क्या भविष्य में कभी राहुल गांधी प्रधानमंत्री बन सकते हैं?...


user

Kailash Rajput

Pharmacist

0:20
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मक्का जैसे कि आपका प्रश्न है क्या भविष्य में कभी राहुल गांधी प्रधानमंत्री बन सकते हैं तो इसके लिए मेरा यही जवाब रहेगा कि आज की परिस्थितियों को देखते हुए राहुल गांधी का निकट भविष्य में प्रधानमंत्री बनना मुश्किल है अगर जवाब से संतुष्ट है तो फॉलो करें और लाइक करें

makka jaise ki aapka prashna hai kya bhavishya me kabhi rahul gandhi pradhanmantri ban sakte hain toh iske liye mera yahi jawab rahega ki aaj ki paristhitiyon ko dekhte hue rahul gandhi ka nikat bhavishya me pradhanmantri banna mushkil hai agar jawab se santusht hai toh follow kare aur like kare

मक्का जैसे कि आपका प्रश्न है क्या भविष्य में कभी राहुल गांधी प्रधानमंत्री बन सकते हैं तो इ

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  96
WhatsApp_icon
14 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user
3:44
Play

Likes  15  Dislikes    views  140
WhatsApp_icon
user

Abhay Pratap

Advocate | Social Welfare Activist

0:22
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

माननीय राहुल गांधी राष्ट्रीय के ही एक महान व्यक्ति हैं और उनकी अवधारणाएं जिस तरह से हैं उस तरह से उनका प्रधानमंत्री बनना ही भारत के लिए हितकर होगा राहुल गांधी प्रधानमंत्री नवनीत ठीक होगा बाकी वक्त की विडंबना

माननीय राहुल गांधी राष्ट्रीय के ही एक महान व्यक्ति हैं और उनकी अवधारणाएं जिस तरह से हैं उस

Likes  81  Dislikes    views  1011
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

वर्तमान में स्थिति में कह नहीं सकते

vartmaan mein sthiti mein keh nahi sakte

वर्तमान में स्थिति में कह नहीं सकते

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  85
WhatsApp_icon
user

Devkumar Kaneri BSP

Advocate & Politicians

1:32
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जैसा कि आपने प्रश्न किया है कि क्या भविष्य कभी राहुल गांधी प्रधानमंत्री बन सकते हैं देखिए मैं तो भविष्य नहीं होगा अंधेरे में चलाने की हमारी आदत नहीं है लेकिन जो आज की डेट में राजनीतिक हालात बनते जा रहा है और कांग्रेस की जो स्थिति बनते जा रही है मध्य प्रदेश में और राहुल के अंदर जो आग अमृता किससे किया है उसे देख कर तो ऐसा लगता है कि राहुल दूर-दूर तक प्रधानमंत्री बनने की योग्यता के पता है तो सत्ता का मुख्यालय कहां है तो सकता है लेकिन पर्सनल क्वालिटी या 55 दिन के अंदर क्षमता नहीं है आज इसको परिवारवाद के साथ दिखे तो नेहरू जी फिल्म इंदिरा गांधी इंदिरा गांधी राजीव गांधी गांधी गांधी है अगर स्वतंत्र रूप से एक इकाई से शुरू करके अपने नेतृत्व को कभी उभार पाए राजनीति में इसीलिए मैं कहता हूं कि राहुल गांधी प्रधानमंत्री

jaisa ki aapne prashna kiya hai ki kya bhavishya kabhi rahul gandhi pradhanmantri ban sakte hain dekhiye main toh bhavishya nahi hoga andhere me chalane ki hamari aadat nahi hai lekin jo aaj ki date me raajnitik haalaat bante ja raha hai aur congress ki jo sthiti bante ja rahi hai madhya pradesh me aur rahul ke andar jo aag amrita kisse kiya hai use dekh kar toh aisa lagta hai ki rahul dur dur tak pradhanmantri banne ki yogyata ke pata hai toh satta ka mukhyalay kaha hai toh sakta hai lekin personal quality ya 55 din ke andar kshamta nahi hai aaj isko parivaarvaad ke saath dikhe toh nehru ji film indira gandhi indira gandhi rajeev gandhi gandhi gandhi hai agar swatantra roop se ek ikai se shuru karke apne netritva ko kabhi ubhar paye raajneeti me isliye main kahata hoon ki rahul gandhi pradhanmantri

