कुछ भारतीयों अमरीका से छोटी यात्रा के बाद अमेरिका की एक्सेंट से क्यों बात करते है?...


play
user

Abhishek Sharma

Forest Range Officer, MP

1:25

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इसका सीधा को स्पष्ट उत्तर यह है कि केवल दिखावे के लिए एक बात बताइए अगर आप 2 महीने के लिए अपने गृह प्रदेश से दूसरे प्रदेश चले जाएंगे तो क्या आप उस दर्द गले की भाषा बोलने की क्या या उस तरीके से भाषा भाषा बोलने की क्या या अगर आप बहुत टाइम से साउथ इंडिया की तरफ खाना खाते हाथों से और आपको केवल 4 दिन के लिए चम्मच पकड़ा दिया तो आप चम्मच से खाना खाया क्या नहीं खाया नहीं है बट अच्छी है लेकिन नहीं खा पाएंगे क्योंकि आपकी जो जन्मजात है बेटा उसके साथ आप 20 साल 30 साल 40 साल से कंट्रीब्यूशन में हो और आप ने जो अभी 4 दिन में सीसीटीवी वह चीज आप नहीं कर सकते अमेरिका जाकर आप लोगों को यह दिखाने की कोशिश करते हो कि मैं अमेरिका जा सकता हूं यह चीज 1991 तक अच्छी थी क्योंकि उस समय तक लिमिटेड लोग अमेरिका जाते तेरी गली से नहीं था बाहर की चीजें इंडिया में आती नहीं थी तो उस समय की चीजें अच्छी थी अब अगर कोई ऐसे बोलता है कि मैं अमेरिका जाऊंगा मैं सिंगापुर गया हूं बहुत हल्की सी बात है और मुझे लगता है लोग समाज का मजाक उड़ाता है क्योंकि अब कोई भी जाने में सक्षम है स्टूडेंट पढ़ाई करने के लिए बाहर जा रहे हैं यहां तक कि किसान लोग भी अपनी कभी कभी घूमने के लिए और फॉरेन जाते हुए पेपर में आया था कि किसानों ने पिछले साल करीबन 50000 किसानों ने रजिस्ट्रेशन कराया था विदेश यात्राओं के लिए तो मुझे लगता है कि केवल यह केवल और केवल समाज में अपने आप को ऊंचा दिखाने की कोशिश करने के लिए होता जबकि सही बात यह है कि इस से कोई मतलब नहीं है केवल दिखावा पढ़ने और कुछ नहीं धन्यवाद

iska seedha ko spasht uttar yah hai ki keval dikhaave ke liye ek baat bataye agar aap 2 mahine ke liye apne grah pradesh se dusre pradesh chale jaenge toh kya aap us dard gale ki bhasha bolne ki kya ya us tarike se bhasha bhasha bolne ki kya ya agar aap bahut time se south india ki taraf khana khate hathon se aur aapko keval 4 din ke liye chammach pakada diya toh aap chammach se khana khaya kya nahi khaya nahi hai but achi hai lekin nahi kha payenge kyonki aapki jo janmajat hai beta uske saath aap 20 saal 30 saal 40 saal se kantribyushan mein ho aur aap ne jo abhi 4 din mein cctv vaah cheez aap nahi kar sakte america jaakar aap logo ko yah dikhane ki koshish karte ho ki main america ja sakta hoon yah cheez 1991 tak achi thi kyonki us samay tak limited log america jaate teri gali se nahi tha bahar ki cheezen india mein aati nahi thi toh us samay ki cheezen achi thi ab agar koi aise bolta hai ki main america jaunga main singapore gaya hoon bahut halki si baat hai aur mujhe lagta hai log samaj ka mazak udata hai kyonki ab koi bhi jaane mein saksham hai student padhai karne ke liye bahar ja rahe hain yahan tak ki kisan log bhi apni kabhi kabhi ghoomne ke liye aur foreign jaate hue paper mein aaya tha ki kisano ne pichle saal kariban 50000 kisano ne registration karaya tha videsh yatraon ke liye toh mujhe lagta hai ki keval yah keval aur keval samaj mein apne aap ko uncha dikhane ki koshish karne ke liye hota jabki sahi baat yah hai ki is se koi matlab nahi hai keval dikhawa padhne aur kuch nahi dhanyavad

इसका सीधा को स्पष्ट उत्तर यह है कि केवल दिखावे के लिए एक बात बताइए अगर आप 2 महीने के लिए अ

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  214
KooApp_icon
WhatsApp_icon
7 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

Related Searches:
baad mein baat karte hain ;

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!