माँ बाप की ऐसी क्या मजबूरी होती है की वो अपने बच्चों का बाल विवाह करा देते हैं?...


user

Ashok Bajpai

Rtd. Additional Collector P.C.S. Adhikari

1:02
Play

Likes  153  Dislikes    views  2489
WhatsApp_icon
16 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Anjana Baliga

Counselor

3:39
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अगर एक चिड़िया को घोसले में अगर चारों बच्चों को सुरक्षित करना है किसी बाज या उसे तो वह क्या करेगी सबसे पहले वह ऐसे व्यक्ति को सौंप देगी जो वह भरोसे के लायक होगा और वह उस बच्चे की सुरक्षा करता हुआ तो सबसे पहले कारण तो है सुरक्षा का जब वह मानते हैं कि खुद वह निशा आए हैं और किसी ऐसे व्यक्ति को अपनी बैटरी सॉन्ग सकते हैं या बेटा सोम सकते हैं जिससे उसको प्रगति मिले तो दूसरा है आर्थिक तो यह देखिए बाल विवाह भारत में क्यों होते हैं सबसे पहले तो जो मां-बाप आर्थिक दृष्टि से कमजोर होते हैं तो वह लोग बाल विवाह करा देते हैं ताकि उनकी बेटी किसी ऐसे घर में घुस के अच्छे से देखभाल हो सके तो कई बार तो पैसों के लिए भेज देते हैं और कई बार जो है सुरक्षा की दृष्टि से ताकि लड़की जो है सुरक्षित रहें क्योंकि भारत में सबसे ज्यादा डर उनको रिश्तेदारों से ताकि उनका बलात्कार ना हो इस चीज से बचाने के लिए मां-बाप जो है बाल विवाह कर देते दूसरा कारण यह था उस टाइम प्रथा भी ऐसी थी और मानसिकता भी ऐसे थी मां-बाप की की लड़की का जल्दी शादी कर दो ताकि आप उस जिम्मेदारी से जल्दी आजादी पा सको तो उसे सुरक्षा की दृष्टि से भी मां-बाप जल्दी ही बाल विवाह करते थे और कुछ लोग तो ऐसे चले भी बाल विवाह जल्दी कर देते थे ताकि जैसे लड़की बड़ी होगी तो अधिक खर्चा होगा इस चक्र से भी बाल विवाह करते थे तो इसमें उस टाइम की रात जगता मानसिकता इस तरह थी इसलिए मां-बाप को दोष नहीं देना चाहिए देखे जैसे-जैसे संस्कृति बढ़ती हैं मां-बाप हर काल में बच्चे का भलाई सोचते हैं हमें उन्हें कभी भी यह धारणा नहीं देनी चाहिए कि वह स्वार्थी थे या वह थे उस समय की मानसिकता को देखें उस समय की परिस्थितियों जो उन्होंने किया उनको जो ठीक लगा उस समय उन्होंने वह किया परंतु क्या होता है कि जब दो मन नहीं मिलते जैसे आपका और जिस व्यक्ति के साथ आपको उसकी विवाह होता है वह मेल नहीं खाता तो हमें हमारे मां-बाप भी बुरे लगते हैं इसलिए क्या होता है जी शादी तो आप अपनी पसंद से करना चाहते हैं और कम यह मतलब ठीक-ठाक हो लड़का परंतु उस समय क्या होता था काफी बुजुर्ग आदमियों से शादी हुई 12 साल की लड़की 30 साल के लड़के से विवाह कर रही है यह 12 साल की लड़की का विवाह जो है अधेड़ उम्र के व्यक्ति से हो रहा है बड़ा दुख लगता है क्योंकि इसमें कोई वह ही नहीं है तालमेल ही नहीं है एकरूपता नहीं है तो शादी कैसे चलेगी तो लड़की के लिए वह जीवन जो है वह जो हो जाता था और वह उसको निभा नहीं पाती थी इसलिए उसको अपने मां-बाप ही दुश्मन नजर आते थे तो आप समझ गए होंगे कि उनकी क्या मजबूरी थी और क्या मानसिकता थी थैंक यू गॉड ब्लेस

