bahut hi kul ya toh pura intex pad sakta hai logo par ya toh khud par sabse accha hai baat kar sakta hai pata kaise kar sakte ki aap us gusse ko sahi jagah utilize kare aur dono apne andar hi apna gussa rakhte hain vaah bhi us gusse ko kahin na kahin hoon tera ishq are khushi kaam nahi hoon pilai kare toh vaah gussa kyon hai unko kabhi nuksan nahi pahuchaayega par aise aapko gussa apne control mein bhi rahega

व्हाट टाइप का होता है जैसे शॉर्ट टेंपर्ड होता है मेरा हाईट एंड पर होता है फिर कुछ लोगों को

Romanized Version
Likes  13  Dislikes    views  330
WhatsApp_icon
user

Sameer Tripathy

Political Critic

1:43
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

रिकी गुस्से को कंट्रोल करने के लिए यह आपके ऊपर डिपेंड है वह आप कैसे काउंट को आपको पहले कंट्रोल धीरे धीरे आप के गुस्से को कंट्रोल करना पड़ेगा धीरे-धीरे कम करना पड़ेगा इसके लिए तो मैं पहले बोलता हूं आप योगा योगा शुरू कीजिए योगा करना शुरु कीजिए युवा में क्या होता है योगा करना चाहिए और थोड़ा हर दिन सुबह आप उठ के 1:15 मिनट ध्यान पर आराम से अपना ध्यान ध्यान करिए उसमें क्यों बहुत सारे चीज के अब थोड़ा सा अपने दिमाग को थोड़ा शांत रखिए 10:15 मिनट किसी के व्यक्तियों किसी भी बारे में सोचें उसको चाहिए मत सिर्फ ध्यान में बैठी है और प्रशांत साथ बैठी है तो इसमें क्या होगा हर दिन अगर ही आप प्रेक्टिस करते रहोगे तो आपका दिमाग थोड़ा पीस रहेगा थोड़ा शांत रहेगा अभी क्या होता है गुस्सा आपको क्यों आता है क्योंकि आप थोड़ा सा टाइम पर मगर क्यों कुछ लोगों को चीज आप एक्सपर्ट कर रहे हो क्या अगर कोई चीज नहीं हुआ तो उसमें आपको खुशी रिजल्ट और होता है यह और गुस्सा भी आएगा उसमें तो आपको वह हर चीज में किसी भी चीज में जिद एक्सपेक्टेशन नहीं रखना चाहिए और किसी भी चीज को इतना कुछ आप इतना कुछ बढ़ावा भी देना नहीं चाहिए और अगर कुछ चीज हो रहा है अगर क्यों एक चीज और है जो आपको पसंद नहीं है उस चीज का आपको वह कैसे सो पैशंस रखिए कैसे सलूशन निकालें वह आपको सोचना चाहिए या गुस्सा करने में कुछ फायदा नहीं है कि आपका ही लोगों से गुस्सा करने के बाद आदमी क्या कुछ कहा जाता है उसके बाद उसको फ्री इलाज होता है तो आपको गुस्सा कंट्रोल करने के लिए यह सब ध्यान करना चाहिए और योगा करिए थोड़ा रहो पर जाइए थोड़ा अपने अपने साथ अलग-अलग अकेले में टाइम स्पेंड कीजिए और यह सब यह सब तो आपको करना पड़ेगा

riki gusse ko control karne ke liye yah aapke upar depend hai vaah aap kaise count ko aapko pehle control dhire dhire aap ke gusse ko control karna padega dhire dhire kam karna padega iske liye toh main pehle bolta hoon aap yoga yoga shuru kijiye yoga karna shuru kijiye yuva mein kya hota hai yoga karna chahiye aur thoda har din subah aap uth ke 1 15 minute dhyan par aaram se apna dhyan dhyan kariye usme kyon bahut saare cheez ke ab thoda sa apne dimag ko thoda shaant rakhiye 10 15 minute kisi ke vyaktiyon kisi bhi bare mein sochen usko chahiye mat sirf dhyan mein baithi hai aur prashant saath baithi hai toh isme kya hoga har din agar hi aap practice karte rahoge toh aapka dimag thoda peace rahega thoda shaant rahega abhi kya hota hai gussa aapko kyon aata hai kyonki aap thoda sa time par magar kyon kuch logo ko cheez aap expert kar rahe ho kya agar koi cheez nahi hua toh usme aapko khushi result aur hota hai yah aur gussa bhi aayega usme toh aapko vaah har cheez mein kisi bhi cheez mein jid expectation nahi rakhna chahiye aur kisi bhi cheez ko itna kuch aap itna kuch badhawa bhi dena nahi chahiye aur agar kuch cheez ho raha hai agar kyon ek cheez aur hai jo aapko pasand nahi hai us cheez ka aapko vaah kaise so patience rakhiye kaise salution nikale vaah aapko sochna chahiye ya gussa karne mein kuch fayda nahi hai ki aapka hi logo se gussa karne ke baad aadmi kya kuch kaha jata hai uske baad usko free ilaj hota hai toh aapko gussa control karne ke liye yah sab dhyan karna chahiye aur yoga kariye thoda raho par jaiye thoda apne apne saath alag alag akele mein time spend kijiye aur yah sab yah sab toh aapko karna padega

