गुणसूत्र क्रोमोसोम की खोज किसने की?...


user

Hemant Priyadarshi

Writer | Philospher| Teacher |

1:27
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सभी वनस्पतियों जीवो पद अर्थात वृक्ष पेड़ पौधे जो होते हैं जो भी जीव हैं जंतुओं और मनुष्य इन सबों के शरीर के अंदर जो कोसीका होती है कोशिका के अंदर तंतु रूपी पिंड पाए जाते हैं जिन्हें क्रोमोजोम य गुणसूत्र कहा जाता है यह गुणसूत्र ही हमारे अनुवांशिक गुणों को संचालित करते हैं उसे चलाएं मान रखते हैं और इस पीडी से उस पीड़ित उसे प्रवाहित करते रहते हैं इसके लिए यही क्रोमोजोम उत्तरदाई होते हैं इस क्रोमोजोम अर्थात गुणसूत्र की खोज 1842 1942 में कारगिल हम बूंद गिरी ने की थी उनका नाम था कारण विलंब वन्नकीली सभी जीवो के गुणसूत्रों की संख्या में भी अलग-अलग होती हैं जैसे मनुष्य में पुरुष के भी अलग होते हैं इस तरीके भी अलग बाकी जीवो के अलग-अलग संख्याएं हैं पुरुष के 23 जुड़े होते हैं उनसे स्त्री के बाएं से जुड़े होते हैं और सभी जीवो के अलग-अलग संख्याएं होती हैं गुणसूत्र की लेकिन गुणसूत्र का कार्य ही अनुवांशिक गुणों को संचालित करना होता है

sabhi vanaspatiyon jeevo pad arthat vriksh ped paudhe jo hote hain jo bhi jeev hain jantuon aur manushya in sabon ke sharir ke andar jo kosika hoti hai koshika ke andar tantu rupee pind paye jaate hain jinhen chromosome ya gunasutra kaha jata hai yah gunasutra hi hamare anuvanshik gunon ko sanchalit karte hain use chalaye maan rakhte hain aur is PD se us peedit use pravahit karte rehte hain iske liye yahi chromosome uttardai hote hain is chromosome arthat gunasutra ki khoj 1842 1942 me kargil hum boond giri ne ki thi unka naam tha karan vilamb vannakili sabhi jeevo ke gunsutron ki sankhya me bhi alag alag hoti hain jaise manushya me purush ke bhi alag hote hain is tarike bhi alag baki jeevo ke alag alag sankhyae hain purush ke 23 jude hote hain unse stree ke baen se jude hote hain aur sabhi jeevo ke alag alag sankhyae hoti hain gunasutra ki lekin gunasutra ka karya hi anuvanshik gunon ko sanchalit karna hota hai

सभी वनस्पतियों जीवो पद अर्थात वृक्ष पेड़ पौधे जो होते हैं जो भी जीव हैं जंतुओं और मनुष्य इ

Romanized Version
Likes  64  Dislikes    views  1570
WhatsApp_icon
1 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
Likes    Dislikes    views  
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!