इसरो अब निजी संस्थानों को रॉकेट बनाने की अनुमति देगा। किस संस्थान को दिलचस्पी होगी और इससे कैसे फायदा होगा?...


user

Swati

सुनो ..सुनाओ..सीखो!

2:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए इस्लामिक नया 1 शुरू करने वाला है कि वो जो अपने जून की नेक्स्ट लॉन्च होंगी मुझे प्राइवेट डांस करेंगे आने की प्राइवेट कंपनीज हेल्प करेंगे इसरो के नए लोकेशन सेटेलाइट लांच करने में 2020 तक का यह मिशन है कि 2020 तक साईं प्रोसेस कंप्लीट हो जाए और प्राइवेट कंपनी सौरव की मदद से कोई नहीं जो कोई रो कर दिल खुश है वह लॉन्च किया जाए हिंदी की इसरो के मुताबिक होने अभी 16000 लोगों की जरूरत है जो उनके स्पेस मिशन में उनकी उनकी के पास जाती है ट्रेन मेट्रो की लेकिन यह काफी नहीं है जो सूखी एम सबसे अजीब करने के लिए प्राइवेटाइजेशन से फायदा होगा एक तू जो पैसे हैं वह डिजाइन हो जाएंगे यानी कि फाइनेंसियल इशारे से सरकार पर या कॉमेंट पर या टैक्सपेयर्स पर नहीं आएगा डायरेक्टली मगर प्राइवेटाइजेशन जाएगी तो प्राइवेट कंपनीज भी फाइनली सपोर्ट करेंगे दूसरा भी है वर्ल्ड वाइड होता है बाकी सारे देशों में भी प्राइवेट कंपनीज है जो रॉकेट बनाना है जैसे बड़े-बड़े आर्गेनाइजेशन स्कोर देती हैं तो इंडिया में भी होने के बाद आप एक और स्टेट डेवलपमेंट की तरफ बढ़ जाएंगे विक्रम बात करें कि कौन से लोग जो इंडिया में कोई इंटरेस्ट रेट है तो मुझे लगता है जो भी बड़े बड़े फोटो में पर्स बनाने वाली कंपनी है जो बड़ी-बड़ी गाड़ियां बनाने वाले याद ऐसे भी कर खाने वाले कंपनी से वह इंटरेस्टेड होंगे या जो पहले Star बेस्ट कंपनी है जैसे कि टाटा को ले लीजिए हो सकता है वह इंटरेस्टेड हो और नए स्टार्टअप सुनना

dekhiye islamic naya 1 shuru karne vala hai ki vo jo apne june ki next launch hongi mujhe private dance karenge aane ki private companies help karenge isro ke naye location satellite launch karne mein 2020 tak ka yah mission hai ki 2020 tak sai process complete ho jaaye aur private company saurav ki madad se koi nahi jo koi ro kar dil khush hai vaah launch kiya jaaye hindi ki isro ke mutabik hone abhi 16000 logo ki zarurat hai jo unke space mission mein unki unki ke paas jaati hai train metro ki lekin yah kaafi nahi hai jo sukhi M sabse ajib karne ke liye privatisation se fayda hoga ek tu jo paise hain vaah design ho jaenge yani ki financial ishare se sarkar par ya comment par ya taiksapeyars par nahi aayega directly magar privatisation jayegi toh private companies bhi finally support karenge doosra bhi hai world wide hota hai baki saare deshon mein bhi private companies hai jo rocket banana hai jaise bade bade organisation score deti hain toh india mein bhi hone ke baad aap ek aur state development ki taraf badh jaenge vikram baat kare ki kaunsi log jo india mein koi interest rate hai toh mujhe lagta hai jo bhi bade bade photo mein purse banane wali company hai jo badi badi gadiyan banane waale yaad aise bhi kar khane waale company se vaah interested honge ya jo pehle Star best company hai jaise ki tata ko le lijiye ho sakta hai vaah interested ho aur naye startup sunana

देखिए इस्लामिक नया 1 शुरू करने वाला है कि वो जो अपने जून की नेक्स्ट लॉन्च होंगी मुझे प्राइ

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  155
KooApp_icon
WhatsApp_icon
2 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!