agar ek chidiya ko ghosle me agar charo baccho ko surakshit karna hai kisi baaj ya use toh vaah kya karegi sabse pehle vaah aise vyakti ko saunp degi jo vaah bharose ke layak hoga aur vaah us bacche ki suraksha karta hua toh sabse pehle karan toh hai suraksha ka jab vaah maante hain ki khud vaah nisha aaye hain aur kisi aise vyakti ko apni battery song sakte hain ya beta Som sakte hain jisse usko pragati mile toh doosra hai aarthik toh yah dekhiye baal vivah bharat me kyon hote hain sabse pehle toh jo maa baap aarthik drishti se kamjor hote hain toh vaah log baal vivah kara dete hain taki unki beti kisi aise ghar me ghus ke acche se dekhbhal ho sake toh kai baar toh paison ke liye bhej dete hain aur kai baar jo hai suraksha ki drishti se taki ladki jo hai surakshit rahein kyonki bharat me sabse zyada dar unko rishtedaron se taki unka balatkar na ho is cheez se bachane ke liye maa baap jo hai baal vivah kar dete doosra karan yah tha us time pratha bhi aisi thi aur mansikta bhi aise thi maa baap ki ki ladki ka jaldi shaadi kar do taki aap us jimmedari se jaldi azadi paa Sako toh use suraksha ki drishti se bhi maa baap jaldi hi baal vivah karte the aur kuch log toh aise chale bhi baal vivah jaldi kar dete the taki jaise ladki badi hogi toh adhik kharcha hoga is chakra se bhi baal vivah karte the toh isme us time ki raat jagta mansikta is tarah thi isliye maa baap ko dosh nahi dena chahiye dekhe jaise jaise sanskriti badhti hain maa baap har kaal me bacche ka bhalai sochte hain hamein unhe kabhi bhi yah dharana nahi deni chahiye ki vaah swaarthi the ya vaah the us samay ki mansikta ko dekhen us samay ki paristhitiyon jo unhone kiya unko jo theek laga us samay unhone vaah kiya parantu kya hota hai ki jab do man nahi milte jaise aapka aur jis vyakti ke saath aapko uski vivah hota hai vaah male nahi khaata toh hamein hamare maa baap bhi bure lagte hain isliye kya hota hai ji shaadi toh aap apni pasand se karna chahte hain aur kam yah matlab theek thak ho ladka parantu us samay kya hota tha kaafi bujurg adamiyo se shaadi hui 12 saal ki ladki 30 saal ke ladke se vivah kar rahi hai yah 12 saal ki ladki ka vivah jo hai adhed umar ke vyakti se ho raha hai bada dukh lagta hai kyonki isme koi vaah hi nahi hai talmel hi nahi hai ekrupta nahi hai toh shaadi kaise chalegi toh ladki ke liye vaah jeevan jo hai vaah jo ho jata tha aur vaah usko nibha nahi pati thi isliye usko apne maa baap hi dushman nazar aate the toh aap samajh gaye honge ki unki kya majburi thi aur kya mansikta thi thank you god bless

अगर एक चिड़िया को घोसले में अगर चारों बच्चों को सुरक्षित करना है किसी बाज या उसे तो वह क्य

Romanized Version
Likes  526  Dislikes    views  8205
WhatsApp_icon
user

Daulat Ram Sharma Shastri

Psychologist | Ex-Senior Teacher

1:16
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यह भारत के किस सिस्टम है उप जातियों के प्रगति है और आज पुत्र वह लोग शिक्षकों के आ रहे हैं धीरे-धीरे यह बाल विवाह ही समाप्त होता जाएगा लगाएगा लेकिन कुछ लोगों में आई इस गलतफहमी है अशिक्षा के कारण से और भी अंधविश्वास और कुरीतियों में गिरे हुए हैं इसलिए लोग यह मानते हैं कि लड़की के 10 साल होने से पहले ही पूरा कर देना चाहिए जबकि आधुनिक नहीं कहती है आज के समय की मांग की है कहती है कि लड़की जब तक एडल्ट भी हो जाए हो जाए हो जाए तब तक अपने पैरों पर खड़ी हो जाए बंद अकल का विवाह नहीं करना चाहिए आई लड़की की एडल्ट एज 18 वर्ष पाने के लिए 18 वर्ष विवाह का जाता है 18 साल की लड़की होती है

yah bharat ke kis system hai up jaatiyo ke pragati hai aur aaj putra vaah log shikshakon ke aa rahe hain dhire dhire yah baal vivah hi samapt hota jaega lagaega lekin kuch logo me I is galatfahamee hai asiksha ke karan se aur bhi andhavishvas aur kuritiyon me gire hue hain isliye log yah maante hain ki ladki ke 10 saal hone se pehle hi pura kar dena chahiye jabki aadhunik nahi kehti hai aaj ke samay ki maang ki hai kehti hai ki ladki jab tak adult bhi ho jaaye ho jaaye ho jaaye tab tak apne pairon par khadi ho jaaye band akal ka vivah nahi karna chahiye I ladki ki adult age 18 varsh paane ke liye 18 varsh vivah ka jata hai 18 saal ki ladki hoti hai

यह भारत के किस सिस्टम है उप जातियों के प्रगति है और आज पुत्र वह लोग शिक्षकों के आ रहे हैं

Romanized Version
Likes  479  Dislikes    views  4135
WhatsApp_icon
user

Dr. Priya Shatanjib Jha

Psychologist|Counselor|Dentist

1:15
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्ते दोस्तों मेरी रानी डॉक्टर प्रिया झा के तरफ से आप सबको दिन की बहुत सारी शुभकामनाएं देखे मेरे हिसाब से दो ही परिस्थितियों में कोई मां बाप अपने बच्चों का बाल विवाह करेंगे या तो यह है कि वह उनके परिवार में शुरू से चला आ रहा है यानी कि कस्टमरी ओके इंग्लिश में जो टॉम है कस्टमर कस्टमर ई है कि वह बहुत पहले से चला आ रहा है रीति रिवाज तो पहला कार्य नहीं होगा और दूसरा यह है कि अगर उनका जो आर्थिक परिस्थिति है यानी फ्रांस और कंडीशन आफ इट्स वेरी लेस यानी कि अगर वह बहुत गरीब है तो ही अगर उन्होंने किसी दूसरे परिवार में यह सहमति दे दी है और उन्हें अगर उन्होंने उनको उन्होंने वोट दे दिया है यानी कि उनसे उन्होंने यह बंद कर लिया है कि अपने बच्चे का विवाह उनके घर पर करेंगे तो इस कंडीशन में मतलब गरीबी में बहुत गरीबी में तो दो ही है तो कस्टम पुरानी रीति रिवाज उनके घर में चले जा रहे होंगे या तो बहुत उनका आर्थिक स्थिति कम है गरीब है तो ही इंदु कंडीशन में मेरे हिसाब से मां-बाप जो है वह अपने बच्चों का बाल विवाह कर आते हैं थैंक यू