रिकी गुस्से को कंट्रोल करने के लिए यह आपके ऊपर डिपेंड है वह आप कैसे काउंट को आपको पहले कंट

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  146
WhatsApp_icon
user

.

Hhhgnbhh

1:22
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ठीक है गुस्से को नियंत्रण करने का सबसे अच्छा तरीका पेशंस है अगर सब्र से काम लेंगे तो आपको गुस्सा नियंत्रण करना आ जाएगा अपने आप ही समझ जाते हैं कि पेशेंट को अगर आपको सीखना था को मैडिटेशन करने चाहिए आप ध्यान लगाइए जितना ज्यादा ध्यान लगाएंगे उसने ज्यादा को मेडिटेशन के बारे में पता चलेगा आप अपने आप को जानेंगे आप बाहर की दुनिया को समझेंगे आपको पता चलेगा कि शांति के अंदर कितना ज्यादा प्यार होता शांति के अंदर क्या अच्छी-अच्छी बातें छुपी हुई होती हैं तो आप को शांति से ज्यादा प्यार हो जाएगा और आप अपना गुस्सा कहीं ना कहीं उसकी तरफ लाना चाहिए कि बेबी शांति की तरफ से भड़का गुस्सा कभी खुशी जरूर कीजिएगा कि आप कुछ ना कुछ और काम में प्रमंडलों गुस्से के अंदर कुछ गलत चीज ना करें जैसे कि अगर आपको गुस्सा आ रहा था वह अपना हाथ बंद कर दीजिए मुट्ठी बंद करिए और बहुत दूर से उसे दवाई तो तक आपका गुस्सा ठंडा नहीं होता है यह गुस्सा ख़त्म नहीं होता है कि आपको गुस्से से ध्यान हट के आप को अपनी मुट्ठी किधर ध्यान नहीं रहता या फिर आप ऐसा भी कर सकती कि जैसे आपको कुछ अपने आप मन के अंदर बहुत ही रे से 10 से 20 तक काउंटिंग कर सकते हैं तो वह विनती करेंगे तो आपका ध्यान बटेगा और आपका गुस्सा से ध्यान रखिएगा प्लीज गुस्सा जो होता है वह खतरनाक गुस्सा होता है जब आप गुस्से में आकर एकदम से उसका कोई रिएक्शन कर देता कोई गलती कर देते हैं वह खतरनाक गुस्सा जरा संभाल ले तो गुस्सा तो इतना बुरा नहीं होता है

theek hai gusse ko niyantran karne ka sabse accha tarika Patience hai agar sabra se kaam lenge toh aapko gussa niyantran karna aa jaega apne aap hi samajh jaate hain ki patient ko agar aapko sikhna tha ko meditation karne chahiye aap dhyan lagaaiye jitna zyada dhyan lagayenge usne zyada ko meditation ke bare mein pata chalega aap apne aap ko jaanege aap bahar ki duniya ko samjhenge aapko pata chalega ki shanti ke andar kitna zyada pyar hota shanti ke andar kya achi achi batein chhupee hui hoti hain toh aap ko shanti se zyada pyar ho jaega aur aap apna gussa kahin na kahin uski taraf lana chahiye ki baby shanti ki taraf se bhadaka gussa kabhi khushi zaroor kijiega ki aap kuch na kuch aur kaam mein pramandalon gusse ke andar kuch galat cheez na kare jaise ki agar aapko gussa aa raha tha vaah apna hath band kar dijiye mutthi band kariye aur bahut dur se use dawai toh tak aapka gussa thanda nahi hota hai yah gussa khatam nahi hota hai ki aapko gusse se dhyan hut ke aap ko apni mutthi kidhar dhyan nahi rehta ya phir aap aisa bhi kar sakti ki jaise aapko kuch apne aap man ke andar bahut hi ray se 10 se 20 tak counting kar sakte hain toh vaah vinati karenge toh aapka dhyan batega aur aapka gussa se dhyan rakhiega please gussa jo hota hai vaah khataranaak gussa hota hai jab aap gusse mein aakar ekdam se uska koi reaction kar deta koi galti kar dete hain vaah khataranaak gussa zara sambhaal le toh gussa toh itna bura nahi hota hai

