राष्ट्रपति शासन कब लागू होता है?...


user

Preeti

Political Science Teacher

0:20
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

राष्ट्रपति शासन राज्य या देश की हालत बद से बदतर हो जाती है या कानून व्यवस्था का कानून का राज खत्म हो जाता है तब राष्ट्रपति शासन लागू होता है

Rashtrapati shasan rajya ya desh ki halat BA d se BA dataar ho jati hai ya kanoon vyavastha ka kanoon ka raaj khatam ho jata hai tab Rashtrapati shasan laagu hota hai

राष्ट्रपति शासन राज्य या देश की हालत बद से बदतर हो जाती है या कानून व्यवस्था का कानून का र

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  43
WhatsApp_icon
5 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

priya tiwari

Volunteer

2:07
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

राष्ट्रपति शासन को राज्य आपातकालीन संवैधानिक आपातकाल भी कहते हैं आप जानते हैं कि हर राज्य के राज्यपाल होता है केंद्र सरकार द्वारा नियुक्ति होती है कहा जाता है कि केंद्र में जो काम राष्ट्रपति करता है वही कम राज्य में राज्यपाल का होता है वह केंद्र और राज्य सरकार के बीच सीधा पुल होता है राज्य में केंद्र प्रतिनिधित्व संविधान के अनुच्छेद 395 कहा गया है कि केंद्र सरकार की जिम्मेदारी है कि प्रत्येक राज्य की बाहरी आक्रमण और अंदरूनी उत्तल पुथल की स्थिति में रक्षा करें और इस बात की पुष्टि करें कि राज्य में सब कुछ संविधान के अनुरूप चल चलता रहे इसके बाद के अनुच्छेद 356 में जिक्र आता है राष्ट्रपति शासन का संविधान के अनुच्छेद 356 में लिखा गया है जब राज्य किसी आपातकाल की स्थिति होती है उस समय राज्यपाल राष्ट्रपति शासन लागू करने की अनुशंसा कर सकता है ऐसी स्थिति में राज्य में आपातकाल आज आ जाते हैं अगर राष्ट्रपति को राज्य के राज्यपाल की ओर से भरोसा दिला दिया गया है कि राज्य में किसी भी स्थिति में संवैधानिक क्या दिन सरकार का संचालन नहीं हो सकता है तो राष्ट्रपति शासन लगाया जा सकता है जैसे अगर राज्य की विधानसभा में किसी दल का बहुमत सिद्ध ना हो सका और विधानसभा अपना नेता मुख्यमंत्री ना चल सकती हो किसी आपदा जैसे युद्ध कंबोडिया महा नगरी की वजह से अगर राज्य में समय से चुनाव ना हो सके तो अगर विधानसभा में अविश्वास प्रस्ताव लाया गया हो और सरकार इस वजह से गिर गई हो और दूसरे दल अपना बहुमत ना पेश कर सके और यदि राज्यपाल अथवा राष्ट्रपति को खुद लगे कि राज्य की सरकार या विधानसभा चुनाव के चुनाव संविधान के अनुरूप बर्ताव नहीं कर रही है इस केस में राष्ट्रीय संविधान राष्ट्रपति शासन लागू होता है कितने दिनों के लिए लगाया जाता है एक आदेश में राष्ट्रपति शासन लगाया तो दूसरे आदेश गुस्से राष्ट्रपति शासन हटाया भी जा सकता है और समय अवधि अवधि के हिसाब से बात करें तो राष्ट्रपति शासन 6 महीनों की भी लगाया जा सकता है अगर राज्य में स्थिति सामान्य नहीं हुई राष्ट्रपति शासन का कार्यकाल बढ़ाया भी जा सकता है और 3 सालों तक के लिए से लगाया जा सकता है

