सबसे अधिक निष्पक्ष टीवी समाचार चैनल कौन सा है?...


user

Anil Bajpai

Writer | Publisher | Investor | Hotelier | Devloper

0:18
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सबसे अधिक निष्पक्ष टीवी चैनल कौन सा है मेरे हिसाब से आज तक सबसे अच्छा न्यूज़ चैनल है और फिर दूरदर्शन दूरदर्शन सरकार का है इसलिए पक्षपात का आरोप लग सकता है लेकिन मेरे हिसाब से आज तक इस द बेस्ट

sabse adhik nishpaksh TV channel kaun sa hai mere hisab se aaj tak sabse accha news channel hai aur phir doordarshan doordarshan sarkar ka hai isliye pakshapat ka aarop lag sakta hai lekin mere hisab se aaj tak is the best

सबसे अधिक निष्पक्ष टीवी चैनल कौन सा है मेरे हिसाब से आज तक सबसे अच्छा न्यूज़ चैनल है और फि

Romanized Version
Likes  126  Dislikes    views  1743
WhatsApp_icon
7 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Swati

सुनो ..सुनाओ..सीखो!

1:28
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए आंसर मैंने बहुत सोचने की कोशिश की हमें बहुत देर से सोच रही हूं ऐसा कोई जानवर चुनर स्पार्क्स हो पर सच में मेरे दिमाग में कोई ऐसा चलाया ही नहीं कोई पहचान को ले लीजिए कि आप तो फिर वह कांग्रेस की तरफ झुका हुआ है या फिर वह भाजपा की तरफ और अगर इन दोनों में से नहीं है तो बिल्कुल पतंजलि किधर है हर एक टीवी चैनल जाए फिर वो एनडीटीवी हो न्यूज़24 हो या कोई भी जान लो सुधीर चौधरी होकर उसके अंदर दीपक मिश्रा उसके अंदर या कोई भी हो हर एक टीवी चैनल किसी ना किसी तरीके से किसी ना किसी पॉलिटिकल पार्टी किस को लेकर आए थे और किसी एक पार्टी को लेकर कोई नई की टिक्की से दिखाता ही नहीं है सुधीर चौधरी जो है उनके जूस न्यू से काम उसको ले लीजिए और चैनल पर भाजपा के गेस्ट कभी कोई गलत को सिखाई नहीं जाएगी कुछ गलत दिखाती नहीं वह भाजपा के केंद्र वही का घर पर हो जान आज तक जितना पुराना जाना है वह भी इतना बारिश हो चुकी अब तो न्यूज़ देखने का मन ही नहीं करता तो मेरे दिमाग में तो माफ कीजिएगा पर कोई ऐसा चैनल नहीं आया जो कि पायल ना हो

dekhiye answer maine bahut sochne ki koshish ki hamein bahut der se soch rahi hoon aisa koi janwar chunar sparks ho par sach mein mere dimag mein koi aisa chalaya hi nahi koi pehchaan ko le lijiye ki aap toh phir vaah congress ki taraf jhuka hua hai ya phir vaah bhajpa ki taraf aur agar in dono mein se nahi hai toh bilkul patanjali kidhar hai har ek TV channel jaaye phir vo NDTV ho news ho ya koi bhi jaan lo sudheer choudhary hokar uske andar deepak mishra uske andar ya koi bhi ho har ek TV channel kisi na kisi tarike se kisi na kisi political party kis ko lekar aaye the aur kisi ek party ko lekar koi nayi ki tikki se dikhaata hi nahi hai sudheer choudhary jo hai unke juice new se kaam usko le lijiye aur channel par bhajpa ke guest kabhi koi galat ko sikhai nahi jayegi kuch galat dikhati nahi vaah bhajpa ke kendra wahi ka ghar par ho jaan aaj tak jitna purana jana hai vaah bhi itna barish ho chuki ab toh news dekhne ka man hi nahi karta toh mere dimag mein toh maaf kijiega par koi aisa channel nahi aaya jo ki payal na ho

देखिए आंसर मैंने बहुत सोचने की कोशिश की हमें बहुत देर से सोच रही हूं ऐसा कोई जानवर चुनर स्

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  202
WhatsApp_icon
play
user

Amber Rai

सुनो ..सुनाओ..सीखो!

