SC/ST के आरक्षण का आपके अनुसार एक बेहतर विकल्प क्या है?...


user

Awdhesh Singh

Former IRS, Top Quora Writer, IAS Educator

1:07
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मैं समझता हूं, कि सबसे जरूरी जो चीज की जा सकती है, एससी-एसटी के आरक्षण से संबंधित| वह यह है कि अगर किसी भी व्यक्ति को एक बार एस टी, एस सी पोस्ट का रिजर्वेशन मिलता है, और वह किसी गजेटेड पोस्ट पर उसका सिलेक्शन हो जाता है, या गजेटेड पोस्ट तक पहुंच जाता है, तो उसके बच्चों को एस टी, एस सी का रिजर्वेशन नहीं मिलना चाहिए| तो ये एक बहुत ही जरूरी चीज है, क्योंकि जो सबसे ज्यादा लोगों को ग्रीवेंसेस रहती है, अप्पर कास्ट में वे ये रहती है| कि जो बहुत ही ज्यादा जो संपन्न लोग हैं, पढ़े लिखे लोग हैं, आईएएस, आईपीएस के लड़के हैं, उनके बच्चे ही रिजर्वेशन लेते हैं| और जो गरीब व्यक्ति है, उसके बच्चों को, जो जनरल केटेगरी का उसको रिजर्वेशन नहीं मिलता है, तो पहला स्टेप तो ये होना चाहिए| दूसरा स्टेप ये होना चाहिए कि एक पर्टिकुलर इनकम कि सीलिंग होनी चाहिए, कि अगर आप क्रीमी लेयर में आते हैं, या आपकी जो फैमिली इनकम एक पर्टिकुलर अमाउंट से ज्यादा है, तो भी आप को रिजर्वेशन का बेनिफिट नहीं मिलना चाहिए| तो अगर ये 2 चीजें इस में डाली जाए, तो मैं समझता हूं, के एस टी, एस सी का रिजर्वेशन जो है, बेहतर तरीके से इंप्लीमेंट किया जा सकता है|

main samajhata hoon ki sabse zaroori jo cheez ki ja sakti hai SC ST ke aarakshan se sambandhit vaah yah hai ki agar kisi bhi vyakti ko ek baar s T s si post ka reservation milta hai aur vaah kisi gazetted post par uska selection ho jata hai ya gazetted post tak pohch jata hai toh uske baccho ko s T s si ka reservation nahi milna chahiye toh ye ek bahut hi zaroori cheez hai kyonki jo sabse zyada logo ko grivenses rehti hai apprently caste mein ve ye rehti hai ki jo bahut hi zyada jo sampann log hain padhe likhe log hain IAS ips ke ladke hain unke bacche hi reservation lete hain aur jo garib vyakti hai uske baccho ko jo general category ka usko reservation nahi milta hai toh pehla step toh ye hona chahiye doosra step ye hona chahiye ki ek particular income ki ceiling honi chahiye ki agar aap creamy layer mein aate hain ya aapki jo family income ek particular amount se zyada hai toh bhi aap ko reservation ka benefit nahi milna chahiye toh agar ye 2 cheezen is mein dali jaaye toh main samajhata hoon ke s T s si ka reservation jo hai behtar tarike se implement kiya ja sakta hai

मैं समझता हूं, कि सबसे जरूरी जो चीज की जा सकती है, एससी-एसटी के आरक्षण से संबंधित| वह यह ह

Romanized Version
Likes  152  Dislikes    views  9495
WhatsApp_icon
30 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user

Bhuvi Jain

Engineer, Educator, Writer

0:42

Likes  5  Dislikes    views  352
WhatsApp_icon
user
Play

Likes  3  Dislikes    views  1624
WhatsApp_icon
user

Ravi Sharma

Advocate

2:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सर्व प्रथम अनुसूचित जाति जनजाति व अन्य पिछड़ा वर्ग से संबंधित संवैधानिक समिति का गठन उच्चतम न्यायालय करें यह संविधानिक समिति अपनी रिपोर्ट उच्चतम न्यायालय को प्रस्तुत करें तथा यह सुनिश्चित करें कि किसी भी राज्य सरकार अथवा विधायिका का इतना सीधा हस्तक्षेप ना एक पूरी प्रक्रिया के पश्चात अपनी व्यापक रिपोर्ट उच्चतम न्यायालय को प्रस्तुत करें तथा उच्चतम न्यायालय अपना दिशा निर्देश के द्वारा राज्यसभा व लोकसभा में संवैधानिक संशोधन का प्रावधान प्रस्तुत करें जिसके पास जाट आरक्षण के जो बेहतर विकल्प है उनको तलाश आ जाए तथा इसके विषय में दोनों सदनों में व्यापक चर्चा हो तो यह बहुत ही अच्छा रहेगा देखिए इसके लिए यह सुनिश्चित करना बहुत आवश्यक होगा कि जिन जनजातियों से हो जाती है उसे आरक्षण की व्यवस्था वापस ली जा रही है या ली जा सकती है उनके लिए इसके बदले में होने क्या मिलेगा यानी की अच्छी जीवनशैली शिक्षा की सुचारु व्यवस्था स्वास्थ्य सुविधाएं तथा अन्य सुविधाएं जिस के विकल्प के अनुसार आरक्षण का मुद्दा है वह धीरे धीरे करके एक राष्ट्रीय विषय का मुद्दा बनेगा तथा इस विषय में चर्चाएं होंगी जनाधार जो जनता का जनमत संग्रह है वह लिया जा सकता है सुनिश्चित कराने की शिक्षा यदि इसका एक बेहतर विकल्प है तो क्यों ना शिक्षा के बदले आरक्षण को धीरे धीरे कर के देश से खत्म कर दिया जाएगा साथ ही हमें अनुसूचित जाति जनजाति व अन्य पिछड़ा वर्ग से संबंधित समितियों को तथा उनसे संबंधित संवैधानिक पद हैं उन पर भी हमें ध्यान देना होगा तो था ही सभी समुदायों के जो प्रतिनिधि हैं उनसे व्यापक विचार विमर्श करना होगा ताकि उन सभी को भरोसे मिले कर एहसान संविधान संशोधन की प्रक्रिया प्रारंभ की जा सके तथा इससे संबंधित अन्य विकल्पों को भी तलाश आ जा सके धन्यवाद

surv pratham anusuchit jati janjaati va anya pichda varg se sambandhit samvaidhanik samiti ka gathan ucchatam nyayalaya kare yah samvidhanik samiti apni report ucchatam nyayalaya ko prastut kare tatha yah sunishchit kare ki kisi bhi rajya sarkar athva vidhayika ka itna seedha hastakshep na ek puri prakriya ke pashchat apni vyapak report ucchatam nyayalaya ko prastut kare tatha ucchatam nyayalaya apna disha nirdesh ke dwara rajya sabha va lok sabha mein samvaidhanik sanshodhan ka pravadhan prastut kare jiske paas jaat aarakshan ke jo behtar vikalp hai unko talash aa jaaye tatha iske vishay mein dono sadano mein vyapak charcha ho toh yah bahut hi accha rahega dekhiye iske liye yah sunishchit karna bahut aavashyak hoga ki jin janjatiyon se ho jaati hai use aarakshan ki vyavastha wapas li ja rahi hai ya li ja sakti hai unke liye iske badle mein hone kya milega yani ki achi jeevan shaili shiksha ki suruchi vyavastha swasthya suvidhaen tatha anya suvidhaen jis ke vikalp ke anusaar aarakshan ka mudda hai vaah dhire dhire karke ek rashtriya vishay ka mudda banega tatha is vishay mein charchaen hongi janadhar jo janta ka janmat sangrah hai vaah liya ja sakta hai sunishchit karane ki shiksha yadi iska ek behtar vikalp hai toh kyon na shiksha ke badle aarakshan ko dhire dhire kar ke desh se khatam kar diya jaega saath hi hamein anusuchit jati janjaati va anya pichda varg se sambandhit samitiyon ko tatha unse sambandhit samvaidhanik pad hain un par bhi hamein dhyan dena hoga toh tha hi sabhi samudayo ke jo pratinidhi hain unse vyapak vichar vimarsh karna hoga taki un sabhi ko bharose mile kar ehsaan samvidhan sanshodhan ki prakriya prarambh ki ja sake tatha isse sambandhit anya vikalpon ko bhi talash aa ja sake dhanyavad

