मोदी जी बोलते हैं मैं झोला उठाकर चल दूंगा, झोलाछाप क्या 1000000 का सूट पहनता है?...


play
user

Bhaskar Saurabh

Politics Follower | Engineer

0:46

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यह बात बिल्कुल सही है कि मोदी जी ने 1000000 रुपए का सूट पहना था और उन्हें यह किसी ने गिफ्ट किया था लेकिन ना अगर मोदी जी गरीबों की बात करते हैं तूने इस तरह का व्यवहार नहीं दिखाना चाहिए क्योंकि कोई भी गरीब व्यक्ति या फिर जिसे लोग झोलाछाप चाहते हैं वह 1000000 रुपए तो इन्वेस्ट नहीं कर सकता है अपने कपड़े के लिए तो मोदी जी को इन सारे जुमलों से बचना चाहिए और उन्हें देश के बारे में सोचना चाहिए क्योंकि अब अगले लोकसभा चुनाव में ज्यादा वक्त नहीं रह गया है तो अगर यही स्थिति बनी रहेगी तो हो सकता है कि अगली बार सरकार बदल जाए और फिर उन्हें 1000000 रुपए का गिफ्ट तो शायद ही कोई दे पायेगा

yah baat bilkul sahi hai ki modi ji ne 1000000 rupaye ka suit pehna tha aur unhe yah kisi ne gift kiya tha lekin na agar modi ji garibon ki baat karte hai tune is tarah ka vyavhar nahi dikhana chahiye kyonki koi bhi garib vyakti ya phir jise log jholachhap chahte hai vaah 1000000 rupaye toh invest nahi kar sakta hai apne kapde ke liye toh modi ji ko in saare jumlon se bachna chahiye aur unhe desh ke bare mein sochna chahiye kyonki ab agle lok sabha chunav mein zyada waqt nahi reh gaya hai toh agar yahi sthiti bani rahegi toh ho sakta hai ki agli baar sarkar badal jaaye aur phir unhe 1000000 rupaye ka gift toh shayad hi koi de payega

यह बात बिल्कुल सही है कि मोदी जी ने 1000000 रुपए का सूट पहना था और उन्हें यह किसी ने गिफ्ट

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  164
WhatsApp_icon
4 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Apurva D

Optimistic Coder

1:31
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आज ही देखा जाए तो मोदी जी मतलब 4:00 बजने वाले प्रधानमंत्री ऐसा क्या है उनका बोला है कि मैं झूठा तो नहीं कर सकते क्योंकि वह कौन सा है उनको मालूम है वह कैसा है तू भी बोल कर दिया गया था और मोदी जी यह बात भली-भांति जानते हैं कि मतलब किसी के पेट का अनादर करना यह भारत की संस्कृति में नहीं है और यह अच्छी बात नहीं है तो इसलिए उन्होंने वह सूट पहना था हालांकि इस रेडी रेकनर हम गरीबों कार्य नहीं लगा सकते हो प्रधानमंत्री ने काम किया है चोरी किए है तो मुझे नहीं लगता कि ऐसा 1000000 का सूट मोदी के पैसे खर्च कर बनाएंगे हो सकती है मतलब

aaj hi dekha jaaye toh modi ji matlab 4 00 bajne waale pradhanmantri aisa kya hai unka bola hai ki main jhutha toh nahi kar sakte kyonki vaah kaun sa hai unko maloom hai vaah kaisa hai tu bhi bol kar diya gaya tha aur modi ji yah baat bhali bhanti jante hai ki matlab kisi ke pet ka anadar karna yah bharat ki sanskriti mein nahi hai aur yah achi baat nahi hai toh isliye unhone vaah suit pehna tha halaki is ready rekanar hum garibon karya nahi laga sakte ho pradhanmantri ne kaam kiya hai chori kiye hai toh mujhe nahi lagta ki aisa 1000000 ka suit modi ke paise kharch kar banayenge ho sakti hai matlab

आज ही देखा जाए तो मोदी जी मतलब 4:00 बजने वाले प्रधानमंत्री ऐसा क्या है उनका बोला है कि मैं

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  126
WhatsApp_icon
user

Pragati

Aspiring Lawyer

1:43
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी हां यह बात बिल्कुल सही है कि मोदी जी ने 1000000 का एक सूट पहना था लेकिन इसके पीछे की कहानी पर आपको जाननी चाहिए कि वह सूट मोदी जी ने खुद अपने पैसों से नहीं खरीदा था कि वह सूट किसी ने उनको उपहार स्वरूप दिया था और जब आपको कोई उपहार देता है तो आपसे वह अपेक्षा करता है क्या आप उसको पहने और मोदी जी ने भी यही किया उन्होंने हमारे संस्कृति का मान रखा और और जून को प्यार मिला था उन्होंने उस को पहना लेकिन इसके बाद हमें एक और बात जाननी होगी कि मोदी जी अगर ऐसा कोई भी उपहार लेते हैं तो उसके बाद उस उपहार उपहार को चैरिटी मैदान के लिए दे देते हैं एक बार जब पहन लेते हैं उसके बाद वॉक के लिए चली जाती है और उसमें से जो पैसा आता है वह चैरिटी के लिए जाता है और दूसरी बात जो आप कह रहे हैं कि मोदी जी ने बोला था कि वह कहीं जाएंगे तो वह झोला उठाकर चल देंगे तो यह बात हमें नहीं भूलनी चाहिए कि मोदी जी बचपन में चाय बेचा करते थे जो कि बहुत ही ज्यादा हमारे देश के नीचे काम माना जाता है उसे बोलो करते हैं जिनके पास खाने के लिए कुछ भी नहीं होता है तो जो इंसान इतना नीचे काम भी हमारे देश में कर सकते हैं तो उनके लिए झोला उठाकर कहीं चल देना बहुत ही आम बात है और यह सच शुरू कर देंगे क्योंकि उनकी जो जीवन शैली है वह बहुत ही साधारण है वह बहुत ही साधारण परिवार से आए हुए इंसान हैं उन्होंने अपने अपने पूरे जीवन में बहुत अच्छे काम किए जो की बहुत ही आम है और कोई भी इंसान को करना पसंद नहीं करेगा तो हमें मोदी जी पर किसी भी बात का लांछन लगाने से पहले यह सोचना चाहिए कि उसके पीछे क्या वजह रही है उन्होंने ऐसा क्यों तो यह बात सच है कि वह जुड़ा उठाकर जरुर चल देंगे अगर उनको जरूरत पड़ेगी तो