1:05

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हां देखे कई टीवी चैनल जो है वह की अनकही सारी पार्टियों को और सारे कंपनी को शेयर करते हैं अगर वह गलत काम भी करे तो उनको सही दिखाकर टेलीकास्ट किया जाता है और कई सारे उनके आगे सोचते हैं अगर रिश्ते में बात करूंगा जल्दी नहीं होती तो दिया आपने फोकस क्या होगा कि वह बीजेपी को ज्यादा सपोर्ट करती हो और बीजेपी के बड़प्पन की बातें करती हो और कहां तक वापस दिखाओगे कि वह बीजेपी का पोस्ट करते और कांग्रेस को सपोर्ट करती है तो वह हर चैनल मतलब ऐसा ही है और जहां तक में बात करूंगा को कैसे निष्पक्ष चैनल की तो मैं समझ NDTV था और NDTV न्यूज़ चल रहा था और अगर बीजेपी अगर कोई गलत काम करता था तो उसे वह गलत बताता था वह सही काम करता तो सही बताता था ऐसा नहीं था कि अगर वह हमेशा रहेगा अगर अगर सही काम है तो वह सही बताता था लेकिन अभी क्या हुआ है कि उसको ऐसे बिजनेसमैन को भेज दिया गया जो बीजेपी के सपोर्टर अभी देखना बनता है कि अभी NDTV क्या करता है क्योंकि हर चैनल को जो है वह उस पर भरोसा नहीं किया जाता है जा सकता उसके न्यूज़ पर

haan dekhe kai TV channel jo hai vaah ki anakahi saree partiyon ko aur saare company ko share karte hain agar vaah galat kaam bhi kare toh unko sahi dikhakar telecast kiya jata hai aur kai saare unke aage sochte hain agar rishte mein baat karunga jaldi nahi hoti toh diya aapne focus kya hoga ki vaah bjp ko zyada support karti ho aur bjp ke badappan ki batein karti ho aur kahaan tak wapas dikhaoge ki vaah bjp ka post karte aur congress ko support karti hai toh vaah har channel matlab aisa hi hai aur jaha tak mein baat karunga ko kaise nishpaksh channel ki toh main samajh NDTV tha aur NDTV news chal raha tha aur agar bjp agar koi galat kaam karta tha toh use vaah galat batata tha vaah sahi kaam karta toh sahi batata tha aisa nahi tha ki agar vaah hamesha rahega agar agar sahi kaam hai toh vaah sahi batata tha lekin abhi kya hua hai ki usko aise bussinessmen ko bhej diya gaya jo bjp ke supporter abhi dekhna banta hai ki abhi NDTV kya karta hai kyonki har channel ko jo hai vaah us par bharosa nahi kiya jata hai ja sakta uske news par

हां देखे कई टीवी चैनल जो है वह की अनकही सारी पार्टियों को और सारे कंपनी को शेयर करते हैं अ

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  162
WhatsApp_icon
user

Sefali

Media-Ad Sales

0:51
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सबसे अधिक निष्पक्ष और TV समाचार चैनल कि अगर बात की जाए तो यह कहना काफी थोड़ा मुश्किल होगा क्योंकि आप जितने भी चैनल अब देखें को हर शाम किसी न किसी पार्टी को सपोर्ट कर रही है तू चाहे वह कांग्रेस हो चाहे वह बीजेपी हो तो ऐसा ऐसा नहीं कि सारे चैनल सी ऐसी है काफी सारी सूचना से जो कि काफी न्यूट्रल है और जो कि जो एग्जैक्ट न्यूज़ या फिर जो सही है वही बोल रहे मेरे और मेरे हिसाब से एबीपी न्यूज़ एक ऐसा जानवर है जो कि काफी और निष्पक्ष और न्यूट्रल और जो पार्टिकल हो रहा है पॉलिटिकल सेनाओं में या फिर कोई भी अपडेशन न्यूज़ में बस फोन को सपोर्ट करती है

sabse adhik nishpaksh aur TV samachar channel ki agar baat ki jaaye toh yah kehna kaafi thoda mushkil hoga kyonki aap jitne bhi channel ab dekhen ko har shaam kisi na kisi party ko support kar rahi hai tu chahen vaah congress ho chahen vaah bjp ho toh aisa aisa nahi ki saare channel si aisi hai kaafi saree soochna se jo ki kaafi neutral hai aur jo ki jo exact news ya phir jo sahi hai wahi bol rahe mere aur mere hisab se ABP news ek aisa janwar hai jo ki kaafi aur nishpaksh aur neutral aur jo particle ho raha hai political senaoon mein ya phir koi bhi updation news mein bus phone ko support karti hai