सर्व प्रथम अनुसूचित जाति जनजाति व अन्य पिछड़ा वर्ग से संबंधित संवैधानिक समिति का गठन उच्चत

Romanized Version
Likes  32  Dislikes    views  2129
WhatsApp_icon
user

Kinnari Raval

Singer-Artist

1:38
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

एसएससी की भर्ती आगे बढ़ना चाहिए जो हम चलेंगे और जब बच्चे थे और क्या-क्या चीजें हैं बच्चों के मर जाने के बाद उनको आरक्षण मिल रहे हैं तो उसका मीनिंग है हकीकत में होशियार है

ssc ki bharti aage badhana chahiye jo hum chalenge aur jab bacche the aur kya kya cheezen hain baccho ke mar jaane ke baad unko aarakshan mil rahe hain toh uska meaning hai haqiqat mein hoshiyar hai

एसएससी की भर्ती आगे बढ़ना चाहिए जो हम चलेंगे और जब बच्चे थे और क्या-क्या चीजें हैं बच्चों

Romanized Version
Likes  190  Dislikes    views  2569
WhatsApp_icon
user
0:24
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मुझे मेरा मानना चाहिए क्योंकि ज्योतिष में आते थे

mujhe mera manana chahiye kyonki jyotish mein aate the

मुझे मेरा मानना चाहिए क्योंकि ज्योतिष में आते थे

Romanized Version
Likes  17  Dislikes    views  278
WhatsApp_icon
user

Vinod Gupta

Journalist

1:05
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बैटरी आरक्षण जो है गरीबों को कोई भी जाति का है वह हिंदू हो मुस्लिम हो सिख हो इसाई धर्म के आधार पर आप चुनते हैं कि गरीब है कि अमीर है उसकी व्यवस्था होना चाहिए साल बाद आता हूं और आपको तुरंत सरकारी योजना करना पड़ेगा कि दो और जो गरीब है उसे आरक्षण वीडियो हर चीज में दीजिए

battery aarakshan jo hai garibon ko koi bhi jati ka hai wah hindu ho muslim ho sikh ho isai dharm ke aadhaar par aap chunte hain ki garib hai ki amir hai uski vyavastha hona chahiye saal baad aata hoon aur aapko turant sarkari yojana karna padega ki do aur jo garib hai use aarakshan video har cheez mein dijiye

बैटरी आरक्षण जो है गरीबों को कोई भी जाति का है वह हिंदू हो मुस्लिम हो सिख हो इसाई धर्म के

Romanized Version
Likes  18  Dislikes    views  712
WhatsApp_icon
user

KRISHNA KUMAR SINGH

Social Activist

0:36
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पहले आरक्षण मिले चाहे मेरा अपना कौन सा एक्टर है ठीक है अगर आरक्षण मिले तो उस फील्ड में मिले जिस फिल्म में जिस एजुकेशन देर तक अच्छे एजुकेशन दिलवाई है वहां पर आप जो है जो एजुकेटेड जो मतलब उस लायक नहीं है बिल्कुल 30% लाता है उसको डॉक्टर बन जाएगा

pehle aarakshan mile chahen mera apna kaun sa actor hai theek hai agar aarakshan mile toh us field mein mile jis film mein jis education der tak acche education dilvai hai wahan par aap jo hai jo educated jo matlab us layak nahi hai bilkul 30 lata hai usko doctor ban jaega

पहले आरक्षण मिले चाहे मेरा अपना कौन सा एक्टर है ठीक है अगर आरक्षण मिले तो उस फील्ड में मिल

Romanized Version
Likes  157  Dislikes    views  2587
WhatsApp_icon
user
0:57
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मुर्गा पीके बियर बोला जाता है कैसे काम करता है और बड़े बड़े

murga pk beer bola jata hai kaise kaam karta hai aur bade bade

मुर्गा पीके बियर बोला जाता है कैसे काम करता है और बड़े बड़े

Romanized Version
Likes  66  Dislikes    views  1118
WhatsApp_icon
user
0:26
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हम एडवांस

hum advance

हम एडवांस

Romanized Version
Likes  26  Dislikes    views  432
WhatsApp_icon
user

Abhinandan Kumar Tiwari

Phd, M-Tech software Expect

0:16
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

असली आरक्षण जब भी होना चाहिए तो बात गेम ज्यादा तनी होना चाहिए एपीआर

asli aarakshan jab bhi hona chahiye toh baat game zyada tani hona chahiye APR

असली आरक्षण जब भी होना चाहिए तो बात गेम ज्यादा तनी होना चाहिए एपीआर

Romanized Version
Likes  23  Dislikes    views  637
WhatsApp_icon
user

Vimal Srivastav

Journalist

0:31
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

एमपीपीएससी के आरक्षण की जो बात में एक लाइन ही बोलूंगा यह समय वही तथा समय अवधि खत्म हो चुकी है अब सब लोगों को एकदम से मिलने का द्वार जितने भी होगा तो उधर दिनों अपने आप खत्म हो जाए

MPPSC ke aarakshan ki jo baat mein ek line hi boloonga yeh samay wahi tatha samay awadhi khatam ho chuki hai ab sab logo ko ekdam se milne ka dwar jitne bhi hoga toh udhar dinon apne aap khatam ho jaye

एमपीपीएससी के आरक्षण की जो बात में एक लाइन ही बोलूंगा यह समय वही तथा समय अवधि खत्म हो चुकी

Romanized Version
Likes  59  Dislikes    views  600
WhatsApp_icon
user

Dinesh Mishra

Theosophists | Accountant

1:29
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

एससी एसटी के आरक्षण का आपके अनुसार एक बेहतर विकल्प क्या है देखिए एससी और एसटी का आरक्षण देश में बहुत समय से चला आ रहा है यद्यपि आओ अन्य वर्ग इसका विरोध करने लगे हैं और यह कहने लगे हैं कि अन्य लोगों को आरक्षण नहीं मिल रहा है उनकी हो नहीं सुविधाएं नहीं नहीं मिल रही है ऐसी ऐसी स्थिति में अब यह आवश्यक हो गया है कि चाहे वह ऐसी हो या एचडी हो या पिछड़ा वर्ग हो या सामान्य वर्ग हो आप गरीब व्यक्ति जो है वह गरीब व्यक्ति जो है उसको आरक्षण दिया जाना चाहिए वह किसी भी जाति का हो जो गरीब व्यक्ति है गरीबी की रेखा के नीचे है उसको आरक्षण प्रदान करना चाहिए या एक बेहतर विकल्प है

SC ST ke aarakshan ka aapke anusaar ek behtar vikalp kya hai dekhiye SC aur ST ka aarakshan desh mein bahut samay se chala aa raha hai yadyapi aao anya varg iska virodh karne lage hain aur yah kehne lage hain ki anya logo ko aarakshan nahi mil raha hai unki ho nahi suvidhaen nahi nahi mil rahi hai aisi aisi sthiti mein ab yah aavashyak ho gaya hai ki chahen vaah aisi ho ya hd ho ya pichda varg ho ya samanya varg ho aap garib vyakti jo hai vaah garib vyakti jo hai usko aarakshan diya jana chahiye vaah kisi bhi jati ka ho jo garib vyakti hai garibi ki rekha ke niche hai usko aarakshan pradan karna chahiye ya ek behtar vikalp hai

एससी एसटी के आरक्षण का आपके अनुसार एक बेहतर विकल्प क्या है देखिए एससी और एसटी का आरक्षण दे