जैसा कि आपने प्रश्न किया है कि क्या भविष्य कभी राहुल गांधी प्रधानमंत्री बन सकते हैं देखिए

Romanized Version
Likes  74  Dislikes    views  914
WhatsApp_icon
user
0:09
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

राहुल गांधी जी कभी भी भारत के प्रधानमंत्री नहीं बन सकते हैं

rahul gandhi ji kabhi bhi bharat ke pradhanmantri nahi ban sakte hain

राहुल गांधी जी कभी भी भारत के प्रधानमंत्री नहीं बन सकते हैं

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  116
WhatsApp_icon
user
0:16
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कोई व्यक्ति भविष्य में क्या बनेगा यह तो एस्ट्रोलॉजी की बात है मैं यह बात नहीं कह सकता हूं कि राहुल गांधी भविष्य में प्रधानमंत्री बनेंगे या नहीं बनाएंगे

koi vyakti bhavishya me kya banega yah toh astrology ki baat hai main yah baat nahi keh sakta hoon ki rahul gandhi bhavishya me pradhanmantri banenge ya nahi banayenge

कोई व्यक्ति भविष्य में क्या बनेगा यह तो एस्ट्रोलॉजी की बात है मैं यह बात नहीं कह सकता हूं

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  69
WhatsApp_icon
play
user

Arvind rajpurohit

Entrepreneur , Mentor,

1:43

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बिल्कुल बन सकता है राहुल गांधी इस देश के प्रधानमंत्री और मैं तो कहता हूं ऐसा कोई व्यक्ति नहीं है जो इस देश का भविष्य का प्रधानमंत्री बन सकता अगर हूं काबिल है और अगर जनता उसे पसंद करती है वोट देती राहुल गांधी ने मुझे लगता है 2014 के लोकसभा चुनाव के बाद अपने आप में चेंजेस लाए हैं काफी उनको वह एड्रेस इमली पॉलिटिक्स भी करते हैं सोशल मीडिया पर भी अभी वह है वह है कहीं ना कहीं मुकाबले में आने की कोशिश कर रहे हैं वह जगह है मोदी जी का और राहुल गांधी के बीच में और जो मोदी जी बहुत ही स्ट्रांग लगते थे राहुल गांधी के सामने आज पूरी बीजेपी राहुल गांधी के विरोध में राहुल गांधी की हार्टबीट का हर क्वेश्चन का रिप्लाई एग्रेसिव नहीं दे रही है कहीं ना कहीं उनके अपने आप में जो चेंज लाया राहुल अपने महत्व को जो बढ़ाया है अपने आप को हाईलाइट किया है और उसका इफेक्ट हो रहा है जनता में भी एक मैसेज जा रहा है कि हां जैसा राहुल गांधी को जैसा खुद लोग पप्पू कहते थे अब वह इमेज से पप्पू वाली में से भी बाहर आ रहे हैं अपने आप को एक कद्दावर नेता साबित कर रहे हैं नरेंद्र मोदी के मुकाबले में आने के लिए उनको हालांकि अभी बहुत सारे चेंजेस और ना उनके खुद में और अपनी पार्टी में भी और मुझे लगता है कि अगर वह उसमें बदलाव लाता है तो भविष्य का नहीं 2019 का भी हम कुछ नहीं कह सकते हो सकता है वह 2019 में भी इस देश के प्रधानमंत्री बन जाएंगे हालांकि बहुत मुश्किल लग रहा है आज के टाइम में लेकिन ना भविष्य में बिल्कुल बन सकते हैं यह लोकतंत्र है और लोकतंत्र में कोई भी किसी भी चीज की कोई गारंटी नहीं है राजनीति में तो बिल्कुल भी नहीं

