BJP अगर इतनी ही चिंतित है , तो तीन तलाक पर तीन साल, सात फेरों पर सात साल सजा कर देनी चाहिए?...


user

Vatsal

Engineering Student

2:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखी वसीम जी आपका सवाल जो है तीन तलाक पर थी 3 साल की सजा है तो सात फेरों के सात साल की सजा क्यों नहीं होनी चाहिए क्योंकि मैं पहले आपको एक बात बता दूं यह जो तीन तलाक का मुद्दा है इस पर विरोध किस बात करने के स्प्रे करो उस बात को लेकर है कि जो अपना निकाह किया है उसके बाद आप कभी भी मतलब कोई भी समुदाय कभी भी जो है जब उसकी मर्जी हो जब गुस्सा है कुछ भी ऐसी चीज़ हो जब उसे सही नहीं लग रहा है उठा कर कभी भी WhatsApp पर फोन पर यह कभी भी जब चाहे बस तीन बार बोल देना है तलाक और वहां पर सारे रिश्ते खत्म हो गए और सब चीजे खत्म हो गई तो केवल 29 शब्दों पर निर्भर है इस बात का विरोध है कि इस तरीके से लीगल प्रोसेस होनी चाहिए अभी आपको कोई दिक्कत है तो ऐसे जब जब भी मन चाहे तो उसे 29 शब्दों को कह कर छुटकारा नहीं पा सके इस पर कानून बना इस पर 3 साल की कैद है यदि आप इन तीन शब्दों पर किसी की जिंदगी खराब कर दें क्योंकि महिला मुस्लिम महिला की जो है वह जिंदगी खराब हो जाएगी यदि आप 3 शब्द तो बुरा रिश्ता खत्म कर देते तो इस बात पर कानून है इस बात से 3 साल की सजा जहां तक हाथ पैरों की आप कर रहे हैं तो सात फेरों के देखिए मैं बता दूं सात फेरों के यहां पर कोई ताल्लुक नहीं लगता कोई कंपटीशन नहीं हो सकती सात फेरे वाली चीज एक अलग सात फेरे का मतलब है शादी जो आपने वह आ रहे हैं इसका मतलब रिश्ता खत्म नहीं करना चाहते रिश्तो को जोड़ता है जबकि तीन तलाक को खत्म करता है तो इस पर तो सजा देने का कोई मतलब ही नहीं है तो बेतुकी बात है यह साथ गैरों पर 7 साल की सजा सात फेरे जो होते हैं रिश्ते तोड़ने के लिए नहीं होते रिश्ते जोड़ने के लिए होता है और जोड़ने पर किस बात की सजा सजा इस बात पर है कि आप तीन तलाक बोलकर रिश्ते को तोड़ने तो वहां पर सब शेरों पर तो जिंदगी बन रही है दो जनों की तीन तलाक पर दूध खराब हो रही है

dekhi wasim ji aapka sawaal jo hai teen talak par thi 3 saal ki saza hai toh saat feron ke saat saal ki saza kyon nahi honi chahiye kyonki main pehle aapko ek baat bata doon yah jo teen talak ka mudda hai is par virodh kis baat karne ke spray karo us baat ko lekar hai ki jo apna nikah kiya hai uske baad aap kabhi bhi matlab koi bhi samuday kabhi bhi jo hai jab uski marji ho jab gussa hai kuch bhi aisi cheez ho jab use sahi nahi lag raha hai utha kar kabhi bhi WhatsApp par phone par yah kabhi bhi jab chahen bus teen baar bol dena hai talak aur wahan par saare rishte khatam ho gaye aur sab chije khatam ho gayi toh keval 29 shabdon par nirbhar hai is baat ka virodh hai ki is tarike se legal process honi chahiye abhi aapko koi dikkat hai toh aise jab jab bhi man chahen toh use 29 shabdon ko keh kar chhutkara nahi paa sake is par kanoon bana is par 3 saal ki kaid hai yadi aap in teen shabdon par kisi ki zindagi kharab kar de kyonki mahila muslim mahila ki jo hai vaah zindagi kharab ho jayegi yadi aap 3 shabd toh bura rishta khatam kar dete toh is baat par kanoon hai is baat se 3 saal ki saza jaha tak hath pairon ki aap kar rahe hain toh saat feron ke dekhiye main bata doon saat feron ke yahan par koi talluk nahi lagta koi competition nahi ho sakti saat fere wali cheez ek alag saat fere ka matlab hai shadi jo aapne vaah aa rahe hain iska matlab rishta khatam nahi karna chahte rishto ko Jodta hai jabki teen talak ko khatam karta hai toh is par toh saza dene ka koi matlab hi nahi hai toh betuki baat hai yah saath gairon par 7 saal ki saza saat fere jo hote hain rishte todne ke liye nahi hote rishte jodne ke liye hota hai aur jodne par kis baat ki saza saza is baat par hai ki aap teen talak bolkar rishte ko todne toh wahan par sab sheron par toh zindagi ban rahi hai do jano ki teen talak par doodh kharab ho rahi hai