Romanized Version
Likes  67  Dislikes    views  553
WhatsApp_icon
play
user

Rahul Bharat

राजनैतिक विश्लेषक

1:57

Likes  63  Dislikes    views  1086
WhatsApp_icon
user

Ashish Singh Hariyovanshi

Public Relation Expert

1:47
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

एससी एसटी ओबीसी यह कार्य किसी भी तरीके का रिजर्वेशन को दिया जाए या आप उनके लिए हो जिनके लिए जरूरी है जैसे कि जो भी फिल्म है जो सिर्फ आपका अपाहिज लोगों के दिन के लिए दीजिए रिजर्वेशन पहला और दूसरा यह बिलो पावर्टी लाइन का काम देखेगी तौर पर हमें यह करना चाहिए कि जो अपने टेस्ट करना चाहिए कि जो प्लॉट लाइन में जीने हम कार्ड लेकर रखे हैं बीपीएल का वह 6 महीना में जो बीपीएल में है या नहीं अगर है तो ठीक है नहीं होगा नहीं हटा लिया फिर क्राइम पेट्रोल के लिए भेजा था कि कोई फायदा नहीं जो इंडिया के बारे में 18 साल के नीचे उनके लिए दूसरा

sc ST obc yeh karya kisi bhi tarike ka reservation ko diya jaye ya aap unke liye ho jinke liye zaroori hai jaise ki jo bhi film hai jo sirf aapka apahij logo ke din ke liye dijiye reservation pehla aur doosra yeh below poverty line ka kaam dekhenge taur par humein yeh karna chahiye ki jo apne test karna chahiye ki jo plot line mein jeene hum card lekar rakhe hain BPL ka wah 6 mahina mein jo BPL mein hai ya nahi agar hai toh theek hai nahi hoga nahi hata liya phir crime petrol ke liye bheja tha ki koi fayda nahi jo india ke bare mein 18 saal ke niche unke liye doosra

एससी एसटी ओबीसी यह कार्य किसी भी तरीके का रिजर्वेशन को दिया जाए या आप उनके लिए हो जिनके लि

Romanized Version
Likes  46  Dislikes    views  1508
WhatsApp_icon
user

ganesh pazi

Motivator

1:10
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आरक्षण का एक ही तरीका है बदलने का क्या आरक्षण शब्द को बदल के उसकी जगह संरक्षण किया जाए संरक्षण का आशय यह है कि इसमें कोई भी नागरिक हो किसी भी जाति वर्ग से हो अगर उपेक्षित है अगर वह अभावग्रस्त है अगर व्हाट्सएप पर कि पिछड़ा है तो उसके लिए उपाय किए जाने चाहिए झांसी पर आरक्षण की जगह हर नागरिक को संरक्षण दिया जाए क्यू के पास अपना बेहतर विकल्प तैयार करने के लिए बेटा तेरी के समान नागरिक संहिता भी एक महत्वपूर्ण बात है सारे नागरिकों को ढंग से ज्यादा देश का महत्व समझाया जाए और राष्ट्रीय स्तर पर ही किसी चीज को तय किया जाए न कि धर्म के आधार पर किया जाए

aarakshan ka ek hi tarika hai badalne ka kya aarakshan shabd ko badal ke uski jagah sanrakshan kiya jaaye sanrakshan ka aashay yah hai ki isme koi bhi nagarik ho kisi bhi jati varg se ho agar upekshit hai agar vaah abhaavgrast hai agar whatsapp par ki pichda hai toh uske liye upay kiye jaane chahiye jhansi par aarakshan ki jagah har nagarik ko sanrakshan diya jaaye kyu ke paas apna behtar vikalp taiyar karne ke liye beta teri ke saman nagarik sanhita bhi ek mahatvapurna baat hai saare nagriko ko dhang se zyada desh ka mahatva samjhaya jaaye aur rashtriya sthar par hi kisi cheez ko tay kiya jaaye na ki dharm ke aadhaar par kiya jaaye

आरक्षण का एक ही तरीका है बदलने का क्या आरक्षण शब्द को बदल के उसकी जगह संरक्षण किया जाए संर

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  375
WhatsApp_icon
user
1:11
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जो करेक्शन भी बात की है ना आरक्षण को सोने के लिए दिया गया था अभी हमें एक परंपरागत बन गया इलेक्शन को देनी देनी है आरक्षण के लिए देखिए ना कईलू के कितने अमीर है उनको उनके पास आरक्षण की पक्षधर और विरोधी आरक्षण का फायदा नहीं मिलता स्कूल कान्वेंट स्कूल वहां नहीं कर सकता पब्लिक स्कूल की फीस हाउस बैटरी जी आप जाति के द्वार पर करते जिसके बीच में कुछ ही लोग जो जो काम करते जो लोग इंटेलिजेंट है

jo correction bhi baat ki hai na aarakshan ko sone ke liye diya gaya tha abhi hamein ek paramparagat ban gaya election ko deni deni hai aarakshan ke liye dekhiye na kailu ke kitne amir hai unko unke paas aarakshan ki pakshadhar aur virodhi aarakshan ka fayda nahi milta school convent school wahan nahi kar sakta public school ki fees house battery ji aap jati ke dwar par karte jiske beech mein kuch hi log jo jo kaam karte jo log Intelligent hai

जो करेक्शन भी बात की है ना आरक्षण को सोने के लिए दिया गया था अभी हमें एक परंपरागत बन गया इ

Romanized Version
Likes  71  Dislikes    views  1175
WhatsApp_icon
user
5:27
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जिन लोगों को जिलेक्सी एससी को कितना है उसी परिवार को चीजों का लाभ मिलता है जा रहा है क्योंकि इसमें जो है वह किसकी है उसको लाभ नहीं मिल रहा है उसमें उसके घर पर क्या है 55 एमएलए हो गया अब उसको देना चाहिए या कुछ चित्र देखा जाए इसकी बिक्री या ओबीसी में हुई घटना हुआ है उसको मौका दिया जाए ताकि वह भी ऊपर आगे बढ़े अभी नहीं उठाया है कि अब भारत की हस्ती है और मायावती के सारांश देखेंगे उसके भाई का उत्पति जाएगा तो अपने चीज थोड़ी जोगीरा विलास का सोना चाहती हो चाहे वह बेटी तो है वह भी कुछ आ जाती है और ऐसी कुमार को जो फूलों का जोश हाई करो कि सुबह से शाम तक हमारे गांव में नए राजपूत जाति से होते हुए जमाने में राजा परिवार अंबानी का जो जमीन है वह वाला गांव में कोई भी जा रहा है किसको चाहिए जो जो गांव में जोड़ने की जुगत में काम करते थे दोबारा नहीं चाहते हैं भूखे रहते हैं लड़के रहते और शिकार होते अपने कहानी सुनाओ की सलमान खान की मुंबई में अग्रसर पतले लोगों को छत्तीसगढ़ की आबादी है लेकिन ओबीसी में अगर आप याद रखना यादव है उसके कपड़े पहनता है और किसका कर देता है उसको चाहिए क्या पूछना चाहते हो तो पैसे का सभी को सूचित करो रिएलोकेट करो और रिव्यू करो कि उसे उसके साथ में किस दिन लोग फायदा मिला दो बैठे हैं अगर एक मिनट यह परिवार तो है जो इस बार खाना खाती है यह परिवार खाना खाती है और की शिक्षा के प्रति आओगे

jin logo ko jileksi SC ko kitna hai usi parivar ko chijon ka labh milta hai ja raha hai kyonki isme jo hai vaah kiski hai usko labh nahi mil raha hai usme uske ghar par kya hai 55 mla ho gaya ab usko dena chahiye ya kuch chitra dekha jaaye iski bikri ya obc mein hui ghatna hua hai usko mauka diya jaaye taki vaah bhi upar aage badhe abhi nahi uthaya hai ki ab bharat ki hasti hai aur mayawati ke saransh dekhenge uske bhai ka utpati jaega toh apne cheez thodi jogira vilas ka sona chahti ho chahen vaah beti toh hai vaah bhi kuch aa jaati hai aur aisi kumar ko jo fulo ka josh high karo ki subah se shaam tak hamare gaon mein naye rajput jati se hote hue jamane mein raja parivar ambani ka jo jameen hai vaah vala gaon mein koi bhi ja raha hai kisko chahiye jo jo gaon mein jodne ki jugat mein kaam karte the dobara nahi chahte hain bhukhe rehte hain ladke rehte aur shikaar hote apne kahani sunao ki salman khan ki mumbai mein agrasar patle logo ko chattisgarh ki aabadi hai lekin obc mein agar aap yaad rakhna yadav hai uske kapde pehanta hai aur kiska kar deta hai usko chahiye kya poochna chahte ho toh paise ka sabhi ko suchit karo rieloket karo aur review karo ki use uske saath mein kis din log fayda mila do baithe hain agar ek minute yah parivar toh hai jo is baar khana khati hai yah parivar khana khati hai aur ki shiksha ke prati aaoge

जिन लोगों को जिलेक्सी एससी को कितना है उसी परिवार को चीजों का लाभ मिलता है जा रहा है क्यों