namaste doston meri rani doctor priya jha ke taraf se aap sabko din ki bahut saree subhkamnaayain dekhe mere hisab se do hi paristhitiyon mein koi maa baap apne baccho ka baal vivah karenge ya toh yah hai ki vaah unke parivar mein shuru se chala aa raha hai yani ki customary ok english mein jo tom hai customer customer ee hai ki vaah bahut pehle se chala aa raha hai riti rivaaj toh pehla karya nahi hoga aur doosra yah hai ki agar unka jo aarthik paristithi hai yani france aur condition of its very less yani ki agar vaah bahut garib hai toh hi agar unhone kisi dusre parivar mein yah sahmati de di hai aur unhe agar unhone unko unhone vote de diya hai yani ki unse unhone yah band kar liya hai ki apne bacche ka vivah unke ghar par karenge toh is condition mein matlab garibi mein bahut garibi mein toh do hi hai toh custom purani riti rivaaj unke ghar mein chale ja rahe honge ya toh bahut unka aarthik sthiti kam hai garib hai toh hi indu condition mein mere hisab se maa baap jo hai vaah apne baccho ka baal vivah kar aate hain thank you

नमस्ते दोस्तों मेरी रानी डॉक्टर प्रिया झा के तरफ से आप सबको दिन की बहुत सारी शुभकामनाएं दे

Romanized Version
Likes  70  Dislikes    views  1183
WhatsApp_icon
user

Vikas Singh

Political Analyst

1:23
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए मैं आपको बता देना चाहता हूं कि अब 21वीं सदी में हम लोग हैं 21वीं सदी चल रही है बाल विवाह करना एक टाइम लोगों की मजबूरी थी अंधविश्वास था और उस टाइम माता-पिता अपने बच्चों का बाल विवाह करते थे लेकिन आज के टाइम में कोई बाल विवाह नहीं कर रहा है कहीं पर बाल विवाह नहीं हो रहा है यह गलत है कोई भी माता पिता अपने बच्चे को पढ़ना तो प्रेशर बनाते हैं ना कुछ करते हैं यह है सर यह सत्य है कि अपनी माता पर सब के माता पिता अपने बच्चों को चाहते हैं कि सेटल हो जाए अच्छे से काम करें आगे बढ़े अगर कोई लड़का लड़की शादी करना चाहता है 18 साल 20 साल की एज में तू कर लेता है कुछ लोग लव मैरिज करते हैं कुछ लोग माता-पिता से बता कर शादी करते हैं माता-पिता कभी कभी शादी करना चाहते हैं बच्चों की 20 साल 21 साल में अगर बच्चा उनका बोल देता है कि नहीं मैं अभी स्टडी करूंगा अपना कैरियर बना लूंगा तो माता-पिता मना नहीं करते बाल विवाह बहुत पहले हमारे देश में था और एक का पहले के लोगों का 9 साल 10 साल में शादी हो जाती थी 12 साल में शादी होती थी लेकिन आज के डेट में 30 32 साल में शादी हो रही है कोई-कोई तो 40 42 साल में भी शादी कर रहा है तो अब ऐसा नहीं हो रहा है क्योंकि सब के माता पिता चाहते हैं कि हमारा बेटा आगे बढ़े और हमारा नाम रोशन करें धन्यवाद

dekhiye main aapko bata dena chahta hoon ki ab vi sadi mein hum log hain vi sadi chal rahi hai baal vivah karna ek time logo ki majburi thi andhavishvas tha aur us time mata pita apne baccho ka baal vivah karte the lekin aaj ke time mein koi baal vivah nahi kar raha hai kahin par baal vivah nahi ho raha hai yah galat hai koi bhi mata pita apne bacche ko padhna toh pressure banate hain na kuch karte hain yah hai sir yah satya hai ki apni mata par sab ke mata pita apne baccho ko chahte hain ki settle ho jaaye acche se kaam kare aage badhe agar koi ladka ladki shadi karna chahta hai 18 saal 20 saal ki age mein tu kar leta hai kuch log love marriage karte hain kuch log mata pita se bata kar shadi karte hain mata pita kabhi kabhi shadi karna chahte hain baccho ki 20 saal 21 saal mein agar baccha unka bol deta hai ki nahi main abhi study karunga apna carrier bana lunga toh mata pita mana nahi karte baal vivah bahut pehle hamare desh mein tha aur ek ka pehle ke logo ka 9 saal 10 saal mein shadi ho jaati thi 12 saal mein shadi hoti thi lekin aaj ke date mein 30 32 saal mein shadi ho rahi hai koi koi toh 40 42 saal mein bhi shadi kar raha hai toh ab aisa nahi ho raha hai kyonki sab ke mata pita chahte hain ki hamara beta aage badhe aur hamara naam roshan kare dhanyavad

देखिए मैं आपको बता देना चाहता हूं कि अब 21वीं सदी में हम लोग हैं 21वीं सदी चल रही है बाल व

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  395
WhatsApp_icon
user

Harnoor Kour

Psychologist & LLB

0:37
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

फाइल मैनेजर एनामेलोप्लास्टी चाइल्ड मैरिज इन टू पार्ट्स ऑफ ड्यूटी टाइम टेबल

file manager enameloplasti child marriage in to parts of duty time table

फाइल मैनेजर एनामेलोप्लास्टी चाइल्ड मैरिज इन टू पार्ट्स ऑफ ड्यूटी टाइम टेबल

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  105
WhatsApp_icon
user
0:42
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

