मैं एक अपाहिज आदमी हूँ और मेरी फैमिली मुझे सपोर्ट नहीं कर रही है, ऐसे में क्या करना चाहिए?...


user

Shailesh Kumar Dubey

Yoga Teacher , Retired Government Employee

2:37
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पता है मैं एक अपाहिज आदमी हूं और मेरी फैमिली मुझे सपोर्ट नहीं कर रही ऐसी में क्या करना चाहिए इसका उत्तर है आप नियमित व प्राणायाम कीजिए प्राणी हम करेंगे तो आप पूर्ण रूप से स्वस्थ रहेंगे आपके अंदर कोई भी छोटी बड़ी कोई भी बीमारी नहीं आ सकती अगर है तो धीरे-धीरे समाप्त हो जाएगी प्राणायाम खड़ी है प्राणायाम से आपकी आपके अंदर सकारात्मक सोच बढ़ बढ़ जाएगी नकारात्मक सोच समाप्त हो जाएगी यादाश्त शक्ति बढ़ जाएगी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ जाएगी गुस्सा पर नियंत्रण हो जाएगा और आप अपने गांव के प्रधान से अपनी यह दुखद बातें बताई शेयर कीजिए उसके बाद विधायक से सांसद से अपनी देख दिन जिला मुख्यालय पर जा कर के वहां भी आप एक एप्लीकेशन दे देंगे तो वहां से आप से खानपान की व्यवस्था आपको चलने के लिए हाथ से चलाने वाली गाड़ी सब जिला प्रशासन आपको उपलब्ध करा देगा या विधायक और सांसद उपलब्ध करा देंगे विकलांग के लिए सरकार बहुत सुविधा दे रही है बहुत व्यवस्थाएं बना रही है केवल आपको संपर्क करने की आवश्यकता है व्यवस्था भी ठीक हो जाएगी आपका जीवन यापन कैसे हो इसको गांव से लेकर के आपके प्रधान से लेकर के और ब्लॉक प्रमुख और विधायक एमपी डीएम सब लोग आंखों पर विशेष ध्यान देंगे करे योग रहे निरोग

pata hai main ek apahij aadmi hoon aur meri family mujhe support nahi kar rahi aisi me kya karna chahiye iska uttar hai aap niyamit va pranayaam kijiye prani hum karenge toh aap purn roop se swasth rahenge aapke andar koi bhi choti badi koi bhi bimari nahi aa sakti agar hai toh dhire dhire samapt ho jayegi pranayaam khadi hai pranayaam se aapki aapke andar sakaratmak soch badh badh jayegi nakaratmak soch samapt ho jayegi yadashat shakti badh jayegi rog pratirodhak kshamta badh jayegi gussa par niyantran ho jaega aur aap apne gaon ke pradhan se apni yah dukhad batein batai share kijiye uske baad vidhayak se saansad se apni dekh din jila mukhyalay par ja kar ke wahan bhi aap ek application de denge toh wahan se aap se khanpan ki vyavastha aapko chalne ke liye hath se chalane wali gaadi sab jila prashasan aapko uplabdh kara dega ya vidhayak aur saansad uplabdh kara denge viklaang ke liye sarkar bahut suvidha de rahi hai bahut vyavasthaen bana rahi hai keval aapko sampark karne ki avashyakta hai vyavastha bhi theek ho jayegi aapka jeevan yaapan kaise ho isko gaon se lekar ke aapke pradhan se lekar ke aur block pramukh aur vidhayak MP dm sab log aakhon par vishesh dhyan denge kare yog rahe nirog

पता है मैं एक अपाहिज आदमी हूं और मेरी फैमिली मुझे सपोर्ट नहीं कर रही ऐसी में क्या करना चा

Romanized Version
Likes  128  Dislikes    views  4272
KooApp_icon
WhatsApp_icon
9 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!