ठीक है गुस्से को नियंत्रण करने का सबसे अच्छा तरीका पेशंस है अगर सब्र से काम लेंगे तो आपको

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  147
WhatsApp_icon
user

Simranpreet Singh

B.Tech in CE from SRM

0:37
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए इस प्रश्न का उत्तर देते समय मैं अपना नजरिया बताना चाहूंगा कि इंसान को अपना गुस्सा जब कंट्रोल करना चाहिए तो जिस चीज पर उसे गुस्सा आ रहा है उस चीज को थोड़ी देर के लिए उसके बारे में सोचना बंद कर दे अपना ध्यान किसी और तरफ लगाने की कोशिश करें क्योंकि गुस्से में किसी का भी भला नहीं होता है और गुस्सा हमेशा इंसान को ले डूबता है और उस गुस्से में ही इंसान कुछ ना कुछ उल्टा कर देता है तो अगर उस बारे में अब नहीं सोचेंगे और उस जगह उस जगह से अपना ध्यान हटाएंगे तो अपने गुस्से पर आसानी से काबू पा सकते हैं

dekhiye is prashna ka uttar dete samay main apna najariya bataana chahunga ki insaan ko apna gussa jab control karna chahiye toh jis cheez par use gussa aa raha hai us cheez ko thodi der ke liye uske bare mein sochna band kar de apna dhyan kisi aur taraf lagane ki koshish kare kyonki gusse mein kisi ka bhi bhala nahi hota hai aur gussa hamesha insaan ko le dubata hai aur us gusse mein hi insaan kuch na kuch ulta kar deta hai toh agar us bare mein ab nahi sochenge aur us jagah us jagah se apna dhyan hatayenge toh apne gusse par aasani se kabu paa sakte hain

देखिए इस प्रश्न का उत्तर देते समय मैं अपना नजरिया बताना चाहूंगा कि इंसान को अपना गुस्सा जब

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  243
WhatsApp_icon
user

Kunjansinh Rajput

Aspiring Journalist

1:11
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

तीखी घोषाल जैसे जी रहे कोई भी इंसान गुस्सा करता है और अगर हो सके तो सब का नियंत्रण नहीं रहते हो क्यों नहीं करते कर बैठता हूं जो कि वह जिंदगी भर तक उसका पश्चाताप होता है तो खाना खा पर गुस्से को नियंत्रित करना जो एक बहुत ही जरूरी चाहिए सबको आता है लेकिन गुस्से को नियंत्रण करना जो हर एक इंसान के बस में है अगर गुस्से को करने का सबसे अच्छा तरीका प्राणायाम होगा या फिर कब तक बंद करके धीरे से मेरी एक से 10 तक घन तथा का किस्सा जानी कुछ हद तक कम हो जाता है बहुत कम हो जाएगा फिर आप के गुस्से गुस्से को इस तरीके से जय हो अंबे मां DJ MP3 पेश करते हो तो आपके सानिध्य में रहकर तरीके करते हो तो आपका गुस्सा को नियंत्रण में रहेगा

teekhi ghoshal jaise ji rahe koi bhi insaan gussa karta hai aur agar ho sake toh sab ka niyantran nahi rehte ho kyon nahi karte kar baithta hoon jo ki vaah zindagi bhar tak uska pashchaataap hota hai toh khana kha par gusse ko niyantrit karna jo ek bahut hi zaroori chahiye sabko aata hai lekin gusse ko niyantran karna jo har ek insaan ke bus mein hai agar gusse ko karne ka sabse accha tarika pranayaam hoga ya phir kab tak band karke dhire se meri ek se 10 tak ghan tatha ka kissa jani kuch had tak kam ho jata hai bahut kam ho jaega phir aap ke gusse gusse ko is tarike se jai ho ambe maa DJ MP3 pesh karte ho toh aapke sanidhya mein rahkar tarike karte ho toh aapka gussa ko niyantran mein rahega

तीखी घोषाल जैसे जी रहे कोई भी इंसान गुस्सा करता है और अगर हो सके तो सब का नियंत्रण नहीं रह

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  32
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
gussa khatam karne ka tarika ; karke gussa kiya ; karne ka achcha tarika ;

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!