Romanized Version
Likes  11  Dislikes    views  159
WhatsApp_icon
user

Suraj kandpal

Mechatronics engineer fresher

0:54
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

SC ST के आरक्षण से बेहतर एक और दूसरा विकल्प है कि आप और आरक्षण दे तो इतना इकनोमिक स्टेटस की बेस्ट पर आरक्षण के HD में आजकल क्या हो चुका है कि SC ST अभी आजकल थोड़ा हमें भी हो चुके हैं और आजकल तो SC ST वाली भावना भी नहीं इन लोगों के अंदर तो अमीर भी हैं और उनको सारे फायदे भी मिल रहे हैं प्यास उनको आरक्षण मिल जाता है तो इसी के चलते जोधा अच्छे दिमाग वाले लोग हैं या जो बहुत बेहतरीन परफॉर्मेंस देते हैं एग्जाम में जॉब्स में उनको उनको अच्छी पोस्ट नहीं मिल कर जो लोग आरक्षण के भेष में आते हैं उनको मिल जाती तो मेरे हिसाब से अगर इकनोमिक इकोनोमिकल बैकवर्ड क्लासेज के ऊपर आरक्षण होता है तो वह एक ज्यादा भाव एक बेहतर विकल्प है जिससे देश की देश आगे बढ़ेगा और साथ ही साथ बड़े-बड़े पोस्ट में ऐसे लोग पहुंचेंगे जो डिज़र्व करते हैं वह पोस्ट

SC ST ke aarakshan se behtar ek aur doosra vikalp hai ki aap aur aarakshan de toh itna economic status ki best par aarakshan ke HD mein aajkal kya ho chuka hai ki SC ST abhi aajkal thoda hamein bhi ho chuke hain aur aajkal toh SC ST wali bhavna bhi nahi in logo ke andar toh amir bhi hain aur unko saare fayde bhi mil rahe hain pyaas unko aarakshan mil jata hai toh isi ke chalte jodha acche dimag waale log hain ya jo bahut behtareen performance dete hain exam mein jobs mein unko unko achi post nahi mil kar jo log aarakshan ke bhesh mein aate hain unko mil jaati toh mere hisab se agar economic economical backward classes ke upar aarakshan hota hai toh vaah ek zyada bhav ek behtar vikalp hai jisse desh ki desh aage badhega aur saath hi saath bade bade post mein aise log pahunchenge jo dizarv karte hain vaah post

SC ST के आरक्षण से बेहतर एक और दूसरा विकल्प है कि आप और आरक्षण दे तो इतना इकनोमिक स्टेटस क

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  148
WhatsApp_icon
user

SUSHIL LAKRA

Politician

1:03
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

व्हीकल में होना चाहिए क्योंकि अभी तक भी कोई डेवलपमेंट में अभी तक आए नहीं है खास पिपरमेंट नेपाली है किंतु बहुत पैसे वाले उनके हर घर में बिल्डिंग आधार है मैं जाकर देखा हूं और जिला कमेटी है किंतु उनका आर्थिक अवस्था इतना मजबूत उनका परिवार काफी टाइम हो चुका है एजुकेशन को भी तकदीर जाने पाए थे उनको मिलना चाहिए अभी भी हमारे लड़के लड़कियां था सो जाते हैं क्योंकि उनको कुछ हो जाता है छोटे छोटे बड़े पोस्ट को आसानी से चैटिंग करके अपने आदमियों को रोक लगा देते हैं हमारे आदिवासी पोस्ट में कोई है ही नहीं आदमी को देखने वाला कोई नहीं

vehicle mein hona chahiye kyonki abhi tak bhi koi development mein abhi tak aaye nahi hai khaas peppermint nepali hai kintu bahut paise wale unke har ghar mein building aadhaar hai jaakar dekha hoon aur jila committee hai kintu unka aarthik avastha itna majboot unka parivar kaafi time ho chuka hai education ko bhi takdir jaane paye the unko milna chahiye abhi bhi hamare ladke ladkiyan tha so jaate hain kyonki unko kuch ho jata hai chote chhote bade post ko aasani se chatting karke apne adamiyo ko rok laga dete hain hamare adiwasi post mein koi hai hi nahi aadmi ko dekhne vala koi nahi

व्हीकल में होना चाहिए क्योंकि अभी तक भी कोई डेवलपमेंट में अभी तक आए नहीं है खास पिपरमेंट न

Romanized Version
Likes  15  Dislikes    views  216
WhatsApp_icon
user

Kunjansinh Rajput

Aspiring Journalist

1:13
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जिंदगी मेरी सबसे CST का आरक्षण का जो है वह जोर प्रतिशत है जो की हाल की फोटो 5% है उसको थोड़ा कम कर देना चाहिए कि जिस प्रकार से CST के आरक्षण का लोग फायदा उठा रहे हैं तो मेरी सबसे कम प्रतिशत जो है वह रिजर्वेशन दोनों पैदा रिजर्वेशन परसेंटेज थोड़ा काम कर देना सही नहीं आज भी आरक्षण गरीब लोगों को देना अच्छे दिन का BPL में आते हो या फिर वह ऐसी हिस्ट्री और बहुत गरीब हो क्योंकि हमने ऐसे भी देखा है कि कई सारे CST लोग जो हम ही रहे हैं वह भी इसका फायदा उठा रहे हैं उन्हें भी आरक्षण मिल रहा है तो मेरे सपने आरक्षण नहीं मिलना चाहिए आज की आर्थिक स्थिति जो है ऐसी st लोगों की अफीम कैसे थे जो भी आर्थिक स्थिति में चीन की आर्थिक स्थिति बहुत ही कम है उंहें आरक्षण देना चाहिए और वह आरक्षण से ज्यादा आप उन्हें परिचय देना चाहिए और सरकारी स्तर में भी रिजर्वेशन का परसेंटेज है वह काम कर देना चाहिए प्राइवेट सेक्टर में तू लगभग ही नहीं पर वहां पर भी काम कर देना चाहिए तो अगर हम एसएसटी के आरक्षण का परसेंटेज काम करेंगे तो इससे अच्छा होगा और कोई एक बेहतर विकल्प तो यही मुझे दिख रहा है जो कि अच्छा होगा

zindagi meri sabse CST ka aarakshan ka jo hai vaah jor pratishat hai jo ki haal ki photo 5 hai usko thoda kam kar dena chahiye ki jis prakar se CST ke aarakshan ka log fayda utha rahe hain toh meri sabse kam pratishat jo hai vaah reservation dono paida reservation percentage thoda kaam kar dena sahi nahi aaj bhi aarakshan garib logo ko dena acche din ka BPL mein aate ho ya phir vaah aisi history aur bahut garib ho kyonki humne aise bhi dekha hai ki kai saare CST log jo hum hi rahe hain vaah bhi iska fayda utha rahe hain unhe bhi aarakshan mil raha hai toh mere sapne aarakshan nahi milna chahiye aaj ki aarthik sthiti jo hai aisi st logo ki afeem kaise the jo bhi aarthik sthiti mein china ki aarthik sthiti bahut hi kam hai unhen aarakshan dena chahiye aur vaah aarakshan se zyada aap unhe parichay dena chahiye aur sarkari sthar mein bhi reservation ka percentage hai vaah kaam kar dena chahiye private sector mein tu lagbhag hi nahi par wahan par bhi kaam kar dena chahiye toh agar hum sst ke aarakshan ka percentage kaam karenge toh isse accha hoga aur koi ek behtar vikalp toh yahi mujhe dikh raha hai jo ki accha hoga

जिंदगी मेरी सबसे CST का आरक्षण का जो है वह जोर प्रतिशत है जो की हाल की फोटो 5% है उसको थोड

