लेमन ग्रॉस क्या है? क्या इसकी छत्तीसगढ़ में खेती हो सकता?...


user

Ajay Sinh Pawar

Founder & M.D. Of Radiant Group Of Industries

2:55
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लेमन ग्रास क्या है क्या कि छत्तीसगढ़ में खेती हो सकती देखिए खेती तो होती है छत्तीसगढ़ बिलासपुर जो है वहां पर कृषक महासंघ के सहयोग से बिलासपुर में कोटा क्षेत्र के किसान पहली बार 90 एकड़ में लेमन ग्रास की खेती खेती 2015 लेमन ग्रास तेल निकालने के बाद किसान एग्रो पॉइंट पर कंपनी छत्तीसगढ़ एग्री कौन से सहयोग से इसे जर्मनी बेल्जियम और डेनमार्क में बेचते हैं इससे किसान आर्थिक रूप से सक्षम बनकर जाते इसका उपयोग चेक नाशक औषधि हर्बल साबुन तेल क्रीम आदि बनाने में उतार देगा बाबा माना मोर मितान किसान प्रशासन के सहयोग से कोटा क्षेत्र के उम्र मर गए मर गए ना और नेट कपड़ा गांव की खदान सीकर में लेमन ग्रास की खेती कर रहे हैं अभी तक प्रदेश में लेमन ग्रास की खेती किस जगदलपुर में होती यहां लेमनग्रास से तेल निकालने के लिए 11 मई को छत्तीसगढ़ हर्बल के अलावा जर्मनी बेल्जियम जेल भेजा क्रिकेट मास्टर ने कोटा क्षेत्र के ग्राम उम्रपाड़ा में 5 एकड़ में लेमन ग्रास का नर्सरी लगाए यहां से किसानों को पौधे दिए जाते हैं और किसान अपने क्षेत्र में लेमन ग्रास की खेती करते लेमन ग्रास की खेती में खर्च नहीं और मेहनत नहीं के बराबर होती है मुनाफा अधिक होता है किसानों को सीधे नर्सरी से लेमन ग्रास का पौधा मात्र 15 से मिलता है 1 एकड़ में 20000 पौधे 2226 डिस्टेंस में लगाए जाते हैं सिंचित क्षेत्र में खेती के बाद पहली कटिंग में 24 दिन यानी 4 महीने के बाद होती तब तक एक प्रोग्राम ग्रास निकलता है किस स्थिति में मुलाकात की सजा होता है उसके बाद हर 2 महीने में कटिंग कर सकते हैं और उत्पादन 1 ग्रास से 1 से 2 किलो आता है स्थिति में एक बार ₹15000 का खर्च आता है कृष्ण कुमार संग लेमनग्रास के लिए रुपए किलो की दर से खरीदा साल तक हर कटिंग में एक पौधे से 700 ग्राम में रेमंड निकलता कोटा क्षेत्र के किसान जो लगभग 90 एकड़ में लेमन ग्रास की खेती कर रहे हैं जख्म आसुओं के साथ खेलता है आप जरूर छत्तीसगढ़ में जो कैसी हो रही है 11 बार आप वही और कमाई के लिए यह बहुत की अच्छी कमाई करने वाला एक ऊपर जाए धन्यवाद

lemon grass kya hai kya ki chattisgarh me kheti ho sakti dekhiye kheti toh hoti hai chattisgarh bilaspur jo hai wahan par krishak mahasangh ke sahyog se bilaspur me quota kshetra ke kisan pehli baar 90 acre me lemon grass ki kheti kheti 2015 lemon grass tel nikalne ke baad kisan agro point par company chattisgarh agree kaun se sahyog se ise germany Belgium aur Denmark me bechte hain isse kisan aarthik roop se saksham bankar jaate iska upyog check nashak aushadhi herbal sabun tel cream aadi banane me utar dega baba mana mor mitan kisan prashasan ke sahyog se quota kshetra ke umar mar gaye mar gaye na aur net kapda gaon ki khadan sikar me lemon grass ki kheti kar rahe hain abhi tak pradesh me lemon grass ki kheti kis jagdalpur me hoti yahan lemanagras se tel nikalne ke liye 11 may ko chattisgarh herbal ke alava germany Belgium jail bheja cricket master ne quota kshetra ke gram umrapada me 5 acre me lemon grass ka nursery lagaye yahan se kisano ko paudhe diye jaate hain aur kisan apne kshetra me lemon grass ki kheti karte lemon grass ki kheti me kharch nahi aur mehnat nahi ke barabar hoti hai munafa adhik hota hai kisano ko sidhe nursery se lemon grass ka paudha matra 15 se milta hai 1 acre me 20000 paudhe 2226 distance me lagaye jaate hain sinchit kshetra me kheti ke baad pehli cutting me 24 din yani 4 mahine ke baad hoti tab tak ek program grass nikalta hai kis sthiti me mulakat ki saza hota hai uske baad har 2 mahine me cutting kar sakte hain aur utpadan 1 grass se 1 se 2 kilo aata hai sthiti me ek baar Rs ka kharch aata hai krishna kumar sang lemanagras ke liye rupaye kilo ki dar se kharida saal tak har cutting me ek paudhe se 700 gram me raymond nikalta quota kshetra ke kisan jo lagbhag 90 acre me lemon grass ki kheti kar rahe hain jakhm asuon ke saath khelta hai aap zaroor chattisgarh me jo kaisi ho rahi hai 11 baar aap wahi aur kamai ke liye yah bahut ki achi kamai karne vala ek upar jaaye dhanyavad

लेमन ग्रास क्या है क्या कि छत्तीसगढ़ में खेती हो सकती देखिए खेती तो होती है छत्तीसगढ़ बि

Romanized Version
Likes  355  Dislikes    views  5611
KooApp_icon
WhatsApp_icon
3 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!