लोगों को दहेज़ प्रथा के खिलाफ कैसे जागरूक करें?...


play
user

Vikas Singh

Political Analyst

1:25

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए हमारे देश में जो दहेज प्रथा का सिस्टम है 24 स्टेट ओं में ज्यादा है जैसे यूपी और बिहार यहां पर दहेज प्रथा का सिस्टम है और लड़की वाले भेज देते हैं लड़के वाले दहेज लेते हैं एजुकेशन होने के बाद भी एजुकेटेड लोग भी दहेज लेते हैं और दहेज देते हैं तो जहां तक दहेज प्रथा हमारे देश में बहुत ही कुप्रथा एक बहुत ही खराब व्यवस्था है इसको ठीक करने के लिए प्रशासन कोई कानून बनाना चाहिए और इसके ऊपर रोक लगानी चाहिए उत्तर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जी ने इसके ऊपर अभी विचार-विमर्श किया है और वहां पर बहुत जल्दी दहेज प्रथा के खिलाफ कानून बनेगा दहेज लेना भी गुनाह होगा वह दहेज देना भी गुनाह होगा तभी हमारा देश आगे बढ़ेगा देखिए तो देने लायक होता है वह तो अपनी बेटी को सब कुछ देता है लेकिन जिसके पास जिसकी हैसियत कौन है वह कहां से देगा जो गरीब है वह कहां से देगा तो दहेज लेना भी गुनाह है दहेज देना भी गुना दहेज प्रथा का जो सिस्टम है इसमें जो गैस प्राइस की डिमांड होती है कैसा में चाहिए 2000000 में चाहिए 2500000 यह गड़बड़ है और लड़की वाला तो अपनी लड़की को अपनी औकात से भी ज्यादा देता है और जो डिमांड होती है दहेज की 10 लाख 20 लाख 30 लाख ऐसा नहीं होना चाहिए तभी हमारा देश आगे बढ़ेगा धन्यवाद

dekhiye hamare desh mein jo dahej pratha ka system hai 24 state on mein zyada hai jaise up aur bihar yahan par dahej pratha ka system hai aur ladki waale bhej dete hai ladke waale dahej lete hai education hone ke BA ad bhi educated log bhi dahej lete hai aur dahej dete hai toh jaha tak dahej pratha hamare desh mein BA hut hi kupratha ek BA hut hi kharab vyavastha hai isko theek karne ke liye prashasan koi kanoon BA nana chahiye aur iske upar rok lagani chahiye uttar bihar ke mukhyamantri nitish kumar ji ne iske upar abhi vichar vimarsh kiya hai aur wahan par BA hut jaldi dahej pratha ke khilaf kanoon BA nega dahej lena bhi gunah hoga vaah dahej dena bhi gunah hoga tabhi hamara desh aage BA dhega dekhiye toh dene layak hota hai vaah toh apni beti ko sab kuch deta hai lekin jiske paas jiski haisiyat kaun hai vaah kahaan se dega jo garib hai vaah kahaan se dega toh dahej lena bhi gunah hai dahej dena bhi guna dahej pratha ka jo system hai isme jo gas price ki demand hoti hai kaisa mein chahiye 2000000 mein chahiye 2500000 yah gadbad hai aur ladki vala toh apni ladki ko apni aukat se bhi zyada deta hai aur jo demand hoti hai dahej ki 10 lakh 20 lakh 30 lakh aisa nahi hona chahiye tabhi hamara desh aage BA dhega dhanyavad

देखिए हमारे देश में जो दहेज प्रथा का सिस्टम है 24 स्टेट ओं में ज्यादा है जैसे यूपी और बिहा

Romanized Version
Likes  12  Dislikes    views  301
WhatsApp_icon
2 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Daulat Ram Sharma Shastri