होते है

hote hai

होते है

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  132
WhatsApp_icon
user

RANJAN KUMAR

Teacher, Technical Trainer

0:41
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार आपका सवाल है मां-बाप की ऐसी क्या मजबूरी होती है कि वह अपने बच्चों का बाल विवाह करा देते हैं मैं आपको बताना चाहता हूं कि बाल विवाह जो है और अभी के समय में बहुत कम हो गई है लेकिन पहले के समय बहुत ज्यादा होती थी फिर मैं आपको बताना चाहता हूं कि मां-बाप के साथ मजबूरी होती है कि बच्ची में बड़ी हो जाती है किसी के साथ भाग नहीं जाए किसी के साथ बहुत नहीं जाए जब कोई गलत काम ना कर बैठे इसलिए समय रहते उनकी बालूबा करा दे दी जाती थी और बड़े होकर के वह क्या करते थे कि अपनी मर्जी से शादी करने की कोशिश करने लगते हैं इसलिए उनकी वाली ऑडी गाड़ी चलाने वाली

namaskar aapka sawaal hai maa baap ki aisi kya majburi hoti hai ki vaah apne baccho ka baal vivah kara dete hain main aapko batana chahta hoon ki baal vivah jo hai aur abhi ke samay me bahut kam ho gayi hai lekin pehle ke samay bahut zyada hoti thi phir main aapko batana chahta hoon ki maa baap ke saath majburi hoti hai ki bachi me badi ho jaati hai kisi ke saath bhag nahi jaaye kisi ke saath bahut nahi jaaye jab koi galat kaam na kar baithe isliye samay rehte unki baluba kara de di jaati thi aur bade hokar ke vaah kya karte the ki apni marji se shaadi karne ki koshish karne lagte hain isliye unki wali audi gaadi chalane wali

नमस्कार आपका सवाल है मां-बाप की ऐसी क्या मजबूरी होती है कि वह अपने बच्चों का बाल विवाह करा

Romanized Version
Likes  21  Dislikes    views  300
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मां बाप को बहुत ही परेशानी का सामना करना पड़ता है इसलिए मां-बाप बाल विवाह कर देते हैं एक महत्वपूर्ण कारण अधिक जनसंख्या वाला बना सकते हैं अगर बूढ़े हो जाएंगे तो इनकी शादी कौन करेगा मर ही रह जाएंगे कौन करेगा इसके शादी इसलिए वह बाल विवाह कर देते हैं यह पैसा कम होने के कारण बच्ची में ही शादी कर देते हैं कि हो सके मैं नहीं देखता हूं इसलिए वह लोग बाल विवाह करना चाहते हैं ऐसा भी होता है कि वह अपनी बेटियों की सुरक्षा के लिए उसकी शादी हो जाएगी तो मुझे मेरी जा सर से एक बाल हट जाएगा लेकिन लड़कियों की शादी जो होती है ना करना बहुत ही कठिन है वह अपने में बल्लेबाजों कराते अपने में ही करा देते हैं ऐसा नहीं कि थोड़ा दूर थोड़ा दूर ऐसा नहीं अच्छा ठीक है भाई

maa baap ko bahut hi pareshani ka samana karna padta hai isliye maa baap baal vivah kar dete hain ek mahatvapurna karan adhik jansankhya vala bana sakte hain agar budhe ho jaenge toh inki shadi kaun karega mar hi reh jaenge kaun karega iske shadi isliye vaah baal vivah kar dete hain yah paisa kam hone ke karan bachi mein hi shadi kar dete hain ki ho sake main nahi dekhta hoon isliye vaah log baal vivah karna chahte hain aisa bhi hota hai ki vaah apni betiyon ki suraksha ke liye uski shadi ho jayegi toh mujhe meri ja sir se ek baal hut jaega lekin ladkiyon ki shadi jo hoti hai na karna bahut hi kathin hai vaah apne mein ballebajon karate apne mein hi kara dete hain aisa nahi ki thoda dur thoda dur aisa nahi accha theek hai bhai

मां बाप को बहुत ही परेशानी का सामना करना पड़ता है इसलिए मां-बाप बाल विवाह कर देते हैं एक म

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  131
WhatsApp_icon
user
1:38
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बाल विवाह भारतीय समाज में एक कुप्रथा के रूप में देखी गई है और अभी अभी हम इसके कारणों की बात करें तो कई सामाजिक कई आर्थिक और राजनीतिक कारण हो सकते हैं समाजीकरण में या प्रमुख है कि भारतीय समाज में यह प्राचीन काल से ही एक जाति एक संस्कृति के रूप में देखी गई प्रथा है जिसका विरोध करने पर इसे कई लोग आज भी अपनी संस्कृति पर प्रहार के रूप में देखते हैं और राजनीतिक कारणों में सबसे महत्वपूर्ण शिक्षा का अभाव है शिक्षा के अभाव के कारण लोग यह नहीं समझ पा सकते कि माता पिता बनने के लिए क्या उम्र होनी चाहिए क्या यह होनी चाहिए मुझे नहीं समझ सकते कि स्त्री पुरुष कितनी आयु में परिपक्व हो जाता मानसिक और शारीरिक तौर पर कितनी आयु में परिपक्व हो सकता है और राजनीतिक कारणों में एक प्रमुख कारण कानून व्यवस्था है जिसका पूरी तरह से क्रियान्वयन कानूनों का नहीं हो पाता जिस कारण या कहीं कहीं पर आज भी बाल विवाह देखा जाता है आर्थिक कारण में ब्रह्म