सबसे अधिक निष्पक्ष और TV समाचार चैनल कि अगर बात की जाए तो यह कहना काफी थोड़ा मुश्किल होगा

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  206
WhatsApp_icon
user

Bhaskar Saurabh

Politics Follower | Engineer

1:16
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए आज के समय में मुझे ऐसा लगता है कि ज्यादातर जो न्यूज़ चैनल है वह किसी न किसी राजनीतिक पार्टी से जुड़े हुए हैं और उनका ही सपोर्ट करते हैं कुछ चैनल हमें ऐसा देखने को मिलता है कि bjp का सपोर्ट करते हैं और अगर बीजेपी के कोई भी मंत्री या फिर वह उसकी उनके नेता कुछ ऐसे काम कर देते हैं जो आपत्तिजनक होती है तो वह समाचार चैनल इन सारे समाचारों को नहीं दिखाता है और उसे दबा देता है और यही बात कांग्रेस सपोर्टर चैनल्स की भी है मुझे लगता है कि आज के समय में राज्यसभा चैनल और DD National यही कुछ चैनल है जो कि सही समाचार दिखाते हैं लोगों को और यह किसी भी पार्टी के तरफ झुके हुए नहीं हैं लेकिन यह हमारे लोकतंत्र के लिए बिलकुल अच्छी बात नहीं होगी अगर मीडिया हमारा बिक जाए किसी भी चैनल के लिए तो न्यूज़ चैनल वालों को या फिर जो जर्नलिस्ट होते हैं उन्हें इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि वह लोगों तक सही और विश्वसनीय समाचार पर ना की किसी लोग या फिर किसी नेता के पक्ष या विपक्ष में बयान दें जो कि सही नहीं होगा तो मेरे विचार से तो आज बहुत कम गिने चुने ही ऐसे चैनल बचे हैं जो कि आज निष्पक्ष हैं और सही समाचार लोगों तक पहुंचा रहे हैं

dekhiye aaj ke samay mein mujhe aisa lagta hai ki jyadatar jo news channel hai vaah kisi na kisi raajnitik party se jude hue hain aur unka hi support karte hain kuch channel hamein aisa dekhne ko milta hai ki bjp ka support karte hain aur agar bjp ke koi bhi mantri ya phir vaah uski unke neta kuch aise kaam kar dete hain jo aapattijanak hoti hai toh vaah samachar channel in saare samaachaaron ko nahi dikhaata hai aur use daba deta hai aur yahi baat congress supporter channels ki bhi hai mujhe lagta hai ki aaj ke samay mein rajya sabha channel aur DD National yahi kuch channel hai jo ki sahi samachar dikhate hain logo ko aur yah kisi bhi party ke taraf jhuke hue nahi hain lekin yah hamare loktantra ke liye bilkul achi baat nahi hogi agar media hamara bik jaaye kisi bhi channel ke liye toh news channel walon ko ya phir jo journalist hote hain unhe is baat ka dhyan rakhna chahiye ki vaah logo tak sahi aur viswasniya samachar par na ki kisi log ya phir kisi neta ke paksh ya vipaksh mein bayan de jo ki sahi nahi hoga toh mere vichar se toh aaj bahut kam gine chune hi aise channel bache hain jo ki aaj nishpaksh hain aur sahi samachar logo tak pohcha rahe hain

देखिए आज के समय में मुझे ऐसा लगता है कि ज्यादातर जो न्यूज़ चैनल है वह किसी न किसी राजनीतिक