bilkul ban sakta hai rahul gandhi is desh ke pradhanmantri aur main toh kahata hoon aisa koi vyakti nahi hai jo is desh ka bhavishya ka pradhanmantri ban sakta agar hoon kaabil hai aur agar janta use pasand karti hai vote deti rahul gandhi ne mujhe lagta hai 2014 ke lok sabha chunav ke baad apne aap mein changes laye hain kaafi unko vaah address imli politics bhi karte hain social media par bhi abhi vaah hai vaah hai kahin na kahin muqable mein aane ki koshish kar rahe hain vaah jagah hai modi ji ka aur rahul gandhi ke beech mein aur jo modi ji bahut hi strong lagte the rahul gandhi ke saamne aaj puri bjp rahul gandhi ke virodh mein rahul gandhi ki heartbeat ka har question ka reply egresiv nahi de rahi hai kahin na kahin unke apne aap mein jo change laya rahul apne mahatva ko jo badhaya hai apne aap ko highlight kiya hai aur uska effect ho raha hai janta mein bhi ek massage ja raha hai ki haan jaisa rahul gandhi ko jaisa khud log pappu kehte the ab vaah image se pappu wali mein se bhi bahar aa rahe hain apne aap ko ek kaddavar neta saabit kar rahe hain narendra modi ke muqable mein aane ke liye unko halaki abhi bahut saare changes aur na unke khud mein aur apni party mein bhi aur mujhe lagta hai ki agar vaah usme badlav lata hai toh bhavishya ka nahi 2019 ka bhi hum kuch nahi keh sakte ho sakta hai vaah 2019 mein bhi is desh ke pradhanmantri ban jaenge halaki bahut mushkil lag raha hai aaj ke time mein lekin na bhavishya mein bilkul ban sakte hain yah loktantra hai aur loktantra mein koi bhi kisi bhi cheez ki koi guarantee nahi hai raajneeti mein toh bilkul bhi nahi

बिल्कुल बन सकता है राहुल गांधी इस देश के प्रधानमंत्री और मैं तो कहता हूं ऐसा कोई व्यक्ति न

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  181
WhatsApp_icon
user

Pragati

Aspiring Lawyer

1:41
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अगर कोई मुझसे पर्सनली बात पूछेगा यह क्या राहुल गांधी आगे चलकर भविष्य में कभी भी प्रधानमंत्री बन सकते हैं तो मेरा उन का प्रधानमंत्री बनने का प्रतिशत सिर्फ 20% होगा क्योंकि उनमें वह चीज नहीं है जो कि हमारे प्रधानमंत्री में चाहिए क्योंकि आपके जैसा कि हम जानते हैं कि वह हमारे देश में पढ़े लिखे नहीं हैं उनकी सारी पढ़ाई बाहर के देशों से हुई है वह हमारे देश उन्होंने कभी भी गरीबी का सामना नहीं किया उन्होंने हमारे देश की जो बेसिक लोग हैं वह क्या सोचते हैं कैसे सोचते हैं क्या करते हैं उन की क्या विचारधारा को कुछ नहीं जानते हैं उसके बारे में और बाकी जॉन देखते हैं कि वह अभी हमने देखा है कि वह जब भी अपनी स्पीच देते हैं आप कुछ बोलते हैं कभी भी किसी से मिलने जाते हैं तो वह सब चीजें उनके लिए पहले से लोग तैयार करके उनके हाथ में परोसते हैं कि हमने कई बार देखा कि जब भी वह पीते रहे होते हैं तो कई शब्दों पर अटक जाते हैं और वह देखकर फिर उस बात को बोलते हैं और कई बार सभी भाइयों ने बहुत ही चीजें गलत बोली है जो कि जिसके सर पर ही नहीं होता एक आम आदमी को भी उस चीज के बारे में पता होता है और राहुल गांधी जी उसके बारे में नहीं जानते तो ठीक है आप पढ़े लिखे हैं आप सब कुछ है परंतु आपको किसी देश का प्रधानमंत्री बनने के लिए उस देश की नींद से लेकर ऊपर तक आपको हर चीज देखनी पड़ती है लेकिन राहुल गांधी जी में इतनी सक्षमता है वह चीज के लिए लायक भी नहीं है और ना उनकी कैपेबिलिटी है और ना ही वह किसी भी तरीके से प्राइम मिनिस्टर बनाने जॉब करते हैं हमको पार्टी अध्यक्ष बनाया गया है लेकिन उसके भी काबिलियत से इसलिए बने हैं क्योंकि वह सोनिया गांधी जी के बेटे हैं