baal vivah bharatiya samaj mein ek kupratha ke roop mein dekhi gayi hai aur abhi abhi hum iske karanon ki baat kare toh kai samajik kai aarthik aur raajnitik karan ho sakte hain samajikaran mein ya pramukh hai ki bharatiya samaj mein yah prachin kaal se hi ek jati ek sanskriti ke roop mein dekhi gayi pratha hai jiska virodh karne par ise kai log aaj bhi apni sanskriti par prahaar ke roop mein dekhte hain aur raajnitik karanon mein sabse mahatvapurna shiksha ka abhaav hai shiksha ke abhaav ke karan log yah nahi samajh paa sakte ki mata pita banne ke liye kya umr honi chahiye kya yah honi chahiye mujhe nahi samajh sakte ki stree purush kitni aayu mein paripakva ho jata mansik aur sharirik taur par kitni aayu mein paripakva ho sakta hai aur raajnitik karanon mein ek pramukh karan kanoon vyavastha hai jiska puri tarah se kriyanvayan kanuno ka nahi ho pata jis karan ya kahin kahin par aaj bhi baal vivah dekha jata hai aarthik karan mein Brahma

बाल विवाह भारतीय समाज में एक कुप्रथा के रूप में देखी गई है और अभी अभी हम इसके कारणों की बा

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  115
WhatsApp_icon
user

111

struggling For Golden Future

1:31
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बाल विवाह का प्रमुख कारण अशिक्षा और सामाजिक रूढ़िवादिता है और इन दो प्रमुख कारणों के साथ साथ एक संवेदित कारण बहुत ही संबोधित कारण एवं सामाजिक भय आज के लड़के लड़कियां प्रेम करते हैं और ऐसा नहीं है कि पहले प्रेम नहीं करते थे पहले भी प्रेम करते थे लेकिन पहले जहां पर प्रेम जाकर उनका खत्म होता था 2 साल 4 साल 6 साल लगते थे प्रेम करते करते समय लगता अब वहां से शुरू होता है अर्थात फिजिकल रिलेशन से प्रेम शुरू होता है और सामाजिक असुरक्षा महिलाएं असुरक्षित हैं इन कारणों से जो पिता होता है भाई होता है घर के गार्जियन होते हैं पैरेंट्स होते हैं वह काफी सेंसिटिव हो जाते हैं और उन्हें लगता है जल्दी से जल्दी अपने रेप स्टेशन को बचाने के लिए रिपोर्ट एक्शन भी बचा रहे और जल्दी से जल्दी शादी कर दिया जाए जिससे विवाह कर दो जल्दी से जल्दी अपनी लड़कियों का जिससे वह भी सुरक्षित हो जाएंगे और उनके पति की जिम्मेदारी होगी शायद यह बहुत ही संवेदित कारण है जो आज सामाजिक भय के रूप में व्याप्त है

baal vivah ka pramukh karan asiksha aur samajik rudhivadita hai aur in do pramukh karanon ke saath saath ek sanvedit karan bahut hi sambodhit karan evam samajik bhay aaj ke ladke ladkiyan prem karte hain aur aisa nahi hai ki pehle prem nahi karte the pehle bhi prem karte the lekin pehle jaha par prem jaakar unka khatam hota tha 2 saal 4 saal 6 saal lagte the prem karte karte samay lagta ab wahan se shuru hota hai arthat physical relation se prem shuru hota hai aur samajik asuraksha mahilaye asurakshit hain in karanon se jo pita hota hai bhai hota hai ghar ke guardian hote hain pairents hote hain vaah kaafi sensitive ho jaate hain aur unhe lagta hai jaldi se jaldi apne rape station ko bachane ke liye report action bhi bacha rahe aur jaldi se jaldi shadi kar diya jaaye jisse vivah kar do jaldi se jaldi apni ladkiyon ka jisse vaah bhi surakshit ho jaenge aur unke pati ki jimmedari hogi shayad yah bahut hi sanvedit karan hai jo aaj samajik bhay ke roop mein vyapt hai

बाल विवाह का प्रमुख कारण अशिक्षा और सामाजिक रूढ़िवादिता है और इन दो प्रमुख कारणों के साथ स

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  177
WhatsApp_icon
play
user

Nisha kumawat

Do good and get good

1:18

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जहां तक मेरा मानना है बाल विवाह है कोई मजबूरी नहीं होती है यह काफी समय से चली आ रही है कुप्रथा है जिस का संचालन पीढ़ी दर पीढ़ी करते आ रहे हैं बड़े बुजुर्गों के जमाने से ही चलती आ रही है लोग उसका आज भी प्रचलन कर रहे हैं जहां तक मेरा मानना है अब यह कम हो गई है मां-बाप की कोई मजबूरी नहीं होती है मां बाप जो पड़ता है उसको कंटिन्यू रखने के लिए या तो बाल विवाह कर सकते हैं या फिर उनके दिमाग में किसी ने यह सोच रखी हो तो वह बाल विवाह कर सकते हैं अन्यथा उनकी कोई मजबूरी नहीं होती है उनके ऊपर कोई दबाव नहीं होता है कि आप अपने बच्चों की शादी करो कम उम्र ने अपने बच्चों की शादी करो उन पर किसी मां बाप ही दबाव नहीं होता है इसलिए मैं बाल विवाह को मजबूरी नहीं मानती हूं एक कुप्रथा है जिसको लोग काफी समय से इस को चलाते आ रहे हैं इसका पालन करते आ रहे हैं या फिर कोई गंदी सोच लिया कोई व्यक्ति जो दूसरों आपस में डाल देता हूं या हो सकता है गरीबी के कारण ऐसा होता हो पर एक मजबूरी नहीं होती है यह