देखी वसीम जी आपका सवाल जो है तीन तलाक पर थी 3 साल की सजा है तो सात फेरों के सात साल की सजा

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  164
WhatsApp_icon
3 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user

Amber Rai

सुनो ..सुनाओ..सीखो!

0:55

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आदित्य दो तीन तलाक का मामला है यह इंडिया को छोड़कर और किसी भी मुस्लिम कंट्री में फॉलो नहीं होता है यह बाकी मुस्लिम कंट्रीज जो है जैसे दुबई व अफगानिस्तान वहां पाकिस्तान हुआ या बांग्लादेश हुआ यह सब जो कंट्री से सब में तीन तलाक जो है वह बयान है बिल्कुल भी जो है वह बैलेंस नहीं है और ऐसा कली इंडिया में होते हैं जिसकी वजह से जो मेल है बहुत फायदा उठाते हैं और जब हम को गुस्सा आता है यार कोई मनचाही चीज मिलती है तो वह तलाक तलाक बोलकर बचो है अपनी बीवी को आग लगा देते हैं जिसकी वजह से जो हज हाउस वाइफ को अपने जीवन में बहुत दिक्कत होता है तुम बताओ क्या कर रहे बीजेपी आपकी कंट्री में अभी तक तो इंडिया में भी इसके लिए उन्होंने 7 साल की सजा देने की तो मैं नहीं समझता कोई उचित सवाल है यार कोई जवाब है

aditya do teen talak ka maamla hai yah india ko chhodkar aur kisi bhi muslim country mein follow nahi hota hai yah baki muslim countries jo hai jaise dubai va afghanistan wahan pakistan hua ya bangladesh hua yah sab jo country se sab mein teen talak jo hai vaah bayan hai bilkul bhi jo hai vaah balance nahi hai aur aisa kalee india mein hote hain jiski wajah se jo male hai bahut fayda uthate hain aur jab hum ko gussa aata hai yaar koi manchahi cheez milti hai toh vaah talak talak bolkar bacho hai apni biwi ko aag laga dete hain jiski wajah se jo haj house wife ko apne jeevan mein bahut dikkat hota hai tum batao kya kar rahe bjp aapki country mein abhi tak toh india mein bhi iske liye unhone 7 saal ki saza dene ki toh main nahi samajhata koi uchit sawaal hai yaar koi jawab hai

आदित्य दो तीन तलाक का मामला है यह इंडिया को छोड़कर और किसी भी मुस्लिम कंट्री में फॉलो नहीं