Romanized Version
Likes  11  Dislikes    views  191
WhatsApp_icon
user

Anukrati

Journalism Graduate

1:39
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए किसी भी जो इंग्लिश को सबसे पहले जो चीज सिखाई जाती है वह यह होती है कि आप की न्यूज़ रिपोर्ट निष्पक्ष होनी चाहिए लेकिन एंड फाइनली आज के टाइम पर ऐसा कोई भी न्यूज़ चैनल नहीं है जो की निष्पक्ष है यह इसलिए क्योंकि जितने भी कमर्शियल न्यूज़ चैनल है वह सब किसी ना किसी बड़े बिजनेस एंटरप्राइज द्वारा चलाए जा रहे हैं तो यह निष्पक्ष कैसे हो सकते हैं यह उस एंटरप्राइज के बारे में कुछ उसके खिलाफ कुछ लिख ही नहीं सकते कुछ बोल ही नहीं सकते तो यह निष्पक्ष नहीं हो सकते दूसरे हो गए हमारे गवर्मेंट न्यूज़ चैनल DD National राज्यसभा लोकसभा टीवी अब यह बाकी कमर्शियल न्यूज़ चैनल से थोड़े ठीक है क्योंकि यह न्यूज़ को इतना बढ़ा-चढ़ा कर और इतना ज्यादा नहीं बताते हैं जैसी होती है वैसी हमें न्यूज़ मिलती है लेकिन यह भी सरकार केक लाख ज्यादा चीजें नहीं बोलते यह भी सरकार को एक अच्छी दृष्टि में दिखाने की कोशिश करते हैं तो आज के टाइम पर ऐसे कोई निष्पक्ष न्यूज़ चैनल तो नहीं है लेकिन अगर आप यह कहना चाहते हैं कि सबसे अधिक कौनसा है तो मैं कहूंगी शायद राज्यसभा टीवी लोकसभा टीवी में से कोई एक है क्योंकि उसमें आधे से ज्यादा तो जो सीधा सीधा हो रहा होता है सभा में वह दिखता है और जो बाकी थोड़ा बच जाता है उसमें भी ज्यादा न्यूज़ इतनी बड़ी चढ़ाकर नहीं बताते हैं बस सरकार को अच्छी उसमें बताते हैं बाकी तो ठीक ही बताते हैं

dekhiye kisi bhi jo english ko sabse pehle jo cheez sikhai jaati hai vaah yah hoti hai ki aap ki news report nishpaksh honi chahiye lekin and finally aaj ke time par aisa koi bhi news channel nahi hai jo ki nishpaksh hai yah isliye kyonki jitne bhi commercial news channel hai vaah sab kisi na kisi bade business enterprise dwara chalaye ja rahe hain toh yah nishpaksh kaise ho sakte hain yah us enterprise ke bare mein kuch uske khilaf kuch likh hi nahi sakte kuch bol hi nahi sakte toh yah nishpaksh nahi ho sakte dusre ho gaye hamare government news channel DD National rajya sabha lok sabha TV ab yah baki commercial news channel se thode theek hai kyonki yah news ko itna badha chadha kar aur itna zyada nahi batatey hain jaisi hoti hai vaisi hamein news milti hai lekin yah bhi sarkar cake lakh zyada cheezen nahi bolte yah bhi sarkar ko ek achi drishti mein dikhane ki koshish karte hain toh aaj ke time par aise koi nishpaksh news channel toh nahi hai lekin agar aap yah kehna chahte hain ki sabse adhik kaunsa hai toh main kahungi shayad rajya sabha TV lok sabha TV mein se koi ek hai kyonki usme aadhe se zyada toh jo seedha seedha ho raha hota hai sabha mein vaah dikhta hai aur jo baki thoda bach jata hai usme bhi zyada news itni badi chadhakar nahi batatey hain bus sarkar ko achi usme batatey hain baki toh theek hi batatey hain

देखिए किसी भी जो इंग्लिश को सबसे पहले जो चीज सिखाई जाती है वह यह होती है कि आप की न्यूज़ र

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  183
WhatsApp_icon
user

.