agar koi mujhse personally baat puchhega yah kya rahul gandhi aage chalkar bhavishya mein kabhi bhi pradhanmantri ban sakte hain toh mera un ka pradhanmantri banne ka pratishat sirf 20 hoga kyonki unmen vaah cheez nahi hai jo ki hamare pradhanmantri mein chahiye kyonki aapke jaisa ki hum jante hain ki vaah hamare desh mein padhe likhe nahi hain unki saree padhai bahar ke deshon se hui hai vaah hamare desh unhone kabhi bhi garibi ka samana nahi kiya unhone hamare desh ki jo basic log hain vaah kya sochte hain kaise sochte kya karte hain un ki kya vichardhara ko kuch nahi jante hain uske bare mein aur baki john dekhte hain ki vaah abhi humne dekha hai ki vaah jab bhi apni speech dete hain aap kuch bolte hain kabhi bhi kisi se milne jaate hain toh vaah sab cheezen unke liye pehle se log taiyar karke unke hath mein parosate hain ki humne kai baar dekha ki jab bhi vaah peete rahe hote hain toh kai shabdon par atak jaate hain aur vaah dekhkar phir us baat ko bolte hain aur kai baar sabhi bhaiyo ne bahut hi cheezen galat boli hai jo ki jiske sir par hi nahi hota ek aam aadmi ko bhi us cheez ke bare mein pata hota hai aur rahul gandhi ji uske bare mein nahi jante toh theek hai aap padhe likhe hain aap sab kuch hai parantu aapko kisi desh ka pradhanmantri banne ke liye us desh ki neend se lekar upar tak aapko har cheez dekhni padti hai lekin rahul gandhi ji mein itni sakshamta hai vaah cheez ke liye layak bhi nahi hai aur na unki capability hai aur na hi vaah kisi bhi tarike se prime minister banane job karte hain hamko party adhyaksh banaya gaya hai lekin uske bhi kabiliyat se isliye bane hain kyonki vaah sonia gandhi ji ke bete hain

अगर कोई मुझसे पर्सनली बात पूछेगा यह क्या राहुल गांधी आगे चलकर भविष्य में कभी भी प्रधानमंत्

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  174
WhatsApp_icon
user

Vatsal

Engineering Student

1:60
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

The Hero प्रश्न है कि राहुल गांधी भविष्य में कोई प्रधानमंत्री बन सकते हैं तो यह प्रश्न का उत्तर जो है साफ है कि राहुल गांधी भी शक वंशवाद की राजनीति की वजह से आगे आए हैं यदि राहुल गांधी की हम पिछले 2 साल देखें तो वाकई में उन पर को तजुर्बे की कमी दिखती है उनमें वह मैच्योरिटी की कमी दिखती है जो राजनीति में आमसभा होता है जो आम्ही पर्सनालिटी होती है वह उसकी कमी दिखती है वह बच्चे हो मैं रेफर किया जाता है बच्चा बोला जाता बच्चों की तरह का स्वभाव हरकतें बच्चों की तरह मीटिंग होनी चाहिए भाषणों में उनकी बातों में उसे लाइक करते हैं लेकिन इसके अभी जो गुजरात के चुनाव जो मतलब एक तरफ भागता जिस तरीके की राजनीति जिस तरीके की भाषणबाजी जिस तरीके से एक्टिव है वह बिल्कुल जस्ट अपोजिट था पहले के मुकाबले बहुत ही अच्छा बहुत मेहनत की वह वाकई उनके जो भाषण थे वह लोगों को आकर्षित कर रहे थे अपनी तरफ ध्यान खींच रहे थे और भीड़ आ रही थी उनके में बहुत अच्छा तरीके से उन्होंने अपने में ग्रोथ हुई उनके में बहुत इंप्रूवमेंट हुआ है तो यदि इस तरीके से लगातार इंप्रूवमेंट होता गया राहुल गांधी जी में तो बिल्कुल भविष्य में प्रधानमंत्री बन सकते हैं बल्कि भविष्य में क्या अगले 2019 में चुनाव होंगे उसमें यदि कांग्रेस जीती है तो इतना तो तय है राहुल गांधी जीवनी तो बिल्कुल मौका मिल सकता दूसरी तरफ यदि केंद्र में भाजपा की सरकार के जो कुछ फैसले जनता विरोधी हैं जीएसटी का मुद्दा कुछ विरोध कर रहे हैं लोग को शाम को सही दाम नहीं मिल रहे हैं यदि ऐसे फैसले जो जनता का विश्वास खो रहे हैं यदि इस तरीके से काम चलता रहा तो कांग्रेस को एक विकल्प के रुप में उतरेगी कांग्रेस पार्टी राहुल गांधी को वैसे भी मौका मिलना है और अदर वाइज वह बूढ़े लगातार तो उनके खुद के पर्सनालिटी के बेसिस पर भी उन्हें चांस आगे भविष्य में मिल सकता है