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  1728
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हमारे नजर से एससी एसटी आरक्षण हुए अल्पसंख्यक वह भी सिरोही बीसी हो किसी को भी जातिगत आरक्षण के बदले आर्थिक आरक्षण देने की जरूरत है क्योंकि हर जाति में गरीब होते हैं गरीबी किसी की जाति देख कर नहीं आती इससे अपर कास्ट लोहार कास्ट और संपूर्ण समाज में अपने भाव फायदा होगा यह सब के हितों की हो होगी क्योंकि आप समानता असमानता को दूर करने के लिए आरक्षण को लाया गया था अब जब तक समानता आएगी नहीं तो आसमान तक बढ़ती जाएगी धीरे-धीरे अपर कास्ट लोहार कास्ट के बीच की खाई बढ़ती जा रही है आरक्षण के कारण क्योंकि एक सच्चाई भी है कि यह आरक्षण जो SC ST OBC ABC किन वर्गों को दिया गया है सब राजनीति से प्रेरित होकर दिया गया है जिनका जिसका उचित फायदा जिस वर्ग को मिलना चाहिए चाहे सीहोर एसपी भविष्य उसको नहीं मिल पाता है जो संपन्न लोग हैं जो एक बार दक्षिण का लाभ ले चुके हैं वह समाज की मुख्यधारा से जुड़ चुके हैं अनेकों बार वही अपना-अपना लाभ लेते हैं जो रियल में वंचित लोग हैं गरीब तब तक हैं वहीं से वंचित हो जाते हैं इसलिए हमारा राय है कि जातिगत ना करके जाती है तथा आर्थिक आरक्षण लागू किया जाए सबके हित में होगी देश के हित में होगी

hamare nazar se SC ST aarakshan hue alpsankhyak vaah bhi sirohi BC ho kisi ko bhi jaatigat aarakshan ke badle aarthik aarakshan dene ki zarurat hai kyonki har jati mein garib hote hai garibi kisi ki jati dekh kar nahi aati isse upper caste lohar caste aur sampurna samaj mein apne bhav fayda hoga yah sab ke hiton ki ho hogi kyonki aap samanata asamanta ko dur karne ke liye aarakshan ko laya gaya tha ab jab tak samanata aayegi nahi toh aasman tak badhti jayegi dhire dhire upper caste lohar caste ke beech ki khai badhti ja rahi hai aarakshan ke karan kyonki ek sacchai bhi hai ki yah aarakshan jo SC ST OBC ABC kin vargon ko diya gaya hai sab raajneeti se prerit hokar diya gaya hai jinka jiska uchit fayda jis varg ko milna chahiye chahen sihor SP bhavishya usko nahi mil pata hai jo sampann log hai jo ek baar dakshin ka labh le chuke hai vaah samaj ki mukhyadhara se jud chuke hai anekon baar wahi apna apna labh lete hai jo real mein vanchit log hai garib tab tak hai wahi se vanchit ho jaate hai isliye hamara rai hai ki jaatigat na karke jaati hai tatha aarthik aarakshan laagu kiya jaaye sabke hit mein hogi desh ke hit mein hogi

हमारे नजर से एससी एसटी आरक्षण हुए अल्पसंख्यक वह भी सिरोही बीसी हो किसी को भी जातिगत आरक्ष

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  106
WhatsApp_icon
user

Vatsal

Engineering Student

1:37
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए आरक्षण जो है हमेशा से चर्चा का विषय बना रहा है और कहीं ना कहीं हरजन है इसके बारे में बात करता है लेकिन उसके खिलाफ कोई कार्यवाही नहीं है कोई फैसला लेने को तैयार नहीं है बजाएं की राजनीति चुनाव जब होते हैं तो उसका फायदा उठाने के लिए जो चुनाव ही पार्टियां है वह वायदे करती हैं अलग-अलग जाति धर्म समुदाय के लोगों को अट्रैक्ट करने के लिए और हम उस में लगातार फंसते जा रहे हैं और इसके ऊपर कोई विचार नहीं हो रहा है कि आरक्षण खत्म करना बहुत मुश्किल होता जा रहा है क्योंकि दलदल में घुसते जा रहे हैं और जो लोग इस दलदल से अछूते थे वह भी अपने आप को ही महसूस करते हुए आवाज बुलंद कर रहे हैं और आरक्षण की मांग कर रहे हैं जैसे गुजरात में हमने पटेल समुदाय को देख लिया जाट आंदोलन गुर्जर आंदोलन देख चुके हैं तो यही स्थिति है कि हर एक जना को आरक्षण चाहिए क्योंकि वह देख रहा है कि बिना आरक्षण केवल इंसान भी कुछ नहीं कर पा रहा है और जो के प्रबल नहीं है वह भी सब रेवड़ियां बटोरता जा रहा है इसको खत्म करने का एक आसान सा तरीका अपनाने यदि आरक्षण का मतलब है कि

dekhiye aarakshan jo hai hamesha se charcha ka vishay bana raha hai aur kahin na kahin harjan hai iske bare mein baat karta hai lekin uske khilaf koi karyavahi nahi hai koi faisla lene ko taiyar nahi hai bajaye ki raajneeti chunav jab hote hain toh uska fayda uthane ke liye jo chunav hi partyian hai vaah vaade karti hain alag alag jati dharm samuday ke logo ko attract karne ke liye aur hum us mein lagatar fansate ja rahe hain aur iske upar koi vichar nahi ho raha hai ki aarakshan khatam karna bahut mushkil hota ja raha hai kyonki duldula mein ghuste ja rahe hain aur jo log is duldula se achute the vaah bhi apne aap ko hi mehsus karte hue awaaz buland kar rahe hain aur aarakshan ki maang kar rahe hain jaise gujarat mein humne patel samuday ko dekh liya jaat andolan gurjar andolan dekh chuke hain toh yahi sthiti hai ki har ek pariyojna ko aarakshan chahiye kyonki vaah dekh raha hai ki bina aarakshan keval insaan bhi kuch nahi kar paa raha hai aur jo ke prabal nahi hai vaah bhi sab revadiyan batorata ja raha hai isko khatam karne ka ek aasaan sa tarika apnane yadi aarakshan ka matlab hai ki

देखिए आरक्षण जो है हमेशा से चर्चा का विषय बना रहा है और कहीं ना कहीं हरजन है इसके बारे में

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  220
WhatsApp_icon
user

aryan

Health consultant(09717895167)