ji haan yah baat bilkul sahi hai ki modi ji ne 1000000 ka ek suit pehna tha lekin iske peeche ki kahani par aapko janni chahiye ki vaah suit modi ji ne khud apne paison se nahi kharida tha ki vaah suit kisi ne unko upahar swaroop diya tha aur jab aapko koi upahar deta hai toh aapse vaah apeksha karta hai kya aap usko pehne aur modi ji ne bhi yahi kiya unhone hamare sanskriti ka maan rakha aur aur june ko pyar mila tha unhone us ko pehna lekin iske baad hamein ek aur baat janni hogi ki modi ji agar aisa koi bhi upahar lete hai toh uske baad us upahar upahar ko charity maidan ke liye de dete hai ek baar jab pahan lete hai uske baad walk ke liye chali jaati hai aur usme se jo paisa aata hai vaah charity ke liye jata hai aur dusri baat jo aap keh rahe hai ki modi ji ne bola tha ki vaah kahin jaenge toh vaah jhola uthaakar chal denge toh yah baat hamein nahi bhulni chahiye ki modi ji bachpan mein chai becha karte the jo ki bahut hi zyada hamare desh ke niche kaam mana jata hai use bolo karte hai jinke paas khane ke liye kuch bhi nahi hota hai toh jo insaan itna niche kaam bhi hamare desh mein kar sakte hai toh unke liye jhola uthaakar kahin chal dena bahut hi aam baat hai aur yah sach shuru kar denge kyonki unki jo jeevan shaili hai vaah bahut hi sadhaaran hai vaah bahut hi sadhaaran parivar se aaye hue insaan hai unhone apne apne poore jeevan mein bahut acche kaam kiye jo ki bahut hi aam hai aur koi bhi insaan ko karna pasand nahi karega toh hamein modi ji par kisi bhi baat ka lanchan lagane se pehle yah sochna chahiye ki uske peeche kya wajah rahi hai unhone aisa kyon toh yah baat sach hai ki vaah juda uthaakar zaroor chal denge agar unko zarurat padegi toh

जी हां यह बात बिल्कुल सही है कि मोदी जी ने 1000000 का एक सूट पहना था लेकिन इसके पीछे की कह

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  184
WhatsApp_icon
user

Anukrati

Journalism Graduate

1:02
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी हां मोदी जी ने 1000000 का सूट पहना है लेकिन वह उन्होंने अपने पैसों से नहीं खरीदा खबरों के अनुसार उन्हें किसी ने व उपहार में दिया था वह भारत के प्रधानमंत्री हैं हमारी भारतीय सभ्यता और संस्कृति क्या हमें इजाजत देती है कि हम किसी के दिए हुए उपहार का निरादर करें उन्होंने यह सूट पहन कर उनको सम्मान दिया है और हमारी संस्कृति की को जीवित रखा है अगर उन्होंने कहा है कि वह झोला उठाकर चल देंगे तो मुझे पूरा विश्वास है कि वह ऐसा कर सकते हैं पिछले 3 वर्षों में मोदी जी ने जो भी फैसले लिए हैं विदेश यात्रा की है क्या वह स्वयं के लिए थी नहीं गहराई से सोचिए वह हमारे देश की जनता की भलाई के लिए यह सब कर रहे हैं वरना इतने बड़े फैसले ले कर उन्हें जनता से नाराजगी के अलावा क्या मिला लेकिन मैं जानती हूं जनता समझदार है इसलिए मोदी जी आज भी हमारे लोकप्रिय नेता हैं भविष्य में हमें इन सभी के अच्छे परिणाम देखने को मिलेंगे इंतजार मुझे विश्वास कीजिए

ji haan modi ji ne 1000000 ka suit pehna hai lekin vaah unhone apne paison se nahi kharida khabaro ke anusaar unhe kisi ne va upahar mein diya tha vaah bharat ke pradhanmantri hai hamari bharatiya sabhyata aur sanskriti kya hamein ijajat deti hai ki hum kisi ke diye hue upahar ka niradar kare unhone yah suit pahan kar unko sammaan diya hai aur hamari sanskriti ki ko jeevit rakha hai agar unhone kaha hai ki vaah jhola uthaakar chal denge toh mujhe pura vishwas hai ki vaah aisa kar sakte hai pichle 3 varshon mein modi ji ne jo bhi faisle liye hai videsh yatra ki hai kya vaah swayam ke liye thi nahi gehrai se sochiye vaah hamare desh ki janta ki bhalai ke liye yah sab kar rahe hai varna itne bade faisle le kar unhe janta se narajgi ke alava kya mila lekin main jaanti hoon janta samajhdar hai isliye modi ji aaj bhi hamare lokpriya neta hai bhavishya mein hamein in sabhi ke acche parinam dekhne ko milenge intejar mujhe vishwas kijiye

जी हां मोदी जी ने 1000000 का सूट पहना है लेकिन वह उन्होंने अपने पैसों से नहीं खरीदा खबरों

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  136
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!