The Hero prashna hai ki rahul gandhi bhavishya mein koi pradhanmantri ban sakte hain toh yah prashna ka uttar jo hai saaf hai ki rahul gandhi bhi shak vanshavad ki raajneeti ki wajah se aage aaye hain yadi rahul gandhi ki hum pichle 2 saal dekhen toh vaakai mein un par ko tajurbe ki kami dikhti hai unmen vaah maturity ki kami dikhti hai jo raajneeti mein aamsabha hota hai jo aamhi personality hoti hai vaah uski kami dikhti hai vaah bacche ho main Refer kiya jata hai baccha bola jata baccho ki tarah ka swabhav harakatein baccho ki tarah meeting honi chahiye bhashano mein unki baaton mein use like karte hain lekin iske abhi jo gujarat ke chunav jo matlab ek taraf bhagta jis tarike ki raajneeti jis tarike ki bhashanabaji jis tarike se active hai vaah bilkul just opposite tha pehle ke muqable bahut hi accha bahut mehnat ki vaah vaakai unke jo bhashan the vaah logo ko aakarshit kar rahe the apni taraf dhyan khinch rahe the aur bheed aa rahi thi unke mein bahut accha tarike se unhone apne mein growth hui unke mein bahut improvement hua hai toh yadi is tarike se lagatar improvement hota gaya rahul gandhi ji mein toh bilkul bhavishya mein pradhanmantri ban sakte hain balki bhavishya mein kya agle 2019 mein chunav honge usme yadi congress jeeti hai toh itna toh tay hai rahul gandhi jeevni toh bilkul mauka mil sakta dusri taraf yadi kendra mein bhajpa ki sarkar ke jo kuch faisle janta virodhi hain gst ka mudda kuch virodh kar rahe hain log ko shaam ko sahi daam nahi mil rahe hain yadi aise faisle jo janta ka vishwas kho rahe hain yadi is tarike se kaam chalta raha toh congress ko ek vikalp ke roop mein utregi congress party rahul gandhi ko waise bhi mauka milna hai aur other wise vaah budhe lagatar toh unke khud ke personality ke basis par bhi unhe chance aage bhavishya mein mil sakta hai

The Hero प्रश्न है कि राहुल गांधी भविष्य में कोई प्रधानमंत्री बन सकते हैं तो यह प्रश्न का

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  176
WhatsApp_icon
user

Apurva D

Optimistic Coder

1:23
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए मुझे नहीं लगता कि राहुल गांधी कभी प्रधानमंत्री भविष्य में बनेंगे क्योंकि इसके लिए बहुत सारे रीजन है और जैसे एक प्रधानमंत्री के बीज स्किल्स होनी चाहिए जिस से पहले की एक डिसिशन मेकिंग का स्केल में थोड़ा कम पड़ता है हालांकि अभी गुजरात चुनाव में देखा जाए तो हां वह कॉन्फिडेंट आदमी जरूर देख के आए हैं मैं फिर भी आजा प्रधानमंत्री उनमें इतनी ज्यादा स्किल्स नहीं है हालांकि वह जनता पर प्रभावी भी नहीं पड़ते जनता के मन में उनके लिए इतना अच्छा मतलब लोकप्रियता नहीं है देखा जाए तो वह भी कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष आप जरुर बने हैं बट फिर भी और प्रधानमंत्री के लिए चुनाव में खडे भी होंगे तो मुझे नहीं लगता कि लोग उनको वोट देंगे अभी देखा जाए तो रानी एक ऐसे व्यक्ति है जो कि पहले वह कांग्रेस के अध्यक्ष भी नहीं थे अगर सिर्फ वह कांग्रेस पार्टी के एक सदस्य थे तो मेरे ख्याल से तब भी उनके ऊपर बहुत ज्यादा लोग टीका-टिप्पणी करते थे बहुत सारे कुछ वजह से तू आजा प्रधानमंत्री वह इतनी स्ट्रांग नहीं है मेरे ख्याल से तो वह नहीं बन पाएंगे