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  156
WhatsApp_icon
user

Pragati

Aspiring Lawyer

1:40
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए पहले तो आपको यह समझने की जरूरत है यह तीन तलाक एक तलाक का मुद्दा है और साथ फिर से एक शादी होती है जो की शादी का होने का मुद्दा है तो पहले तीन तलाक की बात करते हैं तो तीन तलाक में 3 साल की सजा का प्रावधान शुरू हुआ है और तीन तलाक को बैन कर दिया गया है वह यह है कि जो मुस्लिम महिलाएं होती थी उनको उनके पति तीन बार तलाक बोलकर तलाक दे देते थे और आगे उनकी जो गोदारा करने का कुछ भी उनको पैसा नहीं दिया जाता था पति की तरफ से इसीलिए तीन तलाक को बैन कर दिया गया और ऐसा करने वालों को 3 साल की सजा का प्रावधान हुआ है और सात फेरों क्या बात करें वह हिंदू लोगों का होता है जिसमें हिंदू लोग डाइवोर्स करते हैं अगर उनको तलाक लेना होता है तो जिस में हिंदू लोग हिंदू में जो पति होते हैं वह अपनी बीवी को एलुमिनी के तौर पर कुछ पैसा देते हैं जिससे वह अपनी आगे की जिंदगी का गुजारा कर सके और आराम से अपनी जिंदगी काट सके लेकिन आपको एक और पादे देनी चाहिए थी दोनों बहुत ही अलग एक साथ फेरों से एक इंसान की शादी होती है और तीन तलाक तलाक का मुद्दा है बिल्कुल अलग अलग तो सबसे पहले तो आप का सवाल बहुत ही बचकाना है तो आगे से आप जब भी सवाल करें तो पहले इस चीज के बारे में पता करो फिर सवाल करें और जो कि आपने BJP का नाम इसमें लिया है तो BJP का तलाक से सिर्फ इतना सा बात है कि बीजेपी ने यह बिल प्रपोज किया था लोकसभा में किसे दान करना चाहिए और यह पार बिल पास हो गया है लेकिन इसके आगे BJP का जो भी इसमें हाथ है वह सिर्फ यही है उसके अलावा कुछ नहीं है तो BJP का नाम हर जगह डालने की जरूरत नहीं है क्योंकि हर चीज राजनीतिक दलों से नहीं जुड़ी जा सकती

dekhiye pehle toh aapko yah samjhne ki zarurat hai yah teen talak ek talak ka mudda hai aur saath phir se ek shadi hoti hai jo ki shadi ka hone ka mudda hai toh pehle teen talak ki baat karte hain toh teen talak mein 3 saal ki saza ka pravadhan shuru hua hai aur teen talak ko ban kar diya gaya hai vaah yah hai ki jo muslim mahilaye hoti thi unko unke pati teen baar talak bolkar talak de dete the aur aage unki jo godara karne ka kuch bhi unko paisa nahi diya jata tha pati ki taraf se isliye teen talak ko ban kar diya gaya aur aisa karne walon ko 3 saal ki saza ka pravadhan hua hai aur saat feron kya baat kare vaah hindu logo ka hota hai jisme hindu log divorce karte hain agar unko talak lena hota hai toh jis mein hindu log hindu mein jo pati hote hain vaah apni biwi ko elumini ke taur par kuch paisa dete hain jisse vaah apni aage ki zindagi ka gujara kar sake aur aaram se apni zindagi kaat sake lekin aapko ek aur pade deni chahiye thi dono bahut hi alag ek saath feron se ek insaan ki shadi hoti hai aur teen talak talak ka mudda hai bilkul alag alag toh sabse pehle toh aap ka sawaal bahut hi bachkana hai toh aage se aap jab bhi sawaal kare toh pehle is cheez ke bare mein pata karo phir sawaal kare aur jo ki aapne BJP ka naam isme liya hai toh BJP ka talak se sirf itna sa baat hai ki bjp ne yah bill propose kiya tha lok sabha mein kise daan karna chahiye aur yah par bill paas ho gaya hai lekin iske aage BJP ka jo bhi isme hath hai vaah sirf yahi hai uske alava kuch nahi hai toh BJP ka naam har jagah dalne ki zarurat nahi hai kyonki har cheez raajnitik dalon se nahi judi ja sakti

देखिए पहले तो आपको यह समझने की जरूरत है यह तीन तलाक एक तलाक का मुद्दा है और साथ फिर से एक

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  182
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!