jahan tak mera manana hai baal vivah hai koi majburi nahi hoti hai yeh kaafi samay se chali aa rahi hai kupratha hai jis ka sanchalan peedhi dar peedhi karte aa rahe hain bade bujurgoan ke jamane se hi chalti aa rahi hai log uska aaj bhi prachalan kar rahe hain jaha tak mera manana hai ab yeh kam ho gayi hai maa baap ki koi majburi nahi hoti hai maa baap jo padta hai usko continue rakhne ke liye ya toh baal vivah kar sakte hain ya phir unke dimag mein kisi ne yeh soch rakhi ho toh wah baal vivah kar sakte hain anyatha unki koi majburi nahi hoti hai unke upar koi dabaav nahi hota hai ki aap apne baccho ki shadi karo kam umar ne apne baccho ki shadi karo un par kisi maa baap hi dabaav nahi hota hai isliye main baal vivah ko majburi nahi maanati hoon ek kupratha hai jisko log kaafi samay se is ko chalte aa rahe hain iska palan karte aa rahe hain ya phir koi gandi soch liya koi vyakti jo dusro aapas mein daal deta hoon ya ho sakta hai garibi ke kaaran aisa hota ho par ek majburi nahi hoti hai yeh

जहां तक मेरा मानना है बाल विवाह है कोई मजबूरी नहीं होती है यह काफी समय से चली आ रही है कुप

Romanized Version
Likes  22  Dislikes    views  606
WhatsApp_icon
user

विकास सिंह

दिल से भारतीय

0:52
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बाल विवाह का बहुत सारे कारण है पहले तो हमारे जो समाज में आजकल एक का मतलब बस उस बनाकर हर एक के लोगों के लिए जो बेटियां होती है वह सर का बोध होता है उसे जल्द से जल्द शादी करके हटाया जाए ऐसे तो सोच लो कि जैसे मेंटल के काल विभाजन की बातें हमारे देश के लिए कि हमारी दोस्ती से दूसरे में पर बाल विवाह में आजकल जो देखा जाए तो हमारे पास है वीडियो बेटे में कोई फर्क नहीं था जो काम बेटी कर सकते हैं जो जॉब बेटी कर सकते हो बेटियां भी कर सकती है तो क्यों हम उन्हें शादी करें उन्हें भी जॉब करने का मौका दिया जाए पढ़ने का मौका दिया जाए तो क्या हुआ भाई जो बाल विवाह है हमारे देश के देशों को कम होंगे

baal vivah ka bahut saare karan hai pehle toh hamare jo samaj mein aajkal ek ka matlab bus us banakar har ek ke logo ke liye jo betiyan hoti hai vaah sir ka bodh hota hai use jald se jald shadi karke hataya jaaye aise toh soch lo ki jaise mental ke kaal vibhajan ki batein hamare desh ke liye ki hamari dosti se dusre mein par baal vivah mein aajkal jo dekha jaaye toh hamare paas hai video bete mein koi fark nahi tha jo kaam beti kar sakte hain jo job beti kar sakte ho betiyan bhi kar sakti hai toh kyon hum unhe shadi kare unhe bhi job karne ka mauka diya jaaye padhne ka mauka diya jaaye toh kya hua bhai jo baal vivah hai hamare desh ke deshon ko kam honge

बाल विवाह का बहुत सारे कारण है पहले तो हमारे जो समाज में आजकल एक का मतलब बस उस बनाकर हर एक

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  154
WhatsApp_icon
user

Ridhima

Mass Communications Student

1:54
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

विवाह के कई कारण है पर मेन आप दो कांटे देखे देखे तो दो रीजन सो सकते अनेक शरीर और स्टोरीज इन बनारसी रिजल्ट फर्स्ट कॉल तो आएगा गरीबी हमारे समाज का बड़ा वर्ग गरीब है जिनके सामने अपना पेट पालने का संकट है ऐसा देश में लड़की को उनके मां बाप पराया धन मानते हैं और उनके खानपान पढ़ाई लिखाई में चाहते हुए भी चाहते हुए भी सक्षम ना होने के कारण जल्द से जल्द बेटी की शादी करने पर विवश हो जाते हैं फिर वो क्या खर्चीली शादी हमारा देश है ऐसा देश हो गया है कि जहां सेक्स फ्री धूमधाम शादी मनाया जाए पर एक गरीब मां बाप की इच्छा भी होती है कि वह अपनी बेटी की शादी धूमधाम से करें लेकिन आर्थिक स्थिति इसकी इजाजत नहीं देती इसलिए वह अपनी बेटी की शादी जल्द से जल्द सामूहिक विवाह सम्मेलन में या आपसे रिश्तेदारों में करने के लिए विवश हो जाते हैं जो ज्यादातर बाल विवाह बन जाते हैं फिर आकर हिस्टोरिकल रिजल्ट देखे तो यह भी होगा कि महिलाओं से छेड़छाड़ एवं भर्ती यौन अपराध महिलाओं के विरुद्ध हिंसा एवं यौन अपराध की घटनाएं दिन-ब-दिन बढ़ रही है तो मां बाप अपनी बेटियों की सुरक्षा के लिए जल्द से जल्द उनकी शादी करा देते हैं फिर यह होगा कि घटना लिंग आप घटना लिंगानुपात पहले होता था कि अभी भी थोड़ा बहुत हो रहा है कि चाइल्ड गर्ल को मारा जाता है पेट में ही और जिसके कारण मेल की रेट ज्यादा है हमारे देश में लड़कियां ज्यादा है जो लड़कों के मां बाप है तो वह जल्द से जल्द और छोटी ही उम्र में लड़कों लड़कियों से उनकी शादी करा देते हैं ताकि उनका बेटा के पास एक पत्नी आ जाए फिर यह भी खुशी किसी जाति में भी परंपराएं रहती है बाल विवाह की