5:51
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यह विषय बहुत ही ऐसा है कि आज इश्क जो रिजर्वेशन का जो यह प्रॉब्लम है या यह कहिए के जो रिजर्वेशन कजरी टॉपिक है जिसको लेकर आज हमारे बहुत सारे जो जनरल कैटेगरी के जो युवा है उनके मन में बहुत ही कम था भर गई है बहुत ही कुंठित हो गया है उनका मन क्योंकि इसका अगर हम इस टीमें जाएं कि sc-st और जो ओबीसी को जो रिजर्वेशन की जो शुरुआत हुई थी वह क्या सोचकर हुई थी देखिए आप जब हमारा देश आजाद हुआ था फ्रीडम हमने प्राप्त की थी अंग्रेजों से तो उस समय यह जो हमारे कॉन्स्टिट्यूशन स्मैकर थे उनके माइंड दिमाग में यह विचार था कि भाई हमारे देश में गरीबी बहुत है हमारे जैसे गरीब देश में एक सेक्शन ऐसा है जो बहुत ही गरीब है वह शैक्षिक सामाजिक और 8 एक रूप से बहुत ही ज्यादा पिछड़ा हुआ है और एक सेक्शन ऐसा है जो बहुत ही वर्ल्ड टू है वालों को शारीरिक शैक्षणिक और सामाजिक और आर्थिक रूप से काफी सफल है काफी वेल टू डू है तो जो लोग पिछड़े हुए थे बहुत ज्यादा उनको सा जीवन की मुख्यधारा में लाने के लिए उनका अपलिफ्टमेंट अपलिफ्टमेंट करने के लिए यह संविधान मेकर्स ने सोचा कि इनको कुछ अलग से जो है एक रिजर्वेशन दिया जाए उनको अलग से कुछ छूट दे दी जाए ताकि उनको भी मुख्य जो समाज के मुख्य जीवनधारा है उसमें उनको जोड़ा जा सके और उनके जीवन में भी एक उजाला लाया जा सके तो यह सोचकर जो है कुछ रिजर्वेशंस की बात हुई थी जिसमें शेड्यूल कास्ट है उसके लिए 10% रिजर्वेशन की बात हुई थी उसके बाद शेड्यूल ट्राइब के लोग हैं जो जनजाति वाले लोग हैं जो बहुत ही बिल्कुल अलग-थलग है सामाजिक समूह समाज से पूरी तरह से अलग अलग रहते हैं जिसमें बिल्कुल जनजाति है जो लोग हैं और दूसरा है अपना जो तीसरे नंबर पर आता है वह अदर बैकवर्ड क्लास है जो स्वर्ण से जो थोड़ा सा नीचे है अन्य पिछड़ा वर्ग भी या बैकवर्ड क्लासेस भी है उनको कहते हैं और उनमें भी कुछ ऐसे थे सेक्शन जहां पर जो है बहुत पिछड़े हुए सेक्शन से हो उनके लिए तो 7% रिजर्वेशन की है जो सब अप्रूव किया गया था कॉन्स्टिट्यूशन में उसको शामिल किया गया था लेकिन इन बातों को यह जो रिजर्वेशन की जो था पहले यह 10 साल के लिए ही उसको लागू किया गया था लेकिन यह आजादी के बाद से लगातार जो है पॉलीटिकल माइलेज लेने के लिए कुछ पार्टियां इसके ऊपर ज्यादा जो है बात नहीं करते क्योंकि उनको ऐसा लगता है कि अगर वह किसी भी एक सेक्शन उसके अगेंस्ट जिनको रिजर्वेशन मिल रहा है तो उनका वोट बैंक जो है चला जाएगा किसी ने भी कोई भी राज पॉलीटिकल पार्टी मुखर होकर इसके लिए आवाज नहीं उठाती लेकिन आजकल जो हम एक चीज नहीं चीज देखने में हमें मिल रही है वह है कि जो स्वर्ण क्लास के जो स्वर्ण कास्ट है जो आप प्रकाश है उसकी में भी फिक्र की बहुत ही पुअर लोग भी हैं बहुत ही हर तरह से पिछड़े हुए हैं वह लोग सामाजिक रूप से भी सेक्स और शिक्षक के शैक्षणिक रूप से प्रयोग सभी और आर्थिक रूप से भी तो उनके लिए भी जो है अभी 10 परसेंट जो है रीजन एशियन की बात की गई थी हालांकि अभी तक इसके ऊपर कोई जो है पूरी तरह से कुछ अमलीजामा इसको नहीं पहनाया गया है अभी बात ही चल रही है उसके ऊपर कि मेरा यह मानना है कि ठीक है जो है जो बहुत ही कुंवर लोग हैं उनको अपलिफ्टमेंट करने के लिए लाइफ को उनकी आइए जरूर रिजर्वेशन के लिए लागू किया गया था लेकिन आज जो लोग जरूर रिजर्वेशन का लाभ उठाकर आज जो लोग आईएएस पीसीएस बन गया बहुत उच्च पदों पर कार्यरत हैं तो आज वह पिछड़े नहीं है किसी भी प्रकार से क्योंकि उनके पास पैसा भी है संपत्ति बिहार तरीके से वह आर्थिक रूप से सक्षम है और समाज में भी आजकल ऐसा कोई छुआछूत वाली बात रहे नहीं गई है आज वह लोग हर जगह हर बड़ी कास्ट के साथ उठते बैठते भी पार्टी में भी जाते हम के अजूबे मेरिसिस भी अटेंड करते हैं आपस में कॉफी पी चाय भी शेयर करते हैं तो ऐसा कुछ नहीं है एक साथ बैठकर एजुकेशन स्पीच इंस्टिट्यूशन का बड़े-बड़े कॉल विष्णु पास में जो है स्वर्ण कास्ट और दलित जो है बैठ कर पढ़ाई भी करता था ऐसा पहले जैसी बात सही नहीं है तो मेरा यह मानना है क्या आज उन लोगों को किसी भी प्रकार के रिजर्वेशन की जरूरत नहीं है उन लोगों को जो है अब अपने ही से गोल एंट्री ली जो है आपने आपसे रिजर्वेशंस को जो है छोड़ देना चाहिए ताकि जिनको एक्चुअली में जरूरत है जो बहुत ही पुअर है चाहे वह किसी भी कास्ट में ताकि उसका रिजर्वेशन का लाभ उनको पहुंच मिल सके तो यह रिजर्वेशन वाली बात है तो इसको अब आर्थिक आधार पर गवर्नमेंट को सोचना चाहिए किसको वार्षिक आधार पर रिजर्वेशंस के चश्मे से देखना चाहिए ताकि क्योंकि जो है हर कष्ट में चाहे वह जनरल हो या ओबीसी एससी एसटी हार कास्ट में पुअर है गवर्नमेंट को रिजर्वेशन देने देना ही है तो अब आर्थिक आधार पर इस को कर देना चाहिए ना की जाति के आधार पर धन्यवाद

yah vishay bahut hi aisa hai ki aaj ishq jo reservation ka jo yah problem hai ya yah kahiye ke jo reservation kajri topic hai jisko lekar aaj hamare bahut saare jo general category ke jo yuva hai unke man mein bahut hi kam tha bhar gayi hai bahut hi kunthit ho gaya hai unka man kyonki iska agar hum is teamen jayen ki sc st aur jo obc ko jo reservation ki jo shuruat hui thi vaah kya sochkar hui thi dekhiye aap jab hamara desh azad hua tha freedom humne prapt ki thi angrejo se toh us samay yah jo hamare Constitution smaikar the unke mind dimag mein yah vichar tha ki bhai hamare desh mein garibi bahut hai hamare jaise garib desh mein ek section aisa hai jo bahut hi garib hai vaah shaikshik samajik aur 8 ek roop se bahut hi zyada pichda hua hai aur ek section aisa hai jo bahut hi world to hai walon ko sharirik shaikshnik aur samajik aur aarthik roop se kaafi safal hai kaafi well to do hai toh jo log pichade hue the bahut zyada unko sa jeevan ki mukhyadhara mein lane ke liye unka apaliftament apaliftament karne ke liye yah samvidhan makers ne socha ki inko kuch alag se jo hai ek reservation diya jaaye unko alag se kuch chhut de di jaaye taki unko bhi mukhya jo samaj ke mukhya jivandhara hai usme unko joda ja sake aur unke jeevan mein bhi ek ujaala laya ja sake toh yah sochkar jo hai kuch reservations ki baat hui thi jisme schedule caste hai uske liye 10 reservation ki baat hui thi uske baad schedule tribe ke log hai jo janjaati waale log hai jo bahut hi bilkul alag thalag hai samajik samuh samaj se puri tarah se alag alag rehte hai jisme bilkul janjaati hai jo log hai aur doosra hai apna jo teesre number par aata hai vaah other backward kashi hai jo swarn se jo thoda sa niche hai anya pichda varg bhi ya backward classes bhi hai unko kehte hai aur unmen bhi kuch aise the section jaha par jo hai bahut pichade hue section se ho unke liye toh 7 reservation ki hai jo sab apoorav kiya gaya tha Constitution mein usko shaamil kiya gaya tha lekin in baaton ko yah jo reservation ki jo tha pehle yah 10 saal ke liye hi usko laagu kiya gaya tha lekin yah azadi ke baad se lagatar jo hai political mileage lene ke liye kuch partyian iske upar zyada jo hai baat nahi karte kyonki unko aisa lagta hai ki agar vaah kisi bhi ek section uske against jinako reservation mil raha hai toh unka vote bank jo hai chala jaega kisi ne bhi koi bhi raj political party mukhar hokar iske liye awaaz nahi uthaati lekin aajkal jo hum ek cheez nahi cheez dekhne mein hamein mil rahi hai vaah hai ki jo swarn kashi ke jo swarn caste hai jo aap prakash hai uski mein bhi fikra ki bahut hi poor log bhi hai bahut hi har tarah se pichade hue hai vaah log samajik roop se bhi sex aur shikshak ke shaikshnik roop se prayog sabhi aur aarthik roop se bhi toh unke liye bhi jo hai abhi 10 percent jo hai reason asian ki baat ki gayi thi halaki abhi tak iske upar koi jo hai puri tarah se kuch amalijama isko nahi pahanaya gaya hai abhi baat hi chal rahi hai uske upar ki mera yah manana hai ki theek hai jo hai jo bahut hi kunwar log hai unko apaliftament karne ke liye life ko unki aaiye zaroor reservation ke liye laagu kiya gaya tha lekin aaj jo log zaroor reservation ka labh uthaakar aaj jo log IAS pcs ban gaya bahut ucch padon par karyarat hai toh aaj vaah pichade nahi hai kisi bhi prakar se kyonki unke paas paisa bhi hai sampatti bihar tarike se vaah aarthik roop se saksham hai aur samaj mein bhi aajkal aisa koi chuachut wali baat rahe nahi gayi hai aaj vaah log har jagah har baadi caste ke saath uthte baithate bhi party mein bhi jaate hum ke ajoobe merisis bhi attend karte hai aapas mein coffee p chai bhi share karte hai toh aisa kuch nahi hai ek saath baithkar education speech instityushan ka bade bade call vishnu paas mein jo hai swarn caste aur dalit jo hai baith kar padhai bhi karta tha aisa pehle jaisi baat sahi nahi hai toh mera yah manana hai kya aaj un logo ko kisi bhi prakar ke reservation ki zarurat nahi hai un logo ko jo hai ab apne hi se gol entry li jo hai aapne aapse reservations ko jo hai chod dena chahiye taki jinako actually mein zarurat hai jo bahut hi poor hai chahen vaah kisi bhi caste mein taki uska reservation ka labh unko pohch mil sake toh yah reservation wali baat hai toh isko ab aarthik aadhaar par government ko sochna chahiye kisko vaarshik aadhaar par reservations ke chashme se dekhna chahiye taki kyonki jo hai har kasht mein chahen vaah general ho ya obc SC ST haar caste mein poor hai government ko reservation dene dena hi hai toh ab aarthik aadhaar par is ko kar dena chahiye na ki jati ke aadhaar par dhanyavad

