त्योहार जीवन में क्यों ज़रूरी है?...


user

Ajay Sinh Pawar

Founder & M.D. Of Radiant Group Of Industries

1:56
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सेवा जीवन में क्यों जरूरी है भारत देश से वालों का देश है जहां पूरे साल भर से वार बड़े ही हर्ष और उल्लास से मनाया जाता है यार को मना दे इतनी सारी चिंताएं होने के बावजूद भी सभी धर्मों और जातियों के लोग त्योहारों का आनंद लेते हैं चाहे वह हिंदू के दिवाली और होली क्यों ना मुस्लिम की युद्ध क्यों ना सिक्खों के लोहड़ी क्यों ना हो ईसाइयों का करिश्मा से क्यों ना सेवा शब्द सुनते ही मन में हर्ष और उल्लास जाग जाता है मन अपने आप पर क्लिक हो भारतीय अपने त्योहारों को विशेष महत्व देते हैं दीवारों को मनाने के लिए पहले से तैयारियां शुरू हो जाती हैं किसी भी धर्म संप्रदाय के लोग गांव हो या शहर हर तरफ करो कि भारत देश का हर बार लोगों के प्रति प्रेम कथा हर्ष और उल्लास का संदेश देता है हर किसी से वालों से यह कोई न कोई कहानी है जो हमारी परंपराओं के अनुसार लंबे समय से चली है अपनी ही संस्कृति और परंपराओं को यथावत रखने वालों का मनाते रहना चाहिए जवान मनाने से हमारे घर परिवार आस-पड़ोस और मित्रों के बीच एक अच्छा माहौल बनता है और हमारे रिश्ते को और भी मजबूत रखता है इस तरह से हमारे जीवन में त्योहारों की बहुत महत्व और हमारी दोनों की लाइफ है उसमें थोड़ा चेंज आता है चेंज लेने के लिए क्या को कुछ लोग बाहर आउट ऑफ स्टेशन जाते हैं और क्या सोचते हो आज मनाते हैं परिवार के सभी सदस्यों के पास और अपने मित्रों और पड़ोसियों के साथ रिश्तेदारों के साथ इस तरह से जीवन में उल्लास करने का काम सेवा तब से धन्यवाद

seva jeevan me kyon zaroori hai bharat desh se walon ka desh hai jaha poore saal bhar se war bade hi harsh aur ullas se manaya jata hai yaar ko mana de itni saari chintaen hone ke bawajud bhi sabhi dharmon aur jaatiyo ke log tyoharon ka anand lete hain chahen vaah hindu ke diwali aur holi kyon na muslim ki yudh kyon na sikkhon ke lohdi kyon na ho isaiyon ka karishma se kyon na seva shabd sunte hi man me harsh aur ullas jag jata hai man apne aap par click ho bharatiya apne tyoharon ko vishesh mahatva dete hain deewaaron ko manane ke liye pehle se taiyariya shuru ho jaati hain kisi bhi dharm sampraday ke log gaon ho ya shehar har taraf karo ki bharat desh ka har baar logo ke prati prem katha harsh aur ullas ka sandesh deta hai har kisi se walon se yah koi na koi kahani hai jo hamari paramparaon ke anusaar lambe samay se chali hai apni hi sanskriti aur paramparaon ko yathavat rakhne walon ka manate rehna chahiye jawaan manane se hamare ghar parivar aas pados aur mitron ke beech ek accha maahaul banta hai aur hamare rishte ko aur bhi majboot rakhta hai is tarah se hamare jeevan me tyoharon ki bahut mahatva aur hamari dono ki life hai usme thoda change aata hai change lene ke liye kya ko kuch log bahar out of station jaate hain aur kya sochte ho aaj manate hain parivar ke sabhi sadasyon ke paas aur apne mitron aur padoshiyon ke saath rishtedaron ke saath is tarah se jeevan me ullas karne ka kaam seva tab se dhanyavad

सेवा जीवन में क्यों जरूरी है भारत देश से वालों का देश है जहां पूरे साल भर से वार बड़े ही

Romanized Version
Likes  398  Dislikes    views  7791
KooApp_icon
WhatsApp_icon
4 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!