मुझे पढ़ाई में में मन नहीं लगता है, क्या करूँ?...


user

Norang sharma

Social Worker

1:43
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार दोस्तों वह कल पर सुन रहे मेरे सभी बुद्धिजीवी श्रोताओं को मेरा प्यार भरा नमस्कार आज का सवाल स्टडी से रिलेटेड है क्या आप का मन पढ़ाई में नहीं लगता तो आपको क्या करना चाहिए तो देखिए हमारा जो मन है वह आदतों का गुलाम होता है आपको शायद मेरी बात सुनकर अजीब लगे लेकिन जिस चीज की हमें आदत पड़ जाती है हम वह काम बिना सोचे समझे करने लगते हैं इसलिए आप का मन पढ़ाई में इसलिए नहीं लग रहा क्योंकि आपने एक रेगुलर रूटीन नहीं बनाई है टाइम टेबल लेकर बनाकर और उसको कई दिन तक फॉलो करने की कोशिश करें फिर आप देखेंगे कि आपका जो मन है आपका जो मूड है उस रूटीन में खुद को ढालने का और आपका धीरे-धीरे मन लगने लगेगा मन इसलिए नहीं लगता क्योंकि आप किताब को उठाते ही कभी-कभी है वह किसने लिया फिर आप किताब को उठाएंगे तो आपका मन डेफिनेटली नहीं लेकिन रेगुलर बेसिस पर अगर आप पढ़ाई करते हैं या एक टारगेट बनाकर पढ़ाई करते हैं तो आप निश्चित रूप से उस टाइम टेबल को पूरा कर लेंगे और फिर आप जब भी पढ़ने बैठेंगे आपका मन लगेगा जो कुछ भी आप याद करेंगे वह इसीलिए आपको याद होगा इसलिए कोशिश करें टाइम टेबल बनाकर उसको फॉलो करते हुए पढ़ने की क्योंकि जब आप रेगुलर बेसिस पर कोई काम करते हैं तो फिर आपको ज्यादा उस काम के लिए सोचना नहीं पड़ता आपका दिमाग उसका एक्सेप्ट कर लेता है और आपसे वह काम ऑटोमेटिकली होने लगता है तो अच्छी आदतें डार्लिंग अच्छी आदतें आपके फ्यूचर को ब्राइट करेंगे धन्यवाद

namaskar doston vaah kal par sun rahe mere sabhi buddhijeevi shrotaon ko mera pyar bhara namaskar aaj ka sawaal study se related hai kya aap ka man padhai mein nahi lagta toh aapko kya karna chahiye toh dekhiye hamara jo man hai vaah aadaton ka gulam hota hai aapko shayad meri baat sunkar ajib lage lekin jis cheez ki hamein aadat pad jaati hai hum vaah kaam bina soche samjhe karne lagte hain isliye aap ka man padhai mein isliye nahi lag raha kyonki aapne ek regular routine nahi banai hai time table lekar banakar aur usko kai din tak follow karne ki koshish kare phir aap dekhenge ki aapka jo man hai aapka jo mood hai us routine mein khud ko dhalne ka aur aapka dhire dhire man lagne lagega man isliye nahi lagta kyonki aap kitab ko uthate hi kabhi kabhi hai vaah kisne liya phir aap kitab ko uthayenge toh aapka man definetli nahi lekin regular basis par agar aap padhai karte hain ya ek target banakar padhai karte hain toh aap nishchit roop se us time table ko pura kar lenge aur phir aap jab bhi padhne baitheange aapka man lagega jo kuch bhi aap yaad karenge vaah isliye aapko yaad hoga isliye koshish kare time table banakar usko follow karte hue padhne ki kyonki jab aap regular basis par koi kaam karte hain toh phir aapko zyada us kaam ke liye sochna nahi padta aapka dimag uska except kar leta hai aur aapse vaah kaam atometikli hone lagta hai toh achi aadatein darling achi aadatein aapke future ko bright karenge dhanyavad

नमस्कार दोस्तों वह कल पर सुन रहे मेरे सभी बुद्धिजीवी श्रोताओं को मेरा प्यार भरा नमस्कार आज

Romanized Version
Likes  29  Dislikes    views  975
KooApp_icon
WhatsApp_icon
10 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

Related Searches:
mujhe padhai ; padhne mein man nahi lagta ;

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!