यह विषय बहुत ही ऐसा है कि आज इश्क जो रिजर्वेशन का जो यह प्रॉब्लम है या यह कहिए के जो रिजर्

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  174
WhatsApp_icon
user
0:37
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मेरा एक यही सलूशन है कि अगर SC को कितना आरक्षण दिया गया है वह उतना ही के तहत फॉर्म भरे अगर किसी भी चैनल का डिग्री का फॉर्म भरे तो इस में जनरल कैटेगरी को प्रॉब्लम हो जाएगी एससी-एसटी हो यह दोनों जो है अपने आरक्षण के माध्यम से फॉर्म भर जनरल कैटेगरी को पर्सनल जनरल कैटेगरी फॉर्म भरे यह आरक्षण का बेहतर विकल्प है हमारे हिसाब से

mera ek yahi salution hai ki agar SC ko kitna aarakshan diya gaya hai vaah utana hi ke tahat form bhare agar kisi bhi channel ka degree ka form bhare toh is mein general category ko problem ho jayegi SC ST ho yah dono jo hai apne aarakshan ke madhyam se form bhar general category ko personal general category form bhare yah aarakshan ka behtar vikalp hai hamare hisab se

मेरा एक यही सलूशन है कि अगर SC को कितना आरक्षण दिया गया है वह उतना ही के तहत फॉर्म भरे अगर

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  1727
WhatsApp_icon
user

Amber Rai

सुनो ..सुनाओ..सीखो!

0:59
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आदित्य CST में जो आरक्षण होता है तो यह जो मुद्दा है वह एक बहुत ही विवादित मुद्दा है अगर यह जब भी ऊपर आता है तो वह कई गुटों में जो है वह थोड़ा जल्दी टाइप कमाल हो जाता है और पॉलिटिकल लोग जो है वह पॉलिटिकल मिनिस्टर वगैरह जो है उसका बहुत फायदा उठाते हैं तो इसका भी कल मैं समझूंगा कि आरक्षण जो है वह हटा देना चाहिए और आरक्षण आरक्षण की जगह जो है वह कॉन्पिटिटिव भेज दो जो है वह एग्जाम या नौकरी वगैरह में होना चाहिए ताकि जो बेस्ट आदमी है वह चुने जाए ना कि जो किसी पटोला कोटा क्या है अगर उनको कम मार्क्स दिया है तो पटना कोटा पर उनको मिल जाता है यह सारा पांडव जो है जो है वह मेरा पर्सनल है और और मैं कुछ डिसीजन थोप नहीं रहा हूं यह सब जो है मैं समझता हूं ऐसा होना चाहिए और बिल्कुल होना चाहिए और इसके अलावा मेरे को नहीं लगता कि कोई भी कल क्या पास होगा इसको हटाने के अलावा

aditya CST mein jo aarakshan hota hai toh yah jo mudda hai vaah ek bahut hi vivaadit mudda hai agar yah jab bhi upar aata hai toh vaah kai guton mein jo hai vaah thoda jaldi type kamaal ho jata hai aur political log jo hai vaah political minister vagera jo hai uska bahut fayda uthate hai toh iska bhi kal main samjhunga ki aarakshan jo hai vaah hata dena chahiye aur aarakshan aarakshan ki jagah jo hai vaah competetive bhej do jo hai vaah exam ya naukri vagera mein hona chahiye taki jo best aadmi hai vaah chune jaaye na ki jo kisi patola quota kya hai agar unko kam marks diya hai toh patna quota par unko mil jata hai yah saara pandav jo hai jo hai vaah mera personal hai aur aur main kuch decision thop nahi raha hoon yah sab jo hai samajhata hoon aisa hona chahiye aur bilkul hona chahiye aur iske alava mere ko nahi lagta ki koi bhi kal kya paas hoga isko hatane ke alava

आदित्य CST में जो आरक्षण होता है तो यह जो मुद्दा है वह एक बहुत ही विवादित मुद्दा है अगर यह

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  1745
WhatsApp_icon
user

Ram Mahobia

Asst.Profesior & Economist

1:11
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखी हमारे समाज में जो एक भी नेता व्याप्त थी एक उच्च वर्ग और निम्न वर्ग के बीच में जो बहुत ज्यादा गया था उसको फिल फिल करने के लिए आरक्षण व्यवस्था लागू की गई लेकिन इसका फायदा से ज्यादा नुकसान होता जा रहा है क्या है कि जो एक नंबर का गाती है वह अपनी काबिलियत से कम प्रयास करके उस पोस्ट पर पहुंच जाता है और उसी की जगह एक पंडित व्यक्ति है या जो जनरल ओबीसी ओबीसी कैटेगरी कि वह उससे ज्यादा काबिल व्यक्ति होकर भी वहां तक नहीं पहुंच पाता इससे क्या होता है कि समाज में जो पहनता है वह व्याप्त हो जाती है एवम कि आगे जाकर हमारे देश की जगह जगह नुकसान होती है मेरी राय में जाए कि जिस व्यक्ति को एक बार आरक्षण मिल चुका है परिवार में किसी को उसको आगे जाकर आरक्षण की जरूरत नहीं है वही आरक्षण हम किसी दूसरे व्यक्ति को दे सकते हैं ऐसे राष्ट्र का और समाज का भी भला होगा और दूसरी तरफ जो आरक्षण व्यवस्था है उसमें जो इनकम है उसके आधार पर आए उसके आधार आरक्षण लागू की जानी चाहिए हमें जाति के आधार पर आरक्षण लागू नहीं की जानी चाहिए हमें समाज और आर्थिक स्थिति पर आरक्षण व्यवस्था लागू करने की जरूरत है

dekhi hamare samaj mein jo ek bhi neta vyapt thi ek ucch varg aur nimn varg ke beech mein jo bahut zyada gaya tha usko fill fill karne ke liye aarakshan vyavastha laagu ki gayi lekin iska fayda se zyada nuksan hota ja raha hai kya hai ki jo ek number ka gaatee hai vaah apni kabiliyat se kam prayas karke us post par pohch jata hai aur usi ki jagah ek pandit vyakti hai ya jo general obc obc category ki vaah usse zyada kaabil vyakti hokar bhi wahan tak nahi pohch pata isse kya hota hai ki samaj mein jo pehanta hai vaah vyapt ho jaati hai evam ki aage jaakar hamare desh ki jagah jagah nuksan hoti hai meri rai mein jaaye ki jis vyakti ko ek baar aarakshan mil chuka hai parivar mein kisi ko usko aage jaakar aarakshan ki zarurat nahi hai wahi aarakshan hum kisi dusre vyakti ko de sakte hain aise rashtra ka aur samaj ka bhi bhala hoga aur dusri taraf jo aarakshan vyavastha hai usme jo income hai uske aadhaar par aaye uske aadhaar aarakshan laagu ki jani chahiye hamein jati ke aadhaar par aarakshan laagu nahi ki jani chahiye hamein samaj aur aarthik sthiti par aarakshan vyavastha laagu karne ki zarurat hai

देखी हमारे समाज में जो एक भी नेता व्याप्त थी एक उच्च वर्ग और निम्न वर्ग के बीच में जो बहुत