Psychologist | Ex-Senior Teacher

2:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मेरे मित्र इसमें हम सब मिलकर कि यदि प्रयास करें क्या युवा क्या वृद्ध देश के नेता गण तो निश्चित रूप से दहेज प्रथा को समाप्त किया जा सकता है यदि दहेज प्रथा समाप्त हो जाए इस देश में से बहुत सारी गंदगी मिट जाएगी किंतु दुर्भाग्य बात का है कि हम सब केवल बातें ही बातें करते हैं हम भी नेताओं की तरह ही हो गए हैं हमारे पास पूरी बात करेंगी हैं जब लड़की का विवाह होता है तब हम दहेज प्रथा के विरोध में होते हैं किंतु जब लड़के का विवाह होता है तो चुपचाप ले लेते हैं तो इसके लिए हम सबको करना होगा और विशेष तौर से युवा पीढ़ी से मैं यह अपेक्षा करता हूं कि युवा पीढ़ी 98 के हमें ना तो दहेज लेना है ना दहेज देना है तो निश्चित रूप से से मुक्ति मिल सकती है की मानता हूं कि वृद्ध लोगों को शक पहला भाग जाते हैं किंतु पदों को भी समझदारी आ जाएगी क्योंकि जब युवाओं की एक विवाह जो होता है बच्चों एक लड़के और एक लड़की का विवाह नहीं है तो परिवारों का दो संस्कृतियों का एक मिलन होता है तो जब दोनों को यह ठान लेंगे कि ना तो मुझे दही लेना है ना दहेज देना है तो फिर यह दहेज प्रथा अपने आप ही स्वत अहं समाप्त हो जाएगी दूसरा ऐसे संगठन बने यदि हम को यह मालूम पड़ रहा है किस जगह पर नहीं दिया जा रहा है दिया जा रहा है तो हम दोनों पार्टियों को समझा और उनको सही देनी स्वरूप में विशेष तौर से ही जोड़ी हमारे समाज में नेता कन्हैया धनवान लोग हैं वे लोग जब अधिक दहेज देते हैं तो हम उनका अनुसरण करते हुए हमारी औकात से बाहर दहेज देते हो लेते हैं जो गलत है जिसके कारण कितनी लड़कियों को भुगतना पड़ता है

mere mitra ismein hum sab milkar ki yadi prayas karein kya yuva kya vriddh desh ke neta gan toh nishchit roop se dahej pratha ko samapt kiya ja sakta hai yadi dahej pratha samapt ho jaye is desh mein se BA hut saree gandagi mit jayegi kintu durbhagya BA at ka hai ki hum sab keval BA tein hi BA tein karte hai hum bhi netaon ki tarah hi ho gaye hai hamare paas puri BA at karengi hai jab ladki ka vivah hota hai tab hum dahej pratha ke virodh mein hote hai kintu jab ladke ka vivah hota hai toh chupchap le lete hai toh iske liye hum sabko karna hoga aur vishesh taur se yuva peedhi se main yeh apeksha karta hoon ki yuva peedhi 98 ke humein na toh dahej lena hai na dahej dena hai toh nishchit roop se se mukti mil sakti hai ki manata hoon ki vriddh logo ko shak pehla bhag jaate hai kintu padon ko bhi samajhdari aa jayegi kyonki jab yuvaon ki ek vivah jo hota hai BA cchon ek ladke aur ek ladki ka vivah nahi hai toh parivaron ka do sanskritiyon ka ek milan hota hai toh jab dono ko yeh than lenge ki na toh mujhe dahi lena hai na dahej dena hai toh phir yeh dahej pratha apne aap hi swat ahan samapt ho jayegi doosra aise sangathan BA ne yadi hum ko yeh maloom pad raha hai kis jagah par nahi diya ja raha hai diya ja raha hai toh hum dono partiyon ko samjha aur unko sahi deni swaroop mein vishesh taur se hi jodi hamare samaj mein neta kanhaiya dhanwan log hai ve log jab adhik dahej dete hai toh hum unka anusaran karte hue hamari aukat se BA har dahej dete ho lete hai jo galat hai jiske kaaran kitni ladkiyon ko bhugatna padta hai

मेरे मित्र इसमें हम सब मिलकर कि यदि प्रयास करें क्या युवा क्या वृद्ध देश के नेता गण तो निश

Romanized Version
Likes  16  Dislikes    views  380
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
pratha ;

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!