सवालों में आंकड़ों को झूठे बता देते हैं और आंकड़ों को कभी सत्य बता देते यह क्या रवैया है?...


play
user

Anukrati

Journalism Graduate

1:01

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी हां आप का सवाल बड़ा ही विचलित करने वाला है आंकड़ों का सत्य और असत्य हो जाना जनता को समझ ही नहीं आता है कि कौन से आंकड़े पर विश्वास करें मुझे लगता है हमें इन आंकड़ों को नजरअंदाज कर देना चाहिए क्यों चाहिए हमें किसी भी कार्य के आंकड़े जो बनाते भी वही हैं बिगाड़ते भी वही हैं हमारी अपनी समझ है हमें खुद ही अपने स्तर पर देखना होगा जो जनप्रतिनिधि हमने अपनी टीम अपना कीमती मत देकर चुने हैं वह सही कार्य कर रहे हैं या नहीं हमारे प्रति वह जवाब दे हैं दिल्ली में बैठी सरकार या प्रधानमंत्री नहीं अगर कोई भी कार्य निचले स्तर से ही सही होगा तो ऊपर तक जरुर पहुंचेगा लेकिन कब कमियां अगर शुरू में ही होगी तो फिर आगे तक कैसे जाएगा इसलिए मुझे लगता है जनता को स्वयं जागरूक होना पड़ेगा हमें सिर्फ अपने अधिकार ही नहीं कर्तव्य का भी पालन करना होगा तभी इन आंकड़ों की संख्याएं हमारे दिमाग में तनाव पैदा नहीं कर पाएंगी

ji haan aap ka sawaal bada hi vichalit karne vala hai aankado ka satya aur asatya ho jana janta ko samajh hi nahi aata hai ki kaunsi aankade par vishwas kare mujhe lagta hai hamein in aankado ko najarandaj kar dena chahiye kyon chahiye hamein kisi bhi karya ke aankade jo banate bhi wahi hain bigadate bhi wahi hain hamari apni samajh hai hamein khud hi apne sthar par dekhna hoga jo janapratinidhi humne apni team apna kimti mat dekar chune hain vaah sahi karya kar rahe hain ya nahi hamare prati vaah jawab de hain delhi mein baithi sarkar ya pradhanmantri nahi agar koi bhi karya nichle sthar se hi sahi hoga toh upar tak zaroor pahunchaega lekin kab kamiyan agar shuru mein hi hogi toh phir aage tak kaise jaega isliye mujhe lagta hai janta ko swayam jagruk hona padega hamein sirf apne adhikaar hi nahi kartavya ka bhi palan karna hoga tabhi in aankado ki sankhyae hamare dimag mein tanaav paida nahi kar paayengi

जी हां आप का सवाल बड़ा ही विचलित करने वाला है आंकड़ों का सत्य और असत्य हो जाना जनता को समझ

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  137
WhatsApp_icon
1 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
Likes    Dislikes    views  
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!