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  161
WhatsApp_icon
user

Pragati

Aspiring Lawyer

1:51
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए पहले जो ऐसी एसटी का आरक्षण किया गया था सालों पहले इस वजह से किया गया था क्योंकि SC ST को टपका के लोग बहुत ही नीचे की जाति के माने जाते थे और उन को ऊपर लाने के लिए कुछ ना कुछ करना बहुत ही जरुरी हो गया था उस समय में इसी लिए आरक्षण दिया गया ताकि किसी भी एग्जाम या किसी भी जॉब की जगह पर अगर आरक्षण दिया जाएगा तुम लोगों को ऊपर आने में आसानी होगी और उनको कम नंबरों से या कम कम सीटों की वजह के बाद बावजूद भी उनको एडमिशन मिलेगा ताकि वह पढ़ सके और आगे बढ़ सके तो इसका सबसे अच्छा विकल्प मेरे हिसाब से वह यह होगा कि आप जब भी आरक्षण दें तो वह यह जरूर देखें कि वह CST इंसान हैं वह कैसे तबके से बिलोंग करता है कि वह अच्छे पढ़े-लिखे परिवार से है या बिल्कुल गरीब परिवार से हूं क्योंकि अगर कोई इंसान एससी एसटी होने एससी एसटी होने के बावजूद भी अच्छे परिवार से अच्छे पैसे वाले लोग पढ़े लिखे लोगों के परिवार से बिलॉन्ग करता है तो उस को आरक्षण देना बहुत ही पीस खुशी की बात है क्योंकि आरक्षण सिर्फ कास्ट की विशेषता इसलिए नहीं बनाया गया था ताकि और लोग उसका फायदा उठा सकें बल्कि वह इसलिए बनाया गया था ताकि लोग जो के नीचे दबा एजेंट गए थे पहले जमाने में ऊपर उठ गया था क्या तू मेरी सबसे यह करना चाहिए कि अगर कोई भी इंसान पहले से ही अच्छे परिवार से है उसके मां बाप उसके घर वाले अच्छे पढ़े-लिखे लोग हैं उनके पास पैसा भी है तो उनको आरक्षण नहीं मिलना चाहिए विश्व को किसी भी कास्ट से बिलॉन्ग करते हो ऐसी st ही हो और उनको आरक्षण मिलना चाहिए जो कि नीचे तो कैसे ब्लॉक करते हैं उनके घर पर पैसा नहीं है खाने के लिए रोटी नहीं है उन लोगों को आरक्षण मिलना चाहिए ऐसे में उनको जिनके पास सब कुछ पहले से ही उपलब्ध है जिसमें एक एग्जांपल यह मैं यह ले सकते हैं कि अगर किसी के मां बाप को आरक्षण ऑलरेडी मिल चुका है और वह लोग किसी रजिस्टर्ड पोस्ट पर है तो उनके बच्चों को आरक्षण नहीं देना चाहिए

dekhiye pehle jo aisi ST ka aarakshan kiya gaya tha salon pehle is wajah se kiya gaya tha kyonki SC ST ko tapaka ke log bahut hi niche ki jati ke maane jaate the aur un ko upar lane ke liye kuch na kuch karna bahut hi zaroori ho gaya tha us samay mein isi liye aarakshan diya gaya taki kisi bhi exam ya kisi bhi job ki jagah par agar aarakshan diya jaega tum logo ko upar aane mein aasani hogi aur unko kam numberon se ya kam kam seaton ki wajah ke baad bawajud bhi unko admission milega taki vaah padh sake aur aage badh sake toh iska sabse accha vikalp mere hisab se vaah yah hoga ki aap jab bhi aarakshan de toh vaah yah zaroor dekhen ki vaah CST insaan hain vaah kaise tabke se belong karta hai ki vaah acche padhe likhe parivar se hai ya bilkul garib parivar se hoon kyonki agar koi insaan SC ST hone SC ST hone ke bawajud bhi acche parivar se acche paise waale log padhe likhe logo ke parivar se Belong karta hai toh us ko aarakshan dena bahut hi peace khushi ki baat hai kyonki aarakshan sirf caste ki visheshata isliye nahi banaya gaya tha taki aur log uska fayda utha sake balki vaah isliye banaya gaya tha taki log jo ke niche daba agent gaye the pehle jamane mein upar uth gaya tha kya tu meri sabse yah karna chahiye ki agar koi bhi insaan pehle se hi acche parivar se hai uske maa baap uske ghar waale acche padhe likhe log hain unke paas paisa bhi hai toh unko aarakshan nahi milna chahiye vishwa ko kisi bhi caste se Belong karte ho aisi st hi ho aur unko aarakshan milna chahiye jo ki niche toh kaise block karte hain unke ghar par paisa nahi hai khane ke liye roti nahi hai un logo ko aarakshan milna chahiye aise mein unko jinke paas sab kuch pehle se hi uplabdh hai jisme ek example yah main yah le sakte hain ki agar kisi ke maa baap ko aarakshan already mil chuka hai aur vaah log kisi registered post par hai toh unke baccho ko aarakshan nahi dena chahiye

देखिए पहले जो ऐसी एसटी का आरक्षण किया गया था सालों पहले इस वजह से किया गया था क्योंकि SC S

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  1781
WhatsApp_icon
play
user

Anuj Gupta

Professional & Life Advisor

1:58

Likes    Dislikes    views  70
WhatsApp_icon
user

Swati

सुनो ..सुनाओ..सीखो!

1:16
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए भारत जी और रिजर्वेशन जो है वह शुरू हुआ था क्योंकि हमारे समाज के कुछ वर्ग उतना स्ट्रांग नहीं थे ना ही फाइनेंस लेना है किसी और तरीके से लेकिन अब कोई भी कॉमेंट से हटा नहीं पाई क्योंकि उन्हें अपने वोटबैंक को खोने का खतरा है लेकिन अगर हम इसका एक साक्षी क्यों ढूंढते हैं अगर रिजर्वेशन का एक विकट ढूंढता है तो मेरे हिसाब से कम से कम 10th क्लास तक तो हर तरह के एजुकेशन हर जगह पर एजुकेशन फ्री कर देना चाहिए और 10 साल के बाद कॉन्पिटिशन मैसेज के ऊपर यह कंपटीशन होना चाहिए कोई टेस्ट होना चाहिए और उस बेसिस पर जो टैलेंटेड बच्चे हो और अगर वह फाइनेंसियल इस टेबल नहीं है उनके सामने पानी सिस्टम नहीं है वह घर तो उन बच्चों को यह देना चाहिए रिजर्वेशन देखिए आज के समय में ऐसे बहुत सारे फल है चाहे वह मेडिकल हो जाए हिंदी मेरी हो चाहे पर वह कमेंट हो जहां रिजर्वेशन लेकर लोग बड़ी बड़ी पोस्ट पर पहुंच रहे हैं लेकिन अच्छा परफॉर्म नहीं कर पा रहे हैं तो टैलेंट पर सिर्फ रिजर्वेशन मिला मेरे सबसे बेस्ट ऑप्शन है

dekhiye bharat ji aur reservation jo hai vaah shuru hua tha kyonki hamare samaj ke kuch varg utana strong nahi the na hi finance lena hai kisi aur tarike se lekin ab koi bhi comment se hata nahi payi kyonki unhe apne votbaink ko khone ka khatra hai lekin agar hum iska ek sakshi kyon dhoondhate hain agar reservation ka ek vikat dhundhta hai toh mere hisab se kam se kam 10th class tak toh har tarah ke education har jagah par education free kar dena chahiye aur 10 saal ke baad competition massage ke upar yah competition hona chahiye koi test hona chahiye aur us basis par jo talented bacche ho aur agar vaah financial is table nahi hai unke saamne paani system nahi hai vaah ghar toh un baccho ko yah dena chahiye reservation dekhiye aaj ke samay mein aise bahut saare fal hai chahen vaah medical ho jaaye hindi meri ho chahen par vaah comment ho jaha reservation lekar log badi badi post par pohch rahe hain lekin accha perform nahi kar paa rahe hain toh talent par sirf reservation mila mere sabse best option hai

देखिए भारत जी और रिजर्वेशन जो है वह शुरू हुआ था क्योंकि हमारे समाज के कुछ वर्ग उतना स्ट्रा

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  1791
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
sc st aarakshan ;

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!