Hhhgnbhh

1:42
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मैं आपको एक चीज बताना चाहती हूं जब मैं अपने कॉलेज का एक टेस्ट हो रहा था तो उसने कैरेक्टर इवेंट था तो वहां पर कितने साल की है और जंगल हमारे कॉलेज के अंदर आई थी और उन्होंने अपनी पक्की थी टेड टॉक्स जिसमें उन्होंने अच्छे से बताया था कि आजकल अगर देखा जाए तो काफी कम चैनल होते हैं जो हमें सही प्रकार के न्यूज़ देते हैं वह इंपॉर्टेंट और नॉन इंपॉर्टेंट न्यूज़ को नहीं चैटिंग करते हैं बल्कि भाई यह क्या टिकट करते की कौन सी न्यूज़ पर लोग ज्यादा आकर्षित होंगे कौन सी न्यूज़ पर लोग ज्यादा आकर्षक नहीं होंगे तो बिल्कुल यह गलत तरीका है न्यूज़ दिखाने का कि की न्यूज़ वह दिखानी चाहिए जिससे जो ज्यादा इंपॉर्टेंट हो जो हमें जानकारी देना उनको ज्यादा नहीं आवश्यक है पर बल्कि वह वह वह न्यूज़ दिखाना चाहते हैं जिससे ज्यादा से ज्यादा लोग जो हैं उनकी तरफ आकर्षित हूं यह गलत चीज काफी ज्यादा न्यूज़ चैनल करते हुए आ रहे हैं और कर भी रहे हैं वह जल्दी से काफी है प्रसिद्ध देना न्यूज़ चैनल के अंदर काम करती है जहां वह कहती है कि ऐसी चीज नाही सेवर केवल उनके न्यूज़ चैनल पर बाकी काफी न्यूज़ चैनल में होती है इंग्लिश में अंग्रेजी के न्यूज़ चैनल देखने जाएंगे बीबीसी न्यूज़ तो इनके अंदर और हमारे न्यूज़ चैनल तुमसे थोड़ा कम होता है यह प्रकृति क्योंकि उनको देखने वाले लोग पहले से ही काफी ज्यादा तादाद के अंदर तो ऐसी चीजों को थोड़ा काम करती है बल्कि यहां के जो न्यूज़ चैनल से वह चीज चीज को ज्यादा है माउथ में करते हैं क्योंकि उनको चाहिए होता है कि ज्यादा लोग देखें उनके न्यूज़ चैनल्स को मैं यह नहीं चाहती कि ज्यादा सही और जो इंफॉर्मेशन है वह पहुंचे लोगों तक बल्कि

main aapko ek cheez bataana chahti hoon jab main apne college ka ek test ho raha tha toh usne character event tha toh wahan par kitne saal ki hai aur jungle hamare college ke andar I thi aur unhone apni pakki thi ted talks jisme unhone acche se bataya tha ki aajkal agar dekha jaaye toh kaafi kam channel hote hain jo hamein sahi prakar ke news dete hain vaah important aur non important news ko nahi chatting karte hain balki bhai yah kya ticket karte ki kaun si news par log zyada aakarshit honge kaun si news par log zyada aakarshak nahi honge toh bilkul yah galat tarika hai news dikhane ka ki ki news vaah dikhaani chahiye jisse jo zyada important ho jo hamein jaankari dena unko zyada nahi aavashyak hai par balki vaah vaah vaah news dikhana chahte hain jisse zyada se zyada log jo hain unki taraf aakarshit hoon yah galat cheez kaafi zyada news channel karte hue aa rahe hain aur kar bhi rahe hain vaah jaldi se kaafi hai prasiddh dena news channel ke andar kaam karti hai jaha vaah kehti hai ki aisi cheez naahi sevar keval unke news channel par baki kaafi news channel mein hoti hai english mein angrezi ke news channel dekhne jaenge bbc news toh inke andar aur hamare news channel tumse thoda kam hota hai yah prakriti kyonki unko dekhne waale log pehle se hi kaafi zyada tadad ke andar toh aisi chijon ko thoda kaam karti hai balki yahan ke jo news channel se vaah cheez cheez ko zyada hai mouth mein karte hain kyonki unko chahiye hota hai ki zyada log dekhen unke news channels ko main yah nahi chahti ki zyada sahi aur jo information hai vaah pahuche logo tak balki

मैं आपको एक चीज बताना चाहती हूं जब मैं अपने कॉलेज का एक टेस्ट हो रहा था तो उसने कैरेक्टर इ

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  151
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
टीवी समाचार ;

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!