नाथद्वारा मंदिर का निर्माण किसने कराया?...


user

Hemant Priyadarshi

Writer | Philospher| Teacher |

2:04
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

337 40 वर्ष लगभग पुराना या मंदिर राजस्थान के राजसमंद जिले में स्थित है राजसमंद जिले में नाथद्वारा एक जगह है वहां से 28 किलोमीटर दूर नाथद्वारा रेलवे जंक्शन है मावली मावली रेल जंक्शन है नागद्वार से 28 किलोमीटर आगे मावली रेलवे जंक्शन है उसी मावली रेलवे जंक्शन से 1 किलोमीटर NH8 पर 1 किलोमीटर की दूरी पर बस स्टैंड के पास या नाथद्वारा मंदिर नाथद्वारा मंदिर या श्रीनाथजी की हवेली भी इसे कहते हैं यह मंदिर भगवान विष्णु को समर्पित ऐसा नहीं है लेकिन वैष्णव संप्रदाय के श्रीनाथजी जिन्होंने वैष्णव संप्रदाय की स्थापना की थी उन श्रीनाथ जी ने यह वृंदावन श्री कृष्ण की एक मूर्ति लाकर इस जगह पर नाथद्वारा मंदिर बना 17वीं शताब्दी में यह मंदिर मेवाड़ के महाराजा जय सिंह के द्वारा बनवाया गया था जिसमें भगवान कृष्ण की एक मूर्ति है उसकी पूजा की जाती है अभी हाल ही में अंबानी परिवार की बेटी ईशा अंबानी के प्री वेडिंग फंक्शन पर पूरा अंबानी परिवार इस मंदिर पहुंच यहां मंदिर पर पहुंचा था और एक भरी-भरी सोने की भेंट वहां मंदिर में चढ़ाई थी आपका जो प्रश्न था उसका उत्तर बस यह था कि इसका निर्माण 17 मई सता मेवाड़ के महाराजा जय सिंह के द्वारा करवाया गया था आज से लगभग 340 ईसवी पूर्व

337 40 varsh lagbhag purana ya mandir rajasthan ke rajsamand jile me sthit hai rajsamand jile me nathadwara ek jagah hai wahan se 28 kilometre dur nathadwara railway junction hai mavli mavli rail junction hai nagadwar se 28 kilometre aage mavli railway junction hai usi mavli railway junction se 1 kilometre NH8 par 1 kilometre ki doori par bus stand ke paas ya nathadwara mandir nathadwara mandir ya shrinathji ki haweli bhi ise kehte hain yah mandir bhagwan vishnu ko samarpit aisa nahi hai lekin vaisnav sampraday ke shrinathji jinhone vaisnav sampraday ki sthapna ki thi un srinath ji ne yah vrindavan shri krishna ki ek murti lakar is jagah par nathadwara mandir bana vi shatabdi me yah mandir mewad ke maharaja jai Singh ke dwara banwaya gaya tha jisme bhagwan krishna ki ek murti hai uski puja ki jaati hai abhi haal hi me ambani parivar ki beti isha ambani ke pri wedding function par pura ambani parivar is mandir pohch yahan mandir par pohcha tha aur ek bhari bhari sone ki bhent wahan mandir me chadhai thi aapka jo prashna tha uska uttar bus yah tha ki iska nirmaan 17 may sata mewad ke maharaja jai Singh ke dwara karvaya gaya tha aaj se lagbhag 340 isvi purv

337 40 वर्ष लगभग पुराना या मंदिर राजस्थान के राजसमंद जिले में स्थित है राजसमंद जिले में ना

Romanized Version
Likes  63  Dislikes    views  1229
WhatsApp_icon
1 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
Likes    Dislikes    views  
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!