rashtrapati shasan ko rajya aapatkalin samvaidhanik aapatkal bhi kehte hai aap jante hai ki har rajya ke rajyapal hota hai kendra sarkar dwara niyukti hoti hai kaha jata hai ki kendra mein jo kaam rashtrapati karta hai wahi kam rajya mein rajyapal ka hota hai vaah kendra aur rajya sarkar ke beech seedha pool hota hai rajya mein kendra pratinidhitva samvidhan ke anuched 395 kaha gaya hai ki kendra sarkar ki jimmedari hai ki pratyek rajya ki BA ahri aakraman aur andaruni uttal puthal ki sthiti mein raksha kare aur is BA at ki pushti kare ki rajya mein sab kuch samvidhan ke anurup chal chalta rahe iske BA ad ke anuched 356 mein jikarr aata hai rashtrapati shasan ka samvidhan ke anuched 356 mein likha gaya hai jab rajya kisi aapatkal ki sthiti hoti hai us samay rajyapal rashtrapati shasan laagu karne ki anushansha kar sakta hai aisi sthiti mein rajya mein aapatkal aaj aa jaate hai agar rashtrapati ko rajya ke rajyapal ki aur se bharosa dila diya gaya hai ki rajya mein kisi bhi sthiti mein samvaidhanik kya din sarkar ka sanchalan nahi ho sakta hai toh rashtrapati shasan lagaya ja sakta hai jaise agar rajya ki vidhan sabha mein kisi dal ka BA humat siddh na ho saka aur vidhan sabha apna neta mukhyamantri na chal sakti ho kisi aapda jaise yudh cambodia maha nagari ki wajah se agar rajya mein samay se chunav na ho sake toh agar vidhan sabha mein avishvaas prastaav laya gaya ho aur sarkar is wajah se gir gayi ho aur dusre dal apna BA humat na pesh kar sake aur yadi rajyapal athva rashtrapati ko khud lage ki rajya ki sarkar ya vidhan sabha chunav ke chunav samvidhan ke anurup BA rtaav nahi kar rahi hai is case mein rashtriya samvidhan rashtrapati shasan laagu hota hai kitne dino ke liye lagaya jata hai ek aadesh mein rashtrapati shasan lagaya toh dusre aadesh gusse rashtrapati shasan hataya bhi ja sakta hai aur samay awadhi awadhi ke hisab se BA at kare toh rashtrapati shasan 6 mahinon ki bhi lagaya ja sakta hai agar rajya mein sthiti samanya nahi hui rashtrapati shasan ka karyakal BA dhaya bhi ja sakta hai aur 3 salon tak ke liye se lagaya ja sakta hai

राष्ट्रपति शासन को राज्य आपातकालीन संवैधानिक आपातकाल भी कहते हैं आप जानते हैं कि हर राज्य

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  559
WhatsApp_icon
play
user

Mehmood Alum

Law Student

0:09

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जब किसी राज्य में संवैधानिक तंत्र विफल हो जाता है तब उस राज्य में राष्ट्रपति शासन लागू कर दिया जाता है

jab kisi rajya mein samvaidhanik tantra vifal ho jata hai tab us rajya mein Rashtrapati shasan laagu kar diya jata hai

जब किसी राज्य में संवैधानिक तंत्र विफल हो जाता है तब उस राज्य में राष्ट्रपति शासन लागू कर

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  56
WhatsApp_icon
user

Ashwani Thakur

👤Teacher & Advisor🙏

0:16
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका पूछा गया प्रश्न में राष्ट्रपति शासन कब और क्यों लगता है ठीक है पहला राष्ट्रभाषा लगता है अगर आप पर आपके राज्य में कोई भी दल सरकार बनाने में असमर्थ है तो वहां पर राष्ट्रपति शासन लग जाता है या राष्ट्रपति शासन आपातकाल के समय लगता है ठीक है

aapka poocha gaya prashna mein rashtrapati shasan kab aur kyon lagta hai theek hai pehla rashtrabhasha lagta hai agar aap par aapke rajya mein koi bhi dal sarkar BA naane mein asamarth hai toh wahan par rashtrapati shasan lag jata hai ya rashtrapati shasan aapatkal ke samay lagta hai theek hai

आपका पूछा गया प्रश्न में राष्ट्रपति शासन कब और क्यों लगता है ठीक है पहला राष्ट्रभाषा लगता

Romanized Version
Likes  22  Dislikes    views  525
WhatsApp_icon
user
0:22
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

राष्ट्रपति शासन जो है वह तभी लागू होता है जब एक स्टेट के ऊपर से गवर्नर का यानी कि मुख्यमंत्री का रोल हट जाता है अगर 6 महीने से पहले मुख्यमंत्री ने लाया गया तो वहां पर रजनीश जरूर लग जाता है आर्टिकल 356 के तहत जो कि इंडियन कॉन्स्टिट्यूशन में है अभी तक छत्तीसगढ़ और तेलंगाना स्टेट है जो अभी तक प्रेसिडेंट रूल नहीं है बाकी सब जगह आ चुका है एक बार

rashtrapati shasan jo hai vaah tabhi laagu hota hai jab ek state ke upar se governor ka yani ki mukhyamantri ka roll hut jata hai agar 6 mahine se pehle mukhyamantri ne laya gaya toh wahan par rajnish zaroor lag jata hai article 356 ke tahat jo ki indian Constitution mein hai abhi tak chattisgarh aur telangana state hai jo abhi tak president rule nahi hai BA ki sab jagah aa chuka hai ek BA ar

राष्ट्रपति शासन जो है वह तभी लागू होता है जब एक स्टेट के ऊपर से गवर्नर का यानी कि मुख्यमंत

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  223
WhatsApp_icon
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!