vivah ke kai karan hai par main aap do kante dekhe dekhe toh do reason so sakte anek sharir aur stories in banaarsi result first call toh aayega garibi hamare samaj ka bada varg garib hai jinke saamne apna pet palne ka sankat hai aisa desh mein ladki ko unke maa baap paraaya dhan maante hain aur unke khanpan padhai likhai mein chahte hue bhi chahte hue bhi saksham na hone ke karan jald se jald beti ki shadi karne par vivash ho jaate hain phir vo kya kharchili shadi hamara desh hai aisa desh ho gaya hai ki jaha sex free dhumadham shadi manaya jaaye par ek garib maa baap ki iccha bhi hoti hai ki vaah apni beti ki shadi dhumadham se kare lekin aarthik sthiti iski ijajat nahi deti isliye vaah apni beti ki shadi jald se jald samuhik vivah sammelan mein ya aapse rishtedaron mein karne ke liye vivash ho jaate hain jo jyadatar baal vivah ban jaate hain phir aakar historical result dekhe toh yah bhi hoga ki mahilaon se chedchad evam bharti yaun apradh mahilaon ke viruddh hinsa evam yaun apradh ki ghatnaye din bsp din badh rahi hai toh maa baap apni betiyon ki suraksha ke liye jald se jald unki shadi kara dete hain phir yah hoga ki ghatna ling aap ghatna linganupat pehle hota tha ki abhi bhi thoda bahut ho raha hai ki child girl ko mara jata hai pet mein hi aur jiske karan male ki rate zyada hai hamare desh mein ladkiyan zyada hai jo ladko ke maa baap hai toh vaah jald se jald aur choti hi umr mein ladko ladkiyon se unki shadi kara dete hain taki unka beta ke paas ek patni aa jaaye phir yah bhi khushi kisi jati mein bhi paramparayen rehti hai baal vivah ki

विवाह के कई कारण है पर मेन आप दो कांटे देखे देखे तो दो रीजन सो सकते अनेक शरीर और स्टोरीज इ

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  231
WhatsApp_icon
user

Bhaskar Saurabh

Politics Follower | Engineer

1:23
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बाल विवाह का सबसे मुख्य कारण मेरे हिसाब से तो एजुकेशन की कमी है| जो लोग ज्यादा पढ़े लिखे नहीं होते हैं और उन्हें बाल विवाह के बारे में कोई भी जानकारी नहीं है कि इसके दुष्परिणाम क्या होते हैं? वही लोग बाल विवाह को बढ़ावा देते हैं और कई ऐसी परंपराएं भी हमारे देश में चली आ रही है जहां पर बालविवाह करवाया जाता है| बच्चे जब पैदा होते हैं तभी उनका विवाह किससे होगा? यह पहले से ही तय हो जाता है| तो जो व्यक्ति पढ़ा लिखा है या एजुकेटेड है, अच्छे सारी चीजें वह जानता है, वह बाल विवाह को कभी भी सपोर्ट नहीं करेगा| तो अगर हमें भी अपने देश से बालविवाह जैसी कुप्रथा को हटाना है तो सबसे पहले यह जरूरी है कि लोगों को एजुकेट किया जाए, खास करके गांव के लोगों को| हम देखते हैं कि गांव में बाल विवाह की समस्या ज्यादा है, अगर कंपेयर की जाए शहरों से| तो गांव में एजुकेशन का स्तर सरकार को काफी ज्यादा बढ़ाने की जरूरत है और लोगों को यह बताने की जरूरत है कि बाल विवाह एक अच्छी प्रथा नहीं है और इसे हमें बंद कर देना चाहिए| और गांव वालों को यह भी पता नहीं रहता है कि बाल विवाह करना एक कानूनन अपराध है और उन्हें इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता कि वह कानून को तोड़ रहे हैं|

baal vivah ka sabse mukhya karan mere hisab se toh education ki kami hai jo log zyada padhe likhe nahi hote hain aur unhe baal vivah ke bare mein koi bhi jaankari nahi hai ki iske dushparinaam kya hote hain wahi log baal vivah ko badhawa dete hain aur kai aisi paramparayen bhi hamare desh mein chali aa rahi hai jaha par balvivah karvaya jata hai bacche jab paida hote hain tabhi unka vivah kisse hoga yah pehle se hi tay ho jata hai toh jo vyakti padha likha hai ya educated hai acche saree cheezen vaah jaanta hai vaah baal vivah ko kabhi bhi support nahi karega toh agar hamein bhi apne desh se balvivah jaisi kupratha ko hatana hai toh sabse pehle yah zaroori hai ki logo ko educate kiya jaaye khaas karke gaon ke logo ko hum dekhte hain ki gaon mein baal vivah ki samasya zyada hai agar compare ki jaaye shaharon se toh gaon mein education ka sthar sarkar ko kaafi zyada badhane ki zarurat hai aur logo ko yah batane ki zarurat hai ki baal vivah ek achi pratha nahi hai aur ise hamein band kar dena chahiye aur gaon walon ko yah bhi pata nahi rehta hai ki baal vivah karna ek kanunan apradh hai aur unhe is baat se koi fark nahi padta ki vaah kanoon ko tod rahe hain

बाल विवाह का सबसे मुख्य कारण मेरे हिसाब से तो एजुकेशन की कमी है| जो लोग ज्यादा पढ़े लिखे न

