आपको ऐसा नहीं लगता कि सिर्फ पढ़े-लिखे हैं वाले ही लोग राजनीति में आए तो ज़्यादा विकास होगा?...


user

Vikas Singh

Political Analyst

1:45
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

गुरु चाणक्य जो कि हमारे गुरु हैं आपके गुरु हैं और सब के गुरु हैं गुरु चाणक्य जी कहते थे कि किसी भी समाज को बर्बाद करने में उस समाज के पढ़े लिखे लोगों का सबसे बड़ा हाथ होता है क्यों होता है क्योंकि वह लोग जो पढ़े-लिखे लोग होते हैं वह कहते हैं कि मेरा राजनीति से कोई मतलब नहीं है यानी वह अपने से कम पढ़े लिखे लोगों को अपने ऊपर शासन करने के लिए बोलते हैं तो बताइए समाज कैसे आगे बढ़ेगा पढ़े लिखे लोगों को पॉलिटिक्स में आना चाहिए राजनीति में आना चाहिए तभी समाज का विकास होगा जब राजनीति में आएंगे कुछ अच्छा करेंगे कुछ अच्छा करेंगे तो समाज का विकास होगा लेकिन पढ़े-लिखे लोगों की यह भाषा मुझे बिल्कुल अच्छी नहीं लगती है क्योंकि अगर देश को आगे बढ़ाना है तो राजनीति में आना ही पड़ेगा अच्छे-अच्छे लोगों को पढ़े लिखे लोगों को राजनीति और युद्ध में अंतर नहीं होता है युद्ध में रक्तपात होता है लड़ाई होती है खून तक रहता है लेकिन राजनीति में भी राजनीति युद्ध से थोड़ा सा अलग है राजनीति का भी मतलब युद्ध होता है राजनीति में बस रक्त पात नहीं होता है खून नहीं पड़ता है लेकिन युद्ध की तरह ही रणनीति होती है चारों तरफ से जैसे अभिमन्यु को घेर कर मारा गया था वैसे आप को घेरने की कोशिश की जाएगी आप के खिलाफ बातों की लड़ाई होगी विचारधारा की लड़ाई होगी तो यही अंतर है तो पढ़े लिखे लोगों को राजनीति में आना चाहिए राजनीति में जब पढ़े-लिखे लोग आएंगे तभी समाज का विकास होगा देश का विकास होगा और 21वीं सदी हिंदुस्तान का होगा धन्यवाद

guru chanakya jo ki hamare guru hain aapke guru hain aur sab ke guru hain guru chanakya ji kehte the ki kisi bhi samaj ko barbad karne mein us samaj ke padhe likhe logo ka sabse bada hath hota hai kyon hota hai kyonki vaah log jo padhe likhe log hote hain vaah kehte hain ki mera raajneeti se koi matlab nahi hai yani vaah apne se kam padhe likhe logo ko apne upar shasan karne ke liye bolte hain toh bataye samaj kaise aage badhega padhe likhe logo ko politics mein aana chahiye raajneeti mein aana chahiye tabhi samaj ka vikas hoga jab raajneeti mein aayenge kuch accha karenge kuch accha karenge toh samaj ka vikas hoga lekin padhe likhe logo ki yah bhasha mujhe bilkul achi nahi lagti hai kyonki agar desh ko aage badhana hai toh raajneeti mein aana hi padega acche acche logo ko padhe likhe logo ko raajneeti aur yudh mein antar nahi hota hai yudh mein raktapat hota hai ladai hoti hai khoon tak rehta hai lekin raajneeti mein bhi raajneeti yudh se thoda sa alag hai raajneeti ka bhi matlab yudh hota hai raajneeti mein bus rakt pat nahi hota hai khoon nahi padta hai lekin yudh ki tarah hi rananiti hoti hai charo taraf se jaise abhimanyu ko gher kar mara gaya tha waise aap ko gherne ki koshish ki jayegi aap ke khilaf baaton ki ladai hogi vichardhara ki ladai hogi toh yahi antar hai toh padhe likhe logo ko raajneeti mein aana chahiye raajneeti mein jab padhe likhe log aayenge tabhi samaj ka vikas hoga desh ka vikas hoga aur vi sadi Hindustan ka hoga dhanyavad

गुरु चाणक्य जो कि हमारे गुरु हैं आपके गुरु हैं और सब के गुरु हैं गुरु चाणक्य जी कहते थे कि

Romanized Version
Likes  31  Dislikes    views  1557
KooApp_icon
WhatsApp_icon
15 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

Related Searches:
bharat ke sabse jyada padhe likhe vyakti ; bharat ke sabse padhe likhe vyakti ;

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!