dekhiye mujhe nahi lagta ki rahul gandhi kabhi pradhanmantri bhavishya mein banenge kyonki iske liye bahut saare reason hai aur jaise ek pradhanmantri ke beej skills honi chahiye jis se pehle ki ek decision making ka scale mein thoda kam padta hai halaki abhi gujarat chunav mein dekha jaaye toh haan vaah confident aadmi zaroor dekh ke aaye hain main phir bhi aajad pradhanmantri unmen itni zyada skills nahi hai halaki vaah janta par prabhavi bhi nahi padte janta ke man mein unke liye itna accha matlab lokpriyata nahi hai dekha jaaye toh vaah bhi congress party ke adhyaksh aap zaroor bane hain but phir bhi aur pradhanmantri ke liye chunav mein khade bhi honge toh mujhe nahi lagta ki log unko vote denge abhi dekha jaaye toh rani ek aise vyakti hai jo ki pehle vaah congress ke adhyaksh bhi nahi the agar sirf vaah congress party ke ek sadasya the toh mere khayal se tab bhi unke upar bahut zyada log tika tippani karte the bahut saare kuch wajah se tu aajad pradhanmantri vaah itni strong nahi hai mere khayal se toh vaah nahi ban payenge

देखिए मुझे नहीं लगता कि राहुल गांधी कभी प्रधानमंत्री भविष्य में बनेंगे क्योंकि इसके लिए बह

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  166
WhatsApp_icon
user

Manish Singh

VOLUNTEER

0:32
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बिजी है तू हिंदुस्तान की जनता के ऊपर डिपेंड करता है कि राहुल गांधी प्रधानमंत्री बन पाएंगे नहीं अगर उनको अगली बार जाकर मंडी रेट मिलता है उनके कांग्रेस के सरकार गया तो फिर कांग्रेस किसी ऐसे पार्टी के साथ कंबाइंड होकर सरकार बना सकती है जिस्म का पूरा मंदिर पूरा हो जाएगा सरकार बनाने की क्षमता कितनी सीटें आ जाए तो बिल्कुल नगर जीतेगी कांग्रेस तो राहुल गांधी बनाएंगे या तो नरेंद्र मोदी बनाएंगे हमारे पास पैसे है सिर्फ दो ही विकल्प या तो हम नरेंद्र मोदी को बना सकते हैं अपना प्रधानमंत्री या तो राहुल गांधी को तीसरा हमारे पास कोई विकल्प नहीं है

busy hai tu Hindustan ki janta ke upar depend karta hai ki rahul gandhi pradhanmantri ban payenge nahi agar unko agli baar jaakar mandi rate milta hai unke congress ke sarkar gaya toh phir congress kisi aise party ke saath Combined hokar sarkar bana sakti hai jism ka pura mandir pura ho jaega sarkar banane ki kshamta kitni seaten aa jaaye toh bilkul nagar jitegi congress toh rahul gandhi banayenge ya toh narendra modi banayenge hamare paas paise hai sirf do hi vikalp ya toh hum narendra modi ko bana sakte hain apna pradhanmantri ya toh rahul gandhi ko teesra hamare paas koi vikalp nahi hai

बिजी है तू हिंदुस्तान की जनता के ऊपर डिपेंड करता है कि राहुल गांधी प्रधानमंत्री बन पाएंगे

