लड़कियों की सबसे बुरी आदत क्या होती है?...


user
2:28
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपकी प्रश्न को थोड़ा सा ठीक करते हैं होना यह चाहिए प्रश्न की इस्त्री चाहत की सबसे बुरी आदत क्या होती है उसमें सबसे बुरी आदत होती है वह जहां भी बैठती है या स्थित होती है स्त्री जाति वह पूरे वातावरण की शक्ति को सूखने लग जाती है या यूं कहें प्रभावित करने लग जाती है इसीलिए तो पुरुष समुदाय हमेशा स्त्री जाति की उपस्थिति होने पर ही चाहे अनचाहे गर्दन मोड कर देखता जरूर है उसको उसका कारण ही होता है कि वह जहां होगी उस वातावरण की समस्त पॉजिटिव शक्तियों को कमजोर करने लग जाएगी तो अगली बार लड़कियों की बुरी आदत को जानने का कोशिश करिएगा तो सोच समझकर करिएगा क्योंकि स्त्रियां शक्ति का केंद्र होती है इसीलिए पूज्यनीय भी मानी गई है और चामुंडा रूप भी कही गई है सोचने की जरूरत है इस जगह स्क्रीन जिससे नाराज हो जाए उसका सर बस वह हर लेती है जिस पर प्रसन्न हो जाए उसको सर्वस्य अपना दान भी कर देती है अब वह स्त्री का रूप चाहे मां के रूप में हो चाहे बहन के रूप में हो चाहे प्रेयसी के रूप में हो तीनों स्थितियों में नियम एक जैसा ही लागू होता है इसलिए स्त्रियों को हमेशा आदर की दृष्टि से देखिए अनादर के दृष्टि से देख कर आप अपना ही भविष्य को बिगाड़ रहे हैं

aapki prashna ko thoda sa theek karte hain hona yah chahiye prashna ki istree chahat ki sabse buri aadat kya hoti hai usme sabse buri aadat hoti hai vaah jaha bhi baithati hai ya sthit hoti hai stree jati vaah poore vatavaran ki shakti ko sukhne lag jaati hai ya yun kahein prabhavit karne lag jaati hai isliye toh purush samuday hamesha stree jati ki upasthitee hone par hi chahen anchahe gardan mode kar dekhta zaroor hai usko uska karan hi hota hai ki vaah jaha hogi us vatavaran ki samast positive shaktiyon ko kamjor karne lag jayegi toh agli baar ladkiyon ki buri aadat ko jaanne ka koshish kariega toh soch samajhkar kariega kyonki striyan shakti ka kendra hoti hai isliye pujyaniya bhi maani gayi hai aur chamunda roop bhi kahi gayi hai sochne ki zarurat hai is jagah screen jisse naaraj ho jaaye uska sir bus vaah har leti hai jis par prasann ho jaaye usko Sarvasya apna daan bhi kar deti hai ab vaah stree ka roop chahen maa ke roop me ho chahen behen ke roop me ho chahen preyasi ke roop me ho tatvo sthitiyo me niyam ek jaisa hi laagu hota hai isliye sthreeyon ko hamesha aadar ki drishti se dekhiye anadar ke drishti se dekh kar aap apna hi bhavishya ko bigad rahe hain

आपकी प्रश्न को थोड़ा सा ठीक करते हैं होना यह चाहिए प्रश्न की इस्त्री चाहत की सबसे बुरी आद

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  91
KooApp_icon
WhatsApp_icon
1 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!