Romanized Version
Likes  36  Dislikes    views  917
WhatsApp_icon
user

Shubham

Software Engineer in IBM

2:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बाल विवाह एक ऐसा वाक्य जिसमें हमारे भारत को बहुत बुरी तरह से झगड़ा हुआ है उसको जल्दी से जल्दी खत्म कर देना चाहिए इसके पीछे कई सारे कारण है आपको मैं कारण 191 बताने वाला हूं पहला का पता है कुछ लोग ट्रेडिशन को फॉलो करते थे सागर में राजस्थान कि मानो और ऐसी कोई जगह है भारत में जो लोग अपने ट्रेडिशन को संस्कृति को फॉलो करते हैं वह तो बोलो इसीलिए बालिका कर देते हैं अगर मालू वालियों नहीं करते तो उनको इस एक्टर की हमारी संस्कृति में का उल्लंघन हो रहा है दूसरी चीज कुछ लोग लड़कियों को वह मानते हैं भूत मानते हैं पर मानते हैं तो उनको ऐसा लगता की शादी जल्दी जल्दी कर दीजिए हमारा वजन कम हो जाए तीसरी चीज आपको पता है आजकल इन सिक्योरिटी रोमांस की बहुत ज्यादा हो गई है आजकल हरासमेंट बहुत होने लगा है आजकल यह फिल्म होने लगी है लड़कियों की फैमिली क्योंकि उनको लगता है कि हमारी लड़की शादी से पहले ही कुछ उसके साथ कुछ हो नहीं जाए तो बोलो उसे इसकी जल्दी से जल्दी शादी करें और उसको सेव करें तो तीसरा कारण यह भी हो छोटी चीज आपको पता है कुछ लोग शादी करते हैं क्योंकि उनको लगता है कि जल्दी से लड़की की शादी करने से हम लोगों को दहेज कम देना पड़ेगा और लड़की कम पढ़ी लिखी होगी और जल्दी कमीज की होगी तो हमें दज कर देना पड़ेगा अगला रिजल्ट आपको बताया कोई फेमली है आज भी कुछ उसके घर में एक या दो लड़की है अगर उनके पास पैसे नहीं है तो उसकी शादी कर दें ताकि हमारी फैमिली में कम से कम एक लड़की तो कम होगी एक नंबर से कम होगा और और हमारे दो बच्चे लड़के बच्चे हम उन पर ज्यादा अच्छे से पढ़ाई लिखाई और उससे ज्यादा पैसा खर्च कर सकेंगे तो वह शादी कर देता है और इसकी और और क्या कारण है यह कारण आपको पता है जब लड़की की मेंसुरेशन साइकिल चालू हो जाती है आज भी आज भी यह रियल सट्टे की कुछ गांव में यह माना जाता है जब भी लड़की की मेंसुरेशन साइकिल चालू हो जाती है तो उनको लगता है कि लड़कियां वूमेन बन चुकी है तो ऐसे कई सारे कारण है

baal vivah ek aisa vakya jisme hamare bharat ko bahut buri tarah se jhadna hua hai usko jaldi se jaldi khatam kar dena chahiye iske peeche kai saare karan hai aapko main karan 191 batane vala hoon pehla ka pata hai kuch log tradition ko follow karte the sagar mein rajasthan ki maano aur aisi koi jagah hai bharat mein jo log apne tradition ko sanskriti ko follow karte hain vaah toh bolo isliye balika kar dete hain agar maloom valiyon nahi karte toh unko is actor ki hamari sanskriti mein ka ullanghan ho raha hai dusri cheez kuch log ladkiyon ko vaah maante hain bhoot maante hain par maante hain toh unko aisa lagta ki shadi jaldi jaldi kar dijiye hamara wajan kam ho jaaye teesri cheez aapko pata hai aajkal in Security romance ki bahut zyada ho gayi hai aajkal harasment bahut hone laga hai aajkal yah film hone lagi hai ladkiyon ki family kyonki unko lagta hai ki hamari ladki shadi se pehle hi kuch uske saath kuch ho nahi jaaye toh bolo use iski jaldi se jaldi shadi kare aur usko save kare toh teesra karan yah bhi ho choti cheez aapko pata hai kuch log shadi karte hain kyonki unko lagta hai ki jaldi se ladki ki shadi karne se hum logo ko dahej kam dena padega aur ladki kam padhi likhi hogi aur jaldi kamij ki hogi toh hamein daj kar dena padega agla result aapko bataya koi femli hai aaj bhi kuch uske ghar mein ek ya do ladki hai agar unke paas paise nahi hai toh uski shadi kar de taki hamari family mein kam se kam ek ladki toh kam hogi ek number se kam hoga aur aur hamare do bacche ladke bacche hum un par zyada acche se padhai likhai aur usse zyada paisa kharch kar sakenge toh vaah shadi kar deta hai aur iski aur aur kya karan hai yah karan aapko pata hai jab ladki ki mensureshan cycle chaalu ho jaati hai aaj bhi aaj bhi yah real satte ki kuch gaon mein yah mana jata hai jab bhi ladki ki mensureshan cycle chaalu ho jaati hai toh unko lagta hai ki ladkiyan women ban chuki hai toh aise kai saare karan hai

बाल विवाह एक ऐसा वाक्य जिसमें हमारे भारत को बहुत बुरी तरह से झगड़ा हुआ है उसको जल्दी से जल

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  241
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
aisi kya hoti hai ; shadi ho to aisi ; ऐसी क्या होता है ;

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!