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  165
WhatsApp_icon
user

amitkul

CA student,pursuing bcom too

0:37
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भविष्य में मेरे साथ जो राहुल गांधी प्रधानमंत्री नहीं बन सकते हैं क्योंकि उनकी व्यक्तित्व में वह प्रभावित ना दिखाई नहीं दे रहा है जितना नरेंद्र मोदी जी के सामने जो तेज है वह दिखाई नहीं देता इतना तो लोग उनको सुनना है इतना पसंद नहीं करेंगे और उनके जो दलीले आजकल हम सुन रहे हैं काफी बचकानी लग रही है तो इससे व्यक्ति को देखकर अंदर से व्यतीत होता कि प्रतीत होता है कि वह प्रधानमंत्री बन सकते देश के

bhavishya mein mere saath jo rahul gandhi pradhanmantri nahi ban sakte hain kyonki unki vyaktitva mein vaah prabhavit na dikhai nahi de raha hai jitna narendra modi ji ke saamne jo tez hai vaah dikhai nahi deta itna toh log unko sunana hai itna pasand nahi karenge aur unke jo dalile aajkal hum sun rahe hain kaafi bachkani lag rahi hai toh isse vyakti ko dekhkar andar se vyatit hota ki pratit hota hai ki vaah pradhanmantri ban sakte desh ke

भविष्य में मेरे साथ जो राहुल गांधी प्रधानमंत्री नहीं बन सकते हैं क्योंकि उनकी व्यक्तित्व म

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  142
WhatsApp_icon
user

Amber Rai

सुनो ..सुनाओ..सीखो!

0:58
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यही सवाल का जवाब है मैं बहुत बार देख चुका हूं एक बार फिर मैं बोल देता हूं कि राहुल गांधी अगर वर्तमान में देखा जाए तो वह प्रधानमंत्री बिल्कुल नहीं बन सकते हैं जहां तक हो सके तो अगर वह कुछ है जो नेगेटिव पॉइंट्स है अगर उसमें वह कुछ काम करेंगे और अपने दिल पर भाषण पर थोड़ा ध्यान देंगे तो मैं सलमान खान की वह जरुर एक दिन मैं प्रधानमंत्री बन पाएंगे और जहां तक बातें लोगों से कनेक्ट होने की समस्या के मोदी जी जिस प्रकार के लोगों से कनेक्ट होते अगर वह कुछ भी बात बोलते हैं तो लोग जो है उनकी बातों में आ जाते हैं इंप्रेस हो जाते क्योंकि उनके जो वाट्स के पावर है उनका जो स्टेटमेंट जो बोलते हैं वह इतना सॉन्ग रहता है कि लोग इसमें इंसुरेंस हो जाते हैं तो मैं सोचा कि राहुल गांधी को भी जो है इन लोगों से एक उस टाइप का कनेक्शन बनाना चाहिए और बहुत क्वालिटीज़ में समाचार राहुल गांधी में राजीव गांधी मेरिट हुई है तो वह जरुर मैं कर सके अगर कुछ छोटी छोटी चीजों पर काम करेंगे तो वह जरूर भविष्य में जो है प्रधानमंत्री बनने के योग्य

yahi sawaal ka jawab hai bahut baar dekh chuka hoon ek baar phir main bol deta hoon ki rahul gandhi agar vartaman mein dekha jaaye toh vaah pradhanmantri bilkul nahi ban sakte hain jaha tak ho sake toh agar vaah kuch hai jo Negative points hai agar usme vaah kuch kaam karenge aur apne dil par bhashan par thoda dhyan denge toh main salman khan ki vaah zaroor ek din main pradhanmantri ban payenge aur jaha tak batein logo se connect hone ki samasya ke modi ji jis prakar ke logo se connect hote agar vaah kuch bhi baat bolte hain toh log jo hai unki baaton mein aa jaate hain impress ho jaate kyonki unke jo watts ke power hai unka jo statement jo bolte hain vaah itna song rehta hai ki log isme insurens ho jaate hain toh main socha ki rahul gandhi ko bhi jo hai in logo se ek us type ka connection banana chahiye aur bahut kwalitiz mein samachar rahul gandhi mein rajeev gandhi merit hui hai toh vaah zaroor main kar sake agar kuch choti choti chijon par kaam karenge toh vaah zaroor bhavishya mein jo hai pradhanmantri banne ke yogya

यही सवाल का जवाब है मैं बहुत बार देख चुका हूं एक बार फिर मैं बोल देता हूं कि राहुल गांधी अ

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  129
WhatsApp_icon
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!